कोडरमा मे महिला दिवस का आयोजन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 8 मार्च 2013

कोडरमा मे महिला दिवस का आयोजन

डोमचांचः कोडरमा मे पहली बार डोमचांच प्रखण्ड के सुदूावर्ती जन जातिय समुदाय बिरहोरों के बीच स्वयं सेवी संस्था संग्राम व मानवाधिकार जन निगरानी समिति वारानसी के संयुक्त तत्वाधान मे अंतरराष्ट्ीय महिला दिवस का आयोजन मसनोडीह के जियोरायडीह ग्राम में किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता जियोरायडीह ग्राम की सुमा बिरहोरनी ने की। 

कार्यक्रम की शुरूआत गांव की दो किशोरी मलिन व पारो ने संयुक्त रूप से गीत, लेगे लेगे मेनाक बोना जुवन को,, जुवन को,,,,, के साथ शुरू की कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए सुमा ने कहा कि हमनी के उपर आज भी सरकार के नजैर ना हव, हमनी कैसे खा हीं कैसे रहो ही, कौय देखेल ना आवो हव,,जंगल मंे सब कुछ खतम हो गेल हव, कि खैबी ककरो पता नाय हव, हमनी के एतना जमीन सरकार देले हव पर खेती करे के समान दतौ तब ने खेती करबै। आज हमनी के दिन है,आज हमनी सरकार से येहे कहो हिये कि हमनी के खेती करे के समान दै आर हमनी के जमीन खौज दै। हमनी खेती करबै। गुलबी बिरहोरनी ने कही कि हमनी सब के बैठ के विचार करैक हव कि हमनी के बाल बच्चा कैसे पढतौ रोज रोज जंगल ले जिबही तब। से हमनी के बच्चैन के स्कुल भेजेल पडतो। 

विघालय के शिक्षक  बबलू कुमार ने कहा कि संस्था की ओर से आपको आगे लाने की कोशिश की जा रही है आप आगे आ कर अपने बच्चे को पढायें प्रतिदिन बच्चो को स्कुल भेजे। वही मानवाधिकार कार्यकर्ता बसंत पासवान ने कहा कि हम सब आपके अधिकार की लडाई मे सामिल है। आपको जमीन मिलेगी और आपके बच्चों को अच्छी शिक्षा भी मिलेगी। बस आप अपने बच्चो को स्कुल भेजें। 

मंच संचालन संग्राम की डिम्पी देवी ने की। कार्यक्रम में प्रदीप बिरहोर, रामदेव पासवान (मुखिया) आरती बिरहोरनी,मालती बिरहोरनी,पारो बिरहोरनी,पिंकी बिरहोरनी,विरसी बिरहोरनी,बसंती  बिरहोरनी,गुडिया बिरहोरनी, निशा बिरहोरनी,बिरहोरनी,बिरहोर प्रधान बिरसा बिरहोर उपथित थे। धन्यवाद ज्ञापन संग्राम के सुमन कुमार मेहता व ओंकार विश्वकर्मा ने संयुक्त रुप से किया।  

1 टिप्पणी:

kavita verma ने कहा…

samaj ke antim chhor tak is jagruti ko pahuchaya jan hi sarthak mahila divas ka ayojan hai..