मेदांता अस्पताल के डॉक्टर कर रहे हैं स्वास्थ्य जांच!

हितकर हिमालय के स्वास्थ्य कैम्प में जुटे सैकड़ों ग्रामीण, क्षेत्रीय व 

Medical-camp-by-medanta-hospital
पौड़ी 9 नवम्बर 2017 , उत्तरकाशी जिले में मनारी-भाली क्षेत्र में आये सन 1991 के भूकम्प की पीड़ा ने न सिर्फ उस दौर में पहाड़ को झकझोरा बल्कि उस त्रासदी ने दिल्ली व उसके आस-पास रह रहे प्रवासी प्रबुद्ध उत्तराखंडी जनमानस को भी हिलाकर रख दिया था। ऐसे में इन प्रवासियों ने यथासम्भव सहायता के लिए हेल्पेज गढ़वाल नामक एक संगठन बनाया और उस सहायता राशि के माध्यम से उत्तरकाशी भूकम्प प्रभावित को यथासम्भव सहायता प्रदत्त की । बस फिर क्या था तब से शुरू हुए इस संगठन ने आखिर "हितकर हिमालय" संस्था नाम से एक सामाजिक संगठन शुरू कर दिया जो पहाड़ में पहाड़ के हिसाब से विभिन्न क्षेत्रों में कार्य करती आ रही है। इस बारे में जानकारी देते हुए संस्था के आमंत्रित सदस्य मेजर जनरल (से.नि.) एस वी थपलियाल ने कहा कि संस्था विगत बर्षों में उत्तराखण्ड के कई ऐसे निर्धन छात्र- छात्राओं को छात्रवृत्ति दे रही है जो होनहार हैं, यही नहीं हितकर हिमालय द्वारा विगत सरकार में उत्तराखण्ड के 13 जनपदों की 26 शिक्षिकाओं को राष्ट्रीय बाल भवन दिल्ली में 10 दिवसीय कार्यशाला में कंप्यूटर प्रशिक्षण भी दिया गया है। हितकर हिमालय के अध्यक्ष सुधीर रंजन बहुगुणा ने जानकारी देते हुए कहा कि इन स्वास्थ्य कैम्पों को संस्था विक्टोरिया क्रॉस स्व. दरबान सिंह नेगी को समर्पित करती है जिन्होंने युद्ध में अभूतपूर्व पराक्रम से अंग्रेज शासकों से अपने क्षेत्र कर्णप्रयाग में इनाम स्वरूप विद्यालय खोलने की गुजारिश की थी आज वही विद्यालय अपना शताब्दी बर्ष मनाने के करीब ही।उन्होंने बताया कि संस्था के जितने भी स्वास्थ्य शिक्षा व अन्य विधाओं से जुड़े कार्य हैं वे स्वैच्छिक आर्थिक सहायता से संचालित होते आये हैं। उन्होंने कहा कि इस बार वे इंटर कालेज जखेटी व इंटर कालेज परसुंडाखाल में स्वास्थ्य कैम्प चला रहे हैं जिनमें सैकड़ों ग्रामीणों को स्वास्थ्य लाभ दिया जा रहा है जिसमें देश के सुप्रसिद्ध मेदांता अस्पताल के डॉक्टर्स की टीम के साथ पौड़ी व कोटद्वार के शासकीय डॉक्टर्स अपनी सेवाएं दे रहे हैं जिनमें डॉ. एस के तनेजा, डॉ. सर्वेन कुमार सिंह रावत, डॉ. राकेश सकलानी, डॉ. सुनील प्रकाश, डॉ. स्निग्धा जोशी इत्यादि शामिल हैं।

मेदांता अस्पताल दिल्ली से स्वास्थ्य शिविर देख रहे डॉ. एस. के. तनेजा ने बताया कि मेदांता से 26 सदस्यीय टीम आई है जो मधुमेह, हृदयरोग, फेफड़े की बीमारी, हड्डी एवम जोड़ों का दर्द, रक्तचाप, स्नायु तंत्र सम्बन्धी बीमारी, कैंसर, स्त्री रोग, शिशु उपचार,दन्त चिकित्सा, नेत्र रोग इत्यादि की जांच कर यथासम्भव दवाइयां दे रहे हैं। कैम्प के सैकड़ों ग्रामीणों को स्वास्थ्य लाभ दिया गया है। डॉ. स्निग्धा जोशी बताती हैं कि ज्यादात्तर ग्रामीण महिलाएं मूत्र व यूट्रस सम्बन्धी रोगों से पीड़ित हैं। क्षेत्रीय महिलाओं में हिमोग्लोबिन की कमी व हड्डियों के दर्द की बातें सामने आई हैं जिससे यह प्रतीत होता है कि महिलाएं अपनी दिनचर्या को सही तरीके से नहीं जी रही हैं। हितकर हिमालय की ओर आयोजित इस कैम्प में संस्था के अध्यक्ष सुधीर रंजन बहुगुणा,  महासचिव  श्रीमती रेखा थपलियाल, कोषाध्यक्ष श्रीमती उर्मिला रावत, डॉ माधुरी सुबोध, श्रीमती काला, मेजर जनरल अवकाश प्राप्त  शेरू थपलियाल, एडमिरल अवकाशप्राप्त राकेश काला, वरिष्ठ पत्रकार मनोज इष्टवाल, वरिष्ठ पत्रकार योगेश भट्ट , प्रधानाचार्य इंटर  कालेज परसुंडाखाल विमल नेगी प्रभारी प्रधानाचार्य इंटर कालेज जखेटी महिपाल रावत व दोनों विद्यालयों के अधयापकों व जनप्रतिनिधियों इत्यादि ने शिरकत की।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...