बीजेपी के साथ नीतीश का जाना विधानसभा जनादेश का होगा घोर अपमान: दीपंकर भट्टाचार्य - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 26 जुलाई 2017

बीजेपी के साथ नीतीश का जाना विधानसभा जनादेश का होगा घोर अपमान: दीपंकर भट्टाचार्य


  • महागठबंधन के बड़े दल होने के नाते बीजेपी की ओर नीतीश को जाने से रोकने की जवाबदेही लालू प्रसाद की.

lalu-responsiblity-to-stop-nitish-deepankar-bhattacharya
पटना 26 जुलाई, भाकपा-माले महासचिव काॅ. दीपंकर भट्टाचार्य ने नीतीश कुमार के इस्तीफे के बाद कहा है कि महागठबंधन की राजनीतिक एकता को नीतीश कुमार ने लगातार कमजोर किया है और उनमें भाजपा की ओर भागने की प्रवृत्ति रही है. नोटबंदी का सवाल हो, जीएसटी या फिर राष्ट्रपति चुनाव का मामला हो, इन सभी मामलों में नीतीश कुमार ने भाजपा का साथ देकर विपक्ष की एकता को कमजोर करने का काम किया है. उन्होंने कहा कि यदि नीतीश कुमार भाजपा से फिर गलबहियां करते हैं, तो यह बिहार विधानसभा चुनाव 2015 से घोर विश्वासघात होगा. नीतीश कुमार को यह याद रखना चाहिए कि बिहार की जनता ने भाजपा की जहीरले सांप्रदायिक व विभाजनकारी नीतियों के खिलाफ उन्हें वोट दिया था. यह भी कहा कि महागठबंधन का बड़ा दल होने के नाते यह राजद की जिम्मेवारी बनती है कि वह नीतीश कुमार को बीजेपी की तरफ से जाने रोकें और चुनाव में बिहार की जनता से किए गए वादों को पूरा करे.

एक टिप्पणी भेजें