मुख्यमंत्री के काफिले पर हमले में राजद नेता के हाथ हैं तो सरकार गिरफ्तार करे : तेजस्वी

cm-arrest-rjd-leader-challeneg-tejaswi
पटना 19 जनवरी, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता और पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने बक्सर में मुख्यमंत्री के काफिले पर हमले को खुफिया तंत्र की विफलता बताया और चुनौती देते हुए कहा कि राजद नेताओं पर बेबुनियाद आरोप लगाने के बजाये यदि सरकार के पास उनके खिलाफ कोई ठोस सबूत है तो वह उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेजे । श्री यादव ने आज यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मुख्यमंत्री सिर्फ अपना चेहरा चमकाने के लिए यात्रा कर रहे हैं। बक्सर के नंदन गांव के दलित लोग तो सिर्फ इतना चाहते थे कि मुख्यमंत्री उनके टोले में भी चलें और देखें कि कितना विकास उन तक पहुंचा है। दलित टोले के लोग इसके लिए पिछले कई दिनों से सरकारी अधिकारियों से गुहार लगा रहे थे। मुख्यमंत्री का काफिला गुजरने से पहले पुलिस ने सड़क किनारे खड़े लोगों पर लाठियां चटकाई। इससे लोग भड़क गए और पथराव किया ।  नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि सरकार के खिलाफ लोगों में गुस्सा है और यही कारण है कि मुख्यमंत्री तथा उप मुख्यमंत्री पर हमला हो रहा है । यह पूरी तरह से सरकार के खुफिया तंत्र, पुलिस और प्रशासन की विफलता है । उन्होंने कहा कि सरकार अपनी विफलताओं को छुपाने के लिए आरोप लगा रही है कि हमले के पीछे राजद का हाथ है । यदि सरकार के पास राजद नेताओं के खिलाफ कोई सबूत है तो वह अनर्गल आरोप लगाने के बजाये उन्हें गिरफ्तार करे ।

श्री यादव ने कहा कि मुख्‍यमंत्री विकास समीक्षा यात्रा के दौरान एक ही योजनाओं को तीन-तीन बार शिलान्‍यास कर रहे हैं और कहते हैं कि उन्होंने महिलाओं का सशक्तिकरण किया। लोगों को रोजगार दिया। उन्होंने कहा कि श्री कुमार को बताना चाहिए कि आखिर जब इतना काम किये हैं तो हर जगह विरोध क्‍यों हो रहा है। बेगूसराय में हवाई फायरिंग तक करवानी पड़ी। नंदन गांव में भी लोगों पर अत्‍याचार किया जा रहा है। राजद नेता ने कहा कि सरकार यदि बेगुनाह दलितों पर अत्याचार बंद नहीं करती है और बेगुनाह लोगों पर से केस वापस नहीं लेती है तो उनकी पार्टी सरकार के खिलाफ आंदोलन शुरू करेगी । उन्होंने कहा कि वह कल खुद बक्सर के नंदन गांव जायेंगे और पीड़ित परिवारों से मुलाकात करेंगे । श्री यादव ने कहा कि जब राज्य में उनकी सरकार बनी थी तो यह निश्‍चय किया गया था कि सबसे पहले महादलित टोलों का विकास किया जाना है लेकिन ऐसा नहीं किया जा रहा है। नंदन गांव में महिलायें मुख्‍यमंत्री से मिलने के लिए खड़ी थी लेकिन पु‍लिसकर्मियों ने उन्‍हें मिलने नहीं दिया। उन्होंने कहा कि यदि मुख्यमंत्री उनसे मुलाकात कर लेते तो उनका क्या जाता । राजद नेता ने कहा कि राजधानी पटना में 25 लाख रुपये की फिरौती के लिए प्रॉपर्टी डीलर के बेटे की हत्या कर दी गयी । सच्चाई है कि बिहार में कानून व्यवस्था पूरी तरह चौपट है। अपराधी बेशर्मी से नंगा नाच कर रहे है, हर गांव-शहर में दनादन गोलियों की बरसात हो रही है। राज्य में जंगलराज ही नहीं महाजंगल राज और अपराधियों का आतंकराज है। उन्होंने कहा कि सरकार अपनी नाकामियों से लोगों का ध्यान हटाने के लिए मानव श्रृंखला बनाने में लगी है।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
Loading...