विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 24 अगस्त

मेडीकल एजुकेशन कमिश्नर द्वारा जायजा

जिला जनसम्पर्क कार्यालय, विदिषा मध्यप्रदेष शासन समाचार    मेडीकल एजुकेशन कमिश्नर द्वारा जायजा               विदिषा, दिनांक 24 अगस्त 2017   मेडीकल शिक्षा विभाग के आयुक्त श्री शिवशेखर शुक्ला ने आज विदिशा मंे निर्माणाधीन मेडीकल काॅलेज एवं जिला चिकित्सालय के भवनों का मौके पर जायजा लिया। इस अवसर पर कलेक्टर श्री अनिल सुचारी, अपर कलेक्टर श्री एचपी वर्मा भी साथ मौजूद थे।   आयुक्त श्री शुक्ला ने निर्माणाधीन भवनों में तकनीकी रूप से कोई त्रुटि ना हो का विशेष ध्यान रखते हुए स्मार्ट पार्किंग की व्यवस्था क्रियान्वित करने के निर्देश दिए। उन्होंने जिला चिकित्सालय और मेडीकल काॅलेज केम्पस के अन्दर आवागमन सुगमता से हो सकें इसके लिए ईजाद की गई व्यवस्थाओं का तैयार किया गया ड्रांइग चार्ट को देखा। पीआईयू के ईई श्री आसिफ मण्डल ने बताया कि जिला चिकित्सालय का निर्माण पीआईयू द्वारा किया जा रहा है जिसमें नर्सिंग टेªनिंग सेन्टर एवं आवासीय परिसर भी शामिल है। उन्होंने बताया कि जून 2018 तक जिला चिकित्सालय का निर्माण कार्य पूरा कराया जाना है अभी तक अस्सी प्रतिशत निर्माण कार्य विभाग के माध्यम से पूर्ण किया जा चुका है। कुछ निर्माण कार्यो के लिए रिवाईज स्टीमेंट स्वीकृति हेतु प्रेषित किया गया है। क्रं0/72/591/अहरवाल
मेडीकल शिक्षा विभाग के आयुक्त श्री शिवशेखर शुक्ला ने आज विदिशा मंे निर्माणाधीन मेडीकल काॅलेज एवं जिला चिकित्सालय के भवनों का मौके पर जायजा लिया। इस अवसर पर कलेक्टर श्री अनिल सुचारी, अपर कलेक्टर श्री एचपी वर्मा भी साथ मौजूद थे। आयुक्त श्री शुक्ला ने निर्माणाधीन भवनों में तकनीकी रूप से कोई त्रुटि ना हो का विशेष ध्यान रखते हुए स्मार्ट पार्किंग की व्यवस्था क्रियान्वित करने के निर्देश दिए। उन्होंने जिला चिकित्सालय और मेडीकल काॅलेज केम्पस के अन्दर आवागमन सुगमता से हो सकें इसके लिए ईजाद की गई व्यवस्थाओं का तैयार किया गया ड्रांइग चार्ट को देखा। पीआईयू के ईई श्री आसिफ मण्डल ने बताया कि जिला चिकित्सालय का निर्माण पीआईयू द्वारा किया जा रहा है जिसमें नर्सिंग टेªनिंग सेन्टर एवं आवासीय परिसर भी शामिल है। उन्होंने बताया कि जून 2018 तक जिला चिकित्सालय का निर्माण कार्य पूरा कराया जाना है अभी तक अस्सी प्रतिशत निर्माण कार्य विभाग के माध्यम से पूर्ण किया जा चुका है। कुछ निर्माण कार्यो के लिए रिवाईज स्टीमेंट स्वीकृति हेतु प्रेषित किया गया है।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...