बिहार : इंटर परीक्षाफल गड़बड़ी के खिलाफ पूरे राज्य में ए॰आई॰एस॰एफ॰ का चक्का जाम

कई जिलों में यातायात व्यवस्था चरमरायी, लाठीचार्ज व गिरफ्तारियाँ, पटना में इटर काउंसिल के सामने तीन घंटा तक रोड जाम, कई राउंड पुलिसकर्मियों से तीखी नोंकझोंक, मुख्यमंत्री के अधिकृत प्रतिनिधि के रूप में माध्यमिक शिक्षा निदेशक ने की बातचीत, निःशुल्क स्क्रूटनी एवं तीन विषय में कंपार्टमेन्टल पर निर्णय का भरोसा, पुनर्मूल्यांकन पर नहीं बनी सहमति, कल सी॰एम॰ हाउस मार्च करेंगे छात्र, 8 को बिहार बन्द का ऐलान।




aisf-protest-in-patna
पटना:- इंटर परीक्षाफल गड़बड़ी पर छात्रों का आक्रोश बढ़ता जा रहा है। पुनर्मूल्यांकन, निःशुल्क स्क्रूटनी तीन विषयों में कंपार्टमेन्टल एवं स्थायी शिक्षाविद बोर्ड अध्यक्ष की नियुक्ति को लेकर पूरे राज्य मंे ए॰आई॰एस॰एफ॰ के बैनर तले छात्र सड़कों पर उतरे। प्राप्त जानकारी के अनुसार पटना के अतिरिक्त बेगूसराय, मधुबनी, मधेपुरा, सहरसा, वैशाली, खगड़िया, छपरा, मोतिहारी, बक्सर, लखीसराय, अरवल, भागलपुर, पूर्णिया, आरा, जहानाबाद, नवादा, गया, रोहतास कई जिलों में ए॰आई॰एस॰एफ॰ के बैनरतले छात्र सड़क पर उतरे। बेगूसराय एवं मधुबनी मंे गिरफ्तारियां भी हुई। कई जिलों में लाठीचार्ज भी हुए। पटना में काउंसिल गेट पर लगभग 10ः00 बजे ए॰आई॰एस॰एफ॰ के छात्र सड़क पर उतर गए। साढ़े तीन घंटे तक इंटर काउंसलि गेट पर यातायात व्यवस्था चरमरायी रही। कई बार पुलिस कर्मियों एवं आलाधिकारियों से तीखी नोंक-झांेक हुई। दो बार पुलिसकर्मियों ने जबरन एक तरफ का रास्ता खाली करा दिया लेकिन छात्र-छात्राएं दोबारा फिर से जाम कर देते थे। इस दौरान दो बार लाठीचार्ज हुआ। जिसमें एक छात्र सोनू कुमार चोटिल हुआ जिसका इलाज कोतवाली थानाध्यक्ष ने गार्डिनर रोड अस्पताल मंे कराया। इस दौरान सदर अनुमंडलाधिकारी आलोक कुमार, ए॰एस॰पी॰ विधि व्यवस्था शिब्ली नोमानी, कोतवाली थानाध्यक्ष रामाशंकर सिंह, बुद्धा काॅलोनी थानाध्यक्ष मनोज मोहन के साथ बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी, एस॰ रैफ के जवान तैनात थे। लगभग दो बजे मुख्यमंत्री के अधिकृत प्रतिनिधि के रूप में माध्यमिक शिक्षा के निदेशक राजीव रंजन ने ए॰आई॰एस॰एफ॰ के सात सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल से शिक्षा विभाग में मुलाकात की। प्रतिनिधिमंडल अनुमंडलाधिकारी आलोक कुमार एवं जिला नियंत्रण कक्ष के प्रभारी शशि प्रकाश कुमार के साथ निदेशक से वार्ता को पहुंचा।
प्रतिनिधिमंडल में शामिल ए॰आई॰एस॰एफ॰ के राज्य सचिव सुशील कुमार, जिलाध्यक्ष पुष्पेन्द्र प्रणय, आशीष कुमार, अजीत कुमार, प्रियंका कुमारी, छोटी कुमारी एवं अविनाश कुमार ने माध्यमिक शिक्ष निदेशक राजीव रंजन ने कहा कि इंटर परीक्षाफल चैंकानेवाला एवं अप्रत्याशित है। सही ढंग से उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन नहीं होने से ऐसी स्थिति बनी है। शीघ्र पुनर्मूल्याकन का आदेश सरकार के स्तर जारी होगा तभी छात्रों का आक्रोश शांत हो सकता है। निःशुल्क स्क्रूटनी कराने, तीन विषयों में कंपार्टमेन्टल एवं वर्तमान बोर्ड अध्यक्ष को हटा किसी शिक्षाविद को स्थायी अध्यक्ष के रूप में बनाने की मांग की। लगभग सवा घंटे तक चले वार्ता में निःशुल्क स्क्रूटनी कराने एवं तीन विषयों में कंपार्टमेंटल पर सरकार द्वारा फैसला लेने का भरोसा दिलाते हुए निदेशक मने आज ही शाम में मुख्य सचिव के साथ एक उच्च स्तरीय बैठक होने की जानकारी दी। हालांकि प्रतिनिधिमंडल में शामिल छात्रों ने पुनर्मूल्यांकन को लेकर अड़े रहे। निदेशक ने छात्रों की भावनाओं से उच्चाधिकारियों को अवगत कराने का भरोसा दिलाया। प्रतिनिधिमंडल ने वार्ता से लौटकर आने के बाद पुनः आंदोलन जारी रखते हुए कल 6 जून को सी॰एम॰ हाउस मार्च का ऐलान किया। वहीं ए॰आई॰एस॰एफ॰ के राज्य उपाध्यक्ष सुशील उमाराज ने कहा कि 8 छात्र- युवा संगठन इंटर परीक्षाफल गड़बड़ी को लेकर बिहार बन्द करायेंगे। सरकार को हर हालत में झुकना ही होगा। सड़क जाम के दौरान प्रतियोगी परीक्षार्थी संघ के राज्य संयोजक सुभाष पासवान, जिला सह सचिव राजीव कुमार, विकास यादव, सैफ अली, आरती कुमारी, राजकपूर, प्रशांत, अफरोज, ओशो, पंखुड़ी, प्रतिमा, आदर्श, पूजा, नेहा, ज्योति सहित सैकड़ों छात्र शामिल थे।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...