दिल्ली व्यापार मेले में 6000 प्रदर्शक भाग लेंगे - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

मंगलवार, 13 नवंबर 2012

दिल्ली व्यापार मेले में 6000 प्रदर्शक भाग लेंगे


32वें सलाना भारतीय अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले (आईआईटीएफ) में देश और दुनिया भर से 6,000 से अधिक प्रदर्शक भाग लेंगे। 14 दिनों के इस व्यापार मेले में दक्षिण अफ्रीका को फोकस देश बनाया गया है। मेला बुधवार से शुरू हो रहा है और इसमें देश और दुनिया भर के 20 लाख से अधिक दर्शकों के पहुंचने की उम्मीद है।

बेलारूस इस बार मेले का साझेदार देश है और बेलारूस के प्रधानमंत्री मिखाइल वी. म्यास्निकोविच तथा राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी प्रगति मैदान में मेले का उद्घाटन करेंगे।  मेले के आयोजक भारतीय व्यापार संवर्धन संगठन (आईटीपीओ) के मुताबिक आईआईटीएफ भारत का सबसे बड़ा एकीकृत व्यापार मेला है। व्यापार मेले का पहला पांच दिन (14 से 18 नवम्बर) कारोबारी दर्शकों के लिए आरक्षित होगा। 19 से 27 नवम्बर को मेले में आम लोग पहुंच सकेंगे।

कारोबारी दर्शकों के लिए टिकट बुधवार से 26 मेट्रो स्टेशनों पर उपलब्ध रहेंगे। जबकि नागरिकों के लिए टिकट 19 नवम्बर से उपलब्ध रहेंगे। टिकट मूल्य साधारण कार्यदिवसों में वयस्कों के लिए 50 रुपये तथा बच्चों के लिए 30 रुपये है, जबकि सप्ताहांत में वयस्कों के लिए यह 80 रुपये तथा बच्चों के लिए 50 रुपये रखा गया है।

इस साल मेले का मुख्य थीम शब्द होगा 'भारत में कौशल विकास'। मेले में कॉस्मेटिक्स, स्वास्थ्य उत्पाद, सेवा क्षेत्र, परामर्श सेवा, उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स, घर और रसोई उपकरण, कपड़ा, चमड़े के उत्पाद, बैंक और बीमा तथा अन्य कई क्षेत्रों की कम्पनियां प्रदर्शनी लगाएंगी। अफगानिस्तान, पाकिस्तान, चीन, तुर्की, थाईलैंड जैसे 21 देशों से 250 विदेशी कम्पनियां प्रदर्शनी लगाएंगी। 2011 में भी मेले में दुनिया भर से कुल 6,000 कारोबारी संस्थानों ने प्रदर्शनी लगाई थी और 15 लाख से अधिक दर्शक पहुंचे थे।

कोई टिप्पणी नहीं: