हार्दिक, कन्हैया लड़ाके लड़के हैं : उमा

hardik-kanhaiya-fighter-boys-says-uma
भोपाल 31 अक्टूबर, केंद्रीय मंत्री और मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने इशारों-इशारों में पाटीदार नेता हार्दिक पटेल और जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के नेता कन्हैया कुमार की प्रशंसा करते हुए कहा कि दोनों लड़ाके लड़के हैं, लेकिन वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विरोध में बोलकर टीआरपी हासिल करने की कोशिश में अपनी जमीन (जन समर्थन) तैयार नहीं कर पा रहे हैं। राजधानी प्रवास पर आई उमा भारती ने मंगलवार को अपने आवास पर संवाददाताओं से चर्चा के दौरान एक सवाल के जवाब में कहा, "हार्दिक पटेल एक अच्छे लड़ाके (जुझारु) लड़के हैं, वह अभी जितना गैर राजनीतिक (नॉन पॉलिटिकल) रहेंगे, उतनी ही उनकी ताकत बढ़ेगी, मैं हार्दिक को मॉनीटर कर रही हूं। कन्हैया कुमार को भी मॉनीटर किया था, अगर उसने भी प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ टिप्पणियां नहीं की होती, तो वह भी अच्छा लड़ाका होता।" उमा भारती ने आगे कहा कि हार्दिक को यह समझना चाहिए कि मोदी गुजरात का गौरव हैं, वे उत्तर प्रदेश के निवासी नहीं हैं, मगर उन्हें वहां की जनता ने जिताया। अभी गुजरात की जनता उनके साथ खड़ी होगी और विधानसभा चुनाव में फिर भाजपा भारी बहुमत से जीतने वाली है। उन्होंने हार्दिक को सलाह दी है कि वह अपने को गैर राजनीतिक रखें, क्योंकि गैर राजनीतिक रहने से उनकी ताकत बढ़ेगी और उसे अपनी पाटीदार आरक्षण की लड़ाई जारी रखनी चाहिए। उन्होंने आगे कहा, "कन्हैया कुमार ने अगर प्रधानमंत्री के खिलाफ टिप्पणी नहीं की होती तो वह भी एक अच्छा लड़ाका लड़का निकल रहा था। इन लोगों को कुछ हो जाता है और लगता है कि मोदी के खिलाफ बोलने से टीआरपी मिलती है, टीआरपी के चक्कर में ये अपने नीचे जमीन नहीं खड़ी कर पाते। मोदी के खिलाफ बोलने पर टीआरपी तो है, मगर जमीन (जनाधार) नहीं।" उमा ने दिग्विजय सिंह की नर्मदा परिक्रमा पर कहा, "दिग्विजय सिंह बड़े भाई हैं और भैया-भाभी नर्मदा जी की परिक्रमा कर रहे हैं। वह मुझे बुलाएंगे तो जरूर जाऊंगी और भंडारा में खाने भी जाऊंगी।" अमेरिका यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा मध्य प्रदेश की सड़कों को अमेरिका से बेहतर बताए जाने का उन्होंने समर्थन करते हुए कहा कि मध्य प्रदेश की सड़कें अमेरिका की सड़कों से अच्छी हो सकती हैं, क्या अमेरिका की सड़कें खराब नहीं हो सकतीं।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...