झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 01 जुलाई - Live Aaryaavart

Breaking

सोमवार, 2 जुलाई 2018

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 01 जुलाई

विशाल मेगा स्वास्थ्य षिविर के साथ रोटरी क्लब मेन, रोटरी क्लब आजाद और इन्हरव्हील क्लब मेन तथा युवा शक्ति के नए सत्र का हुआ आगाज
मेगा स्वास्थ्य षिविर में 3 घंटें में 350 रोगियों ने करवाया अपना उपचार, समापन पर सभी चिकित्सकों एवं सेवाभावियों का हुआ सम्मान, तीन गंभीर रोगियो ंका बड़ौदा में रोटरी क्लब करवाएगा संपूर्ण निःषुल्क उपचार
jhabua news
झाबुआ। रोटरी क्लब ‘मेन’, रोटरी क्लब ‘आजाद’, इन्हरव्हील क्लब ‘मेन’ एवं इन्हरव्हील क्लब ‘युवा शक्ति’ के नवीन सत्र 2018-2019 का आगाज 1 जुलाई, रविवार को स्थानीय सिद्धेष्वर काॅलोनी स्थित आदर्ष विद्या मंदिर में मेगा स्वास्थ्य षिविर के भव्य आयोजन के साथ हुआ। इस मेगा स्वास्थ्य षिविर में सभी प्रकार के रोगों का निःषुल्क उपचार एवं निःषुल्क गोली-दवाईयों का वितरण पारूल सेवाश्रम बड़ौड़ा के चिकित्सकों एवं उनकी टीम द्वारा किया गया। इसके साथ ही पूरे षिविर में सभी चारो संस्थाओं के अलावा आयोजन में विषेष सहभागिता सोना-चांदी व्यापारी एसोसिएषन एवं रोटरेक्ट क्लब झाबुआ की भी रहीं। षिविर में 3 घंटे में कुल 350 रोगियों का उपचार किया गया। इस दौरान षिविर में आए 3 गंभीर रोगियों का बड़ौदा में संपूर्ण उपचार निःषुल्क रूप से रोटरी क्लब द्वारा किया जाना तय किया गया। समापन पर बड़ौदा से आए सभी चिकित्सकों एवं षिविर को सफल बनाने में विषेष सहयोग देने वाले सेवाभावियों का सम्मान हुआ। शिविर का शुभारंभ दीप प्रज्जवलन कर वरिष्ठ रोटेनियन प्रकाष रांका, नुरूद्दीनभाई बोहरा, षिविर संयोजक यषवंत भंडारी एवं संजय कांठी, प्रदीप जैन, प्रतापसिंह सिक्का, प्रमोद भंडारी, सहायक मंडलाध्यक्ष अजय रामावत, संतोष प्रधान, रोटरेक्ट क्लब सभापति नीरजसिंह राठौर, श्री संघ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष सुभाष कोठारी, भारतीय जैन संगठना के जिलाध्यक्ष अषोक संघवी, राज्य महिला आयोग सखी अर्चना राठौर, इन्हरव्हील क्लब मेन से ज्योति रांका, अध्यक्ष कल्पना सकलेचा, इन्हरव्हील क्लब युवा शक्ति से अध्यक्ष डाॅ. शैलू बाबेल, सचिव शीतलसिंह जादौन, सोना-चांदी व्यापारी एसोसिएषन अध्यक्ष नितीन धम्मानी, सचिव निखिल भंडारी एवं बड़ौदा सेवाश्रम हाॅस्पिटल के प्रमुख डाॅ. कुषल द्वारा संयुक्त रूप से किया गया। पश्चात् अतिथियों का स्वागत रोटरी क्लब मेन अध्यक्ष अमितसिंह जादौन (यादव), सचिव हिमांषु त्रिवेदी, रोटरी क्लब आजाद अध्यक्ष अजय शर्मा एवं सचिव देवेन्द्र पटेल ने किया। वर्ष 2018-2019 के इन चारो नवीन पदाधिकारियों का पुष्पमाला पहनाकर स्वागत रोटरी क्लब मेन के पूर्व अध्यक्ष उमंग सक्सेना, सचिव शैलेन्द्र चोरे, रोटरेक्ट क्लब अध्यक्ष रिंकू रूनवाल, उपाध्यक्ष दौलत गोलानी, सचिव राकेष पोतदार, कोषाध्यक्ष भावेष सोलंकी, युवा रोटेरियन अर्पित संघवी कार्तिका नीमा, प्रकाष जैन ने करते हुए नवीन कार्यकाल की शुभकामनाएं प्रेषित की। स्वागत उद्बोधन वरिष्ठ रोटेरियन संजय कांठी ने दिया। षिविर के प्रारंभ करने की घोषणा अध्यक्ष अमितसिंह जादौन (यादव) ने की। षिविर में सोना-चांदी व्यापारी एसोसिएषन की ओर से निर्मल मोदी, मुकेष सोनी, सुरेष सोनी ने अपनी सराहनीय सेवाएं प्रदान की।

7 कक्षों में चिकित्सकों ने किया उपचार, पंजीयन एवं दवाई वितरण कें लिए अलग व्यवस्था
षिविर स्थल पर पंजीयन की व्यवस्था प्रवेष द्वार पर की गई। जहां रोगियों का पंजीयन मातृ शक्तित के रूप में इन्हरव्हील क्लब की सचिव समता, अर्चना सिसौदिया, रेखा राठौर, पुष्पा संधवी, शीला कटारिया, वर्षा छाजेड़, पारूल भात के साथ इन्हरव्हील क्लब युवा शक्ति की निक्की जैन, परी गादिया एवं विधि धारीवाल ने किया। चिकित्सकों द्वारा 7 कक्षों मे रोगियों का उपचार किया गया। जिसमें फिजिषियन विभाग, सर्जरी विभाग, चर्म रोग विभाग, षिषु रोग विभाग, नाक-कान-गला विभाग, प्रसूति स्त्री रोग विभाग एवं हड्डी रोग का कक्ष अलग बनाया गया। पंजीयन के बाद रोगियों ने अपनी बिमारी संबध्ंाी केंद्रों पर जाकर वहां जांच करवाकर आवष्यक परामर्ष भी प्राप्त किया। गंभीर रोगों की जांच के लिए कक्षों में अलग से विषेष व्यवस्था की गई थी। पंजीयन के लिए अलग से काउंटर बनाकर बड़ौदा की चिकित्सकीय टीम द्वारा वहां मरीजों का पंजीयन किया गया वहीं दवाई वितरण केंद्र भी पृथक से बनाया गया। पारूल सेवाश्रम हास्पिटल बड़ौदा से चिकित्सकों में डाॅ. कुषल आर्थेपेेडिक विषेषज्ञ, डाॅ. कौमल राणा मेडिसीन, डाॅ. तेजस पटेल एवं डाॅ. मयूर सर्जरी, डाॅ. संवधन देसाई नेत्र रोग, डाॅ. उमेष चर्म रोग, डाॅ. अक्षय नाक-कान-गला, डाॅ. ज्योति षिषु रोग एवं डाॅ. नुपूर प्रसूति एवं स्त्री रोग विष्ेाषज्ञ ने अपनी सराहनीय सेवाएं प्रदान की।

3 घंटे तक चला षिविर
यह षिविर दोपहर 11 से 2 बजे तक चला। इस दौरान 350 रोगियों ने अपना उपचार करवाया। जिसमें सबसे अधिक हड्डी रोग के 90, चर्म रोग के 60, फिजिषियन के 40, नेत्र रोगं के 30, षिषु रोग के 10, स्त्री रोग से 7, हद्रय संबंधी बिमारी के 2 के अतिरिक्त अन्य सामान्य प्रकार की बिमाारियों के मरीजों को मिलाकर कुल 350 रोगियों ने अपना इलाज करवाया। ष्वििर का लाभ लेने शहर के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों के लोग भी बड़ी संख्या में पहुंचे।

दृष्टिहीन गौरी एवं पूजा को गठान होने पर समस्त उपचार निःषुल्क होगा
षिविर के दौरान ही झाबुआ निवासी गौरी पिता निलेष वसुनिया उम्र 2 वर्ष पहुंची। पिता निलेष वसुनिया ने बताया कि गौरी की बचपन से ही दोनो आंखे होने के बाजवूद दोनो नेत्रों से दिखाई नहीं देने पर उसका पूर्व में दाहौद में उपचार करवाया, फायदा नहीं हुआ। उक्त बालिका को षिविर में नेत्र रोग विषेषज्ञ को दिखाने पर उन्होंने सलाह दी कि बालिका को उपचार के लिए सेवाश्रम हास्पिटल बड़ौदा लाया जाए। वहीं झाबुआ के समीपस्थ ग्राम करड़ावद बड़ी निवासी पूजा पिता करमसिंह मोहनिया उम्र 2 वर्ष भी षिविर में पहुंची। पिता करमसिंह मोहनिया ने बताया कि उनकी बच्ची को बचपन से ही पीठ के नीचे बड़ी गठान है। बच्ची को पूर्व में इंदौर में दिखाया था, जहां डाॅक्टर ने आॅपरेषन करने की बात कहीं, लेकिन आॅपरेषन का खर्चा नहीं होने से नहीं करवा पाए। इन दोनो बालिकाओं के समस्त उपचार एवं दवाईयों का व्यय रोटरी क्लब वहन करेगा।

बड़ौदा आने-जाने, रहने एवं भोजन की व्यवस्था चिकित्सालय प्रबंधन की ओर से
इन दोनो बालिकाओं के पिता एवं परिजनों को बड़ौदा हास्पिटल से आए मार्केटिंग हेड राकेष पटेल ने जानकारी दी कि बड़ौदा उनके हाॅस्पिटल में आने वाले प्रत्येक रोगी को आने-जाने, रहने, भोजन-पानी आदि की व्यवस्था हाॅस्पिटल प्रबंधन की ओर से ही की जाएगी। इसके साथ ही चिकित्सालय में उपचार करने वाले चिकित्सक की ट्रीटमेंट की फीस नहीं लगेगी, केवल दवाई-गोली के पैसे लगेंगे। इसके साथ ही एक्स-रे सोनाग्राफी एवं खून-पेषाब आदि की जांच पर 50 प्रतिषत छूट एवं सीटी स्केन करवाने पर 25 प्रतिषत का डिस्काउंट दिया जाएगा, यह सुविधा प्रत्येक मरीज के लिए रहेगी। सोमवार को सुबह चिकित्सालय स्टाॅफ के साथ बस रवाना होगी, उससे कोई भी रोगी, यदि उनके चिकित्सालय में उपचार के लिए जाना चाहता है, तो वह साथ चल सकता है।

समस्त चिकित्सकों एवं सेवाभावियों का हुआ सम्मान
षिविर के समापन पर अतिथियों द्वारा बड़ौदा सेवाश्रम हाॅस्पिटल के समस्त चिकित्सकों का सम्मान पुष्पामाला पहनाकर एवं प्रतीक चिन्ह रोटरी क्लब आजाद की ओर से प्रदान किए गए। इसके साथ ही इस अवसर पर इस आयोजन में विषेष सहयोग देने वाले आदर्ष विद्या मंदिर के संचालक सुरेषचन्द्र जैन एवं अन्य प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष सहयोगियों का भी पुष्पमाला पहनाकर एवं प्रतीक चिन्ह देकर सम्मान किया गया। षिविर के अंत में आभार रोटरी क्लब मेन झाबुआ के आगामी सचिव हिमांषु त्रिवेदी ने माना।

मंदसौर मे नाबालिक बच्ची के साथ दुष्कर्म के कृत्य की कडी निंदा की भाजपा नेताओ ने

jhabua news
झाबुआ । विगत दिवस मंदसौर मे नाबालिक बच्ची के साथ नर्क पिशाचो ने जो अमानवीय कृत्य किया है उसकी घोर निंदा भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य ओर पूर्व जिलाध्यक्ष दौलत भावसार सीसीबी बैंक के चेयरमेन वरिष्ठ आदिवासी नेता गोरसिंह वसुनिया भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष सुरेन्द्रसिंह मोटापाला आदि ने मंदसौर घटना की तीव्र निदंा करते हुए कहा कि प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री द्वारा बनाये गये कानुन के तहत् इन दंरिदो को फासी की सजा दी जाये। भाजपा नेताओ ने कहा कि मंदसौर की घटना समाज के प्रत्येक वर्ग के लिये शर्मशार करने वाली है। प्रत्येक समाज के वर्ग को इस प्रकार की घटना की पूर्नावति न हो इस हेतु सामाजिक स्तर पर सक्रिय पहल कर प्रत्येक नागरिक को जागरुग करने की आवश्यकता है ।

आयोग की टीम के प्रयास से शीतल ठीक होकर पहुंची अपने घर
‘मानव सेवा ही सर्वोपरि है’, को सार्थक कर दिखाया राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग ने
झाबुआ। जिले के ग्राम झकनावदा में पिछले 1 वर्षों से बंदी बनी शीतल उम्र 25 वर्ष को सड़ांध लगने से राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग की टीम एवं पुलिस प्रशासन तथा डॉक्टरों की टीम के सहयोग से युवती को जिला चिकित्सालय में भर्ती करवाया गया था। जिला चिकित्सालय में करीब एक महीने के उपचार के बाद अब शीतल स्वस्थ होकर अपने घर लौट गई है। इस दौरान युवती ने आयोग टीम से कहा कि आपकी वजह से मैं आज ठीक हो पाई हूँ। युवती का शारीरिक उपचार तो पूर्ण हो चुका है एवं वह शारीरिक रूप से स्वस्थ हो चुकी है, लेकिन मानसिक उपचार शेष है। राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग के प्रतिनिधि प्रदेष अध्यक्ष मनीष कुमट एवं प्रदेष प्रभारी किर्तीष जैन ने बताया कि अब शीतल का मानसिक उपचार भी करवाया जाएगा। इस हेतु शीतल को आगामी जनसुनवाई में कलेक्टर से मिलवाकर उसके मानसिक उपचार इंदौर या उज्जैन, बड़े शहरों में करने हेतु आर्थिक सहायता के लिए दरकार की जाएगी या युवती का उपचार यदि शासन की स्वास्थ्य विभाग की चलाई जाने वाली किसी योजना के तहत संभव हो तो, ऐसे प्रयास किए जाएंगे, ताकि युवती शारीरिक रूप से स्वस्थ होने के बाद मुख्य रूप से मानसिक बिमार होने पर, उसमें भी वह पूर्णतः स्वस्थ हो सके और सुखद जीवन व्यतीत कर सके। शीतल के पिता ने बताया कि उनकी पारवारिक स्थिति इतनी अच्छी नहीं है कि वह युवती का समुचित उपचार करवा सके। इसके साथ ही उनके परिवार में उनकी पत्नी एवं छोटी पुत्री को भी मानसिक बिमारी होने से वह उनका भी उपचार करवाना चाहते है, इसलिए उन्होंने आयोग टीम के साथ शासन एवं जिला प्रषासन से भी इस संबंध मंे मद्द करने की गुहार लगाई है।

घर लौटने पर जाहिर की खुषी
राष्ट्रीय मानवाधिकार बाल विकास आयोग के संभागीय अध्यक्ष निलेश भानपुरिया, संभागीय सचिव अरविंद राठौर, उत्तम गेहलोत, विजय पटेल, शुभम कोटड़िया, जमनालाल चैधरी, नरेंद्र राठौड़, प्रवीण बैरागी, चंद्रशेखर राठौर, गोपाल विष्वकर्मा ने साथ ही झाबुआ के समाज सेवियो के सहयोग से युवती को जिला चिकित्सालय में भर्ती करने के बाद उसका उपचार जिला चिकित्सालय के ट्रामा सेंटर करीब एक महीने तक चला। जिसके बाद 30 जून, शनिवार को जब शीतल को चिकित्सालय से छुट्टी दी गई और वह परिवार सहित अपने घर स्वस्थ होकर लौटी तो उसके चेहरे पर एक अलग ही खुषी दिखी। इस दौरान मौदूद आयोग टीम को उसने धन्यवाद ज्ञापित किया।  

सामाजिक संस्थाओं ने फल वितरण कर हाल जाने
शीतल के अपने घर लौटने पर मौहल्लेवासियों ने उसके हाल चाल जाने। साथ ही राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग, श्री राजपूत करणी सेना एवं महांकाल मित्र मंडल की टीम ने घर पहुंच कर शीलत के स्वास्थ की जानकारी लेते हुए फल-बिस्किट वितरण किया। साथ ही आगे भी हर संभव मद्द का आष्वासन दिया। इस दौरान युवती के पिता सलीम ने कहा कि यदि उनकी पुत्री का समय पर उपचार नहीं होता तो बड़ी घटना हो सकती थी।

मंदसौर में 7 वर्षीय बालिका के साथ बलात्कार की घटना को लेकर चैकी प्रभारी को सौंपा ज्ञपन, आरोपी को फांसी की सजा देने की मांग

jhabua news
झाबुआ। प्रदेष कें मंदसौर मैं बर्बरतापूर्वक मासूम 7 वर्ष की अबोध बालिका से बलात्कार के विरोध में जिले के ग्राम झकनावदा मे राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग, श्री राजपूत करणीसेना महांकाल मित्र मंडल, चारभुजा मित्र मंडल द्वारा नगर में इंदिरा कॉलोनी से पुलिस चैकी झकनावदा तक मौन कैंडल मार्च निकाला गया। पश्चात यहां पुलिस चैकी प्रांगण में समस्त सामाजिक संगठनों ने एकत्रित होकर चैकी प्रभारी को महामहिम राज्यपाल एवं प्रदेष के मुख्यमंत्री एवं ग्राम मंत्री मध्य प्रदेश शासन के नाम ज्ञापन सौंपा। वाचन श्री राजपूत करणी सेना के प्रदेश उपाध्यक्ष ने किया। इस अवसर पर समस्त सामाजिक संगठनों के पदाधिकारी-सदरय सहित वरिष्ठ भाजपा नेता पारस जैन, पत्रकार देवेंद्र बेरागी उपस्थित थ। इस दौरान समस्त संगठनों ने संयुक्त रूप से बलात्कार की घटना के आरोपी को जल्द से जल्द ुफांसी की सजा देने की मांग की।

समाधान आॅनलाईन वीडियो कांफ्रेंस 03 जुलाई को
       
झाबुआ । मुख्यमंत्री मध्यप्रदेष षासन की अध्यक्षता मे 03 जुलाई को सायं 4 बजे से समाधान आॅनलाईन वीडियो कान्फ्रेंस का आयोजन किया जाएगा। कलेक्टर श्री आषीष सक्सेना ने संबंधित अधिकारियो को आवष्यक जानकारी के साथ एनआईसी कक्ष मे नियत समय पर उपस्थित रहने हेतु निर्देषित किया है।

एक्स-रे मशीनों का ए.ई.आर.बी. में पंजीयन अनिवार्य
       
झाबुआ । शासन के निर्देशानुसार एक्स-रे संस्थाओं द्वारा ए.ई.आर.बी. में पंजीयन और लाइसेंस प्राप्त करना अनिवार्य है। बिना लाइसेंस एक्स-रे कार्य करना परमाणु ऊर्जा (विकिरण सुरक्षा) नियम-2004 के तहत दण्डनीय होगा। संचालक, स्वास्थ्य सेवाएँ ने बताया है कि देश में अपंजीकृत नैदानिक एक्स-रे उपकरण, परमाणु ऊर्जा (विकिरण सुरक्षा) नियम- 2004 के अंतर्गत दण्डनीय अपराध है। देश में अपंजीकृत नैदानिक एक्सरे उपकरण, परमाणु ऊर्जा नियामक बोर्ड द्वारा सील किए जा रहे है। सभी एक्सरे/इमेजिंग उपकरणों के संचालक/मालिक अगले 15 दिवस में उपकरणों का पंजीयन ए.ई.आर.बी. पोर्टल से अनिवार्य रूप से करायें एवं इसकी जानकारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय में दें। समयावधि में पंजीयन न कराने की स्थिति में संबधित क्लीनिक के विरुद्ध वैधानिक कार्यवाही की जायेगी। ए.ई.आर.बी. द्वारा प्रारंभ किए गए म्-स्पबमदेपदह ैलेजमउ (म-स्व्त्।) से शासकीय/अशासकीय नैदानिक एक्सरे संस्थाऐं वर्तमान में निःशुल्क ऑनलाईन पंजीयन एवं अनुज्ञापन प्राप्त कर सकते हैं।

प्रदेश के 25 हजार से अधिक सरकारी स्कूल¨ं में शाला सिद्धि कार्यक्रम का क्रियान्वयन
       
झाबुआ । प्रदेश में दक्षता संवर्धन, जिला अकादमिक गुणवत्ता सुधार य¨जना, प्रतिभा पर्व, हमारी शाला कैसी ह¨, शाला गुणवत्ता कार्यक्रम जैसे सकरात्मक प्रयास¨ं से गुणवत्तापूर्ण शिक्षा का वातावरण निर्मित हुआ है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय के तत्वावधान में छन्म्च्। (राष्ट्रीय शैक्षिक य¨जना एवं प्रशासन विश्वविद्यालय, नई दिल्ली) द्वारा मध्यप्रदेश की शालाअ¨ं के मूल्यांकन एवं सुधार के लिये एक फ्रेमवर्क ष्शाला सिद्धिश्श्कार्यक्रम तैयार किया गया है। प्रदेश में शाला स्द्धिि कार्यक्रम क¨ नवम्बर 2015 से प्रांरभ किया गया। राज्य की आवश्यकताअ¨ं अ©र प्राथमिकताअ¨ं क¨ केन्द्रित करते हुए शालाअ¨ं के मूल्यांकन अ©र उन्नयन के लिए ष्हमारी शाला ऐसी ह¨श्श् कार्यक्रम तैयार किया गया है। इस कार्यक्रम द्वारा शाला स्वयं का सतत् मूल्यांकन एवं बाह्य मूल्यांकन कर चिन्हित क्षेत्र¨ं में शाला उन्नयन की कार्य-य¨जना बनाकर शाला का समग्र विकास कर रही हैं। राज्य शिक्षा केन्द्र द्वारा शाला सिद्धि- ष्हमारी शाला ऐसी ह¨श्श् कार्यक्रम के क्रियान्वयन के लिए वर्ष 2017-18 में प्रदेश के प्रत्येक जिले से प्रत्येक जनशिक्षा केन्द्र से 4 प्राथमिक अ©र 4 माध्यमिक शालाएं लेते हुए कुल 24792 शालाएं चयनित की गईं। इस कार्यक्रम का क्रियान्वयन 4 चरण¨ं में किया गया। ये चरण हैं- स्व-मूल्यांकन, बाह्य मूल्यांकन, शाला उन्नयन कार्य य¨जना का निर्माण अ©र शाला उन्नयन कार्य य¨जना अनुसार सुधार के लिए कार्यवाही। प्रदेश में वर्ष 2017-18 मे प्रतिभा पर्व के द©रान विभिन्न जिल¨ं के 15 हजार 800 अधिकारिय¨ं द्वारा शाला सिद्धि शालाअ¨ं क¨ शाला मित्र के रूप में ग¨द लिया गया। इन शालाअ¨ं में कक्षा 6 में गणित अ©र विज्ञान विषय का मूल्यांकन स्वयं के द्वारा किया गया। प्रत्येक विकासखंड के एक जनशिक्षा केन्द्र क¨ उत्कृष्ट जनशिक्षा केन्द्र के रूप में चिन्हित किया गया। प्रत्येक संकुल की शाला सिद्धि की एक अग्रणी माध्यमिक शाला क¨ लर्निंग किट भी प्रदान किया गया है।

मिशन अंत्य¨दय के लिये राज्य-स्तरीय समन्वय समिति गठित
       
झाबुआ । प्रदेश में मिशन अंत्य¨दय की संस्थागत व्यवस्था के लिये राज्य शासन ने राज्य-स्तरीय समन्वय समिति का गठन किया है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह च©हान समिति के अध्यक्ष ह¨ंगे। समिति में पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री क¨ उपाध्यक्ष बनाया गया है। सदस्य¨ं में वित्त मंत्री, किसान कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री, महिला-बाल विकास मंत्री, ल¨क स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री, अनुसूचित-जाति कल्याण तथा जनजातीय कार्य राज्य मंत्री अ©र तकनीकी शिक्षा एवं क©शल विकास राज्य मंत्री क¨ शामिल किया गया है। इसी प्रकार मुख्य सचिव, अपर मुख्य सचिव वित्त सहित ल¨क स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग, खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभ¨क्ता संरक्षण, ऊर्जा, सामाजिक न्याय एवं निरूशक्तजन कल्याण, स्कूल शिक्षा, मछुआ कल्याण तथा मत्स्य विकास, पशुपालन अ©र उद्यानिकी एवं खाद्य प्र-संस्करण विभाग के प्रमुख सचिव क¨ भी सदस्य बनाया गया है। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के विकास आयुक्त समिति के संय¨जक ह¨ंगे। समिति आय¨जना, क्रियान्वयन एवं माॅनीटरिंग के पहलुअ¨ं के संबंध में रणनीति, प्रणालियाँ अ©र प्रक्रियाएँ निर्धारित करेगी। साथ ही सहभागी विभाग¨ं की भूमिका/दायित्व, संस्थागत सहय¨ग अ©र अंतर्विभागीय समन्वय स्थापित करेगी। सहभागी विभाग¨ं की य¨जनाअ¨ं/कार्यक्रम¨ं का अभिसरण, वित्तीय संसाधन की व्यवस्था अ©र विभागवार प्रगति तथा आउटकम भी समिति का दायित्व ह¨गा। समिति का कार्यकाल 31 मार्च, 2022 अथवा मिशन अंत्य¨दय के पूरे ह¨ने तक ह¨गा। ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा मिशन अंत्य¨दय शुरू किया गया है। मिशन अंत्य¨दय का प्रमुख उद्देश्य शासकीय विभाग¨ं अ©र अन्य संस्थान¨ं के समन्वय एवं तालमेल से उपलब्ध मानव अ©र वित्तीय संसाधन¨ं का अभिसरण एवं इष्टतम उपय¨ग कर चयनित ग्राम पंचायत¨ं में ऐसे कार्य-कलाप¨ं/य¨जनाअ¨ं का सकेन्द्रित कार्यान्वयन करना है। इससे गरीबी के बहु-आयामी स्वरूप पर प्रभावी एवं परिणाममूलक कार्यवाही की जाकर लक्षित परिवार¨ं के लिये संवहनीय आजीविका सुनिश्चित की जा सकेगी। भारत सरकार ने मिशन अंत्य¨दय के लिये जारी फ्रेमवर्क दस्तावेज में इस मिशन क¨ राज्य का शीर्षस्थ नेतृत्व देने की अपेक्षा की है। इस परिप्रेक्ष्य में मिशन अंत्य¨दय के तहत राज्य-स्तरीय समन्वय समिति का गठन किया गया है।

11 जुलाई 2018 को विश्व जनसंख्या दिवस मनाया जाएगा, 11 जुलाई से 24 जुलाई तक जनसंख्या स्थिरता पखवाडा का होगा आयोजन

झाबुआ । 11 जुलाई 2018 को विश्व जनसंख्या दिवस मनाया जाएगा एवं 11 जुलाई से 24 जुलाई तक जनसंख्या स्थिरता पखवाडा का आयोजन किया जावेगा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ डी एस. चैहान ने बताया कि झाबुआ जिले में 11 जुलाई से 24 जुलाई तक जनसंख्या स्थरीकरण पखवाडा का आयोजन किया जावेगा। इसके सफल संचालन के लिये जिला नोडल अधिकारी एवं प्रत्येक विकासखण्ड में एक नोडल आॅफिसर अधिकृत किया गया है। जिसकी जिम्मेदारी पूरे पखवाडे परिवार कल्याण गतिविधियों को संचालित करने की होगी। जनसंख्या स्थिरता पखवाडा में परिवार नियोजन के लिये सेवाएॅ दी जावेगी। पुरूष और महिला नसंबदी के लिये नियमित सेवा प्रदायगी निश्चित दिवस को दी जावेंगी। ऐसे दम्पति जो बच्चों में अन्तर रखना चाहते है उन्हें परिवार नियोजन के अस्थाई साधन स्वास्थ्य संस्थाओं में निःशुल्क उपलब्ध होगे।

क्विज प्रतियोगिता 31 जुलाई के लिये आवेदन 20 जूलाई तक, मध्‍य प्रदेश पर्यटन बोर्ड का आयोजन

झाबुआ । मध्‍य प्रदेश के हाईस्‍कूल एवं हायर सेकेण्‍डरी में कक्षा 9वीं से 12वीं तक अध्‍ययनरत छात्र-छात्राओं में मध्‍य प्रदेश में पर्यटन के प्रति जागरूकता लाने उनकी पर्यटन रूचि में मध्‍य प्रदेश के स्थानों के संदर्भ में कौतुहल उत्‍पन्‍न हो, के उद्देश्‍य से क्विज प्रतियोगिता को आयोजित करने जा रहा है ताकि वे अभिप्रेत हो और मध्‍यप्रदेश के वि‍‍भिन्‍न क्षेत्रों को अपने पर्यटन हेतु चयन में प्राथमिकता दें तथा अपने परिवार को भी प्रेरित करें। मध्‍य प्रदेश पर्यटन क्विज प्रतियोगिता म.प्र. के समस्‍त 51 जिलों में एक साथ एक ही तिथि में 31 जुलाई 2018 को एक समय में आयोजित की जा रही है। इसके लिए 31 जुलाई 2018 को प्रथम चरण में प्रातः 9 बजे से 12.00 बजे तक तथा द्वितीय चरण अपरान्‍ह 2.30 बजे से 5.30 बजे तक सुनिश्चित किया गया है। प्रस्‍तावित समय अनुसार पंजीयन कार्य प्रातः 9 बजे से 10.00 बजे तक जिला स्‍तर लिखित परीक्षा प्रथम चरण प्रातः 10.00 बजे से 12.00 बजे तक भोजन तथा मूल्‍यांकन दोपहर 12.00 बजे से 2.30 बजे तक, क्विज प्रतियोगिता आयोजन (मल्‍टीमीडिया) दोपहर 2.30 बजे से 4.30 बजे तक तथा पुरस्‍कार वितरण समय 4.30 से 5.30 तक किया जायेगा। मध्‍यप्रदेश पर्यटन क्विज प्रतियोगिता 2018 दो स्‍तरों पर संपादित होगी प्रथम चरण में जिला स्‍तर पर तथा द्वितीय चरण में राज्‍य स्‍तर पर आयोजित की जायेगी। प्रथम चरण जिला स्‍तर पर 31 जुलाई 2018 को अयोजित होगा इस हेतु जिला प्रशासन प्रमुख कलेक्‍टर, मुख्‍य कार्यपालन अधिकारी, जिला पंचायत एवं जिला स्‍तर पर पर्यटन हेतु प्रमोशन, संबर्धन हेतु गठित परिषद (डी.टी.पी.सी.) डिस्‍ट्रिक्‍ट टूरिज्‍म प्रमोशन काउंसिल जिला शिक्षा अधिकारी, जिला कलेक्‍टर द्वारा नामांकित नोडल अधिकारी एवं शिक्षा विभाग से एक क्विज मास्‍टर की एक समिति का गठन किया जायेगा। जिनके सहयोग से एवं समन्‍वय से यह प्रतियोगिता संपन्‍न कराई जायेगी। द्वितीय चरण जिला स्‍तर पर प्रथम स्‍थान प्राप्‍त टीम या दल को राज्‍य स्‍तर पर आमंत्रित कर राज्‍य स्‍तरीय आयोजन 29 अगस्‍त 2018 को संपादित होगा। यह आयोजन मध्‍यप्रदेश पर्यटन बोर्ड के मार्गदर्शन तथा मध्‍यप्रदेश राज्‍य पर्यटन विकास निगम के संयोजन में संपादित होगा। प्रतियोगिता में विद्यालय प्राचार्य कार्यक्रम अधिकारी के अधिकारिक पत्र के अनुसार कक्षा 9वीं से 12वीं हाईस्‍कूल, हायर सकेण्‍डरी के अध्‍ययनरत तीन श्रेष्‍ठ विद्यार्थी सहभागिता कर सकेंगे। जिनके चयन का संपूर्ण दायित्‍व विद्यालय प्राचार्य प्रबंधन का होगा। इस हेतु विद्यालय प्राचार्य वस्‍तु‍निष्‍ठ प्रतिमाला तथा क्विज के माध्‍यम से विद्यालय स्‍तर पर विद्यार्थियों का चयन कर प्रतियोगिता हेतु उनका पंजीयन सुनिश्चित करेंगे। इन विद्या‍र्थियों की सहभागिता हेतु निर्धारित फार्मेट में 20 जुलाई 2018 तक कार्यालय समय में कार्यालय जिला शिक्षा अधिकारी, प्राचार्य जिला स्‍तर पर उत्‍कृष्‍ट विद्यालय एवं जिला टूरिज्‍म प्रमोशन काउंसिल कार्यालय (कलेक्‍ट्रेट) में जमा किए जा सकतें है। इसमें प्राचार्य की सील, हस्‍ताक्षर होना अनिवार्य है अंतिम तिथि 20 जुलाई संध्‍या 5ः30 बजे बाद प्रविष्टि स्‍वीकार्य नहीं होगी।

विधानसभा आम चुनाव-2018 के चुनाव कार्य को संपादित करवाने हेतु बैठक 2 जुलाई को
       
झाबुआ । आगामी विधानसभा आम चुनाव-2018 को स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव कराये जाने एवं भारत निर्वाचन आयोग के मापदण्ड अनुसार बिजली, पानी, कनेक्टिीविटी, रुट चार्ट इत्यादि अन्य प्रकार की मूलभूत सुविधाओ के पर्यवेक्षण कार्य, क्रिटिकल एवं वल्नरवल मतदान केन्द्रो का चिन्हंाकन एवं अन्य आवष्यक तैयारियों के सम्बन्ध मे 02 जुलाई 2018 दोपहर 3.00 बजे से कलेक्टोरेट सभा कक्ष मे बैठक का आयोजन किया गया है।
एक टिप्पणी भेजें