मधुबनी : दृष्टि फाउंडेशन के प्रशिक्षण कार्यक्रम

Live aaryaavrt dot com
कुछ ऐसे लोग जो किसी संस्थान से कभी ताल्लुक रखते हों और फ़िलहाल मे किसी और संस्थान मे अपनी सेवा दे रहे हों तो सामान्यतया ऐसे लोगों को “ALMUNI” के नाम से पुकारा एवं जाना जाता है l ऐसे ही कुछ लोगों की भीड़ दृष्टि फाउंडेशन के सौराठ, मधुबनी स्थित “दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना” के प्रशिक्षण केंद्र दिखी l यह योजना वर्ष 2014 से संचालित है एवं करीब 500 बी.पी.एल परिवार के बच्चों को “एग्रीकल्चर एक्सटेंशन सर्विस प्रोवाइडर “ का प्रशिक्षण दिलाया गया है l इस केंद्र से प्रशिक्षण प्राप्त बच्चे जो आज विभिन्न कम्पनी मे कार्यरत हैं उन्होंने अपना अनुभव उन बच्चों के साथ साझा किया जो अभी तक रोजगार नहीं प्राप्त कर पाए हैं l कार्यक्रम का उद्घाटन सुश्री ऋचा गार्गी (जिला परियोजना पदाधिकारी – जीविका ), रोशन प्रकाश (मेनेजर जॉब्स – जीविका), एवं “दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना” के राज्य स्तर पर प्लेसमेंट मोनिटर करने एवं इस योजना के लिए दृष्टि फाउंडेशन के नोडल पदाधिकारी श्री धनञ्जय द्वेदी ने दीप जला के किया l दृष्टि के जोनल मेनेजर रिटायर्ड एयरफोर्स  ग्रुप कप्तान  श्री इंदुभूषण ठाकुर एवं इस प्रोजेक्ट के स्टेट हेड श्री अजय कुमार ने बच्चों के वर्तमान उपलब्धि पर बधाई एवं उनके स्वर्णिम भविष्य के लिए भी शुभ कामना दी l सरोज कुमार कामत , माला कुमारी, राजेश कुमार कामत, कल्याणी कुमारी,रोशन कुमार, प्रतिक कुमार, गायत्री कुमारी , कमलेश मुखिया संग दर्जनों छात्र-छात्राओं ने अपने अनुभव साझा किये l सरोज जन्हा  अपने छोटे भाई को मेडिकल की तयारी  करने के लिए हर माह दस हजार अपने परिवार को दे रहे हैं वन्ही गायत्री जो की पैर से दिव्यांग होते हुए भी 35 किलोमीटर की दुरी प्रतिदिन तय करके नौकरी करती है , गायत्री की जीवटता उन लोगों के लिए सिख  है जो अनुकूल संसाधनों के होने के बावजूद भी नौकरी करने मे हिचकते है l गायत्री जैसे बच्चे उन सभी बच्चों  के लिए उदहारण हैं जो विपरीत परिस्थितियों मे चलने की हिम्मत रखते हैं l इस प्रोजेक्ट के क्वालिटी हेड राजीव रंजन दास ने बताया की इस बच्चों को इस योजना के अंतर्गत बेहतर नौकरी के विकल्प दिए जा रहे हैं , वन्ही श्री धनञ्जय द्वेदी ने बताया की अगले माह की ८ एवं ९ तारीख को मधुबनी मे रोजगार मेला लगाया जायेगा जिसमे ज्यादा से जयादा नौकरी के विकल्प सामने लाये जायेंगे , उम्मीद है की हम और बच्चों को रोजगार से जोड़ पाएंगे l इस कार्यक्रम का सञ्चालन राजीव रंजन दास ने की वन्ही इस प्रोजेक्ट के नियोजन पदाधिकारी इन्द्रेश झा एवं अरुण झा ने बच्चों को अपने क्षेत्र मे बेहतर देने के लिए प्रोत्साहित किया l
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...