संसद में समर्थन के बाद जीएसटी का विरोध अनुचित: मोदी

suport-in-parliament-oppose-outsite-the-gst-is-not-good-pm
नयी दिल्ली 21 जनवरी , प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) काे संसद में समर्थन देने के बाद बाहर इसका विरोध करने के लिए विपक्ष की कड़ी आलोचना की है और कहा है कि यह सर्वसम्मति से पारित हुआ है लिहाजा अब इसका विरोध उचित नहीं हैं। श्री मोदी ने यहां एक निजी समाचार चैनल के साथ साक्षात्कार में कहा कि संसद में जीएसटी पर सात वर्ष तक चर्चा हुई। संसद के भीतर सभी दलों ने इस कर के सबंध में सर्वसम्मति से निर्णय लिया और बाहर आकर विपक्षी दल कुछ अलग ही बात कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि विपक्षी दलाें का संसद में उसके पक्ष में वोट करने के बाद अब उसके खिलाफ बोलना उचित नहीं है। उन्होंने कहा कि विपक्ष रोजगार को लेकर भी सरकार पर लगातार हमले कर रहा है लेकिन इन आरोपों में कोई दम नहीं है। उन्होंने कहा कि एक दिन में रेलवे ट्रैक निर्माण की दर दोगुनी हो गयी है, क्या इससे रोजगार उत्पन्न नहीं हो रहा है। विद्युतीकरण भी पहले की तुलना में दोगुना हो गया है, क्या इससे रोजगार उत्पन्न नहीं हो रहा है।  श्री मोदी ने कहा कि कुछ लोग हताश हो सकते हैं लेकिन ऐसी समस्याओं और चुनौतियों के बारे में बातचीत करके दूसरे लोगों को भी हताश करना उचित नहीं है, जो वास्तव में है ही नहीं। 
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
Loading...