पूर्णिया : अगर अभी तक सीएम होते तो दलितों की स्थिति बदल देते : जीतन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 17 अप्रैल 2019

पूर्णिया : अगर अभी तक सीएम होते तो दलितों की स्थिति बदल देते : जीतन

dalit-will-improve-jitan-ram
पूर्णिया (आर्यावर्त संवाददाता)  भवानीपुर प्रखंड स्थित बलदेव उच्च विद्यालय के क्रीड़ा मैदान में महागठबंधन के कांग्रेस प्रत्याशी पप्पू सिंह के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री सह हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने कहा कि नीतीश कुमार ने इस्तीफा देकर मुझे सीएम बनाया था। जब वह सीएम थे तो चीफ सेक्रेटरी से लेकर चपरासी तक नीतीश का आदमी था, काम करने कहां देता था। काम करने वाले दलित के बच्चे को कान पकड़कर बाहर कर दिया। अगर सीएम रहते तो दलितों की स्थिति बदल देते। लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स ने मेरे काम काज की प्रशंसा की थी। हम हटाने के सवाल पर खुली बहस चाहते हैं। फैसला आपके हाथों में है। 18 को उदय सिंह को वोट देकर बदला लेना है। उक्त बातें पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने मंगलवार को भवानीपुर में महागठबंधन के कांग्रेस प्रत्याशी उदय सिंह उर्फ पप्पू सिंह के समर्थन में आयोजित चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कही। पूर्व सीएम श्री मांझी ने दावा किया कि प्रथम चरण के चुनाव में चारों सीटों पर महागठबंधन की जीत तय है। श्री मांझी ने कहा कि नीतीश के बहकावे में नहीं आए। आज दलितों पर बड़ा संकट है। यह भीमराव अंबेडकर का संविधान ही था कि आज आपके सामने जीतनराम मांझी भाषण दे रहा है। लेकिन आज भारत का संविधान खतरे में है। संविधान और आरक्षण को बचाना है तो महागठबंधन को जिताना होगा। राहुल गांधी को पीएम बनाना है तो उदय सिंह को जिताना होगा। सभी दलितों का कर्तव्य है कि भाजपा की सरकार नहीं बल्कि महागठबंधन की सरकार बने। अगर महागठबंधन की सरकार बनी तो पलटू राम को दो महीने में चलता कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि नरसंहार में दलित आरोपी हो तो उसे फांसी की सजा होती है और अगर अन्य हो तो रिहा हो जाता है। इसकी वजह यह है कि न्यायपालिका में आरक्षण नहीं है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ऊपर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि वह दलितों के नाम पर दलितों का ही शोषण करते हैं। सभा को संबोधित करते हुए प्रत्याशी उदय सिंह ने कहा कि बीते 05 वर्षों में पूर्णिया हारा है। 18 को अपने आप को जीताएं, सबको साथ लेकर चलने का वादा करता हूं। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...