इशांत टेस्ट में 300 विकेट लेने वाले तीसरे भारतीय तेज गेंदबाज - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 8 फ़रवरी 2021

इशांत टेस्ट में 300 विकेट लेने वाले तीसरे भारतीय तेज गेंदबाज

ishant-300-test-vicket
चेन्नई, आठ फरवरी, अनुभवी तेज गेंदबाज इंशांत शर्मा टेस्ट मैच में सोमवार को 300 विकेट लेने वाले भारत के छठे गेंदबाज बनने के साथ महान कप्तानों कपिल देव और अनिल कुंबले की श्रेणी में शामिल हो गये। वह इंग्लैंड के खिलाफ यहां खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच के चौथे दिन दूसरी पारी में डैन लॉरेंस को पगबाधा करके सबसे लंबे प्रारूप में 300 विकेट पूरे करने वाले तीसरे भारतीय तेज गेंदबाज बने। भारतीय गेंदबाजों में टेस्ट में सबसे अधिक विकेट महान स्पिनर अनिल कुंबले (132 मैच में 619 विकेट) ने लिये हैं। कपिल दूसरे स्थान पर हैं जबकि हरभजन सिंह (103 टेस्ट में 417) इस सूची में तीसरे स्थान पर हैं। इशांत के टीम के साथी स्पिनर रविचंद्रन अश्विन चौथे और जहीर पांचवें स्थान पर हैं। दिल्ली के 32 साल के इस खिलाड़ी को हालांकि इस मुकाम पर पहुंचने में 98 मैच लगे। इस उपलब्धि को हासिल करने के बाद भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) ने उन्हें बधाई दी। बीसीसीआई ने ट्वीट किया, ‘‘ इशांत शर्मा को बधाइयां, वह टेस्ट में 300 विकेट लेने वाले तीसरे भारतीय तेज गेंदबाज बने। उन्होंने डैन लॉरेंस को पगबाधा कर इंग्लैंड को तीसरा झटका दिया।’’ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने भी इस उपलब्धि पर 13 साल की उनकी मेहनत की प्रशंसा की। आईसीसी ने ट्विटर पर लिखा, ‘‘ कपिल देव और जहीर खान के बाद टेस्ट में 300 विकेट का आंकड़ा छूने वाले इशांत शर्मा तीसरे भारतीय तेज गेंदबाज हैं। शानदार उपलब्धि।’’ इशांत ने इस दौरान 11 बार पारी में पांच विकेट लिये हैं जबकि एक बार उन्होंने मैच में 10 विकेट चटकाये। बांग्लादेश के खिलाफ 2007 में अंतरराष्ट्रीय करियर का आगाज करने वाले इशांत ने शुरूआती दिनों में जिस तरह से ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज कप्तान रिकी पोंटिंग को परेशान किया था उसकी चर्चा आज भी भारतीय क्रिकेट जगत में होती है। इशांत ने हालांकि इस मुकाम तक पहुंचने के लिए सबसे ज्यादा मैच लिये। अश्विन इस मुकाम पर सबसे कम 54 मैचों में पहुचने वाले भारतीय गेंदबाज है। उसके बाद कुंबले (66), हरभजन (72), कपिल (83) और जहीर (89) का नंबर आता है।

कोई टिप्पणी नहीं: