राम नाईक ने काशीनाथ सिंह एवं रतन सिंह को कैफी आज़मी अवार्ड से सम्मानित किया

ram-naik-awarded-kaifi-azmi-ward
लखनऊ 10 मई, उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने हिन्दी के प्रख्यात साहित्यकार डाॅ0 काशीनाथ सिंह एवं उर्दू के नामवर साहित्यकार डाॅ0 रतन सिंह को कैफी आज़मी अवार्ड एवं सम्मान पत्र देकर सम्मानित किया। अखिल भारतीय कैफी आज़मी अकादमी लखनऊ के तत्वावधान में प्रख्यात शायर कैफी आज़मी की 15वीं पुण्य तिथि पर राज्यपाल नाईक ने स्व0 कैफी आज़मी के चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर पर उन्होंने 10 मई की विशेषता बताते हुये कहा कि इस दिन शांति और अहिंसा का संदेश देने वाले भगवान बुद्ध का जन्म हुआ था तथा इसी दिन 1857 में देश के पहले स्वतंत्रता संग्राम की शुरूआत हुई थी। इसी दिन अकादमी द्वारा प्रख्यात शायर कैफी आज़मी की 15वीं पुण्य तिथि पर साहित्यकारों का सम्मान किया जाता है। श्री नाईक ने इस अवसर पर प्रख्यात साहित्यकार डाॅ0 काशीनाथ सिंह एवं उर्दू के नामवर साहित्यकार डाॅ0 रतन सिंह को कैफी आज़मी अवार्ड एवं सम्मान पत्र देकर सम्मानित किया। उन्होंने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि कैफी आज़मी साहब के व्यक्तित्व के बारे में बताना वास्तव में सूरज को चिराग दिखाने जैसा है। वे उर्दू शायरी में कैफी आज़मी के नाम से इतना मशहूर हुए कि उनके असली नाम सैय्यद अतहर हुसैन रिज़वी को कम ही लोग जानते हैं। कैफी साहब के नाम पर पुरस्कार देना सराहनीय है। यह गलत धारणा है कि उर्दू वर्ग विशेष की भाषा है।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...