झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 23 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 24 अप्रैल 2020

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 23 अप्रैल

एसडीएम ने पकडी महुआ से भरी आयशर 18 घण्टे बाद फिर छोडी लाकडाउन मे महुआ परिवहन को लेकर शासन के नही हे स्पष्ट निर्देश

jhabua news
पारा । देश भर मे चल रहे लाकडाउन के चलते जहा केवल खादय सामग्री सभी जगह पर लाने लेजाने कि अनुमती के कारण प्रशासन के परमिट से आवागमन चालु हे। वही कुछ व्यापारी इस का फायदा उठाने से भी नही चुक रहे। व इसी परमिट कि आड मे अपना वेध अवेध कारोबार कर रहे हें।  ऐसा ही एक मामला  गत दिवस पारा नगर मे देखने को मिला । यहा नगर रुटीन के दोरे पर आए अनुविभागीय अधिकारी राजस्व अभयसिह खराडी, मण्डी अधिकारी लक्ष्मणसिह चैहान ने पारा पुलिस चोकि प्रभारी  केसर सिह पांडव  व अमले के सहयोग से गत दिवस शाम करिब 5 बजे के लगभग नगर के राजगढ रोड रातीमाली स्थित विधुत मण्डल ग्रीड के समीप खडी महुवे से भरी आयशर क्रमांक एमपी 09 जीजी 3143 को पकड कर पुलिस चोकि पर लाए। व बाद मे महुवे से भरे ट्रक का तोल करवा कर झाबुआ ले गए।  बताया जाता हे कि उक्त ट्रक आकृषित कोल्ड स्टोरेज राउ महु जिला इन्दोर से दिनांक  20 अप्रेल 2020 को शाम बजे गिरीराज र्टेडर्स पारा के लिए निकला जो कि 21 कि शाम को 5 बजे के लगभग पहुच कर  रातीमाली विघुत मण्डल ग्रीड के समीप आकर खडा होगया। ठिक उसी समय पारा नगर के रुटिन दोरे पर अनुविभागीय अधिकारी व मण्डी अधिकारी राजगढ रोड से निकल रहे थे कि ट्रक मे समान को देख कर रुके व कागज चेक किए। जिसमे ट्रक मे 15 टन महुआ भरा हुआ कृषी उपज मण्डी महु के अनुज्ञया पत्र मे बताया गया। उक्त ट्रक को ढेड सो किलोमीटर आने मे 24 घण्टे का समय लगने पर संदेह के आधार पर जब्ती मे लिया व ट्रक्र का वनज करवाने पर 20 टन 687 किलो ग्राम निकला।  एक तरफ प्रदेश सरकार व जिला प्रशासन के निदे्रश के तहत सभी वाहनो का आवागमन केवल खादय सामग्री के लिए हेे। शासन द्वारा गत दिनो जारी किए गए पत्र क्रमांक 40-3 डीएम-1 ए दिनांक 15 अप्रेल 2020 से निर्देशित किया गया हे कि बाजार मे आवागमन के लिए दि गई ढील मे क्या चालु रहेगा व क्या बंद रहेगा। वही महुआ को लेकर शासन ने कोई स्पष्ट निर्देश नही दिया गया हे। जब कि शराब पर पुर्ण रुप से प्रतिबंध हे। ऐसे मे महुआ भी कोई खादय सामग्री मे नही आता। बावजुद इसके कृषि उपज मण्डी महु जिला इन्दोर के भारसाधक अधिकारी भी संदेह के दायरे आते हे कि उन्हाने किस आधार पर महुआ से भरी ट्रक को लानेलेजाने कि अनुज्ञया प्रदान करी। वही करिब ढेढ सो किलो मीटर से चल कर आरहे उक्त वाहन कि जांच किसी भी बेरीकेटस पर किसी भी अधिकारी द्वारा नही कि जाना कई आंशंकाओ को जन्म दे रहा हे। जहा पेदल चल कर आ जारहे हर एक नगारीक कि जाच कि जा रही हे। वही बगेर किसी जांच उक्त वाहन यहा तक केसे पहुचा। हो सकता हे कि एक ही अनुज्ञया पत्र पर 24 घण्टे के दोरान दो तीन फेरे भी ट्रक वाले ने लगाए हो। यह भी जांच का विषय हे। वही 22 अप्रेल कि दोपहर को उक्त महुवे से भरी आयशर को पुनः छोड दिया। इस बाबत जब मण्डी अधिकारी लक्ष्मणसिह चोहान  से चर्चा कि तो उन्होने परिवहन कमिश्नर के आदेश का हवाला देते हुवे बताया कि उनका आदेश हे कि किसी भी प्रकार की सामग्री का परिवहन कर रहे वाहन को रोका नही जावे।

झाबुआ में कोरोना वायरस से रोकथाम हेतु लगे संपूर्ण लाॅकडाउन के बीच हाथीपावा पर निखर रहा प्राकृतिक सौंदर्य
हाथीपावा मार्निंग क्लब के सदस्य प्रतिदिन पहुंचकर पेड़-पौधों का पानी देने एवं प्राकृतिक छटा को बरकरार रखने हेतु दे रहे सेवाएं बुधवार को हाथीपावा पर दिखी राष्ट्रीय पक्षी मोरो की हलचल
jhabua news
झाबुआ। देष सहित संपूर्ण विष्व इन दिनों कोरोना वायरस जैसी जानलेवा और भयावह महामारी से जूझ रहा है। देष के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के निर्देष पर संपूर्ण देष में 3 मई तक लाॅकडाउन किया हुआ है। झाबुआ शहर में भी 3 मई तक संपूर्ण लाॅकडाउन है, लेकिन इस बीच झाबुआ जिले की आन-बान-षान के रूप में पहचाने वाले वाले जिले के पर्यटन स्थल हाथीपावा का सौंदर्य भी देखने लायक रह रहा है। जिसका कारण नित्य यहां अलसुबह उदय होते सूर्यदेवता एवं अस्त होते सूर्यदेवता का मनोहारी दृष्य संुदर अनुभव और जीवन की परिकल्पना से परिपूर्ण है। उधर बढ़ती गर्मी के बीच यहां पर्यावरण को बरकरार रखने के लिए संपूर्ण लाॅकडाउन में फुर्सत के पलों के बीच हाथीपावा मार्निंग क्लब के कई सदस्य यहां पहुंचकर पेड-पौधों का पानी देने के साथ प्राकृतिक सौंदर्य को भी निहारकर अत्यधिक ताजगी और स्फूर्ति का अनुभव कर रहे है। ज्ञातव्य रहे कि वर्षों पूर्व झाबुआ की बंजर और विरान पड़ी हाथीपावा की पहाड़ियों को सहेजने और इसका स्वरूप बदलने का कार्य जिले के तत्कालीन कलेक्टर एवं वर्तमान आयुक्त आषीष सक्सेना और तत्कालीन पुलिस अधीक्षक झाबुआ तथा वर्तमान एसपी इंदौर पष्चिम क्षेत्र महेषचन्द्र जैन के अथक प्रयासों से हुआ था। जिसमें जिला प्रषासन के सभी अधिकारी-कर्मचारियों, पुलिस प्रषासन के अधिकारी-कर्मचारियों, वन विभाग, राजस्व विभाग, विषेष रूप से पीएचई विभाग केे सहयोग से हाथीपावा का कायाकल्प तेजी हो सका। साथ ही उस दोैरान प्रतिदिन यहां हाथीपावा को हरा-भरा और सुनहारा करने में हाथीपावा मार्निंग क्लब के सभी सदस्यों के सराहनीय सहयोग की, तो कल्पना भी नहीं की जा सकती है।

प्राकृतिक सौंदर्य देखने लायक रह रहा
आज जब झाबुआ शहर में कोरोना वायरस से बचाव हेतु संपूर्ण लाॅकडाउन लगा हुआ है, तो इस बीच हाथीपावा मार्निंग क्लब के सक्रिय सदस्यों द्वारा यहां प्रतिदिन अलसुबह 5-7 बजे के बीच पहुंचकर यहां उदय होते सूर्य की लालिमां के दर्षन के साथ हाथीपावा के सौंदर्य को बरकरार रखने के लिए साफ-सफाई एवं ग्रीष्मकाल में धीरे-धीरे बढ़ती गर्मी में पेड़-पौधों को जीवित रखने के लिए उन्हें नियमित पानी देने जैसे कार्य आरंभ कर दिए गए है।

राष्ट्रीय पक्षी मोर ने दी दस्तक
22 अप्रेल, बुधवार को यहां इस बीच प्रातःकाल राष्ट्रीय पक्षी मोर ने भी दस्तक दी। हाथीपावा पर 3-4 मोर आहार की तलाष में विचरण करते हुए दिखाई दिए। जिन्हें हाथीपावा मार्निंग क्लब के सदस्यों ने मोबाईल में कैद कर इनके आहार-पानी आदि की व्यवस्था की। हाथीपावा मार्निंग क्लब के सदस्यों का कहना है कि वह ग्रीष्म ऋतु में जब हाथीपावा के प्राकृतिक सौंदर्य को जीवित रखने के लिए उसकी देखभाल करना अत्यंत आवष्यक है, तब सभी सदस्य प्रतिदिन प्रातःकाल एवं संध्या को यहां पहंुचकर अपनी निःस्वार्थ सेवाएं निरंत जारी रखना है।

कोरोना संक्रमण से बचाव हेत आवश्यक  स्वास्थ्य सामग्री क्रय करने के लिए झाबुआ विधायक निधि से 11.00 लाख रू. की स्वीकृति  गरीबों की मदद करें - श्री भूरिया

jhabua news
झाबुआ । कोरोना महामारी वैश्र्विक महामारी है सम्पूर्ण प्रदेश के साथ साथ जिले में भी सर्तक रहना आवश्यक है। वर्तमान में  जिले का स्वास्थ्य विभाग, पुलिस विभाग के साथ साथ नगर पालिका के कर्मचारी, आंगनवाडी कार्यकर्ता, पंचायत सचिव आदि कर्मचारी  अपने कर्तव्य का निर्वहन पुरी निष्ठा से कर रहे है। ये सभी अधिकारी कर्मचारी कर्मवीर है। मै जनता का प्रतिनिधि होने के नाते इनकी सुरक्षा करना एवं सहयोग के लिए प्रतिबद्व हूं यह मेरी नैतिक जिम्मेदारी है। उक्त बात कहते हुए झाबुआ विधायक कांतिलाल भूरिया ने विधायक निधि से 11.00 लाख रूपये प्रदान करने की अनुशंसा की गई है। उक्त राशि से कर्मचारीयों के लिए पीपीटी किट, 500 नग 95 एन. माक्स 1000 नग, थ्री लियर मास्क 25000, हेण्ड ग्लोब्स 25000, तथा नान ट्च थर्मामीटर 15 नग क्रय करने हेतु राशि प्रदान की गई है। भूरिया द्वारा अवगत कराया है कि उक्त किट एवं माक्स तथा अन्य उपकरण कर्मचारीयों के बचाव लिए अत्यन्त आवश्यक है । चूकि कर्मचारीगण लगातार अपने कर्तव्य का निर्वहन कर रहे है इस लिए उक्त सामग्री हेतु राशि जारी की गई है। कर्मचारी अपने कर्तव्य का पालन लगातार उचित तरिके से निर्वहन कर रहे है,इस लिए उक्त सामग्री हेतु राशि जारी की गई हे। ग्रामीण क्षेत्रों में साथ शासन की हर योजना का लाभ गरीब से गरीब को मिले,इससे कोई वंचित न रहे ऐसे प्रयास ईमानदारी से करें भूरिया ने जिले के कांग्रेस कार्यकर्ताओं से भी अपिल की है कि वे अपने क्षेत्र के गरीब एवं आदिवासीयों को शासन की योजना का लाभ देवे तथा उचित मूल्य की दुकान से राशन उपलब्ध करावे तथा जो निशुल्क राशन का वितरण किया जा रहा है उस पर भी अपनी नजर रख,ेनिगरानी रखे तथा किसी भी प्रकार की लापरवाही  न हो इस बात का विशेष ध्यान रखा जावे। जहां लापरवाही हो रही अथवा किसी प्रकार की  परेशानी हो रही है तो तत्काल मुझे अथवा कांग्रेस के ब्लाक अध्यक्ष एवं अध्यक्ष जिला कांग्रेस व वरिष्ठ पदाधिकारीयों को अवगत करावे।  उक्त जानकारी जिला कांग्रेस प्रवक्ता हर्ष भट्ट देते हुए बताया कि उक्त सामग्री स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से क्रय की जाना है इस हेतु आज दोपहर विधायक प्रतिनिधि एवं जिला युवक कांग्रेस अध्यक्ष डाॅ विक्रान्त भूरिया ने जिला अस्पताल पहुंच कर झाबुआ विधायक की ओर से 11 लाख रूपये की राशि प्रदान के लिए कलेक्टर महोदय को लिखा  पत्र की प्रतिलिपि मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ बी एस बारिया एवं सिविल सर्जन बी एस बघेल को पत्र सौपकर जल्द आवश्यक  चिकित्सा सामग्री मंगवाने की बात कही इस अवसर पर हर्ष जैन आईटीसेल एवं रिंकू रूनवाल सहित अस्पताल स्टाप उपस्थित थे।

जिला केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएषन ने कोविड-19 सेंपल कलेक्षन की 6 यूनिट जिला स्वास्थ्य विभाग को की भेंट, 2 लाख रू. में तैयार की गई 6 यूनिट
सांसद, भाजपा जिलाध्यक्ष, विधायक प्रतिनिधि एवं सकल व्यापारी संघ अध्यक्ष ने किया अवलोकन
jhabua news
झाबुआ। देष सहित संपूर्ण विष्व इन दिनों नोवेल कोरोना वायरस (कोविड-19) जैसी जानलेवा और भयावह महामारी से जूझ रहा है। भारत देष में लगातार कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में बढ़ोत्तरी होती जा रहीं है। साथ ही संक्रमित होकर कई मरीज असमय काल के गाल में भी समाहित हो रहे है। इस बीच सबसे बड़ी सेवा के रूप में कोरोना यौद्धाओं के बतौर मरीजों का उपचार जो चिकित्सक, वार्ड बाॅय, नर्सेस, पैथालाॅजिस्ट कर रहे है, उनकी सुरक्षा अत्यंत आवष्यक है। देष में वर्तमान में कई डाॅक्टर्स एवं स्वास्थ्य कर्मचारी भी कोरोना वायरस से संक्रमित होकर इन कर्मवीरों को जान से हाथ धोना पड़ रहा है। ताजा मामले में मप्र के महानगर इंदौर में दो चिकित्सकों की अपनी ड्यूटी के दौरान कोरोना वायरस के संक्रमित मरीजों का उपचार एवं उनके संपर्क मंे आने से उनकी मृत्यु हो गई। जिसे देखते हुए जिला केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएषन ने झाबुआ जिले में कोरोना वायरस से रोकथाम हेतु मैदान में उतरकर जंग लड़ रहे चिकित्सक, नर्सेस, वार्ड बाॅय एवं पैथालाॅजिस्ट के लिए कोरोना संदिग्ध मरीजों की जांच करते समय एवं सेंपल लेते समय उनकी सुरक्षा की दृष्टि से कोविड-19, सेंपल कलेक्षन की 6 यूनिट तैयार कर 22 अप्रेल, बुधवार को दोपहर 11 बजे जिला स्वास्थ्य विभाग को प्रदान की है। साथ ही इस दौरान इन यूनिट का क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों, स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों, सकल व्यापारी संघ के पदाधिकारियों को भी अवलोकन करवाया। इनकी कुल कीमत 2 लाख रू. है, जिसका वहन जिला केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएषन के अध्यक्ष मनोज बाबेल के नेतृत्व में समस्त पदाधिकारी-सदस्यों ने किया है।

कोरोना संदिग्धों की जांच के समय स्वास्थ्यकर्मियों का बचाव हो सकेगा
एसोसिएषन के जिलाध्यक्ष मनोज बाबेल ने बताया कि यह 6 यूनिट जिला चिकित्सालय झाबुआ सहित पारा, थांदला, मेघनगर, पेटलावद एवं रानापुर में स्थित प्राथमिक एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रो पर लगेगी। इसे तैयार करने में एसेासिएषन को जिले के औषधि निरीक्षक कमल अहिराओ का मार्गदर्षन प्राप्त हुआ। यूनिट की डिजाईनिंग जिला चिकित्सालय के सिविल सर्जन डाॅ. बीएस बघेल एवं जिला चिकित्सा अधिकारीी डाॅ एम किराड तथा डाॅ. चैहान से परामर्ष अनुसार की गई। साथ ही लेब टेक्निषियन टीनू सिसौदिया ने पैथालाजिस्ट द्वारा यूनिट के अंदर खड़़े रहकर कोरोना संदिग्धों का सेंपल किस तरह से लिया जा सके, इसको लेकर आवष्यक सुझाव देते हुए आवष्यक बदलाव भी किया गया। इस यूनिट को तैयार करने में जिले के सभी केमिस्टों का भी आवष्यक सहयोग प्राप्त हुआ। जिलाध्यक्ष श्री बाबेल ने आगे बताया कि वर्तमान में कोरोना वायरस जैसी वैष्विक महामारी से जिले के डाॅक्टर, स्वास्थ्यकर्मी एवं पैथालाॅजिस्ट को बचाव हेतु कोरोना संदिग्ध मरीजों का जांच एवं सेंपल लेते समय अपने स्वयं की सुरक्षा की दृष्टि से यह यूनिट बनाई जाना अत्यंत आवष्यक था। इस यूनिट के अंदर खड़े रहकर स्वास्थ्यकर्मियों द्वारा कोरोना संदिग्ध मरीजों का जांच, सेंपल आदि लेते समय उनका 100 प्रतिषत बचाव हो सकेगा। साथ ही इनका उपयोग भविष्य में होने वाली किसी भी अन्य तरह की संक्रमित मरीजों की जांच में भी बचाव बतौर किया जा सकेगा। 

चार दिन में तैयार की गई 6 यूनिट
इन यूनिट को तैयार करने के लिए एमपी डीसीए के सचिव राजीव सिंघल द्वारा जिला केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएषन को अत्यधिक प्रेरित किया गया। साथ ही इन यूनिट का निर्माण हितेष गणपत परमार ने मात्र 4 दिन में कड़ी मेहनत कर 6 यूनिट तैयार की। विषेष सहयोग पंकज ललवानी का प्राप्त हुआ।

सांसद, भाजपा जिलाध्यक्ष, विधायक प्रतिनिधि एवं सकल व्यापारी संघ अध्यक्ष ने किया अवलोकन
22 अप्रेल, बुधवार को यह यूनिट जिला स्वास्थ्य विभाग को भेंट करते समय मुख्य रूप से क्षेत्रीय सांसद गुमानसिंह डामोर, भाजपा जिलाध्यक्ष ओमप्रकाष शर्मा, जिला युवक कांग्रेस अध्यक्ष एवं विधायक प्रतिनिधि डाॅ. विक्रांत भूरिया, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. बीएस बारिया, जिला स्वास्थ्य अधिकारी एवं बीएमओ झाबुआ डाॅ. निसार खान पठान, औषधि निरीक्षक कमल अहिराओ, विषेषज्ञ चिकित्सक डाॅ. एम किराड़, डाॅ. चैहान एवं सकल व्यापारी संघ अध्यक्ष नीरजसिंह राठौर आदि उपस्थित थे। जिन्हें जिला केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएषन के अध्यक्ष मनोज बाबेल ने यूनिट का अवलोकन करवाया तथा संपूर्ण जानकारी दी। बाद जिला स्वास्थ्य विभाग को यह प्रदान की गई।

यह रहे उपस्थित
इस अवसर पर एसोसिएषन के पदाधिकारियों में महावीर जैन ‘मुणत’, बृजेष टवली, दीपक डूंगरवाल, विकास शाह, नगर केमिस्ट एसोसिएषन के अध्यक्ष हरिष अग्रवाल एवं सचिव कपिल गादिया, तनुज कांकरिया, दीपक निमजा, जितेन्द्र राठौर, रवि पोरवाल, विषाल जोषी आदि उपस्थित थे। इस दौरान संचालन जिला सचिव राजेष पोरवाल ने किया।     

लॉक डाउन में जैन समाज ने दिखाया देश सेवा का जस्बा

jhabua news
थांदला। विश्व स्तर पर फैलें कोरोना महासंक्रमण में 22 मार्च को देश के प्रधानमंत्री ने एक दिन का लॉक डाउन किया था। विश्व की दशा से सबक लेते हुए देश के प्रधानमंत्री ने 23 मार्च रात 12 बजे से 21 दिनों का लॉक डाउन किया जो बढ़ते हुए 3 मई हो गया है। कोरोना महामारी से देश को बचाने का यही एक विकल्प को देखते हुए देश के नायक ने यह फैसला लिया था। इस फैसलें का सम्मान सभी राजनैतिक दल, देश के हर समाज वर्ग ने किया व उसका कठोरता से पालन भी कर रहे है। जैन समाज भी उनमें से एक है जिसने देश के प्रधानमंत्री के निर्णय को शिरोधार्य किया। जानकारी देते हुए संघ मंत्री प्रदीप गादिया, प्रवक्ता पवन नाहर ने बताया कि इस वैश्विक महामारी में स्थानकवासी जैन श्रीसंघ अध्यक्ष जितेंद्र घोड़ावत ने संघ को निर्देशित करते हुए साध्वी प्रमुख निखिलशिलाजी म.सा. आदि ठाणा - 4 के पावन सानिध्य में होने वाले संघ के अनेक आयोजन को निरस्त कर कर अपने घर पर रहते हुए ही धार्मिक आराधना करने का आग्रह करते हुए सकल विश्व की मंगल कामना के लिये आयम्बिल निवि तप की लड़ी भी चलाई। निश्चित ही अहिंसावादी जैन समाज सकल विश्व के लिये प्रेरणादायक कार्य करने में अग्रणी रहा है। थांदला नगर में मूर्तिपूजक जैन श्रीसंघ के अध्यक्ष कमलेश जैन (दायजी) निःस्वार्थ भाव से लॉक डाउन के समय से जरूरतमंद भूखे व्यक्तियों को भोजन पैकेट पहुँचाने का कार्य कर रहे है जो आज भी जारी है। किराना व्यापारी संघ अध्यक्ष समाज के ही अनिल भंसाली अपने एसोसिएशन व अन्य संस्था के माध्यम से अनेक सेवा गतिविधि संचालित कर रहे है। लॉक डाउन में उन्होंने दैनिक खाना बनाने वाली महिलाओं को रोजगार देते हुए उनसे रोटी बनवाने का काम करवाकर वे रोटी मूक पशुओं को खिलाने के काम शुरू किया है। नगर के दिगम्बर समाज के प्रियंक मेहता अपने मित्र विकास अरोड़ा के साथ मिलकर नगर के सभी मूक पशुओं को घास व हरी सब्जी खिलाने के पुण्य ले रहे है। पी के स्टील फर्नीचर के मालिक राकेश तलेरा व प्रफुल्ल तलेरा व चांदी के व्यापारी मयुर वर्धमान तलेरा अपनी माता परिवार के साथ मिलकर अनेक गरीब जरूरतमंद लोगों तक निःशुल्क राशन उपलब्ध करवा रहे है, जैन सोश्यल ग्रुप भी जरूरतमन्दों को राशन किट उपलब्ध करवा रहा है। राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग व आईजा के प्रदेशाध्यक्ष पवन नाहर अपनी जिम्मेदारी का कुशलता से निर्वहन करते हुए दर्दी जरूरतमंद लोगों की सहायता करते हुए अन्य राज्य गुजरात के दाहोद से दवाई आदि ला कर सेवा कर रहे है। जैन समाज के अनेक समाजसेवी नगर के अन्य पत्रकार संगठन, आरएसएस, ब्लड डोनेशन टीम व अन्य जनप्रतिनिधियों के साथ मिलकर कोविड -19 में कई जरूरतमंद बेरोजगार हुए निम्न वर्ग की मदद कर रहे है।

थांदला पत्रकार व ब्लड डोनेशन टीम के प्रयास भी सराहनीय
अंचल में जन समस्याओं को सदा उठाने वालें नगर के पत्रकारों द्वारा  भी समाजसेवियों की मदद से निरन्तर भोजन पैकेट वितरण किये जा रहे है। सोशल डिस्टेंश व शुद्धता के साथ वरिष्ठ पत्रकार सुधीर शर्मा, मनोज उपाध्याय, समकित तलेरा, राजेश डामर, कादर शेख, जितेंद सी घोड़ावत आदि पत्रकारों के साथ विपिन नागर, संजय व्होरा आदि द्वारा भोजन पैकेट नगर के अनेक घरों में पहुँचाये जा रहे है। वही नगर की ब्लड डोनेशन टीम के समर्थ उपाध्याय, अजय सेठिया, अर्पित लुणावत, मोंटू उपाध्याय आदि के द्वारा जन सहयोग से सैकड़ो घरों में राशन कीट पहुँचाई जा रही है। नगर के अनेक समाजसेवी संगठन हर वर्ग की निःस्वार्थ सेवा कर रहे है वही मूक पशुओं के लिये भी नित्य आहार की व्यवस्था भी कर रहे है।

राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग की सम्भागीय अध्यक्ष ने ग्रामीणों को जागरूक करते हुए बाँटे मास्क

jhabua news
थांदला मेघनगर - मुश्किल से मिलता है शहर में आदमी, यूँ तो कहने को इंसान बहुत हैं,तुम शौक से चलो राह-ए-वफा लेकिन, जरा संभल के चलना तूफान बहुत हैं।वक्त पे ना पहचाने कोई ये अलग बात है, वैसे तो शहर में अपनी पहचान बहुत हैं,तुम घरों में ही महफूज रहोगे, बाहर भी सेवा के हाथ बहुत है।।कोविड - 19 के कारण आज सकल विश्व में हाहाकार मचा हुआ है। भारत देश के प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी ने भारत की स्वास्थ्य सुविधाओं को देखते हुए लॉक डाउन के आदेश दिये है जिसे सभी राजनैतिक दलों ने भी स्वीकार किया है। ऐसे गम्भीर हालातों में देश के दैनिक कामगार व निम्नवर्ग के लोगों पर आर्थिक संकट आ गया है तो भूखे मरने की नोबत तक आ गई है। शासन प्रशासन अपने स्तर पर हर सम्भव  प्रयास कर रहा है बावजूद इसके वह ऐसे वर्ग तक पूरी तरह नही पहुँच पाया है। देश के अनेक सामाजिक संगठन सेवा कार्य मे लगे हुए हर वर्ग के कमजोर लोगो की मदद कर रहा है। राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष दयाराम मिश्रा, मुख्य महासचिव डॉ. रविन्द्र मिश्रा व महासचिव गीतकार कवि आनन्द दुबे ष्राजष् ने देश के सभी राज्यों के प्रदेशाध्यक्ष को निर्देशित करते हुए कहा है कि कोरोना महामारी संक्रमण के समय प्रधानमंत्री के साथ स्थानीय शासन प्रशासन के निर्देशों का पालन करते हुए उनके कथनानुसार उनका सहयोग करें। उन्होंने कहा कि अपने स्थानों पर ही रहते हुए अपने आसपास के लोगों की हर सम्भव मदद करें। इस दौरान किसी भी प्रकार की विरोधी गतिविधियों को माफ नही किया जाएगा। मध्यप्रदेश के प्रदेशाध्यक्ष पवन नाहर व उनकी टीम के पदाधिकारी सदस्य अपने अपने क्षेत्र में शासन प्रशासन का सहयोग करते हुए जनता की समस्याओं का समाधान भी कर रहे है। संगठन की महिला सेल की सम्भागीय अध्यक्ष सुमित्रा राजू मैड़ा द्वारा ग्रामीण अंचल में जाकर ग्रामीणों को कोरोना वायरस के विषय में बताते हुए उसकी रोकथाम के उपाय बताए जा रहे है। ग्रामीण अंचल में ग्रामीणों को शोशल डिस्टेंश के महत्व, बार बार हाथ धोने, खांसते व छींकते वक्त रुमाल आदि का उपयोग करने व मास्क पहनने की समझाइश देते हुए मास्क भी बाँटे जा रहे है। जानकारी देते हुए सुमित्रा मैड़ा ने बताया कि प्रदेशाध्यक्ष पवन नाहर, स्थानीय सम्भागीय उपाध्यक्ष अलीअसगर बोहरा, समकित तलेरा, दशरथ कट्ठा, भूपेंद्र बरमण्डलिया, मनोज उपाध्याय, आत्माराम शर्मा आदि द्वारा जिले में ग्रामीण अंचल के ग्रामीणों की समस्याओं से शासन प्रशासन को रूबरू करवाया जा रहा है वही रोगी बीमार व अन्य मरीजों की दवाई गुजरात के दाहोद शहर से मंगावनें का कार्य भी किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि उनके द्वारा लागत मूल्य पर एन-95 मास्क व अन्य स्वास्थ्य सेवाओं में प्रयोग होने वाली वस्तुओं को भी उपलब्ध करवाया जा रहा है। संगठन द्वारा किये जाने वाले कार्य की क्षेत्रीय सांसद, विधायक व अन्य जनप्रतिनिधियों के साथ प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा प्रशंसा भी की जा रही है।

कर्तव्य पथ पर चलने वालो को दुनिया रखेगी हमेशा याद थांदला पुलिस अनुभाग ने जाबाज देवेन्द्र व यशवंत पाल को दी श्रद्धांजलि

jhabua news
थांदला । इंदौर में टी.आई देवेंद्र चंद्रवंशी और उज्जैन में यशवंत पाल की कोरोना से लड़ाई में शहादत पर झाबुआ पुलिस कप्तान के मार्गदर्शन में थांदला पुलिस अनुभाग में मेघनगर थाना परिसर पर कोरोनावायरस संक्रमण से जंग लड़ते हुए वीर जांबाज को श्रद्धा सुमन अर्पित किए।इस दौरान झाबुआ जिला पुलिस कप्तान विनित जैन ने भी गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने अपने शोक संदेश में कहा है कि वैश्विक महामारी कोरोना के खिलाफ साहसिक जंग लड़ते हुए इंदौर के दवेंद्र चंद्रवंशी यशवंत पाल ने अपने प्राणों का बलिदान कर दिया। पुलिस कप्तान विनीत जैन झाबुआ पुलिस परिवार की ओर से उनकी शहादत को कोटिशःनमन कर उन्हें शब्द रूपी श्रद्धांजलि अर्पित की है। थांदला अनुविभागीय अधिकारी मनोहर गवली ने कहा की पिछले एक हफ्ते के भीतर हमारे दो बहादुर पुलिस अधिकारी कर्तव्य की बलिवेदी पर शहीद हुए हैं।इन दोनों पुलिस अधिकारियों के आसामयिक निधन से पूरा पुलिस परिवार स्तब्ध एवं शोकाकुल है। इन अधिकारियों द्वारा प्रदर्शित कर्तव्यपरायणता एवं साहस से हम सब गौरवान्वित हुए हैं। इन जांबाजों ने कर्तव्यपथ पर अपने प्राणों की आहुति देकर मध्यप्रदेश पुलिस की देशभक्ति एवं जनसेवा सर्वोपरि होने की भावना को साकार किया है। बुधवार को थांदला पुलिस अनुभाग की तरफ से मेघनगर थाने पर दोनों जांबाजो कि आत्म शांति के लिए 2 मिनट का मौन रखकर चित्र पर श्रद्धा के सुमन अर्पित किए।इस अवसर पर थांदला पुलिस अनुभाग अधिकारी मनोहरलाल गवली थाना मेघनगर थाना प्रभारी श्रीमती कौशल्या चैहान सब स्पेक्टर  हीरालाल मालीवाड सब इंस्पेक्टर नलिनी शर्मा आर एस झाला सहित समस्त ए एस आई समस्त पुलिस स्टाफ ने श्रद्धा सुमन नम आंखों से अर्पित किए।

पूर्व में जारी कार्यालय आदेष में आंषिक संषोधन

झाबुआ। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री प्रबल सिपाहा ने कोविड-19(नोवेल कोरोना वायरस) के संक्रमण से स्वास्थ्य एवं जीवन की सुरक्षा के खतरे की उत्पन्न हुई स्थिति को दृष्टिगत रखते हुए पूर्व में जारी कार्यालय आदेष में आंषिक संषोधन किया है। दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 में निहित षक्तियों का प्रयोग करते हुए सम्पूर्ण झाबुआ जिले की राजस्व सीमा में प्रतिबिंधात्मक आदेष जारी किए हैं श्री सिपाहा ने अवगत कराया कि जिले में आगामी 3 मई 2020 तक लाॅक डाउन होकर जिले की सभी सीमाएं सील की गई है। तथा बाहरी लोगों के आगमन पर पूर्णतः प्रतिबंधित किया गया है। जिले में निवासरत नागरिकों को बिना विधिक अनुमति के सीमा से बाहर आना जाना प्रतिबंधित किया गया है। श्री सिपाहा ने बताया कि जिले में दूसरे राज्यों अथवा मध्य प्रदेष के अन्य जिलों से बस एवं अन्य यात्री वाहनों का आवागमन पूर्ण रूपेण प्रतिबंधित रहेगा। साथ ही जिले के भीतर संचालित होने वाले बसों, यात्री वाहनों, आटो रिक्षा आदि का संचालन भी प्रतिबंधित रहेगा। सार्वजनिक पार्क, पुस्तकालय, जिम खेलकूद गतिविधियां, स्टेडियम, ब्यूटी पार्लर, सिनेमा हाॅल, होम स्टे, लाॅज एवं मोटल आदि भी बंद रहेंगे। साप्ताहिक हाट बाजार, हाकर्स कार्नर भी बंद रहेंगे। (क्वारीनटाइन के लिए अधिग्रहित इससे मुक्त रहेगें पान गुटका, क्रय भंडारण, विक्रय पर पूर्णतः प्रतिबंध रहेगा) जिले के विभिन्न विभागों में कार्यरत लोक सेवकों की बायोमेट्रिक उपस्थिति बंद रहेगी।

आंशिक छूट प्रदाय गतिविधियां
ऐसे समस्त वाहन जिन्हें व्यक्तिगत ,षासकीय,आपातकालीन उपयोग के लिए सक्षम प्राधिकारी द्वारा आवागमन हेतु अधिकृत किया गया है। ऐसे वाहन जिनका उपयोग आवष्यक सेवाओं से जुड़े हुए अमले के परिवहन एवं आवागमन में उपयोग किया जा रहा हो। ऐसे उत्पादन एवं निर्माण ईकाईयां, जिनका उत्पादन सतत् प्रकृति का होता है एवं जिन्हें तत्काल बंद किया जाना व्यवहारिक रूप से संभव नहीं है तथा उन्हें बंद किये जाने से उक्त ईकाई पर अत्यधिक प्रतिकूल प्रभाव पड़ने की संभावना हो, ऐसी सभी ईकाईयों को सक्षम प्राधिकारी से अनुमति प्राप्त करना होगा। सभी पेट्रोल पंप (पूर्व आदेषानुससार ही संचालित होंगे)। दवाओं का विनिर्माण ईकाईयां, फार्मास्यूटिकल्स, पैकेजिंग कच्चे माल बनाने की ईकाईयां चालू रहेंगी बषर्ते मजदूर जिले की सीमा के ही हो। नगरीय सीमा से बाहर क्षेत्र में संचालित सभी उद्योग,ओएनजीसी के अन्वेषण कार्य,ईट,भट्टा,सड़क,निर्माण,सिंचाई प्रोजेक्ट, ईमारत निर्माण,षासकीय निर्माण संबंधी कार्य की अनुमति सक्षम प्राधिकारी से प्राप्त करनी होगी। सभी प्रकार के सामाजिक, राजनैतिक, सांस्कृतिक, पारिवारिक, साहित्यिक, धार्मिक एवं अन्य सामूहिक कार्यक्रम जिसमें 5 से अधिक व्यक्तियों की उपस्थिति संभावित हो, पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा। जिले में ष्षवयात्रा में 20 से अधिक व्यक्ति षामिल नहीं हो सकेगे तथा इसमें सोषल डिस्टेटिंग अनिवार्य होगी। इलेक्ट्राॅनिक उपकरण गोडाउन से होम डिलीवरी के माध्यम से ग्राहको को उल्लेखित उपकरण फ्रीज,कूलर,पंखे,एसी,वाटर प्यूरीफाई, वाटर कूलर विक्रय कर सकेगा। इसके अलावा अन्य कोई इलेक्ट्रानिक उपकरण विक्रय नहीं करेगा तथा ष्षोरूम खोलना प्रतिबंधित रहेगा। किसी भी इलेक्ट्राॅनिक एप्लाईसेंस की गोडाउन पर उसके अधिकृत परिचय पत्र धारक कर्मचारी के अलावा किसी भी अन्य व्यक्ति, उपभोक्ता का आना -जाना प्रतिबंधित रहेगा। इलेक्ट्रानिक एप्लायसेंसी प्रातः10 से ष्षाम 5 बजे तक उपरोक्त इलेक्ट्रानिक सामग्री को अपने गोडाउन से ही होम डिलीवरी के माध्यम से विक्रय कर सकेंगे। इलेक्ट्रानिक एप्लायसेंसी को उक्त कार्य करने हेतु पाॅंच से अधिक व्यक्ति की अनुमति नहीं होगी। सभी व्यक्तियों के पास सक्षम अधिकारी के द्वारा जारी परिचय पत्र होना आवष्यक है। इलेक्ट्रानिक एप्लायसेंसी को लाॅक डाउन का पूर्णतयः पालन करना अनिवार्य होगा तथा अपने गोडाउन में कर्मचारियों के मध्य सोषल डिस्टेसिंग का पालन कराना अनिवार्य होगा तथा सेनिटाईजेंषन की व्यवस्था अनिवार्य रूप से रखना होगी।

पूर्णतः छूट प्रदाय गतिविधियां
सभी स्वास्थ्य सेवाएं, अस्पताल, नर्सिग होम, क्लीनिक, केमिस्ट फार्मेसी, जन औषधि केन्द्र, चिकित्सा उपकरण दुकान, सभी प्रकार की दवाईयों की दुकानें निर्बाध रूप से संचालित होंगी। सभी चिकित्सकीय प्रयोगषालाएं, पषु चिकित्सालय खुले रहेंगे।

कृषि और संबंधित गतिविधियां
फसलो की कटाई और बुआई से संबंधित समस्त कार्य, संबंधित यंत्र व वाहनों का आवागम चालू रहेगा। कृषि यंत्रों का उपयोग स्फेयर पार्ट, मरम्मत करने वाली दुकानें प्रातः 8 बजे से दोप. 2 बजे तक खुली रहेंगी। इसी प्रकार खाद, कीटनाषक और बीज वितरण की दुकानें भी उपरोक्त अवधि तक चालू रहेगी। सभी कृषि एवं बागवानी गतिविधियां चालू रहेगी। समर्थन मूल्य पर फसलों का उपार्जन करने वाली ईकाईयां, वाहन आदि इस आदेष से मुक्त रहेंगे। रबी विपणन वर्ष 2020 -21 में समर्थन मूल्य के उपार्जन के लिए जरूरी सामग्रियां जैसी गनी बैग, पी.पी.बैग, कैट्स, आर्पोलेन कवर आदि के भंडारण की अधोसंरचना निर्मित करने हेतु ली जाने वाली सेवाएं। मत्स्य पालन संबंधित गतिविधियों से छूट रहेगी। खान और खनिज उत्पादन, उनका परिवहन, खनन कार्य के लिये विस्फोटकों की आपूर्ति एवं खनन से संबंधित कार्य इस आदेष से पूर्णतः मुक्त रहेंगे।

दुध एवं संबंधित गतिविधियां
दुग्ध उत्पादन संयंत्र द्वारा दुध एवं दुग्ध उत्पाद के परिवहन प्रसंस्करण वितरण, बिक्री, परिवहन व आपूर्ति वाली ईकाईयां एवं वाहन चालू रहेंगे। पोलिट्री फार्म और पषुपालन फार्मो का संचालन चालू रहेगा। गौषालाएं पषु आहार जिसमें चारा भूसा आदि षामिल के उत्पादन संयंत्र, ट्रांसपोर्टेषन चालू रहेंगे। वित्तीय संस्थाएं बीमा कंपनी एवं सुरक्षा कंपनी समस्त राष्ट्रीयकृत बैंक, निजी बैंकों की षाखाएं, सहकारी बैंक, एटी एम बैंकिग परिचालन की समस्त ईकाईया नियत समय में चालू रहेंगी।भारतीय जीवन बीमा निगम एवं अन्य सामान्य बीमा कार्यरत रहेगी। समस्त प्राइवेट सिक्योरिटी एजेंसी को भी अपने कार्य संचालन हेतु अनुमति रहेगी।

मनरेगा
ष्षासन आदेषानुसार मनरेगा से संबंधित सभी कार्यों के लिए अनुमति   रहेगी। सार्वनजिक वितरण प्रणाली  (पी डी एस)संचालित होने वाली दुकानें, उसका भंडारण परिवहन एवं वितरण इस आदेष से मुक्त रहेंगे। दूरसंचार व इंटरनेट सेवाएं प्रदाय करने वाली ईकाईयों का संचालन चालू रहेगा। पेट्रोलियम उत्पादों एल.पी.जी. खाद्य उत्पादों आपूर्ति करने वाले वाहनों को जिले से अन्य जिले एवं राज्य के बाहर आने-जाने की अनुमति रहेगी।

आवष्यक वस्तुएं
फल-सब्जी मंडी आम उपभोक्ताओं हेतु बंद रहेंगी, होलसेल एवं फेरी वाले, ठेले वाले घर-घर जाकर फल एवं सब्जी प्रातः 8 बजे से दोपहर 2 बजे तक विक्रय कर सकेंगे। दुध डेयरी, सांची पाइंट एवं घर-घर जाकर दुध बांटने वाले दुध विक्रेता प्रातः 6 बजे से 8 बजे एवं षाम 6 बजे से 8 बजे विक्रय कर सकेंगे। माल परिवहन के लिए उपयोग किये जाने वाले वाणिज्यिक वाहन जैसे- ट्रक, मिनी ट्रक, टैम्पो आदि के आवागमन में भी छूट रहेगी। वाणिज्यिकी और निजी प्रतिष्ठान प्रिंट और इलेक्ट्राॅनिक मीडिया, डीटीएच, केबल सेवाएं चालू रहेंगी। सरकारी गतिविधियों के लिए डेटा और काॅल सेंटर चालू रहेंगे। कोल्ड स्टोरेज और वेयर हाउस चालू रहेंगे। इलेक्ट्रीषियन, आई.टी.मरम्मत, प्लम्बर, मोटर यांत्रिकी, बढ़ई आदि को प्रातः 8 बजे से दोप. 2 बजे तक कार्य करने की अनुमति रहेगी। समस्त न्यायालयीन, राजस्व प्रषासन, पुलिस प्रषासन, चिकित्सकीय अधिकारी कर्मचारी, सिविल डिफेंस, होमगार्ड कार्यालय एवं स्टाफ, जनसंपर्क, समस्त स्थानीय निकाय, आपदा प्रबंधन से जुडी समस्त संस्थाएं एवं उनमें कार्यरत अमला, जेल-उपजेल, जिला परिवहन विभाग, पीएचई, खनिज, पी.डब्लू.डी, आयकर, रेल्वे आदि से संबंधित अधिकारी एवं कर्मचारीगण भी इससे मुक्त रहेंगे। लाॅकडाउन उपायों को प्रभावी ढंग से क्रियान्वयन करवाने हेतु निम्नलिखित निर्देष भी जारी किये उपरोक्तानुसार छूट प्राप्त करने वाली समस्त विभाग, निकाय, निगम, ईकाईयां, संस्थाएं, व्यक्ति आदि अनिवार्य रूप से माॅस्क, सेनेटाइजर का उपयोग व सोषल डिस्टेंस का अनिवार्य रूप से पालन करेंगे। उपरोक्तानुसार छूट प्राप्त करने वाली समस्त विभाग, निकाय, निगम, ईकाईयां, संस्थाएं, व्यक्ति आदि अनिवार्य रूप से विभागीय पहचान-पत्र धारण करेंगे। किसी भी सार्वजनिक स्थान पर, औद्योगिक ईकाईयों पर पाॅच  से अधिक व्यक्यिों की भीड़ जमा नहीं होगी। उपरोक्तानुसार छूट प्राप्त दुकानों के अतिरिक्त अन्य दुकानों पर पूर्णतः प्रतिबंध रहेगा। सड़क एवं पब्लिक प्लेस पर थूकने वालों पर वैद्यानिक कार्यवाही की जावेगी। दुपहिया वाहन पर एक व्यक्ति एवं चैपहिया वाहन पर तीन व्यक्तियों को ही आने-जाने की विधिक अनुमति रहेगी। इस हेतु युक्तियुक्त कारण होना अनिवार्य है। सोषल मीडिया पर भ्रामक और भड़काऊ पोस्ट एवं कोरोना वायरस से संबंधित कोई भी डालने वालों पर वैधानिक कार्यवाही की जायेगी। कालाबाजारी,जमाखोरी करने वालों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जावेगी। प्रत्येक व्यक्ति के लिए यह अनिवार्य होगा कि वे षासकीय अमले को चिकित्सकीय जांच में सहयोग प्रदान करे। किसी के भी द्वारा जानबूझकर किसी  प्रकार के संक्रमण फैलाए जाने पर तत्काल रोक लगाई जाती है। होम कोरोन्टाईन हेतु आदेषित कोई भी व्यक्ति घर से बाहर पाए जाने पर उसके विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही की जायेगी। अन्य प्रावधानों के साथ-साथ भारतीय दंड संहिता की धारा 188, 269, 270 एवं राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन अधिनियम की धारा51-60  के तहत वैधानिक कार्यवाही की जायेगी। यदि किसी क्षेत्र को इस न्यायालय द्वारा जारी आदेष के क्रम में ’’कन्टेन्मेन्ट क्षेत्र घोषित किया जाता है, तो वहां उक्त छूट प्रवर्तन में नहीं रहेगी। यह आदेष 3 मई 2020 तक प्रभावषील रहेगा।

जिला स्तरीय दल का गठन

झाबुआ। कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने मध्य प्रदेष के अन्य राज्यों में फंसे हुए प्रत्येक मजदूर को एक हजार रूपये की वित्तीय सहायता उपलब्ध कराने के लिए जिला स्तरीय दल का गठन किया है। मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री संदीप ष्षर्मा को नोडल अधिकारी बनाया गया है। इस दल में सचिव रेडक्रास सोसायटी डाॅ. बी.एस. बघेल, जिला सूचना एवं विज्ञान अधिकारी श्री कपिल कुमावत, एल.डी.एम.श्री हेमन्त रायपुरकर, लेखा अधिकारी श्री पंकज डावर तथा श्री राजेन्द्र सोलंकी को रखा गया है।

मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री ष्षर्मा को नोडल अधिकारी नियुक्त

झाबुआ। कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने कोविड-19 की रोकथाम के लिए योद्धाओं की तरह सेवाएं दे रहे कर्मियों के कल्याण के लिए मुख्यमंत्री कोविड-19 योद्धा कल्याण योजना लागू की जाने के फलस्वरूप मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री संदीप ष्षर्मा को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। श्री ष्षर्मा इस योजना संबंधित दावे, आपत्ति प्राप्त होने पर प्रस्तुत करेंगे तथा ष्षासन द्वारा जारी दिषा निर्देष के संबंध में प्रत्येक सप्ताह के सोमवार को राहत आयुक्त को आवगत कराएगे।

1 हजार 819 व्यक्तियों को भोजन प्रदाय

झाबुआ। कोविड -19 (कोरोना वायरस) संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के लिए जिला स्तर से अब तक सर्दी, खांसी के मरीजों के साथ आईसोलेषन वार्ड क्वारेंटाइन केन्द्र एवं बाॅर्डर पर तैनात स्वास्थ्य कर्मी, पुलिस के लोग, आंगनवाड़ी एवं आषा कार्यकर्ता के कुल 301 सेम्पल जांच के लिए भेजे गये है। जिनमें से 256 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हो गई है। जिनमें से एक भी सेम्पल कि जांच रिपोर्ट में कोरोना पाॅजिटिव नहीं पाया गया है। जिले में कुल 514 लोगों को कोरेण्टाइन सेन्टर में रखा गया है। कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने अवगत कराया कि बुधवार को 1 हजार 819 जरूरतमंद व्यक्तियों को भोजन प्रदाय किया गया है। पुलिस विभाग द्वारा जिले में अब तक कुल 15 व्यक्तियों के खिलाफ एफ आई आर, धारा 151 के तहत 3 प्रकरण तथा 16 व्यक्तियों को अस्थाई जेल में निरूद्ध किया गया।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...