सात चरणों में 66 प्रतिशत से अधिक मतदान, अंतिम चरण में 61 से अधिक - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 19 मई 2019

सात चरणों में 66 प्रतिशत से अधिक मतदान, अंतिम चरण में 61 से अधिक

last-phase-61-percent-total-66-percent-poll
नयी दिल्ली, 19 मई ,  लोकसभा चुनाव के सातवें और आखिरी चरण में कुछ स्थानों पर हिंसा की छिटपुट घटनाओं के बीच सात राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश की 59 सीटों पर रविवार को करीब 61 प्रतिशत से अधिक मतदान के साथ सत्रहवीं लोकसभा के लिए चुनावी सफर रविवार को पूरा हुआ। लोकसभा की 542 सीटों के लिए सात चरणों में हुए चुनाव में कुल मिलाकर औसतन 66 प्रतिशत से अधिक मतदान हुआ। वर्ष 2014 की तुलना में अधिक शांतिपूर्ण रहे इस चुनाव में अब तक छह चरणों में मतदान का राष्ट्रीय औसत 67.37 रहा, जो पिछले लोकसभा चुनाव की तुलना में करीब तीन प्रतिशत अधिक है। पहले चरण में 69.61, दूसरे चरण में 69.44, तीसरे चरण में 68.4, चौथे चरण में 65.51, पांचवे चरण में 64.16 और छठे चरण में 64.4 प्रतिशत मतदान हुआ। पिछली बार की तुलना में मतदान में इस बार 4.1 करोड़ अधिक महिलाओं में अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। पुरुषों और महिलाओं के बीच मतदान का अंतर 2009 से लगातार कम होता जा रहा है। वर्ष 2009 में यह अंतर नौ प्रतिशत था, जो 2014 में 1.4 प्रतिशत तथा इस बार 0.4 प्रतिशत रह गया है।

चुनाव आयोग के अनुसार, पश्चिम बंगाल और पंजाब में कुछ जगहों पर हिंसा की छिटपुट घटनाओं को छोड़कर मतदान शांतिपूर्ण रहा। राज्य में आज नौ सीटों पर हुए मतदान में कई जगह बम फेंके जाने और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल तथा मतदाताओं के बीच झड़प की घटनायें हुई, लेकिन हिंसा की कोई बड़ी घटना नहीं हुई। अंतिम चरण में सबसे अधिक मतदान 73.4 प्रतिशत रहा। इस चरण में शाम सात बजे तक कुल 61.28 प्रतिशत मतदान हुआ। इसके बाद भी कुछ स्थानों पर मतदाताओं की कतारें लगी हुई थीं, इससे मतदान प्रतिशत और बढ़ने की संभावना है। झारखंड में 70.97 प्रतिशत, मध्य प्रदेश में 69.50 प्रतिशत, हिमाचल प्रदेश में 66.04 प्रतिशत, केन्द्र शासित चंडीगढ़ में 63.57 प्रतिशत, पंजाब में 59.46 प्रतिशत, उत्तर प्रदेश में 55.80 प्रतिशत तथा बिहार में 53.36 प्रतिशत वोट पड़े। सातवें चरण के मतदान की समाप्ति के साथ ही आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, केन्द्रीय मंत्रियों रविशंकर प्रसाद, हरसिमरत कौर बादल, हरदीप सिंह पुरी, मनोज सिन्हा और आर.के. सिंह की चुनावी किस्मत ईवीएम में कैद हो गयी। इनके अलावा झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री शिबू शोरेन, शत्रुघ्न सिन्हा, अनुराग ठाकुर, बीबी जागीर कौर, पवन बंसल, किरण खेर, मीसा भारती, सनी देओल, अतुल कुमार अंजान, महेन्द्र नाथ पांडे और अनुप्रिया पटेल समेत कई प्रमुख नेताओं के चुनावी भाग्य का फैसला भी अंतिम चरण के मतदान से होना है। प्राप्त सूचना के अनुसार, पश्चिम बंगाल में सोनापुर के कुलोगाछी में करीब 50 ईवीएम में तकनीकी खराबी के कारण पहले तीन घंटे में कोई मतदान नहीं हुआ। बशीरहाट, डायमंड हार्बर, कोलकाता उत्तर, कोलकाता दक्षिण और दमदम संसदीय क्षेत्र के कुछ बूथों पर भी ईवीएम में तकनीकी गड़बड़ियाँ आने की शिकायतें मिलीं। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) कार्यकर्ताओं ने जादवपुर लोकसभा क्षेत्र में तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर फर्जी मतदान करने का आरोप लगाया। वहाँ से भाजपा उम्मीदवार अनुपम हाजरा की कार को कुछ लोगों ने क्षतिग्रस्त कर दिया। श्री हाजरा ने बताया कि वह एक बूथ के भीतर जाने का प्रयास कर रहे थे, तभी कुछ लोगों ने उनके खिलाफ नारे लगाये।

बशीरहाट से भाजपा उम्मीदवार सयातन बासु ने आरोप लगाया है कि तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता लोगों को वोट देने से रोक रहे हैं। कोलकाता उत्तर संसदीय क्षेत्र के रवीन्द्र सारणी में एक मोटरसाइकिल पर सवार दो बदमाशों ने बम फेंका, जिससे वहाँ अफरातफरी मच गयी और मतदाताओं में तनाव फैल गया। उत्तर प्रदेश के चंदौली में भाजपा और समाजवादी पार्टी समर्थकों के बीच फर्जी मतदान को लेकर हल्की झड़प हुयी। वहाँ मौजूद सुरक्षा बलों ने दोनों दलों के समर्थकों को खदेड़ दिया। प्रधानमंत्री के निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी में कुछ मतदान केंद्रो में ईवीएम की खराबी और बिजली की समुचित व्यवस्था नहीं होने से कुछ समय के लिये मतदान प्रभावित रहा। पंजाब में खडूर साहिब लोकसभा क्षेत्र के गाँव सरली में मतदान के बाद झगड़े में अकाली कार्यकर्ता ने कांग्रेसी कार्यकर्ता पर हथियारों से हमला कर दिया जिससे उसकी मौत हो गयी। मृतक की शिनाख्त बंटी के तौर पर की गयी है। गुरदासपुर में कोट मोहन गाँव में अकाली-कांगेस कार्यकर्ताओं की झड़प में चार लोग घायल हो गये। बठिंडा लोकसभा क्षेत्र के तलवंडी साबो में कुछ व्यक्तियों ने एजेंट के बूथ को तहस-नहस कर दिया गया जिससे इलाके में तनाव बना हुआ है। बठिंडा के रामपुराफूल में कांग्रेस तथा अकाली झड़पों में आठ अकाली कार्यकर्ता घायल हो गये। इसी दौरान गोली चलाये जाने से एक व्यक्ति घायल हो गया। फरीदकोट में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पूर्व अकाली मंत्री सिकंदर सिंह मलूका की गाड़ी से तोड़फोड़ की जिसमें श्री मलूका बाल-बाल बच गये। तरनतारन में अकाली-कांग्रेस कार्यकर्ताओं की झड़प में कांग्रेस समर्थक बंटी की मौत हो गयी। बिहार में पटना साहिब लोकसभा क्षेत्र के वेटनरी कॉलेज स्थित मतदान केंद्र संख्या 160 से मतदान कर लौट रहे राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के ज्येष्ठ पुत्र एवं विधायक तेजप्रताप यादव के सुरक्षाकर्मियों और मीडिकर्मियों के बीच झड़प हो गयी। श्री यादव के बाउंसरों ने छायाकार रंजन राही की पिटाई कर दी। आरा संसदीय क्षेत्र अंतर्गत बड़हरा विधानसभा क्षेत्र के एकौना गाँव में मतदान के दौरान उग्र लोगों ने पुलिस पर पथराव कर दिया, जिससे दो पुलिसकर्मी घायल हो गये। मध्यप्रदेश में झाबुआ जिले के पेटलावद विधानसभा क्षेत्र के उमरकोट मतदान केन्द्र में सुबह मतदान के दौरान भाजपा और कांग्रेस कार्यकर्ता आपस में भिड़ गये। इस दौरान एक दूसरे पर लाठियां भी भाँजी गयी, हालाँकि बाद में पुलिस के मौके पर पहुँच जाने के चलते मामला शांत हो गया।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...