कांग्रेस के अफस्पा हटाने पर मोदी का वार, कहा, पाकिस्तान भी तो यही चाहता है - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 9 अप्रैल 2019

कांग्रेस के अफस्पा हटाने पर मोदी का वार, कहा, पाकिस्तान भी तो यही चाहता है

modi-s-attack-on-congress-s-decision-to-remove-afspa
लातूर, 09 अप्रैल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस के सत्ता में आने पर सशस्त्र बल विशेषाधिकार कानून (अफस्पा) को हटाने का वादा करने के लिए आड़े हाथों लेते हुए कहा है कि पाकिस्तान भी तो यही चाहता है।
सत्रहवीं लोकसभा के पहले चरण के लिए 11 अप्रैल को होने वाले मतदान के सिलिसले में मंगलवार को लातूर में भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) की चुनाव रैली को संबोधित करते हुए श्री मोदी ने कहा कांग्रेस कह रही है कि हिंसा वाले इलाकों में सैनिकों को मिले विशेष अधिकार को वापस ले लिया जायेगा। उन्होंने कहा पाकिस्तान भी तो यही चाहता है। कांग्रेस के सत्ता में आने पर जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 कभी नहीं हटाने के मुद्दे पर प्रधानमंत्री ने कहा ,“ जो बात कांग्रेस का ढकोसला पत्र कह रहा है, वही बात पाकिस्तान भी कह रहा है। उन्होंने कहा “ हमारी संस्कृति और पंरपरा की रक्षा और राष्ट्र की सुरक्षा के लिए ही हमारे सारे काम और संकल्प हैं। घुसपैठ को पूरी तरह बंद करेंगे, ये हमारा संकल्प है। नक्सलियों पर प्रहार करेंगे और आदिवासियों तक विकास का लाभ पहुंचाने के लिए हमने दिन रात मेहनत की है।” प्रधानमंत्री ने कहा “ कांग्रेस वाले कह रहे हैं कि हम देशद्रोह का कानून हटाएंगे, अरे ,मैं कहता हूं कि पहले दर्पण में जाकर अपना मुंह देखो। आप कांग्रेस वाले ही थे जिन्होंने बालासाहेब ठाकरे की नागरिकता छीन ली थी, उनका मतदान करने का अधिकार छीन लिया था। ” उन्होंने कहा नक्सलियों और माओवादियों से मुक्त भारत उनका संकल्प है। आतंकवादियों को उनके अड्डे पर घुसकर मारने का संकल्प दोहराते हुए श्री मोदी ने कहा कि यह नये भारत की नीति है। आंतकवाद को हरा कर ही हम दम लेंगे, यह संकल्प है। श्री मोदी ने अपने पांच वर्ष के कार्यकाल का जिक्र करते हुए कहा “ हमारी पांच वर्ष की सबसे बड़ी कमाई है, विश्वास , जो हुआ उसके लिए भी आपका ये चौकीदार याद आता है और जो होना चाहिए उसकी भी जिम्मेदारी मेरे ही हिस्से में है।”

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...