फ्लाई ऐश से हो रही किसानों व ग्रामीणो की समस्या को किया जायेगा दूर: अश्विनी चौबे - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

गुरुवार, 19 अगस्त 2021

फ्लाई ऐश से हो रही किसानों व ग्रामीणो की समस्या को किया जायेगा दूर: अश्विनी चौबे

  • केंद्रीय राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने  एनटीपीसी कहलगांव में स्वचालित राख बैगिंग व संबद्ध सिस्टम प्रणाली कॉम्प्लेक्स का किया उद्घाटन
  •  केंद्रीय राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने एनटीपीसी कहलगांव फ्लाई ऐश डाइक का किया निरीक्षण

ashwini-chaube-kahalganv
पटना,19 अगस्त, केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य व सार्वजनिक वितरण प्रणाली, पर्यावरण, वन व जलवायु परिवर्तन राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने गुरुवार, 19 अगस्त, को एनटीपीसी कहलगांव में, इस इलाके में पर्यावरण संरक्षण को लेकर जनप्रतिनिधियों एवं एनटीपीसी, जिला प्रशासन, वन विभाग, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों के साथ बैठक की। केंद्रीय मंत्री श्री चौबे ने कहा कि फ्लाई ऐश को लेकर लगातार किसानों व ग्रामीणों द्वारा शिकायत की जा रही है। इससे बीमारी व फसलों के नुकसान आदि के बारे में जनप्रतिनिधियों के माध्यम से उन्हें अवगत भी कराया गया है। उन्होंने  इसका समाधान करने को अधिकारियों को निर्देशित किए और सुझाव भी मांगे। इससे पहले श्री चौबे ने एनटीपीसी कहलगांव फ्लाई ऐश डाइक का निरीक्षण किया। उन्हें डस्ट व अन्य समस्याओं के बारे में बताया गया। इस मुद्दे पर जिला प्रशासन व एनटीपीसी के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक में विस्तार से चर्चा हुई। ऐश की ऊँचाई कम करने व ग्रासिंग का सुझाव भी आया। इससे पहले केंद्रीय राज्यमंत्री श्री चौबे ने एनटीपीसी परिसर में स्वचालित राख बैगिंग व संबद्ध सिस्टम प्रणाली कॉम्प्लेक्स का उद्घाटन किया। साथ ही अधिकारियों के साथ पौधारोपण कर उन्होंने पर्यावरण संरक्षण का संदेश भी दिया। समीक्षा बैठक में स्थानीय सांसद अजय मंडल, विधायक ललन पासवान, पवन कुमार यादव, एनटीपीसी के कार्यकारी निदेशक वी सुदर्शन बाबू सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: