संसद के केन्द्रीय कक्ष में लगा वाजपेयी का तैलचित्र - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 12 फ़रवरी 2019

संसद के केन्द्रीय कक्ष में लगा वाजपेयी का तैलचित्र

president-unveils-portrait-of-atal-bihari-vajpayee-in-central-hall-of-parliament
नयी दिल्ली, 12 फरवरी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने संसद के केन्द्रीय कक्ष में मंगलवार को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के तैलचित्र का अनावरण किया और उन्हें भारतीय राजनीति के महानायकों में से एक बताते हुए कहा कि उन्होंने सत्ता हासिल करने एवं बचाने के लिए लाेकतंत्र के सिद्धांतों एवं आदर्शों से समझाैता नहीं किया।  संसद के केन्द्रीय कक्ष में आयोजित एक संक्षिप्त समारोह को उपराष्ट्रपति एवं राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडु, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद और संसदीय कार्य मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने भी संबोधित किया।  राष्ट्रपति ने श्री वाजपेयी का तैलचित्र बनाने वाले चित्रकार किशन कन्हाई को अंगवस्त्र पहना कर सम्मानित किया। यह तैलचित्र लोक अभियान संस्था ने तैयार कराया है। इस माैके पर केन्द्रीय मंत्री, सांसद एवं अनेक गणमान्य अतिथि उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...