साहित्यिकी : भारत के लेखकों-साहित्यकारों की प्रथम डायरेक्टरी बनकर तैयार - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 1 जून 2020

साहित्यिकी : भारत के लेखकों-साहित्यकारों की प्रथम डायरेक्टरी बनकर तैयार

writer-directory
पटना (आर्यावर्त संवाददाता) नये पल्लव प्रकाशन ने भारत के लेखकों-साहित्यकारों की डायरेक्टरी बनाया है। यह भारत की ऐसी पहली डायरेक्टरी है, जिसमें लेखकों-साहित्यकारों का पूर्ण विवरण दिया गया है। इसे नये पल्लव वेबसाइट  (www.nayepallav.com) पर निःशुल्क रखा गया है, जहां से कोई भी आसानी से डाउनलोड कर सकता है। साथ ही यह डायरेक्टरी अमेजन किंडल और गूगल प्ले पर मामूली कीमत पर उपलब्ध होगी। डायरेक्टरी में प्रति लेखक को एक पेज दिया गया है। इसमें लेखक का नाम, पता, फोन नंबर, ई-मेल, जन्म, वर्तमान कार्य, साहित्यिक विवरण, प्रकाशित पुस्तकों की जानकारी, आकाशवाणी/दूरदर्शन पर कार्यक्रमों की जानकारी, उनके द्वारा संपादित पुस्तक/पत्रिका की जानकारी सहित अन्य जानकारियां हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: