पूनम सिन्हा होंगी लखनऊ से सपा प्रत्याशी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 18 अप्रैल 2019

पूनम सिन्हा होंगी लखनऊ से सपा प्रत्याशी

poonam-sinha-sp-candidate-lucknow
लखनऊ, 17 अप्रैल, अभिनेता सांसद शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम सिन्हा लखनऊ लोकसभा सीट से सपा की प्रत्याशी होंगी। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बुधवार को एक संवाददाता सम्मेलन में यह एलान किया। इस दौरान पूनम भी मौजूद थीं। अखिलेश ने कहा कि उनकी पार्टी पूर्ववर्ती सपा सरकार के कार्यकाल में लखनऊ में किये गये विकास कार्यों के आधार पर वोट मांगेगी। जनता एक बार समाजवादी लोगों को चुनकर भेजे और देखे कि लखनऊ का काम कितनी ऊंचाइयों तक पहुंचता है। सपा अध्यक्ष ने मजाकिया लहजे में इस बार भाजपा चुनाव घोषणापत्र समिति के प्रमुख रहे और लखनऊ से पार्टी प्रत्याशी राजनाथ सिंह की तरफ इशारा करते हुए कहा 'इन लोगों की हमेशा यह साजिश रहती है कि वह जिससे घोषणापत्र जारी कराते हैं, आने वाले समय में उन्हें रिटायर कर देते हैं और टिकट काट देते हैं।' उन्होंने भाजपा के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी की तरफ संकेत करते हुए कहा कि जिन्होंने 2014 में भाजपा का घोषणापत्र बनाया था, उनका टिकट इस बार काट दिया गया। इस बार जिनसे घोषणापत्र बनाया, उसका भी टिकट काट दिया जाएगा।  उन्होंने आरोप लगाया कि इसी साजिश के तहत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ का सारा विकास कार्य रोक दिया है। रामपुर से भाजपा प्रत्याशी जया प्रदा को लेकर सपा उम्मीदवार आजम खान की टिप्पणी पर उठे विवाद पर अखिलेश ने इसे ध्यान हटाने की भाजपा की साजिश करार दिया। उन्होंने कहा कि महिलाओं और बेटियों का जितना सम्मान सपा ने किया है, वह किसी दूसरे दल से कम नहीं हैं। उन्होंने कहा कि खान के किसी शब्द को उठाकर इतनी चर्चा की गयी है। चूंकि चुनाव है, इसलिये भाजपा के लिये एक्सप्रेसवे मुद्दा नहीं हो सकता है। अखिलेश की पत्नी और सांसद डिम्पल ने इस मौके पर कहा कि महिलाओं के खिलाफ किसी भी तरह की टिप्पणी ठीक नहीं है। भाजपा के लोगों ने मायावती के प्रति जो अश्लील बात कही, उसे मीडिया ने क्यों नहीं उठाया। मेरे और प्रियंका गांधी के बारे में जो बातें हुईं, उन पर कोई विवाद क्यों नहीं हुआ? भाजपा प्रत्याशी के खिलाफ कोई बात होती है, तभी क्यों उठती है?

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...