पूर्व केंद्रीय मंत्री सतीश शर्मा पंचतत्व में विलीन हुए - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 20 फ़रवरी 2021

पूर्व केंद्रीय मंत्री सतीश शर्मा पंचतत्व में विलीन हुए

satish-sharma-cremited
नयी दिल्ली , 19 फरवरी, पूर्व केंद्रीय मंत्री कैप्टन सतीश शर्मा का शुक्रवार को यहां अंतिम संस्कार कर दिया गया। उनका बुधवार को गोवा में निधन हो गया था। वह 73 साल के थे। शर्मा कैंसर से पीड़ित थे और पिछले कुछ समय से बीमार थे। उनका अंतिम संस्कार यहां लोधी रोड स्थित श्मशान घाट में हुआ। इस मौके पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी , पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा , प्रियंका के पति रॉबर्ट वाद्रा तथा कांग्रेस के कई नेताओं एवं कार्यकर्ताओं ने शर्मा को श्रद्धांजलि अर्पित की। राहुल गांधी ने उनकी अर्थी को कंधा भी दिया। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के निकट सहयोगी रहे शर्मा पी वी नरसिंह राव सरकार में 1993 से 1996 तक केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री रहे। आंध्र प्रदेश के सिकंदराबाद में 11 अक्टूबर , 1947 को जन्मे शर्मा एक पेशेवर वाणिज्यिक पायलट थे। रायबरेली और अमेठी निर्वाचन क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व कर चुके शर्मा तीन बार लोकसभा सदस्य चुने गए थे। वह तीन बार राज्यसभा सदस्य भी बने और उच्च सदन में उन्होंने मध्य प्रदेश , उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश का प्रतिनिधित्व किया। वह पहली बार जून 1986 में राज्यसभा सदस्य बने और बाद में राजीव गांधी के निधन के बाद 1991 में अमेठी से लोकसभा सदस्य चुने गए। इसके बाद वह जुलाई 2004 से 2016 तक राज्यसभा सदस्य रहे।

कोई टिप्पणी नहीं: