बिहार : तेजस्वी फिर बोले , कैसे कैसे लोग बन जाते हैं मंत्री - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 18 मार्च 2021

बिहार : तेजस्वी फिर बोले , कैसे कैसे लोग बन जाते हैं मंत्री

tejaswi-attack-nitish-minister
पटना : बिहार विधानसभा में चल रहे बजट सत्र की कार्यवाही के दौरान एक बार फिर से विधानसभा अध्यक्ष और सरकार के मंत्री के बीच कहासुनी हो गई। जिसको लेकर नेता प्रतिपक्ष ने सत्तारूढ़ पार्टी के मंत्रियों पर हमला बोला है। नेता प्रतिपक्ष ने ट्वीट कर कहा है कि मर्माहत हूँ। बिहार में सत्ता पक्ष और मंत्री सदन की गरिमा और आसन की महत्ता को तार-तार कर रहे है। सरकार के एक भाजपाई मंत्री अध्यक्ष महोदय की तरफ़ उंगली उठाकर कह रहे है कि व्याकुल मत होईए।ऐसे सदन नहीं चलेगा। साथ ही उन्होंने एक बार फिर से कहा है कि न जाने कैसे कैसे लोग मंत्री बन गए है जिन्हें लोकतांत्रिक मर्यादाओं का ज्ञान नहीं है ? दरअसल, मामला यह है कि विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी को कहा कि प्रश्नों का जवाब ऑनलाइन माध्यम से नहीं आया है इस पर मंत्री ने कहा कि 16 में से 14 प्रश्नों का जवाब ऑनलाइन माध्यम से दे दिया गया है तो विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि हमारे कार्यालय में बजे तक सभी प्रश्नों का जवाब निकाल दिया जाता है उस दौरान आपका जवाब नहीं आया था। इसके बाद विधानसभा अध्यक्ष को सम्राट चौधरी ने कहा कि अधिक व्याकुल नहीं होइए एक बार फिर से जांच करवा लीजिए। इसके बाद विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि आप में व्याकुल शब्द जो कहा है उसे वापस लीजिए इस पर पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी ने कहा कि मैं अपने शब्द वापस नहीं लूंगा मैंने कुछ गलत नहीं बोला है। मंत्री ने कहा कि इस तरह से सदन नहीं चलता है। आप इस तरह का डायरेक्शन नहीं दे सकते। अध्यक्ष बार बार कहते रहे कि आप आसन के लिए ऐसे शब्दों का प्रयोग नहीं कर सकते। लेकिन मंत्री सम्राट चौधरी अध्यक्ष से उसी लहजे में बात करते रहे। बता दें कि इससे पहले भी सत्तारूढ़ पार्टी के विधायकों द्वारा विधानसभा अध्यक्ष पर पक्षपात करने का और विपक्षी दलों के नेताओं को अधिक समय देने का आरोप लगाया गया था जिस पर जवाब देते हुए विधानसभा अध्यक्ष ने कहा था कि सदन अपने नियमों से चलेगी।





live news, livenews, live samachar, livesamachar

कोई टिप्पणी नहीं: