मधुबनी : प्रभारी सचिव ने की मानव श्रृंखला से संबंधित तैयारियों की समीक्षा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 23 दिसंबर 2019

मधुबनी : प्रभारी सचिव ने की मानव श्रृंखला से संबंधित तैयारियों की समीक्षा


मधुबनी (आर्यावर्त संवाददाता) :  श्री लोकेश कुमार सिंह, सचिव, स्वास्थ्य विभाग-सह-प्रभारी सचिव, मधुबनी जिला की अध्यक्षता में समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में सोमवार को जल-जीवन-हरियाली, बाल विवाह एवं दहेज उन्मूलन तथा नशामुक्ति अभियान के समर्थन में दिनांक 19.01.2020 को आयोजित मानव श्रृंखला के निर्माण हेतु की जा रही तैयारियों की समीक्षा की गयी।  इस अवसर पर जिला पदाधिकारी, मधुबनी, श्री शीर्षत कपिल अशोक, पुलिस अधीक्षक, मधुबनी, डाॅ0 सत्यप्रकाश, अपर समाहत्र्ता, मधुबनी, श्री दुर्गानंद झा, अनुमंडल पदाधिकारी, सदर मधुबनी, श्री सुनील कुमार सिंह, जिला शिक्षा पदाधिकारी, मधुबनी, नसीम अहमद समेत जिला स्तरीय सभी पदाधिकारीगण उपस्थित थे। जिला पदाधिकारी, मधुबनी के द्वारा प्रभारी सचिव को बताया गया कि जल-जीवन-हरियाली, नशामुक्ति, दहेज एवं बाल विवाह उन्मूलन अभियान के समर्थन में आयोजित राज्यव्यापी मानव श्रृंखला के निर्माण हेतु मधुबनी जिला को कुल 493.0 कि0मी0 का लक्ष्य प्राप्त है। जिसमें मुख्य मार्ग पर 121.0 कि0मी0 तथा उपमार्ग पर 372.0 कि0मी0 में मानव श्रृंखला का निर्माण किया जायेगा। प्रत्येक मुख्य मार्ग/उप मार्ग पर प्रति 100 मीटर पर एक समन्वयक, प्रत्येक 1 कि0मी0 पर एक सेक्टर पदाधिकारी तथा प्रत्येक 5 कि0मी0 पर एक जोनल पदाधिकारी तथा 10 कि0मी0 पर सुपर जोनल पदाधिकारी का निर्धारण कर माईक्रो प्लानिंग बना ली गयी है। समन्वयक  के रूप में शिक्षा विभाग से एक, जीविका से एक, आई0सी0डी0एस से एक स्वास्थ्य विभाग से एक कुल चार व्यक्ति रहेंगे। प्रत्येक एक कि0मी0 पर सेक्टर पदाधिकारी के रूप में शिक्षा विभाग, कृषि विभाग एवं जीविका के कर्मी प्रतिनियुक्त रहेंगे। 
सभी मार्गो में पदस्थापित आशा कार्यकत्र्ता, आंगनवाड़ी सेविका/सहायिका, विकास मित्र, न्याय मित्र, रोजगार सेवक, जीविका दीदी एवं कम्युनिटी मोबलाईजर, कृषि मित्र, पी0डी0एस0 के डीलर आदि के माध्यम से लोगों में जागरूकता लाने एवं उन्हें मानव श्रृंखला में शामिल होने हेतु प्रेरित किया जायेगा। सभी प्रखंडों में पड़ने वाले गैर सरकारी संगठन, नेहरू युवा केन्द्र, चेंबर ऑफ कामर्स, राजीतिक दल के प्रतिनिधि, युवा मंडल, महिला मंडल, सेल्फ हेल्प ग्रुप, ग्रामीण सांस्कृतिक मंडली आदि को भी चिन्हित कर उनके साथ बैठक कर उन्हें भी लोगों में जागरूकता लाने एवं भाग लेने का अनुरोध किया जायेगा। मानव श्रृंखला हेतु वातावरण निर्माण हेतु शिक्षा सेवक, तालिमी मरकज एवं के0आर0पी0 के द्वारा जिला में नारा लेखन, दीवार लेखन कार्य प्रारंभ किया जा चुका है। जिला, प्रखंड तथा पंचायत स्तरीय संचालन समिति का गठन किया जा रहा है। साथ ही जिला स्तरीय कोर समिति का गठन कर लिया गया है। प्रभारी, सचिव ने सभी पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि मानव श्रृंखला में जिस प्रतिभागी का जहां घर हो, उसी के आस-पास उनके शामिल होने की व्यवस्था की जाये। ताकि उन्हें दूर मानव श्रृंखला में शामिल होने नहीं जाना पड़े। साथ ही इस प्रकार से रूट प्लान बने कि आस-पास के गांव के लोग उसमें शामिल हो सकें। जहां निर्जन स्थान हो वहां बगल के गांवों के लोगों को शामिल करें।  उन्होंने निदेश दिया कि किस स्थान पर किस गांव/टोला के लोग मानव श्रृंखला में शामिल होंगे, उसका एक माईक्रो प्लान तैयार कर लें। साथ ही वैसा क्षेत्र/प्रखंड जो रूट प्लान में नहीं भी शामिल है, फिर भी वहां मानव श्रृंखला अवश्य बनाये। उन्होंने यह भी निदेश दिया कि निर्धारित लक्ष्य 493.0 कि.मी. के बदले 525 कि. मी. का रूट चार्ट एवं माइक्रो प्लान तैयार करें। पूरे कार्यक्रम की तैयारी को लेकर जिला, अनुमंडल एवं प्रखंड स्तर पर नियंत्रण कक्ष की भी स्थापना की जाये, जिससे कि सतत निगरानी हो सकें। उन्होंने निदेश दिया कि खासकर मानव श्रृंखला के दिन यातायात व्यवस्था प्रभावित नहीं हो इसके लिए वैकल्पिक यातायात व्यवस्था एवं उसकी पूर्ण तैयारी अवश्य करेें। साथ ही मानव श्रृंखला के पश्चात यातायात प्रभावित नहीं हो साथ ही किसी प्रकार की घटना/दुर्घटना नहीं हो इसके लिए पूरी तैयारी करें।  प्रभारी, सचिव ने निदेश दिया कि दिनांक 19.01.2020 को मानव श्रृंखला के दिन जगह-जगह ऐंबुलेंस की व्यवस्था तथा सभी पी0एच0सी0 एवं ए0पी0एच0सी को अलर्ट पर रखें। साथ ही प्रत्येक रूट पर फस्र्ट एड की व्यवस्था अवश्य सुनिश्चित करें। विधि-व्यवस्था एवं यातायात व्यवस्था भंग नहीं हो इसलिए सभी स्थानों पर काफी संख्या में पुलिसबल की प्रतिनियुक्ति भी करने का निदेश  दिया। तत्पश्चात प्रभारी, सचिव द्वारा समाहरणालय परिसर से मानव श्रृंखला के समर्थन में लोगों में जागरूकता लाने के उद्देश्य से कला जत्था की टीम को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...