झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 29 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 30 अप्रैल 2020

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 29 अप्रैल

गेहूं उपार्जन केंद्र पारा पर अब तक 44 किसानों से खरीदा 2579 क्विंटल गेहूं 

jhabua news
पारा । क्षेत्र के पंजिकृत किसानो से उनकी उपज को गेहुं उपार्जन केंद्र आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था पारा पर किजा रही हे। संस्था द्वारा अब तक 44 किसानों से 2579 क्विंटल गेहूं आज दिनांक 28 अप्रेल तक खरीदा गया है । सरकार द्वारा जारी किए गए निर्देश के अनुसार क्षेत्र कि आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था पारा ने 15 अप्रैल से गेहूं खरीदी की शुरुआत की थी । जिसमे अपनी उपज संस्था पर लाने के लिए प्रतिदिन किसानों को एसएमएस के माध्यम से अपनी उपज लेकर उपार्जन केंद्र पर बुलाया जा रहा है । संस्था पर कुल 532 किसान पंजिकृत है। जिसमे से उपार्जन केंद्र पर 15 अप्रैल से लेकर आज दिनंाक 28 अप्रेल तक किसानो करिब 44 किसानो से 2579 क्ंिवटल गेंहु खरीदा गया। उक्त जानकारी देते हुए उपार्जन केन्द्र के प्रभारी व संस्था प्रंबंधक रणवीर सिह राठोर ने बताया कि उक्त किसानो से करिब 7 लाख 72 हजार रुपए कि राशी वसुल कर इन किसानो के बैंक लोन खाते मे जमा भी कि गई। साथ ही सभी किसानो को शासन के नियमानुसार समय पर भुगतान भी किया जा रहा है। गेंहु उपार्जन केन्द्र पर किसानो को छाया मे बिठाने के लिए टेंट व शितल जल कि व्यवस्था भी संस्था द्वारा कि गई हे। 

कमिश्नर भू अभिलेख ने बढाया पटवारियो का हौसला, दिया धन्यवाद मध्यप्रदेष के कमिश्नर भू अभिलेख ज्ञानेश्वर बी. पाटिल ने कोरोना ड्यूटी के बाद भी विभागीय कार्य करने पर की सराहना

jhabua news
झाबुआ । मध्यप्रदेश (भू-अभिलेख) के कमिश्नर ज्ञानेश्वर बी. पाटिल ने युटयूब चेनल पर एक विडियो जारी करके मध्यप्रदेश के पटवारियो द्वारा कोरोना माहामारी के संक्रमण काल में की जा रही ड्यूटी पर हौसला अफजाई करते हुवे पटवारियों के कार्य की तारीफ की ओर इसके लिये उन्हे धन्यवाद दिया। मध्य प्रदेश पटवारी संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं जिला अध्यक्ष अखिलेश मुलेवा ने बताया कि पटवारियो को कोरोना यौद्धा बताते हुवे श्री पाटिल ने कहा की मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चैहान द्वारा गत् दिवस पटवारियो के कार्य की सराहना करते हुए कहा कि पटवारी साथी बहुत अच्छा कार्य कर रहे है तथा उन्होेने प्रदेश के पटवारियो को बताया कि पटवारी को भी कोरोना योद्धा में शामिल किया गया है। उल्लेखनीय है कि कोरोना महामारी मे कार्यरत कर्मचारियो को कोरोना योद्वा बनाकर उनको 50 लाख का बीमा कवर दिया गया है। श्री पाटिल ने अपने संदेश मे कहा की ऐसे नाजुक समय में भी पटवारियों द्वारा कोरोना ड्यूटी करने के साथ ही अपना विभागीय कार्य भी समय पर किया है इसके लिये पटवारी बधुओं को धन्यवाद। पटवारी बंधु प्रशासन के साथ यौद्धा के रूप में काम कर रहे है। पटवारीयों ने स्वयं आगे आकर अपने विभागीय कार्य के अतिरिक्त कार्य किये है जो कि प्रशंसनीय है वंदनीय है। पाटिल द्वारा जारी विडियो संदेश मे विभिन्न जिलो मे पटवारियो द्वारा किये गये कार्यो के चित्र और विडियो भी डाले गये है। श्री मुलेवा ने बताया कि झाबुआ जिले की गुजरात सीमा पर पटवारियो द्वारा प्रवासी मजदूरो को उनके गंतव्य तक पहुचानेे मे ड्यूटी कर रहे पटवारियो , राजस्व अमले के फोटो भी प्रमुखता से कमिश्नर भू अभिलेख द्वारा जारी विडियो मे प्रमुखता से जारी किये गये है। श्री मुलेवा ने बताया कि मध्य प्रदेश पटवारी संघ प्रदेश का ऐसा कर्मचारी संगठन है जिसने सर्व प्रथम आगे आकर कोरोना वायरस ने निपटने के लिये मुख्यमंत्री  राहत कोष में अपने एक दिन का वेतन लगभग दो करोड़ रूपये जमा किये गयेे है। इसके अतिरिक्त प्रदेश में विभिन्न जिलो में भी पटवारी साथियो द्वारा कोरोना राहत के लिये खाद्यान्न वितरण, भोजन एवं पेयजल किराना सामग्री मास्क सेनिेटायजर वितरण के साथ कोरोना संक्रमित जिलों के चिकित्सालयों में अपनी जान जोखीम में डालकर कोरोना पीडितों के उपचार मे हर संभव आवश्यक सहयोग प्रदान किया जा रहा है।

वन विभागो के जंगलं से हो रही लकड़ी की तस्करी - 

jhabua news
थांदला। नेवल कोरोना वायरस के चलते पूरा देश लॉक डाउन है वही मौके का फायदा उठा कर वन विभाग के जंगलों में पेड़ो की अवैध कटाई हो रही है वही इस दिशा में वन विभाग के अधिकारियों की बड़ी लापरवाही सामने आई है। इन दिनों लॉकडाउन का भरपूर फायदा आदिवासी अंचलों में देखने को मिल रहा है जहां अवैध तरीके से जंगलों की कटाई ग्रामीणों द्वारा की जा रही है गांव के कुछ सामाजिक वन प्रेमी ग्रामीणों के द्वारा समय-समय पर मामला वन परिक्षेत्र के रेंजर व डिप्टी रेंजर को भी अवगत कराया जाता है परंतु ग्रामीणों का कहना है कि अधिकारी हमारे फोन रिसीव नहीं करते हैं वही अनेक बार डीएफओ झाबुआ को भी फोन लगाया परंतु फोन ही नही उठाया जाता है। ग्रामीणों ने बीट नंबर 155 के डिप्टी रेंजर पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि डिप्टी रेंजर बीट में आता ही नहीं है जबकि बीट नंबर 155 में अवैध खुदाई का भी काम चल रहा है जो की वन परिक्षेत्र में होने से अवैध व गैरकानूनी है। ग्रामीणों ने यह भी आरोप लगाया कि हजारों की संख्या में सागौन के पेड़ कटे हुए हैं जो कि इस बात का सबूत है कि इन जंगलों में अवैध तरीके से कटाई की जा रही है ,जबकि सरकार वनों के उत्थान के लिए करोड़ों रुपए खर्च कर रही है परंतु यहां पर तो वन विभाग का अमला धृतराष्ट्र की तरह आँखे मुंद कर बैठा हुआ है। कुछ ग्रामीणों की शिकायत पर थांदला वन विभाग ने अवैध लकड़ी के साथ कुछ ट्रेक्टर आदि जप्त किये। इस सम्बंध में जब हमने थांदला रेंज के रेंजर रोहित चतुर्वेदी के मोबाईल नम्बर 8386062916 पर बाईट के लिये सम्पर्क करना चाहा तो रेंजर चतुर्वेदी ने कहा कि में अभी लॉक डाउन चल रहा है ऑफिस की छुट्टी है व में बाहर हूँ इसलिए आपको पूरी जानकारी नही दे सकता हूँ। अब वन विभाग की मीडिया से जानकारी छिपाना व लॉक डाउन व ऑफिस बन्द का हवाला देकर कार्यवाही को नही बताना बहुत कुछ इशारा करता है।

लाक  डाउन मे नगर की इस्थिति बिगड़ते देख एसडीओपी मनोहर गवली ने संभाला मोर्चा

jhabua news
थांदला। शासन प्रशासन कोरोन महामारी से बचने हेतु घरों मे रहने की अपील मुनादी द्वारा कर रहा है किन्तु व्यापारी लाक डाउन का फायदा उठाकर पो फट ने के पूर्व   ग्रामीण जनों का नगर मे आने के कारण नगर की व्यवस्था बिगड़ती  देख एसडीएम व एसडीओपी मनोर गवली  ने संभाला मोर्चा सोमवार को नगर के समस्त व्यापारियों को सख्त निर्देश देते हुए अपना व्यापार बंद रखने की हिदायत देते हुए कहा गया कि मंगलवार से अगर कोई भी व्यापारी अपनी दुकान पर  व्यवसाय करते हुए दिखाई दिया तो उसके ऊपर सख्त करवाई  की जावेगी व थांदला नगर की चारो  तरफ की सीमाओ पर पुलिस बल तैनात कर किसी को भी नगर में प्रवेश नहीं करने दिया जा रहा है अति आवश्यक कार्य हेतु सीमा पर तैनात पुलिस कर्मचारी को सूचित कर ही नगर मे प्रवेश करने की अनुमति दी जारही है आज सुबह 5 बजे से ही एसडीओपी ने सख्ती  दिखाते हुए सभी को अपने घरों में रहने की हिदायत दी गई ! पुलिस वाहन देख चुनिंदा व्यापारी अपनी दुकानों की  शटर स्वयं गिरा देते हैं उन व्यापारियों को भी   कोरोना जैसी महामारी के प्रति सचेत होने की जरूरत वजह  समीपवर्ती  राज्य राजस्थान के कुशलगढ़ में करोना महामारी पैर पसार चुकी है जिस से सटे कई गांव होने के कार्ड  यदि कोई सक्रमित  व्यक्ति आगया  नगर मे आगया तो प्रशासन भी उक्त बीमारी के आगे घुटने टेकने पर विवश होगा!

सार्वजनिक स्थानों पर थूके तो देना होगा जुर्माना

थांदला। मध्यप्रदेश नगरीय  विकास एवं आवास विभाग मंत्रालय ने नोवल कोरोना वायरस के संक्रमण से आम नागरिक को बचाने के लिए अधिसूचना जारी करते हुए नगर पालिका अधिनियम द्वारा प्रदत्त शक्तियों का उपयोग करते हुए किसी भी व्यक्ति के सार्वजनिक स्थानों पर थूकने पर प्रतिबंध लगाया है। प्रमुख सचिव संजय दुबे द्वारा जारी पत्र में यह स्पष्ट किया गया है कि कोरोना महामारी कोरोना संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आने से उसके खांसने, छींकने व थूकने से अथवा उसके द्वारा उपयोग की गई वस्तु आदि के स्पर्श से तेजी से फैलती है जिससे बचाव के लिये मध्यप्रदेश शासन ने स्थानीय नगर पालिका, नगर परिषद को निर्देशित करते हुए सर्वजनिक स्थानों पर किसी भी व्यक्ति का थूकना प्रतिबंधित किया है। यदि कोई व्यक्ति ऐसे किसी सार्वजनिक स्थानों, बस स्टैंड, मन्दिर या सड़कों पर थूकते पाया जाता है व अपने घरों के आगे गन्दगी व कचरा डालते पाया जाता है तो नगर पालिका अधिनियम के प्रावधानों के अनुसार उसे 1 हजार रुपये से दण्डित किया जायेगा। उक्त जानकारी थांदला सीएमओ अशोक चैहान ने देते हुए नगर में मुनादी भी करवाई।

6 हजार 221 श्रमिक आ चुके जिसमें 3 हजार 344 श्रमिकों को वाहनों से भेजा जा चुका है

jhabua news
झाबुआ। कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने अवगत कराया कि कोरोना वायरस से बचाव एवं रोकथाम के लिए मध्य प्रदेष सहित  अन्य राज्यों के श्रमिकों के उनके गंतव्य स्थानों तक पहुंचाने के लिए वाहनों की व्यवस्था की गई। जिसमें झाबुआ जिले की गुजरात सीमा पर स्थित ग्राम पिटोल में अब तक (मंगलवार को अपरान्ह 4 बजे तक) 6 हजार 221 श्रमिक आ चुकें हैं। जिसमे से 3 हजार 344 श्रमिकों को गंतव्य स्थानों के लिए वाहनों से भेजा जा चुका है और 2 हजार 877 श्रमिकों को वाहनों से भेजा जा रहा है। राज्य की  सीमा पर मध्य प्रदेष के विभिन्न जिलों तथा अन्य राज्यों के आने वाले श्रमिकों के स्वास्थ्य जाॅंच कर उन्हें भोजन भी उपलब्ध कराया जा रहा है। साथ ही वाहन चालकों और कन्डक्टरों के लिए भोजन की व्यवस्था की गई है। व्यवस्थाएं सुनिष्चित करने के लिए अनुविभागीय अधिकारी राजस्व डाॅ. अभय सिंह खराड़ी तथा अन्य विभागों के अधिकारियों व चिकित्स्कों की ड्यूटी भी लगाई गई है।

2 हजार 501 व्यक्तियों को भोजन प्रदाय

झाबुआ। कोविड -19 (कोरोना वायरस) संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के लिए जिला स्तर से अब तक सर्दी, खांसी के मरीजों के साथ आईसोलेषन वार्ड क्वारेंटाइन केन्द्र एवं बाॅर्डर पर तैनात स्वास्थ्य कर्मी, पुलिस के लोग, आंगनवाड़ी एवं आषा कार्यकर्ता के कुल 321 सेम्पल जांच के लिए भेजे गये है। जिनमें से 271 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हो गई है। जिनमें से एक भी सेम्पल की जांच रिपोर्ट में कोरोना पाॅजिटिव नहीं पाया गया है। इसी प्रकार 62 सेम्पलों की जाॅंच रिपोर्ट आना षेष है। जिले में कुल 318 लोगों को कोरेण्टाइन सेन्टर में रखा गया है। ज्ञात हो की जिले में कुल 8 आईसोलेसन वार्ड हैं। 46 क्वारेंटाइन केन्द्र है सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के स्तर पर आर आर टी टीमों की संख्या झाबुआ मुख्यालय पर 2, राणापुर, मेघनगर, थान्दला, तथा पेटलावद में एक-एक और रामा में दो इस प्रकार कुल 8 आर आर टी टीम हैं। कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने अवगत कराया कि मंगलवार को 2 हजार 501 जरूरतमंद व्यक्तियों को भोजन प्रदाय किया गया है। पुलिस विभाग द्वारा जिले में अब तक कुल 18 व्यक्तियों के खिलाफ एफ आई आर, धारा 151 के तहत 4 प्रकरण तथा 17 व्यक्तियों को अस्थाई जेल में निरूद्ध किया गया। झाबुआ जिले के अन्य राज्यों में फसे हुए मजदूरों को वित्तीय सहायता उपलब्ध कराने के तहत 642 व्यक्ति पात्र पाए गए हैं। इन पात्र व्यक्तियों को राषि उनके खातों में जमा कर दी गई है।

52371.25 क्ंिवटल गेंहू का उपार्जन

झाबुआ। जिले में समर्थन मुल्य पर सोमवार तक खरीदी केन्द्रों पर 1 हजार 516 किसानों से 60231.58 क्ंिवटल गेहूू का उपार्जन किया गया है। पंजंीकृत किसानों को एस एम एस से सूचना प्रति दिन भेजी जा रही है।

जिला आपदा प्रंबंधन समिति की बैठक संम्पन्न

jhabua news
झाबुआ। कोविड -19 (कोरोना वायरस) के संक्रमण को देखते हुए जिला आपदा प्रबंधंन समिति की बैठक मंगलवार को यहाॅं कलेक्टेªट सभा कक्ष में कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा की अध्यक्षता में आयोजित हुई। इस बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री विनीत जैन, डाॅक्टर विक्रांत भूरिया, डिप्टी कलेक्टर श्री एल एन गर्ग, समिति के सदस्य तथा गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। कलेक्टर श्री सिपाहा ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना वायरस से बचाव एवं फैलने से रोकने के लिए नियमों का पालन करना आवष्यक है। सभी नागरिकों को मास्क का उपयोग करना तथा सोसलडिस्टेंस रखना भी बहुत जरूरी है। जिले में लाॅक डाउन 3 मई तक जारी रहेगा । श्री सिपाहा ने जिले के नागरिकों से अनुरोध किया है कि वे सर्दी, खासी, बुखार होने पर निकट के अस्पताल में चिकित्सक को दिखाएं ताकि बीमारी का समय पर इलाज हो सके। श्री सिपाहा ने कहाॅं कि इस बैठक में प्राप्त सुझाओं पर विचार कर आवष्यक निर्णय लिए जावेगें। श्री सिपाहा ने इस बैठक में गरीब व्यक्तियों को प्रदाय किये जाने वाले भोजन व्यवस्था की समीक्षा की और संबंधित अधिकारियों को आवष्यक निर्देष दिए। इस बैठक में सांसद श्री जी एस डामोर, विधायक झाबुआ श्री कांतीलाल भूरिया, विधायक पेटलावद श्री वालसिंह मेड़ा, विधायक थान्दला श्री वीरसिंह मेड़ा तथा गणमान्य नागरिकों ने आवष्यक सुझाव भी रखें।

जिला स्तरीय कन्ट्रोल रूम 24 घंटें सूचारू रूप से संचालित कार्यरत

झाबुआ,। कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने अवगत कराया की जिले में कोविड -19 के संक्रमण के प्रभाव को व्यापक रूप से फैलने से रोकने और वायरस के संक्रमण के प्रभावी रोकथाम को दृष्टिगत रख लोकहित में सामान्य के स्वास्थ्य सुरक्षा के उद्देष्य से कलेक्टर कार्यालय में स्थित ई-दक्ष केन्द्र में जिला स्तरीय कन्ट्रोल रूम स्थापित है। यह कन्ट्रोल रूम 24 घंटे सुचारू रूप से संचालित हो रहा है इस कन्ट्रोल रूम के दूरभाष क्रमांक(07392). 243319, 244307, 245844, 244688, 243653, तथा 243661 है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...