सेंसेक्स ने लगाई 358 अंक की लंबी छलांग, निफ्टी 11,000 अंक के पार - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 6 फ़रवरी 2019

सेंसेक्स ने लगाई 358 अंक की लंबी छलांग, निफ्टी 11,000 अंक के पार

sensex-up-358
मुंबई, छह फरवरी, बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स बुधवार को 358 अंक की लंबी छलांग के साथ 36,975 अंक पर पहुंच गया। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 11,000 अंक के स्तर के पार निकल गया। निवेशक उम्मीद कर रहे हैं कि रिजर्व बैंक मौद्रिक समीक्षा में अपने रुख को बदलकर तटस्थ करेगा।  बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 358.42 अंक या 0.98 प्रतिशत के लाभ के साथ 36,975.23 अंक पर पहुंच गया। निफ्टी भी 128.10 अंक या 1.17 प्रतिशत के लाभ के साथ 11,062.45 अंक पर बंद हुआ।  रिजर्व बैंक की मौद्रिक समीक्षा बैठक के नतीजों से पहले निवेशकों की धारणा मजबूत रही। बैठक के नतीजे बृहस्पतिवार को आएंगे। रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की तीन दिन की मौद्रिक समीक्षा बैठक मंगलवार को शुरू हुई है।  विशेषज्ञों का कहना है कि मुद्रास्फीति नीचे आने के बाद रिजर्व बैंक अपने रुख को धीरे-धीरे सख्त करने से तटस्थ कर सकता है। हालांकि उनकी राय है कि राजकोषीय चुनौतियों तथा कच्चे तेल के दाम बढ़ने की वजह से केंद्रीय बैंक नीतिगत दरों में कटौती नहीं करेगा।  सेंसेक्स की कंपनियों में बजाज फाइनेंस, टाटा स्टील, ओएनजीसी, बजाज आटो, सनफार्मा, एनटीपीसी, कोल इंडिया, मारुति सुजुकी, टाटा मोटर्स, आईसीआईसीआई बैंक तथा रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर 4.34 प्रतिशत तक चढ़ गए। वहीं दूसरी ओर एक्सिस बैंक और इंडसइंड बैंक के शेयरों में 0.54 प्रतिशत तक का नुकसान रहा।  बीएसई लार्जकैप में 1.13 प्रतिशत का लाभ रहा, मिडकैप 0.12 प्रतिशत टूट गया जबकि स्मॉलकैप में 0.05 प्रतिशत की मामूली बढ़त रही। शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने मंगलवार को शुद्ध रूप से 420.65 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे। घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 194.31 करोड़ रुपये की लिवाली की। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...