किंगफिशर पर आंशिक मालिकाना हक गांधी परिवार का था : भाजपा - Live Aaryaavart

Breaking

शुक्रवार, 14 सितंबर 2018

किंगफिशर पर आंशिक मालिकाना हक गांधी परिवार का था : भाजपा

gandhi-family-partnership-in-kingfisher-bjp
नई दिल्ली, 13 सितंबर,  विजय माल्या के देश छोड़कर भागने में मदद करने का वित्तमंत्री पर आरोप लगने पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने गुरुवार को इसका जवाब तैयार किया। पार्टी ने कहा कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) ने भगोड़े व्यापारी के साथ 'फायदा पहुंचाने वाला सौदा' किया था। इसके साथ ही पार्टी ने दावा किया कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के परिवार का 'प्रॉक्सी के जरिए किंगफिशर एयरलाइन पर मालिकाना हक था।' इसमें हालांकि इस सवाल का जवाब नहीं है कि माल्या को भागने क्यों दिया गया। 'सवाल कुछ और जवाब कुछ' को चारितार्थ करते हुए भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने मीडिया से कहा, "कुछ दस्तावेज हैं, जो दिखाते हैं कि कैसे रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) और सोनिया गांधी व मनमोहन सिंह के नेतृत्व में संप्रग ने किंगफिशर एयरलाइन के साथ कई फायदे दिलाने वाले सौदे किए।" उन्होंने कहा, "इन दस्तावेजों की श्रृंखला से साथ यह पता चलता है कि किंगफिशर एयरलाइन का मालिकाना हक माल्या के पास नहीं, बल्कि प्रॉक्सी के जरिए गांधी परिवार के पास था।" उन्होंने आरबीआई द्वारा स्टेट बैंक ऑफ इंडिया को लिखे गए पत्र दिखाते हुए यह आरोप लगाया, जिसमें किंगफिशर एयरलाइन के लिए ऋण के नवीनीकरण का आग्रह किया गया था। कांग्रेस अध्यक्ष पर छींटाकशी कर अपनी पार्टी पर लगे दाग धोने का प्रयास करते हुए पात्रा ने यह भी आरोप लगाया कि पार्टी के पास काफी सबूत हैं जो दिखाते हैं कि राहुल गांधी 'कालेधन' का प्रयोग करते थे और गांधी परिवार फायदा पहुंचाने वाले सौदे के साथ माल्या की मदद करता था। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी किंगफिशर एयरलाइन में मुफ्त में यात्रा करते थे, जो कभी माल्या की स्वामित्व वाली कंपनी थी। पात्रा ने कहा, "राहुल गांधी ने शैल कंपनी से एक करोड़ रुपये का ऋण लिया था, हमारे पास कंपनी के निदेशक उमाशंकर गुप्ता का कबूलनामा है।" भाजपा नेता ने कांग्रेस अध्यक्ष से माल्या के साथ अपने परिवार के संबंध से पर्दा उठाने की मांग की।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...