राहुल बाबा अमेरिका से हमसे सवाल पूछते हैं : अमित शाह

rahul-gandhi-ask-questions-from-usa-amit-shah
रांची 16 सितम्बर, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने आज कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर चुटकी लेते हुए कहा कि राहुल बाबा अमेरिका से हमसे सवाल पूछते हैं कि हमने क्या किया। श्री शाह ने झारखंड दौरे के दूसरे दिन रांची के हरमू मैदान में आयोजित गरीब कल्याण मेला को संबोधित करते हुए कहा कि राहुल बाबा आपने जीतना दिया उससे तीन गुणा हमने दिया है। लोगों को जवाब देने तो हम झारखंड आये हैं। उन्होंने कहा कि राहुल बाबा आपकी चार पीढ़ियों ने काम किया और आप उनके काम का हिसाब दें। उन्होंने कहा कि झारखंड को अटल बिहारी वाजपेयी ने बनाया है और अब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी संवारेंगे। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि श्री मोदी हर मोर्चे पर झारखंड के साथ हैं और झारखंड के विकास के लिए चट्टान की तरह साथ खड़े हैं । उन्होंने झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास को अच्छे काम के लिए संगठन और पार्टी के करोड़ों कार्यकर्ता की ओर से बधाई दी तथा राज्य सरकार के 1000 दिन पूरे होने को लेकर अग्रिम शुभकामनाएं दीं । श्री शाह ने कहा कि आज झारखंड गुजरात के बाद सबसे तेजी से विकास करने वाला राज्य है । झारखंड की सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) 8.6 प्रतिशत की दर से बढ़ रही है । एक हजार करोड़ रुपये आदिवासियों के कल्याण के लिए दिये गये हैं । हमारी सरकार का लक्ष्य झारखंड को विकसित राज्य बनाना है । उन्होंने कहा कि देश के 110 दिनों की यात्रा के क्रम में झारखंड के दौरे पर आये हैं और हर बड़े राज्य का तीन-तीन दिन का दौरा कर रहे हैं । मुख्यमंत्री श्री दास ने 1000 दिन में झारखंड का कायाकल्प कर दिया। उन्होंने कहा कि एक हजार दिन पूरे होने पर श्री दास का महिमामंडन होना था, लेकिन रघुवर सरकार ने गरीब कल्याण के रास्ते को चुना। 


भाजपा अध्यक्ष ने इस अवसर पर कुल 340 करोड़ की राशि से 46325 लाभुकों को सरकार की विभिन्न योजनाओं से लाभान्वित करने के बाद कहा कि अंत्योदय के सिद्धांत और दर्शन पर केंद्र और राज्य सरकार निर्णायक ढंग से कार्य कर रही है। रघुवर सरकार ने 1000 दिन में दिखा दिया कि विकास के लिए परिवर्तन कैसे होता है। गरीब कल्याण मेला का आयोजन कर सरकार गरीबों के पास जाने का कार्य कर रही है। यह झारखंड सरकार का अद्वितीय और सराहनीय कदम है। रघुवर सरकार ने गरीब मेला प्रारंभ किया है , यह उनकी प्राथमिकता और उनकी दिशा को परिलक्षित करता है। अब झारखंड को लेकर अमीर राज्य के गरीब लोग की अवधारणा को समाप्त करने की दिशा मे कार्य हो रहा है। धीरे धीरे राज्य समृद्ध हो रहा है। गरीबी रेखा से लोग ऊपर उठ रहे हैं। प्रधानमंत्री के नेतृत्व में राज्य सरकार विकास के कार्य कर रही है। इसका परिणाम है कि झारखण्ड़ आज विकास वृद्धि में 8.6 है जो पूरे देश में दूसरे स्थान पर है। श्री शाह ने कहा कि आजादी के बाद से पूर्वी भारत और झारखंड उपेक्षित रहा था, लेकिन प्रधानमंत्री इस क्षेत्र के विकास के लिए चट्टान की तरह अडिग और कटिबद्ध हैं। उन्होंने कहा कि अब पूर्वी भारत के विकास की शुरुआत हुई है। यहां के खनिज पूरे देश का विकास कर सकते हैं। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने खनिज संपदा से लबरेज झारखंड राज्य को विगत तीन साल के शासन काल में एक लाख 17 हजार करोड़ का रेवेन्यू दिया है। मिनरल डेवलपमेंट फंड के माध्यम से 1000 करोड़ रुपए आदिवासी कल्याण के लिए चिन्हित किया गया है। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार महान विचारक एवं चिंतक पं. दीनदयाल उपाध्याय के बताए मार्ग पर चलते हुए कार्य कर रही है। अब तक दो करोड़ 80 लाख महिलाओं के बीच रसोई गैस का वितरण किया गया। सात करोड़ 64 लाख युवाओं को 10 हजार से 10 लाख तक का लोन उपलब्ध कराया गया है। केंद्र सरकार लोगों के कल्याण के लिए 106 जन कल्याणकारी योजनाएं संचालित कर रही हैं। आजादी के बाद से 19 हजार गांव बिजली की सुविधा से वंचित थे, लेकिन केंद्र सरकार ने अपने तीन साल के शासन के दौरान 14 हजार गांव को बिजली से रौशन कर दिया है वहीं 26 मई 2018 तक शेष गांव भी बिजली से आच्छादित हो जाएंगे। 

श्री शाह ने कहा कि केन्द्र के तीन साल के शासन काल में भ्रष्टाचार का एक भी आरोप विपक्ष नहीं लगा पाया । पूरी पारदर्शिता से सरकार कार्य कर रही है । वर्ष 2014 के चुनाव में जब प्रधानमंत्री लोगों को संबोधित करते थे तो हमेशा कहते थे, पूर्वी भारत का हिस्सा विकास से दूर है और अगर उनकी सरकार बनी तो पश्चिमी भारत की तरह पूर्वी भारत को भी विकसित बनाया जाएगा। इसी को लेकर केंद्र सरकार पूर्वी भारत में विकास की नई गाथा लिखने का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार अपने तीन साल के कार्यकाल का ब्यौरा प्रस्तुत कर रही है। 50 साल तक इस देश में राज करने वाले भी हिसाब दें कि उन्होंने देश के लिए क्या किया। उन्होंने कहा कि पहले योजना का लाभ लेने के लिए गरीबों को सरकार के पास आना पड़ता था लेकिन अब झारखंड सरकार गरीबों के पास जा रही है जो एक अच्छी शुरुआत है। रघुवर दास के नेतृत्व में स्थिर सरकार मिली है। वे दिन रात राज्य की सेवा में लगे हैं। इस अवसर पर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि शासन नहीं हम सेवा के लिए सत्ता में है। आजादी के बाद स्वराज प्राप्त हुआ अब सुराज प्राप्त करने के लिए हमारी सरकार प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी के मार्गदर्शन में राज्य सरकार ने गांव, गरीब, किसान, आदिवासी, दलित, शोषित और पिछड़ों के जीवन स्तर को ऊपर उठाने का प्रयास किया है और आने वाले दिनों में भी इन वर्गों के जीवन में बदलाव लाने के लिए राज्य का खजाना गरीबों के कल्याण पर खर्च करने की योजना है। गरीब कल्याण मेला को लेकर विभागवार एवं जिलावार प्रतिस्पर्धा शुरु हो चुकी है। हर जिले में प्रभारी मंत्री इसका आयोजन कर राज्य के लोगों को विभिन्न योजनाओं का लाभ दे रहे हैं। हमारा प्रयास है मेला के माध्यम से गरीबों के जीवन में चेतना लाना और प्रधानमंत्री के नेतृत्व में 2022 तक गरीबी का उन्मूलन करना । श्री दास ने कहा कि 1000 दिनों के कार्यकाल में जनधन योजना के तहत एक करोड़ एक लाख बैंक खाता खोला गया। प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत दो लाख 28 हजार लोगों का बीमा हुआ। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत 04 लाख 72 हजार लोगों को लाभ दिया गया। इसी तरह प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना के तहत 04 लाख 94 हजार लोग लाभांवित हुए । स्टैंड अप इंडिया के तहत 574 लाभुक लाभांवित हुए और उनका 110. 45 करोड़ का ऋण स्वीकृत किया गया। राज्य सरकार ने बैंकों को स्पष्ट निर्देश दिया है की स्टैंड अप इंडिया के तहत 10 लाख से 01 करोड़ तक का लोन राज्य के लोगों को उपलब्ध कराएं। साथ ही स्टैंड अप योजना के तहत 400 बस का वितरण अनुसूचित जाति ,अनुसूचित जनजाति एवं अन्य पिछड़े वर्ग के लोगों के बीच किया गया है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड देश का पहला राज्य बना जहां प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत गैस के साथ चूल्हा भी दिया जा रहा है। 08 लाख लाभुकों को इस योजना के तहत अब तक गैस और चूल्हा दिया जा चुका है। इस योजना से वर्ष 2018 तक 18 लाख लोग लाभांवित होंगे। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत 16 लाख 97 लोगों को बीमा का लाभ मिला है । राज्य की महिलाओं को स्वरोजगार और उन्हें स्वालंबी बनाने के लिए अब तक 26 हजार महिलाओं को अनुदान पर दो गाय उपलब्ध कराया गया है। आने वाले दिनों में 50 हजार महिलाओं को इस योजना का लाभ मिलेगा। ग्रामीण महिलाओं के हुनर को तराशने के लिए मुख्यमंत्री उधमी बोर्ड का गठन किया गया है। इस योजना के तहत 32 हजार गांव में 15 महिलाओं का समूह तैयार किया जाएगा। इस तरह 4 लाख 80 हजार महिलाओं को प्रशिक्षण देकर उन्हें स्वालंबन की ओर अग्रसर करने की योजना राज्य सरकार की है। श्री दास ने कहा कि जनजाति समाज के उत्थान के लिए 12 सौ करोड़ की जोहार योजना का लाभ महिलाओं को मिलेगा जिससे वह मुर्गी और बकरी पालन जैसे व्यवसाय से खुद को जोड़ सकेंगे । गरीबी समाप्त करना है तो शिक्षित होना होगा। संथाल परगना और सिंहभूम शिक्षा के मामले में थोड़े पीछे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार झारखंड को शिक्षित प्रदेश की श्रेणी में लाने के लिए कार्य कर रही है। राज्य के लोग बालिका शिक्षा पर अधिक जोर दें, क्योंकि अगर एक महिला शिक्षित होती है तो पूरा परिवार शिक्षित होता है। उन्होंने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय के अंत्योदय मंत्र के अनुरूप राज्य सरकार समाज के अंतिम व्यक्ति तक विकास की किरण पहुंचा रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 2022 तक देश में कोई बेघर, बगैर दवा न रहे, लोगों को रोजगार मिले, महिलाएं सशक्त हों के मंत्र के साथ राज्य सरकार काम कर रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि नशा अभिशाप है। राज्य सरकार नशामुक्त गांव को एक लाख रुपया इनाम में देगी। नशा मुक्ति के लिए समाज का जागरूक होना बेहद जरूरी है। समाज अगर जग गया तो स्वतः शराब बंद हो जाएगा। कार्य ऐसा हो कि 2022 तक कोई भी बेघर, दवा और बिजली जैसी मूलभूत सुविधाओं के बगैर नहीं रहे । 

सार्वजनिक वितरण एवं उपभोक्ता मंत्री सरयू राय ने कहा कि इसके आयोजन और परिसंपत्तियों के वितरण से लोग लाभांवित होंगे। राज्य की अर्थव्यवस्था एवं आर्थिक स्थिति में सुधार हुआ है। राज्य के विकास दर में वृद्धि हुयी है। आम लोगों को राज्य सरकार की योजनाओं का सीधा लाभ मिले इसका प्रयास किया जा रहा है। श्री राय ने कहा कि राज्य की जनता खुशी महसूस करें और लोगों के चेहरे पर मुस्कुराहट हो इसका प्रयास राज्य सरकार कर रही है। विभिन्न विभागों के सहयोग से पूंजी का सृजन किया जा रहा है ताकि क्षेत्रीय विषमता को दूर किया जा सके। इस मौके पर प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत सांकेतिक तौर पर वीना टोप्पो, सोनी बेग, मुद्रा कार्ड योजना के तहत मंगल उरांव, ओमप्रकाश शाह, फसल बीमा योजना के तहत सविता रंजन घोष, अशोक कुमार मंडल, दुधारू पशु वितरण योजना के तहत रीना देवी, वेदव्यास आवास योजना के तहत मंसाराम, ई.पॉश मशीन वितरण के तहत श्रीमती सुनीता गाड़ी, मत्स्य जाल वितरण के तहत बासमती देवी, फिश क्रेडिट कार्ड के तहत जीवन केवट, पंपसेट के तहत मोहन राम, मधुमक्खी पालन के तहत सुनीता देवी, मुख्यमंत्री स्मार्टफोन योजना के तहत पूनम देवीए, बैंक लोन योजना के तहत संगीता देवी, मुद्रा योजना के तहत हनी लता और ग्रामीण बस सेवा के तहत इंदु गुप्ता को सांकेतिक तौर पर परिसंपत्तियां सौंपी गयी । कार्यक्रम में केंद्रीय राज्य मंत्री श्री जयंत सिन्हा, केंद्रीय राज्य मंत्री सुदर्शन भगत, झारखंड सरकार के सभी मंत्री, सांसद, पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा, राज्य के मुख्यसचिव के अलावा कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे । 
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...