मुजफ्फरपुर में हिंदु संगठनों से जुड़े उपद्रवियों ने किया किसान धरना पर हमला : माले - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 18 फ़रवरी 2021

मुजफ्फरपुर में हिंदु संगठनों से जुड़े उपद्रवियों ने किया किसान धरना पर हमला : माले

hindu-attak-farmer-protest
पटना 18 फरवरी, भाकपा-माले राज्य सचिव कुणाल ने मुजफ्फरपुर में शहीद खुदीराम बोस स्मारक स्थल पर कृषि कानूनों के खिलाफ लंबे समय से किसान संघर्ष समन्वय समिति के बैनर में दिन में कुछ घंटे के लिए धरना पर बैठ रहे किसानों पर परसों 16 फरवरी को हिंदू संगठनों से जुड़े उपद्रवियों द्वारा हमले की घटना की कड़ी निंदा की है. उन्होंने कहा कि आज बिहार में भाजपा से जुड़े संगठनों का मनोबल इतना बढ़ गया है कि वे सीधे गुंडागर्दी पर उतर आए हैं. यदि बिहार सरकार को लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं में थोड़ा भी यकीन है तो वह तत्काल सभी हमलावरों को गिरफ्तार करे और ऐसी कार्रवाइयों पर रोक लगाए. मुजफ्फरपुर जिला के पार्टी सचिव कृष्णमोहन ने अपनी जांच रिपोर्ट में बताया कि 16 फरवरी को लगभग 3 बजे 15 - 20 की संख्या में सांप्रदायिक संगठनों से जुड़े उपद्रवियों ने धरना स्थल पर पहुंचकर हल्ला मचाते हुए बैनर, पोस्टर व माइक तोड़ दिए. विरोध करने पर धक्का-मुक्की की. विरोध स्वरूप किसान संगठनों ने वहीं रास्ता जाम कर धरना पर बैठ गए. तत्काल भाकपा-माले के भी साथी घटनास्थल पर पहुंचे. उसके बाद पुलिस पहुंची. अज्ञात हमलावरों पर एफआईआर दर्ज हुआ है. इसके विरोध में 17 फरवरी को किसान संघर्ष समन्वय समिति के बैनर से शहीद खुदीराम बोस स्मारक स्थल से ही विरोध मार्च निकाला गया. आज 18 फरवरी को रेल जाम कार्यक्रम के साथ भी हमलावरों की गिरफ्तारी का मुद्दा उठाया गया.

कोई टिप्पणी नहीं: