योग, पर्यावरण संरक्षण और स्वच्छता को जन अभियान बनाने का आह्वान किया मोदी ने

yoga-environmental-protection-cleanliness-campaign-invocation-modi
नयी दिल्ली 28 मई, प्रधानमंत्री नरेंद्र माेदी ने अपनी सरकार के तीन साल के कामकाज का व्यापक स्तर पर आकलन का स्वागत करते हुए आज कहा कि योग, पर्यावरण संरक्षण और स्वच्छता को जन अभियान बनाया जाना चाहिए। श्री मोदी ने आकाशवाणी पर अपने मासिक कार्यक्रम ‘ मन की बात’ में देशवासियों को संबोधित करते हुए कहा कि लोकतंत्र में शासन काे जबावदेह हाेना चाहिए और सकारात्मक आलोचनाएं इसे बल देती हैं। उन्होेंने कहा कि पिछले महीने से जन संचार माध्यमों अखबार, टीवी चैनलों और सोशल मीडिया में वर्तमान सरकार के तीन वर्ष का लेखा-जोखा चल रहा है। उन्होंने कहा, “ मैं उन सब लोगों का धन्यवाद करता हूँ, जिन्होंने समय निकाल करके हमारे काम की गहराई से विवेचना की है। हर कसौटी पर तीन साल के कार्यकाल को कसा गया है। समाज के हर तबके के लोगों ने उसका आकलन किया है और लोकतंत्र में यह एक उत्तम प्रक्रिया है।” अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि तीन साल में संसार के हर कोने योग पहुंच चुका है और दुनिया को जोड़ने में लगा है इसलिए 21 जून तक वह योग की महत्ता को लेकर प्रति दिन ट्वीट करेंगे। योग के प्रचार-प्रसार को भारत की बड़ी उपलब्धि करार देते उन्होेेंने कहा कि जब दुनिया में कुछ ताकतें बिखराव का अभियान छेड़े हुए हैं ऐसे में शरीर, मन, बुद्धि और आत्मा को जोड़ने वाला योग अब दुनिया को भी जोड़ने लगा है और ऐसे समय में विश्व को भारत की यह एक बहुत बड़ी देन है। उन्होेंने लोगों से तीसरे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर अपनी तीन पीढ़ियों की एक साथ योग करते हुए फोटो भी ट्विटर पर पोस्ट करने को कहा।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...