बेगूसराय : आपका बैंक आपके द्वार - Live Aaryaavart

Breaking

रविवार, 2 सितंबर 2018

बेगूसराय : आपका बैंक आपके द्वार

postal-bank-begusaray
बेगूसराय (अरुण कुमार), आज 01 सितम्बर 2018 अपराह्न 3:15 मिंट पर माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने पोस्ट ऑफिस को बैंक से जोड़ते हुए किया उद्घाटन।आज 01 सितम्बर को बेगूसराय के पोस्ट ऑफिस प्रधान कार्यालय समेत कई ब्रान्च कार्यालयों को आई पी पी बी यानी इण्डियन पोस्ट पेमेंट्स बैंक का नामकरण करते हुए बैंकिंग से जोड़ दिया गया।आई पी पी बी की स्थापना भारत सरकार द्वारा स्वामित्व वाली शत प्रतिशत इक्विटी के साथ,डाक मंत्रालय,संचार मंत्रालय के तहत की गई है।इस मौके पर आए जिले के गणमान्य व्यकितयों और विधायकों के सम्मान में स्वागत गान प्रस्तूति किया गया।प्रस्तूति कि सुश्री दामिनी मिश्रा ने और इन्हें साथ दे रहे थे हारमोनियम पर साथ दे रहे थे प्रमोद जी,नाल वादक शम्भु जी,और खँजरी पर थे जाने माने एक्टर सह डायरेक्टर रामाश्रय श्रेय राज,दामिनी मिश्रा अपने आवाज से सबों को मंत्रमुग्ध कर दिया।स्वागत गान के बाद मुख्य अतिथि श्री सुरेश शर्मा दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का उद्घाटन किया गया।साथ में विशिष्ट अतिथियों में बेगूसराय के विधायक श्रीमती अमिता भूषण,नरेन्द्र सिंह उर्फ बोगो सिंह (विधायक मटिहानी) श्रीमती मंजू वर्मा (विधायक चेरिया बरियारपुर) नारायण यादव (बलिया)उपेन्द्र पासवान (बखरी) रामदेव राय (बछवाड़ा)वीरेन्द्र कुमार (तेघड़ा) उपेन्द्र प्रसाद सिंह (महापौर,बेगूसराय)राहुल कुमार जिलाधिकारी,आदित्य कुमार पुलिस अधीक्षक आदि गणमान्यों से सुशोभित मंच के उद्घोषक(मंच संचालन) प्रफुल्ल चन्द्र मिश्रा का काफी सराहनिय रहा।आई पी पी बी की विशेष जानकारी देते हुए वक्ताओं ने अपने अपने भाषण के दौरान विभिन्न पहलुओं पर इसके गुण विशेषणों पर अपना अपना विचार,मन्तव्य दिया। इसके बहुत सारे योजनायें इसमें शामिल है।इसका लाभ ग्रामीण नेटवर्क के साथ भारत के विशाल नेटवर्क और पहुँच के साथ1,30,000 एक्से पॉइंट  (डाकघर) जो ग्रामीण भारत में बैंक शाखाओं की संख्या लगभग 2.5 गुणा है।ग्रामीण शहरी और दूर दराज के क्षेत्रों में सहायता प्राप्त करवाने दरवाजे की बैंकिंग की पेशकश करने वाले 3,00,000+पोस्टमेन और ग्रामीण डाक सेवक (जी डी एस) की एक बड़ी कार्यबल आई पी पी बी बैंकिंग और भुगतान सरल बना देगा।आधार का उपयोग करके,यह मिनटों में पेपरलेस खाता खोला जाएगा और ग्राहकों को क्यूआर कार्ड और बायोमीट्रिक प्रमाणीकरण की मदद से डिजिटल लेनदेन करने की अनुमति प्रदान करेगा। आई पी पी बी के लिए अंतिम सेवा भागीदार पोस्टमेन है।डाक विभाग (डी ओ पी) संप्रभु ट्रस्ट का प्रतिनिधित्व करता है,और इस तरह के संस्थानों के साथ साझेदारी आई पी पी बी अलग करेगा। इसके लाभार्थी होंगे:-वरिष्ठ नागरिक,विद्यार्थी,गृह निर्माता,किसान डी बी टी लाभार्थियों,ग्रामीण प्रभावकों किरण भंडार और छोटे व्यावसायिक आदि शामिल हैं।यह एक तरह से कैशलेश की निबों का जैसे श्री गणेश हुआ है,ऐसा प्रतीत होता लग रहा है।इस बैंकिंग का मायने ही कैशलेश इण्डिया का सपना पूरा करने जैसा ही प्रतीत ही रहा है,बाकी आगे क्या क्या ही सकता है यह तय आनेवालादिन ही तय करेगा।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...