विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 27 नवम्बर

मुख्यमंत्री स्वरोजगार एवं कौशल सम्मेलन में लाभांवित हुए हितग्राही 
  • स्वरूचि अनुरूप व्यवसाय का चयन करें-राज्यमंत्री श्री मीणा

vidisha news
मुख्यमंत्री स्वरोजगार एवं कौशल का आज जिला स्तरीय सम्मेलन एसएटीआई के प्रागंण में आयोजित किया गया था। कार्यक्रम स्थल पर विकास कार्यो का लोकार्पण एवं भूमिपूजन तथा स्वरोजगारमूलक योजना से लाभांवित हितग्राहियों को मौके पर राशियों के चेक एवं सामग्री का वितरण अतिथियों द्वारा किया गया।राज्यमंत्री श्री सूर्यप्रकाश मीणा ने अपने उद्बोधन में युवाओं से कहा कि वे स्वरूचि अनुरूप व्यवसाय का संचालन करें। शासन की योजनाओं के तहत निःशुल्क प्रशिक्षण मुहैया कराया जा रहा है वही हितग्राहियोें को अनुदान पर व्यवसाय संचालन हेतु बैंकोे के माध्यम से लोन उपलब्ध कराया जा रहा है। राज्यमंत्री श्री मीणा ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने प्रदेश में युवाओं के लिए पढ़ाई की व्यवस्था की। प्रदेश में युवाजन बेरोजगार ना रहें इसके लिए शासकीय विभागोेें में नौकरियों के साथ-साथ स्वरोजगारमूलक योजनाओं का क्रियान्वयन कराया जा रहा है ताकि युवाजन स्वंय सक्षम होकर अन्य को रोजगार देने में अपना योगदान देें सकें। जिला पंचायत अध्यक्ष श्री तोरण सिंह दांगी ने प्रदेश में क्रियान्वित स्वरोजगारमूलक योजनाओं का हवाला देते हुए कहा कि युवाओं की दशा और दिशा बदलने में योजनाओं का अतुलनीय योगदान है। विधायक श्री कल्याण सिंह ठाकुर ने युवाओं से आग्रह किया कि वे योजनाओं का लाभ लेने के लिए आगे आएं। बैंको के माध्यम से मिलने वाले लोन की किश्तो को समय पर जमा कर बैंक के विश्वास पर खरे उतरे। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों की मांगो के अनुरूप स्वरोजगार का संचालन युवाजन करें का आग्रह किया। नगरपालिका अध्यक्ष श्री मुकेश टण्डन ने कहा कि परिवार आर्थिक रूप से सबल हो सकें। घर के युवाजन बेरोजगारी के दाग को ना ढोंये। इसमें स्वरोजगारमूलक योजनाओं का महत्वपूर्ण योगदान है। उन्होंने कहा कि देश के अनेक उद्योगपति व्यवसायी पहले मजदूरी कर अपना व्यवसाय का संचालन करना शुरू किया। बैंको के माध्यम से लोन प्राप्त कर व्यवसाय का बढाते गए और आज की तिथि में देश ही नही वरन विश्व के उद्योगपतियों में उनकी गणना हो रही है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने प्रदेश के युवाजनों को स्वंय का व्यवसाय संचालन कर रोजगारमुखी होने के लिए अनेक योजनाओं का सूत्रपात किया है। बैंको कके माध्यम से सुगमता से स्वरोजगार संचालन हेतु ऋण मिल सकें के भी प्रबंध सुनिश्चित किए है। काॅ-आपरेटिव बैंक के अध्यक्ष श्री श्यामसुन्दर शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चैहान ने युवाओं के विकास का जो संकल्प लिया है उसमें युवाओं की भी महती भूमिका है। शासन की स्वरोजगारमूलक योजनाओं की पहले जानकारी प्राप्त करें इसके पश्चात कौन सा व्यवसाय उनकी रूचि अनुसार है उसका प्रकरण योजना के अंतर्गत तैयार कराएं ताकि बैंको के माध्यम से सुगमतापूर्वक लोन स्वीकृत हो सकें। उन्होंने बैंकी की किश्त जमा करने पर भी बल दिया। जिला स्तरीय दीनदयाल अन्त्योदय समिति के उपाध्यक्ष श्री मनोज कटारे ने कहा कि शासकीय विभागोें में नौकरियां सीमित है किन्तु स्वरोजगार के क्षेत्र मेें अपार संभावना है। शासन जहां योजनाओं के तहत पहले प्रशिक्षण मुहैया कराता है फिर व्यवसाय के अनुरूप प्रकरण तैयार कर बैंको के माध्यम से लोन दिलाने का कार्य करता है जिसमें अनुदान भी शामिल है। इसके पश्चात युवाओं की महत्वपूर्ण जबावदारी है कि वे स्वरोजगार के क्षेत्र में स्वंय स्थापित हो और अन्य को रोजगार मिल सकंें ऐसा प्रयास करें। कलेक्टर श्री अनिल सुचारी ने कहा कि जिले के विभिन्न प्रशिक्षण संस्थानों में इस वर्ष अब तक 11 हजार युवाओं का पंजीयन कर उन्हें प्रशिक्षण मुहैया कराया गया है। विभिन्न योजनाओें के तहत उन्हें स्वरोजगारों से जोड़ा जा रहा है। आज के जिला स्तरीय उक्त सम्मेलन में 11 निजी कंपनियों के स्टाॅल भी कंपनियों के विभिन्न पदो की पूति हेतु लगाए गए है जिन पर 508 युवाओं के द्वारा पंजीयन कराया गया है कंपनियों के द्वारा 238 युवाओं का चयन किया गया है। सम्मेलन के दौरान युवाओं को काउंसलिंग टीम के द्वारा कैरियर मार्गदर्शन मुहैया कराया गया है वही विभिन्न विभागों के द्वारा योजनाओं पर आधारित प्रदर्शनी भी लगाई गई है। कलेक्टर श्री सुचारी ने युवाओं से कहा कि वे किसी भी प्रकार से अपने आप को कमजोर ना समझे। शासन उनकी हर संभव मदद के लिए तैयार है बशर्त पूर्ण ईमानदारी से अपना स्वरोजगार का क्रियान्वयन कर समाज के लिए प्रेरणा देने का काम करें। कार्यक्रम स्थल पर श्री शिवराज सिंह यादव, श्री लालाराम अहिरवार, श्री सोनकर के अलावा अन्य जनप्रतिनिधि तथा जिला पंचायत सीईओ श्री दीपक आर्य, अपर कलेक्टर श्री एचपी वर्मा, एसएटीआई के डायरेक्टर श्री जेएस चैहान, एसडीएम श्री रविशंकर राय के अलावा विभिन्न विभागों के अधिकारी, कर्मचारी, हितग्राही एवं कंपनियों के प्रतिनिधि मौजूद थे। 

लोकार्पण, शिलान्यास
कार्यक्रम स्थल पर अतिथियों द्वारा जिन निर्माण कार्यो का लोकार्पण, शिलान्यास किया गया है। 999.66 लाख की लागत से पूर्ण कराए गए चार भवनों का लोकार्पण किया गया है उनमें जिला वाणिज्यिकर कार्यालय भवन, जिला परिवहन कार्यालय भवन, अनुसूचित जाति कन्या प्री-मैट्रिक छात्रावास भवन, आईटीआई भवन शामिल है। इसी प्रकार के 440.70 लाख की लागत से कराए जाने वाले तीन निर्माण कार्यो का शिलान्यास भी इस दौरान किया गया है उनमें सीडब्ल्यूएसएन छात्रावास पचास सीटर, शासकीय कन्या महाविद्यालय में अतिरिक्त कक्ष एवं उन्नयन कार्य तथा जिला जेल की बाहरी बाउण्ड्रीवाल का निर्माण कार्य शामिल है।

हितग्राहियों पर एफआईआर दर्ज कराई गई

जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री दीपक आर्य के द्वारा योजनाओं के तहत हितग्राहियों को जारी राशि का दुरूपयोग करने वालो के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने के निर्देश जनपदों के सीईओ को दिए गए है। विदिशा जनपद पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती वंदना शर्मा ने बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आठ हितग्राहियों के द्वारा जारी राशि का दुरूपयोग करने पर उन सबके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की कार्यवाही की गई है। प्रधानमंत्री आवास योजना के जिन आठ हितग्राहियों पर एफआईआर दर्ज कराई गई है उनमें ग्राम पंचायत गढला के रज्जूलाल, ओमप्रकाश, रमेश रावत ओर मोती सिंह शामिल है। ग्राम पंचायत मूढराचक्क के भंवर सिंह, ग्राम पंचायत कनारी के रमेश सिंह, ग्राम पंचायत अमऊखेडी के संतोष तथा ग्राम पंचायत कोलिंजा के हल्लू शामिल है।

कांग्रेस की मांग पर प्रषासन ने लिया किसान हित में निर्णय 

विदिषाः वरिष्ठ कांग्रेस नेता शषांक भार्गव के नेतृत्व में प्रतिनिधि मंडल ने आज जिला कलेक्टर महोदय से मुलाकात कर किसानों की पीडा व्यवहारिक परेषारिनयों को लेकर चर्चा की। श्री भार्गव ने बताया कि मध्यप्रदेष सरकार की आॅनलाईन योजना के तहत् विदिषा जिले के लगभग 2700 किसानों ने निजी ट्रांसफार्मर के लिए रजिस्ट्रेषन करवाकर बांछित राषि विद्युत विभाग के पास जमा कर चुके है। लेकिन अभी भी कई किसानों को ट्रांसफार्मर नहीं मिल पाए है। जिससे वे अपने खेतों में सिंचाई से वंचित है। आज प्रतिनिधि मंडल ने जिला कलेक्टर महोदय से मांग की जिन किसानों ने ट्रांसफार्मर के लिए राषि विद्युत विभाग के पास जमा कर दी है उन किसानों को अस्थायी कनेक्षन की राषि जमा करवाये बिना ही उनके खेत के आसपास के ट्रांसफार्मर से विद्युत मोटर पम्प चलाने की सुविधा मिलना चाहिए। प्रतिनिधि मंडल की मांग को सुनते हुए जिला कलेक्टर ने विद्युत मंडल के एस.ई. से चर्चा का आष्वासन दिया कि नए ट्रांसफार्मर के लिए राषि जमा कर चुके किसानों को अन्य किसी ट्रांसफार्मर से विद्युत कनेक्षन लेने पर अस्थाई कनेक्षन की राषि जमा नहीं करना होगी। शीघ्र ही इस संबंध में विभागीय आदेष भी जारी किया जायेगा। इस अवसर पर कांग्रेस के प्रतिनिधि मंडल के किसान नेता मोहरसिंह रघुवंषी, ब्लाॅक कांग्रेस अध्यक्ष दीवान किरार, अनुज लोधी उपस्थित थे। 
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...