झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 09 जुलाई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 9 जुलाई 2019

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 09 जुलाई

निर्भया टिम ने कन्या हायर सेकेन्ड्री स्कुल मे भुल एक नसीहत फिल्म का किया प्रदर्शन

jhabua news
पारा । पुलिस अधीक्षक विनित जैन के निर्देषन मे चलाए जा रहे। बालिका सशक्तिकरण एव जागरुकता अभियान के तहत निर्भया टिम झाबुआ ने कन्या हायर सेकेन्ड्री स्कुल मे एलईडी टिवी पर भुल एक नसीहत फिल्म का प्रर्दशन किया। कन्या हायर सेकेन्ड्री स्कुल पारा मे आज सोमवार को झाबुआ कि निर्भया टिम कि उप निरिक्षक आर एम मालवीय, सहायक उपनिरिक्षक अनिता तौमर, महिला आरक्षक नेहा गणावा व आरक्षक देवदास ने बारी बारी से स्कुल कि 650 बालिकाओ के बिच एलईडी टिवी के माध्यम से भुल एक नसीहत फिल्म प्रदर्शन किया गया व छात्राओ लगातार  पढाई करने के लिए प्रेरित किया गया। उक्त फिल्म भुल एक नसीहत का उदाहरण देते हुए  अनितासिह तौमर ने बालीकाओ को बताया कि छोटी से छोटी बात को कभी भी छुपाना नही चाहिए। उसे अपने माता पिता गुरुजन बताना चाहिए पुलिस को तुरंत इसकी सुचना देनी चाहिए। उप निरिक्षक आर एम मालवीय ने बालिकाओ को समझाते हुए बताया कि अपने परिजन जोकि मोटर सायकल वाहन आदि चलाते हे उनको हेलमेट पहनने कि सलाह अवश्य देवे ताकि  गम्भीर सडक दुर्घटना मे उनकी सुरक्षा हो सके। साथ नशा न करने व नशे कि हालत मे सफर न करने कि भी समझाईस दि। पुलिस अधिक्षक झाबुआ कि यह मुहिम जिले भर मे लगातार जारी हे। इस अवसर पर प्राचार्य गुलाबसिह डावर सहित विधालय का समस्त स्टाफ उपस्थित था।

जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित झाबुआ द्वारा नाबार्ड के मुख्य महाप्रबंधक श्री बंसल का झाबुआ प्रवास पर हार्दिक स्वागत किया

jhabua news
झाबुआ । जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित झाबुआ पीलीकोठी पर नाबार्ड के मुख्य महाप्रबंधक श्री बंसल सा. के आगमन पर बैंक के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री पी.एन.यादव एवं प्रधान कार्यालय के समस्त अधिकारी/कर्मचारियो द्वारा हार्दिक स्वागत किया गया । इस अवसर पर नाबार्ड के सहायक महाप्रबंधक श्री जी.एस.श्रीराम एवं जिला विकास प्रबंधक श्री नीतिन अलोने भी उपस्थित रहे । बैंक के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री यादव द्वारा बैंक की वित्तीय स्थिति एवं प्रगति से अवगत किया ।  नाबार्ड के मुख्य महाप्रबंधक श्री बंसल सा. द्वारा अपने उद्बोधन में नाबार्ड द्वारा बैंको के माध्यम से किसानों के हित के लिये किये जा रहे विकासात्मक कार्यो एवं ऋणमाफी योजना, फसल ऋण संबंधी जानकारी से अवगत किया गया ।

शहर से सटे हाथीपावा पर 9 जुलाई को रोपे जाएंगे 1200 पौधे, हाथीपावा पर्यावरण क्रांति दिवस मनाया जाएगा, जिले के पर्यावरण प्रेमियों से इस अवसर को यादगार बनाने की अपील

झाबुआ। शहर से सटे हाथीपावा पर 9 जुलाई, मंगलवार को हाथीपावा की तीसरी वार्षिकी पर हाथीपावा पर्यावरण क्रांति दिवस मनाया जाएगा। इस अवसर मार्निंग क्लब हाथीपावा, सकल व्यापारी संघ एवं जिला प्रषासन द्वारा मिलकर यहां 1200 पौधों का रोपण किया जाएगा। ज्ञातव्य रहे कि तीन वर्ष पूर्व इस दिन हाथीपावा पर तत्कालीन कलेक्टर आषीष सक्सेना एवं तत्कालीन पुलिस अधीक्षक महेषचन्द्र जैन द्वारा मिलकर पौधारोपण कार्य एवं श्रमदान की शुरूआत की गई थी। जिसके बाद जिला प्रषासन और पुलिस प्रसाषनन के अमले के साथ शहर की सामाजिक-धार्मिक संस्थाओं, मार्निंग क्लब हाथीपावा एवं पर्यावरण प्रेमियों ने मिलकर निरंतर इसके सौंदर्यीकरण में अभिवृद्धि करते हुए पौधारोपण कार्य, श्रमदान कार्य करने के साथ कई तरह के ऐतिहासिक कार्य किए, जिसके चलते ही आज  वर्षाकाल में हाथीपावा पर चारो ओर हरियाली छायी होकर यह जिले के एक पर्यटल स्थल के रूप में तब्दील होकर यहां का मनोहारी एवं सुरम्य दृष्य देखने लायक एवं पर्यावरण प्रेमियों को अपनी ओर आकर्षित करता है।

पर्यावरण प्रेमियों से उपस्थित रहकर अवसर को यादगार बनाने का आव्हान
9 जुलाई, मंगलवार को विषेष आयोजनों के क्रम में ही हाथीपावा पर एकसाथ 1200 पौधो को रोपण कार्य होगा। जिसमें 700 पौधे वन विभाग की ओर से एवं 500 पौधे वरिष्ठ समाजसेवी बृजेन्द्र शर्मा चून्नू भैया की ओर प्रदान किए गए है। मार्निंग क्लब हाथीपावा, सकल व्यापारी संघ एवं जिला प्रषासन ने इस अवसर पर जिले के समस्त पर्यावरण प्रेमियो से उपस्थित रहकर इस आयोजन को यादगार बनाने की अपील की है।

श्री गुरूद्वारा वैकंुठ धाम पर भव्य स्वरूप  में आयोजित होगा गुरूपूर्णिमा उत्सव देष विदेष के गुरूभक्त करेगें षिरकत ।

झाबुआ। श्री सरस्वती नंदन स्वामी भजनाश्रम, श्री गुरूद्वारा वैकुंठधाम थांदला पर आगामी 16 जुलाई को भव्य रूप  में श्री गुरूपूर्णिमा महोत्सव का आयोजन श्रद्धा एवं भक्ति के साथ किया जावेगा । न्यास के अध्यक्ष एडवोकेट राजेन्द्र अग्निहौत्री, उपाध्यक्ष कंचनभाई पाटनीरवाडिया, श्री रंग आचार्य, कोषाध्यक्ष भागवत शुक्ला, सचिव डा. जया पाठक, न्यासी किशो र आचार्य, रमेन्द्र सो नी, आश्रम प्रभारी पंण्डित भूदेव आचार्य, ओम प्रकाश बैरागी, पूजा प्रभारी ज्ञानदेव आचार्य, ईश्वरचन्द्र आचार्य, यशवंत भट्ट एडवोकेट, आचार्य नामदेव, दिनेश उपाध्याय, दीपक आचार्य, मनीष बैरागी,, अतुल सोनी ने जानकारी देते हुए बताया कि पदमावती नदी के पावन  तट पर स्थित श्री गुरूद्वारा में प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी 16 जुलाई मंगलवार को विराट स्वरूप  में गुरू पूर्णिमा उत्सव  आयोजित होगा जिसके तहत प्रातः 3 बजे से 5-30 बजे तक श्री अन्नदाताजी का महाभिषेक, 5-30 से 6 बजे तक मंगला आरती, प्रातः 6 बजे पादुका पूजन, प्रातः 11 बजे से महा आरती के अलावा प्रातः 10-30 बजे से 3-30 बजे तक महाप्रसादी भंडारा आयोजित होगा । इस अवसर पर गुजरात, महाराष्ट्र, सहित देश के कोने कोने  से गुरूभक्त इस उत्सव में शामील होगें । रात्री 8-30 बजे से गुरूद्वारा वैकुण्ठ धाम में नाम संकीर्तन का संगीतमय आयोजन होगा । श्री अग्निहौत्री ने  समस्त धर्मप्रेमी श्रद्धालुओं से  अधिक से अधिक संख्या में इस भव्य धार्मिक आयोजन में सहभागी होकर धर्मलाभ लेने की अपील की है ।

श्री नाकोड़ा पाष्र्वनाथ मंदिर की नवम वर्षगांठ पर हुए विभिन्न धार्मिक आयोजन, मंदिर के षिखर पर किया गया ध्वजारोहण

jhabua news
झाबुआ। प्राचीन जैन तीर्थ श्री ऋषभदेव बावन जिनालय के समीप श्री नाकोड़ा पाष्र्वनाथ मंदिर की 9वीं वर्षगांठ 8 जुलाई, सोमवार को मनाई गई। इस अवसर पर मंदिर में विभिन्न धार्मिक कार्यक्रम संपन्न हुए। मुख्य रूप से सुबह मंदिर के षिखर पर ध्वजारोहण लाभार्थी परिवार द्वारा किया गया। सभी आयोजन श्री नाकोड़ा जैन श्वेतांबर ट्रस्ट झाबुआ की ओर से किए गए। प्रातः 6.30 बजे श्री भक्तामर स्त्रोत एवं गुरूगुण इक्कीसा का पाठ हुआ। 7 बजे प्रभुजी की प्रतिमा का अभिषेक बाद केसर पूजन हुई। 7.30 बजे से श्री सत्तर भेदी पूजन का आयोजन हुआ। पूजन तपोनिष्ठ विधिकारक वेलजीभाई शाह इंदौर द्वारा विधि-विधान से संपन्न करवाई गई। सुबह 10.30 से पूजन के साथ मंदिर के षिखर पर ध्वजारोहण श्रीमती कमलाबेन सरदारमल संघवी, चंद्रकांताबेन मानमल भंसाली, भाग्यवतीबेन प्रकाषचन्द्र डांगी एवं मनोरमा मनोहरलाल कर्नावट की ओर से यषवंत, निखिल, शार्दुल, जिनांष भंडारी परिवार द्वारा किया गया। विधिकारक श्री शाह द्वारा ऊॅं पुण्याहां-पुण्याहां के मंत्रोचार के साथ बैंड-बाजों के बीच मंदिर के षिखर पर निखिल एवं जिनांष भंडारी ने ध्वज चढ़ाई।

पाष्र्वनाथ भगवान के सामूहिक जायकारे लगाए
इस दौरान समाजजनों ने पाष्र्वनाथ भगवान के सामूहिक जयकारे भी लगाए। इस अवसर पर भंडारी परिवार की ओर से वरिष्ठ श्रीमती लीलाबेन भंडारी, बिंदु, श्वेता, हिंया भ़्ांडारी भी उपस्थित थी। ध्वजारोहण पश्चात् प्रभावना का वितरण श्रीमती मनोरमाबेन कर्नावट की ओर से किया गया। बाद जिनालय की वार्षिक बोलियां बोली गईं। अंत में प्रभुजी की आरती बाद मंगल दीपक एवं शांति कलष किया गया।

ये रहे उपस्थित
इस अवसर पर श्री नाकोड़ा जैन श्वेतांबर ट्रस्ट के ट्रस्टीगणों में भरत बाबेल, राजेन्द्र संघवी, हेमेन्द्र बाबेल, धर्मचन्द मेहता, रिंकू रूनवाल, महिलाओं में मांगूबेन सकलेचा, किरण मेहता, जया बाबेल, सरिता बाबेल आदि सहित समाज के अन्यजन उपस्थित थे।

शरीर का वेट कम करने के लिए योगासन अत्यंत अचूक उपाय है -ः सुश्री रूक्मणी वर्मा, वर्षाकाल में भी नसिया भवन में नियमित चल रहा योग षिविर

jhabua news
झाबुआ। पतंजलि योग महिला मंडल द्वारा स्थानीय काॅलेज मार्ग स्थित नसिया भवन में अत्यधिक बारिष के बीच भी प्रतिदिन महिलाओं द्वारा योग करने के साथ नए षिवरार्थियों को योगाभ्यास करवाया जा रहा है। सभी उत्साह के साथ षिविर में हिस्सा ले रहे है। पतंजलि योग महिला मंडल की जिला प्रभारी सुश्री रूक्मणी वर्मा एवं संगठन मंत्री मधु जोषी द्वारा निरंतर अपनी जागरूकता का परिचय देते हुए योगाभ्यास करवाकर उपस्थित नवीन सदस्यों को योग करने के लाभ के बारे में भी बताया जा रहा है। सुश्री रूक्मणी वर्मा ने बताया कि वजन कम करने के लिए योगासन बहुत अचूक उपाय है। योग अच्छे स्वास्थ्य के लिए किए जाने का सर्वश्रेष्ठ साधन है। यह हमारे शरीर के लिए बहुत ही उपयोगी है। योग ना केवल मासपेषियों को मजबूत करता है, बल्कि पाचन शक्ति को बढ़ाने का उपाय भी है।

वजन कम करने के लिए यह आसन करे
सुश्री रूक्मणी वर्मा ने बताया कि हमारी वर्तमान जीवन शैली में सभी प्रकार की मानसिक और शारीरिक बिमारियांे को दूर करने में सबसे असरकारक योग है। वेट कम करने के लिए हमे सूर्य नमस्कार, त्रिकोण आसन, धनुरासन, चक्रासन, पाद हस्तासन, अध्र्य चक्रासन, हलासन, प्रणायाम, कपाल भांति, अनुलोम, विलोम आदि षिविर में करवाएं जाते है। इसके साथ ही अलग-अलग बिमारियों हेतु हेतु अलग-अलग आसान एवं प्रणायाम भी करवाएं जाते है।

शहर की सभी माता-बहनों से षिविर का लाभ लेने की अपील
जिला प्रभारी सुश्री रूक्मणी वर्मा एवं मधु जोषी ने शहर की सभी माताओं एवं बहनों को अपने स्वास्थ्य को ठीक रखने एवं शरीर को चुस्त-तंदरूस्त रखने के लिए नियमित प्रातःकाल योगासन करने हेतु नसिया भवन में आने की अपील की है। षिविर में भावना जैन, जरीन अंसारी, वंदना मालवीय, राधा पटेल, माया पंवार, ममता जैन, साधना वास्केल, गायत्री सस्तीया, श्रुति जैन, नीलम जैन आदि द्वारा नियमित आकर योग के क्षेत्र में अपनी सराहनीय सेवाएं दी जा रहीं है।

डीआरपी लाईन स्थित सांई मंदिर पर 11वां त्रि-दिवसीय गुरूपूर्णिमा महोत्सव 14 जुलाई से, 15 जुलाई को सांई पालकी, महाआरती एवं महाप्रसादी का होगा भव्य आयोजन

jhabua news
झाबुआ। शहर के डीआरपी लाईन स्थित सांई मंदिर में 11वां त्रि-दिवसीय गुरू पूर्णिमा महोत्सव 15 जुलाई से युवा सांई सेवा समिति द्वारा मनाया जाएगा। मुख्य आयोजन में 15 जुलाई को दोपहर सांई पालकी (षोभायात्रा) निकाली जाएगी। पश्चात् रात्रि में महाआरती एवं महाप्रसादी का भव्य आयोजन होगा। यह जानकारी देते हुए आयोजन समिति के दिलीप कुषवाह ने बताया कि त्रि-दिवसीय महोत्सव के प्रथम दिन 14 जुलाई, रविवार को सुबह 7.30 बजे से सांई आरती, दोपहर 11 बजे से गणेष पूजन एवं श्री सत्नारायण कथा, शाम 7.30 बजे आरती, रात्रि 8 बजे भजन संध्या बाद रात्रि 11 बजे शयन आरती होगी। दूसरे दिन 15 जुलाई, सोमवार को 7.30 बजे सांई आरती बाद 9.30 बजे से विषाल भंडारे का आयोजन रख गया हे। दोपहर 3 बजे से  सांई पालकी (शोभायात्रा) मंदिर परिसर से निकाली जाएगी, जो शहर के विभिन्न मार्गों से होकर पुनः मंदिर पर पहुंचेगी। रात्रि 8.30 बजे महाआरती, 9 बजे महाप्रसादी बाद रंगारंग आतिष्बाजी की जाएगी। 11 बजे शयन आरती होगी। अंतिम दिन 16 जुलाई, मंगलवार को सुबह 5.30 बजे कांकड़ आरती एवं अभिषेक, 7.30 बजे से मंगला आरती, 8 बजे से नवकुंडीय यज्ञ एवं पूर्णाहूति 10 बजे, दोपहर 11 बजे महाआरती बाद महाप्रसादी का सभी भक्तों को वितरण किया जाएगा।

यह रहेगा विषेष आकर्षण
त्रि-दिवसीय गुरू पूर्णिमा महोत्सव के दौरान पूरे मंदिर पर कलाकारों द्वारा आकर्षक साज-सज्जा की जाएगी। रंगारंग आतिष्बाजी का दौर चलेगा। प्रतिदिन मंदिर प्रांगण के अंदर सांई बाबा की आकर्षक झांकी सजाई जाएगी। डीजे एवं साउंड की विषेष व्यवस्था रहेगी। पूरे मंदिर पर आकर्षक विद्युत सज्जा की जाएगी। शोभायात्रा में झाबुआ का बैंड़ के साथ ताषा पार्टी, नासिक ढोल विषेष आकर्षण रहेगा। यात्रा के आगे बच्चों के मनोरंजन हेतु मिक्की माऊस, गणेषजी एवं बंदर आदि रहेंगे। पालकी के साथ लवाजमा ग्रुप रहेगा। 15 जुलाई को विषाल भंडारा भी रखा गया है।

जोर-षोर से चल रहीं तैयारियां
त्रि-दिवसीय महोत्सव को लेकर युवा समिति समिति द्वारा जोर-षोर से तैयारियां की जा रहीं है। आयोजन में पधारने हेतु सभीजनों को आमंत्रण-पत्रिकाओं का वितरण किया जा रहा है। समिति द्वारा शहर की धर्मप्रेमी जनता से त्रि-दिवसीय गुरू पूर्णिमा महोत्सव में अधिक से अधिक संख्या में पधारकर धर्म लाभ लेने की अपील की गई है।

संस्कार भारती आजाद इकाई झाबुआ द्वारा गुरूपूर्णिमा महोत्सव मनाया जाएगा, वार्षिक बैठक एवं गुरू सम्मान समारोह का होगा आयोजन

झाबुआ। आगामी 10 जुलाई को गुरू पूर्णिमा महोत्सव मनाने के उपलक्ष में संस्कार भारती आजाद इकाई झाबुआ द्वारा स्थानीय लक्ष्मीनगर में बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें उक्त आयोजन को भव्य रूप से मनाएं जाने हेतु कार्ययोजना बनाने के साथ सदस्यों को जवाबदारियां भी सौंपी गई। साथ ही इस दौरान संस्कार भारती आजाद इकाई झाबुआ के नवीनीकरण करते हुए सर्व सम्मति से नवीन सदस्यों के नाम सूची में शामिल किए गए, जिसकी घोषणा आगामी वार्षिक बैठक में की जाएगी। बैठक में तय किया गया कि 10 जुलाई, बुधवार को गुरू पूर्णिमा महोत्सव पर कार्यक्रम षिवगंगा आश्रम धरमपुरी झाबुआ पर रखा जाएगा। जहां दोपहर 2 बजे से वार्षिक बैठक होगी। बाद शाम 4 बजे से गुरूजनों के सम्मान समारोह में षिवगंगा प्रमुख पद्म श्री से सम्मानित महेष शर्मा एवं जिले की योग गुरू प्रषिक्षिका सुश्री रूक्मणी वर्मा का सम्मान शाल ओढ़ाकर श्रीफल भेंटकर एवं अभिनंदन-पत्र देकर किया जाएगा। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में संस्कार भारती की प्रांतीय समिति की उपाध्यक्ष श्रीमती अंजलि चैहान एवं विभाग प्रमुख सारंग लासुरकर षिरकत करेंगे। समारोह के अंत में सहभोज का भी आयोजन होगा।

बैठक में यह थी उपस्थित
यह बैठक करीब एक घंटे तक चली। इस अवसर पर संस्कार भारती आजाद इकाई झाबुआ से जुड़ी श्रीमती ज्योति त्रिवेदी, लीला त्रिवेदी, श्रद्धा जैन, मोना (स्मृति) भट्ट, प्रिया सारोलकर, सीमा चैहान, निहारिका परमार, नीता भावसार, हंसा झाला एवं दौलत गोलानी आदि उपस्थित थे।

सफलता की कहानी :  मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना में ऋण पाकर प्रवीण बने सफल व्यवसायी

  झाबुआ । हुनर रखने वाले व्यक्ति को यदि सही समय पर आवष्यकता अनुसार धन राषि भी मिल जाये, तो वह अपना विकास कर सफल उद्यमी बन सकता है। ऐसी ही कुछ कहानी है,झाबुआ षहर में रहने वाले प्रवीण श्रीवास की। झाबुआ निवासी प्रवीण श्रीवास को मेन्स पार्लर का व्यवसाय स्थापित करने के लिए शासन द्वारा संचालित मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजन में ऋण उपलब्ध करवा कर आर्थिक मदद की गई। वे आज एक सफल उद्यमी के रूप में मेन्स पार्लर के व्यावसाय से 20 हजार रूपये तक मासिक शुद्ध लाभ कमा रहे है। प्रवीण श्रीवास नंे चर्चा के दौरान बताया कि वे कक्षा 10 वी तक पढाई करने के बाद आज से 12 वर्ष पहले रोजगार की तलाष में मात्र एक जोडी कपडो में झाबुआ आए थे।ं उनके पास कोई रोजगार नही था। रोजगार के लिए इधर-उधर भटक रहे थे, उन्होने झाबुआ षहर में टाॅप एन टाउन मेन्स पार्लर पर 10 वर्ष तक मजदूरी की। पार्लर से उन्हे 3000-4000 मासिक मजदूरी मिल जाती थी। किन्तु इतने में परिवार का पालन पोषण अच्छे से नही हो पाता था। तभी उन्होने मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के बारे में अपने दोस्तो से सुना और फिर पार्लर के लिए ऋण लेने के लिए जिला व्यापार एवं उद्योग कार्यालय झाबुआ में संपर्क किया। योजना अन्र्तगत 3 लाख रूपये लोन बैंक आॅफ बडौदा से स्वीकृत करवाया। प्राप्त लोन से मेन्स पार्लर के लिए आवश्यक मशीन, उपकरण एवं अन्य आवश्यक व्यवस्थाएॅ की। प्रवीण ने बताया कि वे पार्लर के व्यावसाय से 20 हजार रूपये तक मासिक शुद्ध लाभ कमा रहे है। अपने साथ 2 अन्य युवाओं को भी अपने व्यावसाय के माध्यम से रोजगार उपलब्ध करवाया है। प्रवीण नंे चर्चा के दौरान बताया कि षासन की यह योजना बेरोजगार युवाओ को स्वरोजगार उपलब्ध कराने में मददगार साबित हो रही है। इस के लिए षासन का बहुत बहुत धन्यवाद।

श्री अनंनत नारायण अरोरा झाबुआ पहुचे
9 से जुलाई से 15 जुलाई तक नगर परिषदो में मतदाता सूची का निरीक्षण करेगे
झाबुआ । नगरीय निकायो/पंचायतो के आम निर्वाचन हेतु फोटोयुक्त मतदाता सूची के  वार्षिक पुनरीक्षण वर्ष 2019 की कार्यवाही के पर्यवेक्षण के लिये निर्वाचन आयोग द्वारा झाबुआ जिले के लिए श्री अनंनत नारायण अरोरा प्रेक्षक नियुक्त किये गये है। प्रेक्षक श्री अरोरा झाबुआ पहुच गये है।वे 9 जुलाई से 15 जुलाई तक नगर परिषदो मे मतदाता सूची का निरीक्षण करेगे। प्रस्तावित कार्यक्रम के अनुसार प्रेक्षक श्री अरोरा 09 जुलाई को पुर्वान्ह 11 बजे से नगर परिषद पेटलावद में मतदाता सूची कें कार्य का निरीक्षण करेगे। 10 जुलाई को पुर्वान्ह 11 बजे से नगर पालिका झाबुआ में मतदाता सूची कार्य का निरीक्षण करेगे। 11 जुलाई को पुर्वान्ह 11 बजे से कलेक्टर कार्यालय झाबुआ के सभाकक्ष मे रजिस्ट्रीेकरण अधिकारी/सहा.रजिस्ट्रीकरण अधिकारी मुख्य नगर पालिका अधिकारी नगर परिषद एवं सम्बधित कर्मचारी की बैठक लेगे। 12 जुलाई को पुर्वान्ह 11 बजे से नगर परिषद रानापुर की मतदाता सूची कार्य का निरीक्षण करेगे। 13 जुलाई को पुर्वान्ह 11 बजे नगर परिषद थांदला की मतदाता सूची कार्य का निरीक्षण करेगे। 14 जुलाई को पुर्वान्ह 11 बजे से नगर परिषदमेघनगर की मतदाता सूची कार्य का निरीक्षण करेगे। आम नागरिक अपनी समस्याओ के संबंध में पे्रक्षक को उनके दूरभाष क्रमाक 9425134261 पर अवगत करा सकते है। साथ ही प्रेक्षक से स्थानीय सर्किट हाउस झाबुआ में संपर्क कर सकते है।

एमफिल-पीएचडी में प्रवेष के लिए दोबारा षुरू हुई लिंक, 10 जुलाई तक होगे रजिस्ट्रेषन

झाबुआ । एमफिल और पीएचडी की प्रवेष परीक्षा के लिए कम आवेदन आने से देवी अहिल्या विष्वविद्यालय ने विद्यार्थीयो को एक और मौका दिया हैं। एडमिषन के निर्देष पर रजिस्ट्रेषन के लिए दोबारा ंिलंक खोल दी गई है। अब विद्यार्थी 10 जुलाई तक आवेदन कर सकते है। फिलहाल विभागो ने खाली सीटो के बारे में जानकारी नही दी है। संभवतः 15 जुलाई तक स्थिति स्पष्ट होगी। विष्वविद्यालय ने 20 मई से सीईटी और डीईटी (डाॅ. एंट्रेंस टेस्ट) में रजिस्ट्रेषन षुरू किए थे। 10 जून तक पहले चरण में आवेदन आए। इसमें एमफिल में करीब 220 और पीएचडी में 400 सीटो पर तीन हजार विद्यार्थीयों ने रजिस्ट्रेषन कराए। इस बीच कई विद्यार्थी आवेदन नही कर सके। वे विष्वविद्यालय प्रषासन से दोबारा लिंक खुलवाने की गुहार लगाते रहे। बाद में सीटें बढने की उम्मीद से विष्वविद्यालय प्रषासन ने आवेदन को लेकर 30 जून से 10 जुलाई तक फिर लिंक षुरू कर दी है। सप्ताहभर में 800 से ज्यादा आवेदन और आ चुके है। तीन दिन में इनकी संख्या 1300 तक होने की उम्मीद है। अधिकारीयों के मुताबिक पिछले साल की तुलना में इस बार 2500 से अधिक आवेदन बुलाने का लक्ष्य रखा है।

सुरक्षा संबंधित जानकारी देने के लिए स्कूल/काॅलेजो में कार्यक्रम आयोजित करे-कलेक्टर
समयावधि पत्रो की समीक्षा बेैठक संपन्न
झाबुआ । कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा की अध्यक्षता में आज समयावधि पत्रो की समीक्षा बैठक आयोजित की गई। बैठक में जिला अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में किसानो की आय को दोगुना करने के रोडमेप की तैयारी पर समीक्षा की गई एवं संबंधित अधिकारियो को आवष्यक निर्देष दिये गये। कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने संबंधित सभी विभागो के अधिकारियो को किसानो की आय को दोगुना करने के लिए समन्वित प्रयास करने के लिए कृषि, उद्यानिकी, मत्स्य, पषुपालन,सहकारिता विभाग के अधिकारियो को निर्देषित किया कि किसानो का चयन कर उन्हे तकनीकी मार्गदर्षन भी दे, ताकि वे कम मेहनत में अधिक लाभ कमा पाये। जैविक खेती के लिए भी योजना बना ले। किसानो को सिचाई करने के लिए  ड्रिप एवं स्प्रिकलर का उपयोग करने के लिए प्रेरित किया जाये। स्वरोजगार के लिए जिले के बेरोजगार युवाओ को मिस्त्री,इलेक्ट्रीषिन इत्यादि ट्रेड मे प्रषिक्षण दे एवं उन्हे रोजगार गतिविधियो से जोडे। बैठक में कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने साईकिल वितरण की समीक्षा की एवं साईकिल वितरण की भौतिक सत्यापन की कार्यवाही कर रिपोर्ट तैयार करने के लिए डीइओ एवं डीपीसी को निर्देषित किया। बैठक में कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने महिला बाल विकास अधिकारी, प्राचार्य पाॅलीटेक्निक, एसी ट्रायबल, डीपीसी, डीइओ को निर्देषित किया कि बच्चो को सुरक्षा संबंधित जानकारी देने के लिए कार्ययोजना बनाकर स्कूल/काॅलेजो में कार्यक्रम आयोजित करे। मत्स्यपालन अधिकारी को सार्वजनिक एवं निजी तालाबो में मछलीपालन के लिए मत्स्यबीज डालने के निर्देष कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने दिये। वर्षाकाल में पौधारोपण करवाकर पौधो की देखरेख के लिए वृक्षमित्र नियुक्त कर पौधो को जीवित रखने के लिए संबंधित अधिकारियो को निर्देषित किया। बैठक में खाद-बीज की समीक्षा के दौरान अमानक खाद-बीज विक्रय करने वाले विक्रेताओ के विरूद सतत् कार्यवाही के निर्देष उपसंचालक कृषि कोे दिये। साथ ही किसानो की फसल की सुरक्षा, कीट नियंत्रण इत्यादि के लिए सम-समायिक सलाह जारी करने के लिए भी निर्देष दिये। गेहू, चना उपार्जन के बाद भुगतान के लिए षेष बचे एक किसान को भुगतान करवाने के लिए जिला आपूर्ति अधिकारी को निर्देष दिये। बैठक में स्वरोजगार योजनाओ की समीक्षा के दौरान विगत वर्ष के स्वीकृत सभी प्रकरणो में सब्सिडी का भुगतान सुनिष्चित करने के लिए संबधित अधिकारियो को कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने निर्देषित किया। बैठक में सीएम हेल्पलाइन जनषिकायत, लोक सेवा गांरटी के प्रकरणो की समीक्षा करते हुए मंगलवार 9 जुलाई को प्रारंभ होने वाले जन अधिकार कार्यक्रम के लिए लंबित प्रकरणो का संतुष्टिपूर्वक निराकरण करने के निर्देष सभी संबंधित अधिकारियो को दिये।

आम जनता की समस्या एवं शिकायतों के सुनिश्चित और संतोष जनक समाधान के लिए
9 जुलाई को होगा जनअधिकार कार्यक्रम का शुभारंभ,मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ हर माह के द्वितीय मंगलवार को वीडियो कांफ्रेंस से करेंगे समीक्षा
झाबुआ । प्रदेश की आम जनता की समस्याओं, शिकायतों के सुनिश्चित और संतोषजनक समाधान के लिए राज्य सरकार जन-अधिकार कार्यक्रम शुरू करेगी। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के निर्देश पर यह कार्यक्रम प्रति मंगलवार को होगा। इसमें वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सभी जिलों के वरिष्ठ अधिकारियों से रूबरू होकर मुख्यमंत्री लोगों की दिक्कतों का समाधान करेंगे। मुख्यमंत्री इस माह के द्वितीय मंगलवार 9 जुलाई को जन-अधिकार कार्यक्रम का शुभारंभ करेंगे। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने पूर्व में चल रहे समाधान ऑनलाइन, सी.एम. हेल्पलाइन एवं लोक सेवा गारंटी अधिनियम की समीक्षा करते हुए इनके परिणाम संतोषप्रद न होने पर ऐसा संवाद आधारित कार्यक्रम बनाने के निर्देश दिए थे जिससे लोगों की समस्याओं और शिकायतों का त्वरित संतोषप्रद और सुनिश्चित निराकरण हो सके। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद राज्य शासन ने सी.एम. हेल्पलाइन एवं लोकसेवा गारंटी अधिनियम के जरिए दी जाने वाली सेवाओं की समीक्षा के‍ लिए यह कार्यक्रम शुरू करने का निर्णय लिया है। नये कार्यक्रम की मूल अवधारणा प्रदेश की जनता की प्रमाणिक सद्भावनापूर्ण शिकायतों और समस्याओं का निराकरण होना उनका अधिकार है। इस अधिकार के संरक्षण एवं समर्थन के लिये वर्तमान राज्य सरकार प्रतिबद्ध है।

प्रतिमाह द्वितीय मंगलवार होगा जन-अधिकार कार्यक्रम
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ हर माह के द्वितीय मंगलवार को जन-अधिकार कार्यक्रम में उपस्थित रहकर वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए लोगों की समस्या और शिकायतों के निराकरण की दिशा में की गई कार्यवाही की समीक्षा करेंगे। माह के द्वितीय मंगलवार को अवकाश रहने पर अगले कार्य-दिवस पर यह कार्यक्रम होगा।

जिले के वरिष्ठ अधिकारी और संबंधित मंत्रालयीन अधिकारी उपस्थित रहेंगे
जन अधिकार कार्यक्रम में वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान सभी जिले के कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक और जिला स्तर के विभागीय अधिकारी उपस्थित रहेंगे। संभागीय मुख्यालयों पर आयुक्त, पुलिस महानिरीक्षक और संभाग स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहेंगे। राज्य स्तर पर जिन विभागों के प्रकरणों को समीक्षा में शामिल किया गया है उनके अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव एवं विभागाध्यक्ष उपस्थित रहेंगे। जन-अधिकार कार्यक्रम में मुख्यमंत्री को समय-समय पर प्राप्त होने वाली शिकायतें, जन शिकायत निवारण प्रकोष्ठ, सी.एम. हेल्पलाइन एवं अन्य माध्यमों से प्राप्त प्रमाणित शिकायतों में चिन्हित शिकायतों को समीक्षा में लिया जाएगा। इसकी जानकारी संबंधित विभागों के प्रमुख और प्रभारी अधिकारियों कार्यक्रम दिनांक को दी जाएगी। संबंधित विभागों के अधिकारियों का यह दायित्व होगा कि वे उसी दिन शाम चार बजे के पूर्व उन्हें प्राप्त शिकायतों की विस्तारित जानकारी एवं किए गए निराकरण का तथ्यात्मक प्रतिवेदन ीजजचरूध्ध्बउीमसचसपदमण्उचण्हवअण्पद  पोर्टल पर ऑनलाइन फीड करें।

मुख्यमंत्री कार्यालय सूचित करेगा शिकायतकर्ता को
कार्यक्रम में चिन्हित कर शामिल की गई प्रामाणिक शिकायतों के शिकायतकर्ता को शामिल होने के संबंध में मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा सूचित किया जाएगा। यह शिकायतकर्ता संबंधित जिले के कलेक्टर के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग में उपस्थित रहेंगे और मुख्यमंत्री से सीधे संवाद करेंगे। चिन्हित शिकायत के प्रकरणों में आवश्यक अंतिम निराकरण तक अनुश्रवण की कार्यवाही मुख्यमंत्री सचिवालय द्वारा की जाएगी।

योजनाओं के क्रियान्वयन और सम-सामयिक विषयों पर भी करेंगे चर्चा मुख्यमंत्री
राज्य शासन द्वारा सभी अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव और जिला कलेक्टरों से कहा गया है कि मुख्यमंत्री जन-अधिकार कार्यक्रम में सरकार की योजनाओं के क्रियान्वयन और सम-सामयिक महत्व के विषयों पर भी चर्चा करेंगे। अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि वे सभी आवश्यक जानकारी के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग में उपस्थित रहेंगे।

वर्षा काल में जल जनित बीमारियो से बचाव के लिए टंकियो, टायरो इत्यादि में पानी जमा नही होने दे
     
झाबुआ । मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. बारिया ने बताया कि वर्षा काल में जल जनित बीमारियो जैसै, मलेरिया, डेंगु, चिकुनगुन्या रोग होने की संभावना बढ जाती है। वर्षा काल में जगह-जगह गड्डो,नालियो,छत पर रखे हुए टुटे-फुटे बर्तनो, सीमेंट की टंकियो,टायरो आदि में वर्षा का पानी एकत्र हो जाता है, जिसमें मच्छर के लार्वा पनप जाते है एवं बीमारी फैलाते है। विभाग द्वारा भी जल जनित बीमारीयो की रोकथाम के लिये वार्डवार दल द्वारा घर-घर जाकर लार्वा सर्वे का कार्य किया जा रहा है। एवं लोगो को मलेरिया/डेंगू एवं चिकुनगुन्या के बारे में जागरूक भी किया जा रहा है। जन सामान्य से अपील है कि डेंगू/मलेरीया/ चिकुनगुन्या तथा जीका (वायरस) के मच्छर साफ एवं रूके हुए पानी में पनपते है, अतः ऐसे अवांछित रूके हुए पानी की अवष्य निकासी करे, प्रति सप्ताह सफाई करें एवं घर के सभी कंटेनरो को ढंक कर रखे। अनुपयोगी टायर को जमीन में गाड दें। पानी की निकासी नियमित एवं सुचारू रूप से करें, पानी को एक स्थान पर जमा न होने दे। पानी की निकासी संभव ना हो तो, जला हुआ आॅयल या मिट्टी का तेल डाल दे। ताकि मच्छर अपने अंडे न दे सके। रात को सोते समय मच्छरदानी में सोये , नीम का धुआ अवष्य करे। जिससे उक्त बीमारीयो से बचा जा सके।

विश्व जनसंख्या माह 11 जुलाई से मनाया जायेगा
            
झाबुआ । जनसंख्या को नियंत्रण करने के मकसद से विश्व जनसंख्या दिवस 11 जुलाई को मनाया जायेगा। उसके बाद जनसंख्या माह पूरे एक माह 11 जुलाई से 11 अगस्त 2019 तक जनसंख्या स्थिरता माह के रूप में मनाया जायेगा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. बारिया ने बताया कि पूरे माह मनाये जाने वाले जनसंख्या स्थिरता के उद्देश्यों को लेकर सभी विकासखण्ड मुख्यालयों पर परिवार विकास मेले लगाये जायेंगे। इन मेलों में स्थानीय लोगों के अलावा जनप्रतिनिधियों एवं सामाजिक संगठनों, समाज सेवियों, की उपस्थिति भी सुनिश्चित की जायेगी। जनसंख्या माह में 11 जुलाई से 11 अगस्त तक जनसंख्या के नियंत्रण करने उपायों के प्रति जनता को जागरूक करने के लिये सभी परिवार नियोजन के साधनों की पूर्ण उपलब्धता रहेगी। विश्व जनसंख्या दिवस की गतिविधियां दो चरणों में आयोजित की जायेगी।
1. दम्पत्ति पखवाड़ाः-  27 जून से 10 जुलाई 2019 तक इसके अन्तर्गत ए.एन.एम, आशा तथा मैदानी स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर सम्पर्क स्थापित करके लक्ष्य दम्पत्तियों को चिन्हित कर परिवार नियोजन स्थायी अस्थाई साधन अपनाने को प्रेरित किया जायेगा।
2. दूसरा चरणः- 11 जुलाई से 11 अगस्त तक जनसंख्या स्थिरता माह के दौरान परिवार नियोजन के साधनो के लिए अंतराल महिला नसवंदी अन्तराल विधि तथा पुरूष नसबंदी सेवा दी जायेगी।

शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत आवेदक स्कूल आवंटन पत्र डाउनलोड कर
10 जुलाई तक बच्चे को आवंटित स्कूल में सीधे प्रवेश दिला सकते हैं              
झाबुआ । शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत कमजोर वर्ग के बच्चों को निजी स्कूलो में एडमिषन के लिए आवेदन आॅनलाइन प्राप्त किये गये थे। प्राप्त आवेदनो मे से लाटरी के माध्यम से बच्चो को स्कूल आवंटन की कार्यवाही की गई। सभी आवेदकों को लॉटरी में आवंटित स्कूलों की जानकारी उनके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एस.एम.एस द्वारा भेजी जा रही है। आवेदक स्कूल आवंटन पत्र डाउनलोड कर 10 जुलाई तक बच्चे को आवंटित स्कूल में सीधे प्रवेश दिला सकते हैं। निःशुल्क एवं अनिवार्य बाल शिक्षा अधिनियम के अंतर्गत इन बच्चों के लिये गैर अनुदान प्राप्त अशासकीय स्कूलों में 25 प्रतिशत स्थान आरक्षित किये गये हैं।

बालक/कन्या छात्रावासो में कोचिंग के लिए विषेषज्ञ षिक्षको से आवेदन 10 जुलाई तक आमंत्रित

झाबुआ । नवीन षैक्षणिक सत्र 2019-20 में जनजातीय कार्य विभाग द्वारा झाबुआ जिले में संचालित महाविद्यालयीन बालक/कन्या छात्रावास झाबुआ एवं बालक छात्रावास थांदला में अगस्त माह से अंग्रेजी/कम्प्यूटर साईस विषय की कोचिंग दी जाना है। कोचिंग का समय महाविद्यालयीन कक्षाओ के पष्चात रहेगा, प्रतिमाह 25 दिवस कोचिंग दी जावेगी। जिसके लिये प्रतिकालखण्ड रू. 300/मानदेय प्रदान किया जावेगा। कोचिंग के लिए स्थानीय उत्कृष्ट काॅलेज विषेषज्ञो में से योग्यता आधार पर चयन किया जा सकेगा। स्थानीय काॅलेज के विषय विषेषज्ञ सहायक प्राध्यापक, स्थानीय आदिम जाति कल्याण व षिक्षा विभाग के उत्कृष्ट षालाओं के योग्य व अनुभवी विषेषज्ञो में से चयन किया जावेगा। प्रतिष्ठित प्राईवेट स्कूलो व कोचिंग संस्थाओ के योग्य व अनुभवी विषय विषेषज्ञ को लिया जा सकेगा। एमएड, बीएड, डीएड एवं स्नातकोत्तर व अनुभवी षिक्षको को प्राथमिकता दी जावेगी। अतः कोचिंग प्रदान करने हेतु इच्छुक पात्र आवेदक अपने आवेदन मय बायोडाटा व षैक्षणिक योग्यता संबंधी प्रमाण-पत्रो के साथ 10 जुलाई 2019 तक सहायक आयुक्त कार्यालय मे कार्यालयीन समय में जमा करावे।

विगत कुछ दिनों से लगातार वर्षा होने से जलभराव की स्थिति में फसल बुआई , उपाय एवं जिले में संभावित कीटव्याधि प्रकोप

झाबुआ । उपसंचालक कृषि श्री त्रिवेदी ने बताया कि जिले में खरीफ फसलों का कुल रकबा 187660 हे. लक्षित है। जिसके विरूद्ध वर्तमान स्थिति में विभिन्न फसलों का 163666 हे. क्षेत्रफल फसल की बुआई हुई हैं। जिसमें मक्का, सोयाबीन, कपास इत्यादि फसलें बोई गई है। विगत 4-5 दिवसों से जिले में लगातार वर्षा होने से लगभग 23994 हेक्ट. क्षेत्र में बुआई शेष है। जिले में दिनांक 08.07.2019 की स्थिति में विभिन्न तहसीलों में 359.5 एम.एम. वर्षा दर्ज हुई है। जिले में लगातार वर्षा होने से भूमि में अत्याधिक नमी होने से फसलों की बुआई में अवरोध उत्पन्न हुआ है तथा किसान बारिष के रूकने का इंतजार कर रहे है, ताकि बतर आने पर शेष क्षेत्र में विभिन्न फसलों की बुआई कर सकें। विगत दो दिवस से जिले में वर्षा रूकी हुई है। यदि वर्षा के रूकने की यही स्थिति आगामी 1-2 दिवस में रहने पर कृषक फसलों की बुआई आसानी से कर सकते है फिर भी यदि जिन किसानो के खेत में जल भराव हुआ है तथा फसल बुआई के लिए अत्यधिक नमी की वजह से/जल भराव के कारण फसल की बुआई करने में समस्या होने पर किसान खेत से पानी निकास के लिये नालियाॅ बनाकर जल निकास कर सकते है। आगामी समय में भी खेतों में जल भराव होने पर एक मुख्य नाली खेत के निचले हिस्से में निर्माण कर खेतों के अन्य हिस्सों की सहायक नालियाॅ को जोड देवें ताकि उक्त परिस्थिति से छुटकारा पाया जाकर आसानी से फसल की बेहतर उपज ले सकें। किसान शेष फसल की बुआई यथा संभव रीज एवं फरो पद्धति से ही करें। तथा किसान भूमि में बतर आने पर आसानी से उगने वाली फसलें जैसे मक्का, उडद, मूॅग, बाजरा इत्यादि फसलों की बुआई कर सकते है। जिन क्षेत्रों में धान की बुआई किसान करना चाहते है। वह किसान धान की बुआई धान की नर्सरी तैयार कर एस.आर.आई. पद्धति से ही करें, ताकि धान की फसल में पानी भरने की जरूरत न पडे तथा खरपतवार को आसानी से निकाला जा सकें। किसान फसल बुआई के समय खेत में बक्खर अवष्य चलावें। ताकि खेत में उगे हुए सम्पूर्ण खरपतवार नष्ट किये जा सकते है। जिससे फसल एवं खरपतवार के मध्य होने वाली प्रतिस्पर्धा को कम किया जाकर फसलो की वनस्पति वृद्धि एवं उत्पादन में वृद्धि कर सकते है। साथ ही खरपतवार नाषी रसायनों में होने वाले खर्च को भी कम कर सकते है।

किसान ऐसे करे कामलीया किट का नियंत्रण
  प्रति वर्ष जिले में खरीफ मौसम की विभिन्न फसलें यथा सोयाबीन, मूंग, उड़द इत्यादि में  कामलीया कीट का प्रकोप देखने में आया है। कीट की इल्ली अवस्था खरीफ फसलों को अधिक नुकसान पहुचाती है। इल्लीया छोटी व भूरे रंग की होकर फसल की कोमल पत्तियों को खाती है। इस कीट की इल्लीयां अपने पूरे जीवन काल में पाॅच से छः बार केचूली उतार कर पूर्ण विकसित होकर फसलों को काफी नुकसान पहुचाती है,कामलीया कीट के नियंत्रण हेतु किसान खेत का नियमित निरीक्षण करे,खेत फसल के साथ-साथ खेत के मेड़ को साफ-सुथरा रखंे, मुख्य फसल के किनारे पर गार्ड फसल के रूप में मंूगफली की एक कतार लगाये, कीट नियंत्रण हेतु प्रारंभिक तौर पर नीम तेल का छिड़काव करें, खेत में कीट का प्रकोप बढ़ने पर कीट नाशक दवाई क्यूनालफाॅस/ क्लोरपाईरीफाॅस /प्रोपेनोफाॅस$सायफर मैथ्रिन दवाई का उचित घोल (जैसे 40 से 50 मि.ली. प्रति स्प्रे पंप) बनाकर छिड़काव करें, छिड़काव हेतु तैयार घोल में 10 से 15 ग्राम डिटरजेन्ट पाउडर मिला कर छिड़काव करें, दवाई का छिड़काव हवा के विपरीत दिशा में न करें, खेत फसल में दवाई का छिड़काव करते समय किसी प्रकार का धुम्रपान न करंे और नाक, मुह इत्यादीे कपड़े से ढक कर रखें, खेत फसल के चारो ओर गहरी खाई खोदें जिससे इल्ली या खेत में प्रवेश न हो सके।

कौशल विकास कार्यक्रम अंतर्गत निःशुल्क प्रशिक्षण प्राप्त करने हेतु
आवेदन 15 जुलाई तक आमंत्रित
झाबुआ । म.प्र.खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा संचालित कौशल विकास कार्यक्रम अंतर्गत जिले के बेरोजगार युवक एवं युवतियों को विभिन्न रोजगारोन्मुखी व्यवसायों में निःशुल्क प्रशिक्षण प्रदाय किए जाने हेतु 15 जुलाई 2019 तक आवेदन आमंत्रित किए गए है। योजना से संबंधित विस्तृत विवरण एवं आवेदन पत्र वेवसाइट  www.mpgramodyogglobal.gov.in पर उपलब्ध है।   बोर्ड द्वारा विभिन्न रोजगारोन्मुखी व्यवसायों जैसे ब्यूटीपार्लर, रेफ्रीरिजेटर एवं एयर कंडीशनर रिपेयरिेंग, टू व्हीलर, थ्री व्हीलर, फोर व्हीलर रिपेयरिेंग, फूड प्रोसेसिंग(आचार, मुरब्बा, मसाले आदि), बेकरी, प्लम्बर, वुड कारपेंटर, दोना-पत्तल, ड्राइविंग, मैकेनिक इलेक्ट्रोनिक्स आदि में प्रशिक्षण प्रदाय करने हेतु आवेदन पत्र आमंत्रित किए गए है। आवेदक अपने आवेदन जिला पंचायत कार्यालय खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड में स्वयं उपस्थित होकर अथवा ई-मेल पर भी 15 जुलाई 2019 तक प्रस्तुत कर सकते है। योजनांतर्गत आवेदकों को नियमानुसार छात्रवृत्ति भी प्रदान की जाएगी।

प्रदेश में एक अगस्त से ष्आपकी सरकार आपके द्वारष् य¨जना शुरू ह¨गी
       
झाबुआ । प्रदेश के नागरिक¨ं विशेष रूप से ग्रामीण रहवासिय¨ं की समस्याअ¨ं के निराकरण अ©र विकास के सुझाव¨ं पर अमल के लिये आगामी एक अगस्त से आपकी सरकार आपके द्वार की शुरूआत ह¨ रही है। इसके अंतर्गत जिला स्तर पर कलेक्टर प्रत्येक तीन माह के लिये ग्राम भ्रमण अ©र शिविर निर्धारित कर हर माह द¨ भ्रमण कार्यक्रम अ©र शिविर लगवायेंगे, जिसकी जानकारी जिले के सभी जन-प्रतिनिधिय¨ं क¨ दी जायेगी। शिविर के लिये विकासखण्ड मुख्यालय या विकासखण्ड के ऐसे गाँव का चयन किया जायेगा, जहाँ साप्ताहिक बाजार या हाट भरता ह¨।

विस्तृत दिशा-निर्देश जारी
राज्य सरकार ने प्रदेश के सभी विभाग¨ं, विभागाध्यक्ष¨ं, कमिश्नर¨ं, कलेक्टर¨ं क¨ इस बारे में विस्तृत निर्देश भेजे हैं। निर्देश¨ं में कहा गया है कि समय अ©र धन के अप-व्यय क¨ र¨कने के लिये गाँव के आकस्मिक भ्रमण अ©र एक समय-सारणी के अनुसार विकासखण्ड मुख्यालय¨ं पर शिविर लगाये जायें। विभिन्न सरकारी य¨जनाअ¨ं अ©र सुविधाअ¨ं का निरीक्षण कर प्रशासन की जवाबदेही सुनिश्चित की जाये। इन प्रयास¨ं से शासन-प्रशासन क¨ ग्रामीण नागरिक¨ं के अधिक नजदीक ले जाने में आसानी ह¨गी।

ग्राम भ्रमण ह¨गा अ©र विकासखण्ड शिविर लगेंगे
आपकी सरकार आपके द्वार के प्रथम भाग में चयनित विकासखण्ड के एक गाँव का चयन कर आम जनता से सीधे संबंध वाले विभाग¨ं के सभी जिला अधिकारी एक ही वाहन में ग्राम तक पहुँचकर शासकीय य¨जनाअ¨ं का जायजा लेंगे। भ्रमण वाले गाँव का नाम ग¨पनीय रहेगा। भ्रमण में गाँव की सभी संस्थाअ¨ं का निरीक्षण किया जायेगा। इन संस्थाअ¨ं में स्कूल, आँगनवाड़ी केन्द्र, राशन की दुकान, अस्पताल, ग्राम पंचायत का दफ्तर शामिल हैं। भ्रमण सुबह 9 से द¨पहर एक बजे तक रहेगा। इसके बाद द¨पहर द¨ बजे से विकासखण्ड स्तरीय शिविर लगेंगे। शिविर में कलेक्टर सहित भ्रमण करने वाले जिला अधिकारी शामिल रहेंगे।

14 विभाग¨ं के जिला अधिकारी शामिल ह¨ंगे शिविर¨ं में
जिले के मंत्रिय¨ं अ©र विधायक¨ं से सम्पर्क कर शिविर¨ं की रूपरेखा तिथिवार तय की जायेगी। कलेक्टर शिविर की सभी व्यवस्थाएँ करेंगे। प्रत्येक मंत्री अ©र विधायक एक माह में कम से कम द¨ विकासखण्ड शिविर¨ं में म©जूद रहेंगे। आमजन से अधिक संबंध वाले, राजस्व, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, वन, ऊर्जा, आदिम जाति कल्याण, अनुसूचित जाति कल्याण, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण, किसान-कल्याण अ©र कृषि विकास, ल¨क स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, स्कूल शिक्षा, जल-संसाधन, ल¨क स्वास्थ्य यांत्रिकी, सहकारिता अ©र खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभ¨क्ता विभाग¨ं के जिला स्तर के अधिकारी शिविर¨ं में आवश्यक रूप से हिस्सा लेंगे।

शिविर¨ं में ह¨गा समस्याअ¨ं का निराकरण
शिविर में आने वाले आवेदक समस्याअ¨ं का तत्काल निराकरण प्राप्त करेंगे। जिन आवेदन¨ं का तुरंत निराकरण संभव नहीं ह¨गा, उसके संबंध में आवेदक क¨ सूचित किया जायेगा। एक समय-सीमा में निराकरण का कार्य किया जायेगा। शिविर¨ं क¨ दिखावे से दूर रखकर व्यवस्थित ढंग से लगाने अ©र आमत©र पर उसी दिन समस्या हल करने क¨ प्राथमिकता दी जायेगी। शिविर में आवेदक¨ं के लिये सुविधाजनक प्रतीक्षालय का इंतजाम भी किया जायेगा। कलेक्टर द्वारा शिविर के संबंध में मुनादी एवं अन्य उपाय¨ं से भी ग्रामीण¨ं तक सूचना पहुँचाने का कार्य किया जायेगा। संभागीय कमिश्नर भी शिविर¨ं में सुविधानुसार म©जूद रहेंगे। शिविर पूर्ण ह¨ जाने पर राज्य सरकार क¨ विस्तृत प्रतिवेदन भेजा जायेगा।

प्रदेश में उपार्जित खाद्यान्न परिवहन दर अनुसूची निर्धारण के लिए समिति गठित
           
झाबुआ । राज्य शासन ने प्रदेश में उपार्जित खाद्यान्न आदि की परिवहन दर अनुसूची (एस.अ¨.एस.) के निर्धारण के लिये प्रमुख सचिव खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति की अध्यक्षता में राज्य-स्तरीय समिति का गठन किया है। समिति में प्रमुख सचिव परिवहन द्वारा नामांकित उप सचिव स्तर तक के अधिकारी, प्रबंध संचालक मध्यप्रदेश राज्य सहकारी विपणन संघ, कलेक्टर जबलपुर, अ©र रायसेन एवं महाप्रबंधक भारतीय खाद्य निगम भ¨पाल क¨ सदस्य नामांकित किया गया है। प्रबंध संचालक म.प्र. स्टेट सिविल सप्लाइज काॅपर्¨रेशन सदस्य-सचिव ह¨ंगे। समिति भारत सरकार द्वारा खाद्यान्न परिवहन के लिये निर्धारित स्लेब अनुसार एस.अ¨.आर. का निर्धारण अपनी निगरानी में तैयार करायेगी। तैयार एस.अ¨.आर. प्रदेश में सभी खाद्यान्न परिवहन के लिये प्रभावी ह¨गा। समिति खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभ¨क्ता संरक्षण विभाग क¨ एक माह की समयावधि में प्रतिवेदन प्रस्तुत करेगी।

पंचायत¨ं की मतदाता सूची के वार्षिक पुनरीक्षण का कार्यक्रम स्थगित

झाबुआ । पंचायत¨ं की फ¨ट¨युक्त मतदाता सूची के वार्षिक पुनरीक्षण-2019 की प्रक्रिया एवं मतदाता सूची बनाने का कार्यक्रम स्थगित कर दिया गया है। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के त्रि-स्तरीय पंचायत¨ं के परिसीमन के संश¨धित कार्यक्रम क¨ देखते हुए मतदाता सूची बनाने का कार्यक्रम स्थगित किया गया है। सचिव राज्य निर्वाचन आय¨ग श्रीमती सुनीता त्रिपाठी ने जानकारी दी है कि परिसीमन की कार्यवाही 31 जुलाई 2019 तक पूरी ह¨गी। तब तक के लिये मतदाता सूची बनाने का कार्यक्रम स्थगित रहेगा। इस संबंध में सभी कलेक्टर एवं जिला निवार्चन अधिकारी क¨ निर्देश जारी कर दिये गये हैं।

आदिवासी क्षेत्रों के हाट-बाजारों में एटीएम सुविधा का विस्तार जरूरी
राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति की बैठक में लिया गया निर्णय
झाबुआ । अपर मुख्य सचिव वित्त श्री अनुराग जैन ने कहा है कि प्रदेश के आदिवासी क्षेत्रों में लगने वाले हाट-बाजारों में एटीएम सुविधा का विस्तार करने की जरूरत है। बैंक यह भी सुनिश्चित करें कि बैंक खाता खोलने का कोई शुल्क नहीं लिया जाए। श्री जैन गत दिवस राज्य स्तरीय बैंकर्स कमेटी की बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। बैठक में पंचायतों में बैंकिग सुविधा के विस्तार, कृषि के साथ डेयरी, मुर्गी पालन, मत्स्य-पालन आदि क्षेत्रों में ऋण सुविधा उपलब्ध कराने पर चर्चा हुई। रोजगारमूलक तथा कल्याणकारी योजनाओं की समीक्षा के दौरान यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए कि बैंकों की प्रक्रिया तथा आपसी समन्वय के अभाव की वजह से हितग्राही परेशान न हो। योजनाओं के तहत आये आवेदनों का समय-सीमा में निराकरण करने को कहा गया। स्व-सहायता समूहों को ऋण सुविधा, वित्तीय साक्षरता तथा राष्ट्रीय बाँस मिशन की योजनाओं के क्रियान्वयन में बैंकों के सहयोग पर भी चर्चा हुई।

नया मध्यप्रदेश बनाना और जनता की अपेक्षाएँ पूरा करना हमारा लक्ष्य हो-श्री कमल नाथ
मुख्यमंत्री का नव-निवार्चित विधायकों के प्रबोधन कार्यक्रम को संबोधन
झाबुआ । मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि भविष्य का मध्यप्रदेश बनाने और जनता की अपेक्षाएँ पूरा करना हमारा लक्ष्य होना चाहिये। प्रजातंत्र के मंदिर में हमें इसी कर्त्तव्य का पालन करना चाहिए। श्री नाथ मध्यप्रदेश विधानसभा के कैलाश मानसरोवर सभाकक्ष में नव-निर्वाचित विधायकों के प्रबोधन कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर मध्यप्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष श्री नर्मदा प्रसाद प्रजापति, विधानसभा उपाध्यक्ष सुश्री हिना कांवरे, नेता प्रतिपक्ष श्री गोपाल भार्गव, संसदीय कार्य मंत्री डॉ. गोविंद सिंह एवं लोकसभा की महासचिव श्रीमती स्नेहलता श्रीवास्तव उपस्थित थीं। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा कि 40 साल पहले जब वे पहली बार लोकसभा सदस्य चुने गए थे, तब पहली बार संसदीय ज्ञान की पहली सीढी ऐसे ही प्रबोधन कार्यक्रम के जरिए चढी थी। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे संविधान ने विधायिका के कर्त्तव्यों और अधिकारों को बेहतर ढंग से परिभाषित किया है। हमें संविधान की आत्मा को आत्मसात कर अपने देश, प्रदेश और क्षेत्र की जनता की अपेक्षाओं को पूरा करना है। श्री नाथ ने कहा कि समय के साथ राजनीति बदली है। कई परिवर्तन हमारे समाज में हुए हैं। पुरानी दुनिया से अलग नई पीढी की दुनिया हमारे सामने हैं। इसके परिवर्तनों को हमें देखना-समझना है। नई पीढी हमारा सम्मान करें। विधायिका और कार्यपालिका के साथ नयी पीढी को कैसे जोडे और उनकी अपेक्षाओं को कैसे पूरा करें, यह हमारे सामने आज सबसे बडी चुनौती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि देश में हो रहे परिवर्तनों के अनुरूप हमें मध्यप्रदेश को बनाना है जिससे हम आने वाले कल का प्रदेश बनाने में पीछे न रह जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि एक जिम्मेदार प्रतिनिधि को संसदीय परंपराओं, नियम प्रक्रियाओं का गहन अध्ययन करना चाहिए। इससे वह विधायी सदनों में जनता और प्रदेश हित में बेहतर भूमिका निभा सकेगा। कब हमें बोलना, कब हमें चुप रहना है, सार्थक रूप से अपनी बात कहना है, इस पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। शोर-शराबा और विषयांतर कर अपनी बात करने से हम न केवल अपने अधिकारों, कर्त्तव्यों बल्कि क्षेत्र की जनता के साथ ही अन्याय करते हैं।  मुख्यमंत्री ने कहा कि हम पाँच साल के लिए चुने गए हैं। हम जब अपना कार्यकाल पूरा कर फिर से जनता के बीच समर्थन मांगने जाएं तो वह हमारा स्वागत करें और हमें आत्मसंतुष्टि हो, यही हमारी सफलता होगी। श्री नाथ ने कहा कि एकजुट कोशिश से ही हम प्रदेश के विकास का एक नया नक्शा बना पाएंगे।

मध्यप्रदेश में मेडिकल टूरिज्म की संभावनाएँ तलाशी जायें

झाबुआ । चिकित्सा शिक्षा मंत्री एवं मध्यप्रदेश-सह-चिकित्सीय परिषद की पदेन अध्यक्ष डाॅ. विजयलक्ष्मी साध© ने कहा है कि मध्यप्रदेश में मेडिकल टूरिज्म की संभावनाएँ तलाशी जायें। डाॅ. साध© ने शनिवार को परिषद की 21वीं बैठक में पैरामेडिकल पाठ्यक्रम¨ं के लिये पंजीयन शुल्क में 5 प्रतिशत वृद्धि के निर्णय क¨ अमान्य करते हुए इस बार वृद्धि नहीं करने का निर्णय लिया। मंत्री ने निर्देश दिये कि बच्च¨ं क¨ छात्रवृत्ति समय पर देने के प्रयास किये जायें। उन्ह¨ंने एम्स के पास चिन्हित भूमि पर परिषद का नया भवन बनाने की शुरूआत करने क¨ कहा। परिषद द्वारा आय¨जित परीक्षाअ¨ं की अवार्ड शीट, प्राय¨गिक परीक्षा वेल्यूएशन शीट, उत्तर-पुस्तिकाअ¨ं की स्केनिंग का कार्य एम.पी. आॅनलाइन के माध्यम से करवाने का निर्णय लिया गया। स्वीकृत पद¨ं क¨ संविदा के माध्यम से भरने संबंधी नस्ती क¨ पुनरू अनुम¨दन के लिये भेजने के निर्देश दिये गये। परिषद के निर्वाचित सदस्य¨ं के चुनाव के लिये आॅनलाइन प्रक्रिया अपनायी जायेगी। परिषद संचालक की अध्यक्षता में गठित पंजीयन समिति की बैठक में पंजीयन संबंधी निर्णय¨ं अ©र आयुक्त आयुष की अध्यक्षता में गठित परीक्षा मण्डल की बैठक के निर्णय¨ं का अनुम¨दन किया गया। मान्यता प्राप्त पैरामेडिकल पाठ्यक्रम संचालित करने वाली संस्थाअ¨ं पर चर्चा के द©रान संस्थाअ¨ं की निरीक्षण समिति के गठन की भी अनुमति दी गयी। निरीक्षण समिति क¨ भ©तिक सत्यापन करवाने के लिये अदर््ध-शासकीय पत्र लिखने क¨ भी कहा गया। पैरामेडिकल प्रमाण-पत्र पंचकर्म टेक्नीशियन क¨र्स अभी निरंतर रखने अ©र परिषद कार्यालय में कार्यरत कर्मचारिय¨ं क¨ अवकाश के दिन¨ं का अतिरिक्त पारिश्रमिक देने के निर्णय लिये गये। संस्थाअ¨ं द्वारा अनियमितता किये जाने पर सुरक्षा-निधि के लिये जमा राशि क¨ राजसात करने का निर्णय लिया गया। कमेटी बनाकर नये क¨र्स शुरू करने पर विचार-विमर्श किया जायेगा।

विकास खण्ड स्तरीय बैकर्स समिति की बैठक 9 से 17 जुलाई तक आयोजित होगी
        
झाबुआ । एलडीएम श्री नरेन्द्र गोठवाल ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2019-20 की विकास खण्ड स्तरीय बैकर्स समिति की तिमाही बैठक विकास खण्ड वार 9 से 17 जुलाई तक आयोजित की जाएगी। इसके लिए कार्यक्रम निर्धारित किया गया है। निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 09 जुलाई मंगलवार को जनपद पंचायत कार्यालय, पेटलावद में, 10 जुलाई बुधवार को जनपद पंचायत कार्यालय, थांदला मे,ं 11 जुलाई गुरूवार को जनपद पंचायत कार्यालय, मेघनगर में, 12 जुलाई षुक्रवार को जनपद पंचायत कार्यालय, रामा में, 16 जुलाई मंगलवार को जनपद पंचायत कार्यालय, रानापुर में, 17 जुलाई को जनपद पंचायत कार्यालय, झाबुआ,षिक्षा विभाग कार्यालय के पास समिति की बैठक सायं 4ः30 बजे से आयोजित की जाएगी। बैठक में वार्षिक साख योजना 2019-20 में प्रगति, षासकीय योजनाओ बैंक ऋण की वसूली, फसल बीमा खरीफ 2018-19 बीमित किसानो की संख्या/बीमित राषि, प्रत्येक ग्राम पंचायत में बीसी की नियुक्ति, आधार सीडिग अद्यतन स्थिति की समीक्षा की जाएगी। आर सेटी द्वारा पे्रषित ऋण आवेदन पत्र तथा प्रषिक्षण हेतु भेजे गए आवेदको की प्रगति, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना स्टेड अप इण्डिया की समीक्षा की जाएगी।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि रू- योजना का लाभ लेने अब 10 जुलाई तक किसान कर सकेंगे आवेदन

झाबुआ ।प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ लेने के लिए जिले के किसान अब दस जुलाई तक संबंधित तहसील कार्यालयों में आवेदन जमा कर सकेंगे। इस योजना के तहत आवेदन की अंतिम तिथि को 5 जुलाई से बढ़ाकर दस जुलाई कर दिया गया है।  अधीक्षक भू-अभिलेख के मुताबिक किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ लेने के लिए आधार कार्ड, परिवार की समग्र आईडी, आईएफएससी कोड सहित बैंक खाता की जानकारी और मोबाइल नंबर सहित निर्धारित प्रारूप में आवेदन करना होगा। अधीक्षक भू-अभिलेख ने बताया कि योजना के लिए आवेदन का निर्धारित प्रारूप संबंधित तहसील कार्यालय से प्राप्त किया जा सकता है। आवेदन के प्रारूप को वेबसाइट से भी डाउनलोड किया जा सकता है। अधीक्षक भू-अभिलेख के अनुसार प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत कृषि भूमि धारित करने वाले कृषक परिवारों को दो-दो हजार रूपए की तीन बराबर किश्तों में प्रतिवर्ष छह हजार रूपए की सम्मान निधि दी जाएगी। सम्मान निधि की यह राशि सीधे किसानों के बैंक खाते में हस्तांतरित की जाएगी। 

9 जुलाई को अधिकारी कर्मचारी सहित आमजन हाथीपावा पर करेगे पौधा रोपण
प्रातः 7 बजे से 10 बजे तक होगा पौधा रोपण
झाबुआ 08 जुलाई 2019/जिले में पौधा रोपण के लिए चिन्हित हाथीपावा पहाडी पर प्रतिवर्ष की भांती इस वर्ष भी 9 जुलाई को पौधा रोपण कार्यक्रम आयोजित कर पौधे लगाए जाऐगे। कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा के नेतृत्व में षासकीय अधिकारी कर्मचारी सहित आमजन 9 जुलाई को प्रातः 7 बजे से 10 बजे तक पौधा रोपण का कार्य करेगे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...