मधुबनी : जिले में स्वास्थ्य सेवाएं को और दुरुस्त करने का जिलाधिकारी का निर्देश - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 24 सितंबर 2021

मधुबनी : जिले में स्वास्थ्य सेवाएं को और दुरुस्त करने का जिलाधिकारी का निर्देश

madhubani-dm-order-for-health-system
मधुबनी : आज दिनांक 24 सितंबर 2021 को श्री अमित कुमार, भाo प्रo सेo, जिला पदाधिकारी मधुबनी की अध्यक्षता में जिले के स्वास्थ्य विभाग के समग्र गतिविधियों की व्यापक समीक्षा की गई। जिला पदाधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया कि आगामी 2 अक्टूबर को जिले में एक बार फिर से कोविड मेगा वैक्सीनेशन कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। जिसमें 17 सितंबर से अधिक वैक्सिनेशन करने का लक्ष्य दिया जा सकता है। इस परिप्रेक्ष्य में और अधिक संख्या में वैक्सिनेशन सेंटर बनाया जाना है और उसी अनुपात में स्वास्थ्य कर्मियों की सेवाएं भी ली जाएंगी। ऐसे में अभी से तैयारी किए जाने पर बल दिया गया ताकि इसे सफल बनाया जा सके। जिलाधिकारी द्वारा 26 सितंबर से जिले में पल्स पोलियो अभियान को सफल बनाने के लिए भी आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए गए हैं। जिले में कोरोना महामारी पर प्रभावी तरीके से नियंत्रण हासिल करने के लिए इस बार एक नई रणनीति अपनाने का निर्देश भी जिलाधिकारी द्वारा दिया गया है। उन्होंने बताया कि इस बार पल्स पोलियो अभियान के अंतर्गत जब स्वास्थ्य कर्मी क्षेत्र में घर घर जायेंगे तो प्रत्येक घर में एक सवाल यह भी पूछेंगे कि क्या उनके घर में 18 वर्ष से अधिक आयु के कोई ऐसे व्यक्ति हैं, जिन्होंने कोरोना का पहला डोज तो लिया है, परंतु उसके 3 महीने बीत जाने के बाद भी वो दूसरी डोज नहीं ले पाए हैं । यदि किसी घर में ऐसे व्यक्ति मिलते हैं, तो उन्हें चन्हित किया जाएगा। इतना ही नहीं लोगों को दूसरा डोज सुविधापूर्वक उपलब्ध हो सके इसके लिए प्रत्येक प्रखंड में 5 विशेष टीकाकरण केंद्र बनाए जायेंगे जहां केवल कोरोना वैक्सीन का दूसरा डोज ही दिया जायेगा।  जिलाधिकारी महोदय ने जिले में नियमित टीकाकरण का आच्छादन और बढ़ाने पर जोर दिया है। इसके लिए उन्होंने डेटा रिव्यू करने और सर्वे रजिस्टर को ससमय अपडेट करते रहने का निर्देश दिया है।  जिलाधिकारी ने कहा है कि जिले में जमीनी स्तर पर कार्य करने वाले स्वास्थ्य कर्मियों का वेतन अकारण अनियमित रहने से उन्हें कठिनाई का सामना करना पड़ता है। इस परिप्रेक्ष्य में कड़े कदम उठाते हुए, उन्होंने प्रथम दृष्टया आशा के वेतन भुगतान में अनियमितता बरतने के कारण निम्न अधिकारियों का वेतन अगले आदेश तक बंद कर दिया है। जिन अधिकारियों पर यह कारवाई करने के निर्देश दिए गए हैं, उनमें डी सी एम, मधुबनी, एम ओ आई सी, खजौली, बी सी एम, खजौली, बी ए एम, राजनगर, एम ओ आई सी, मधवापुर एवं बी एच एम, मधवापुर शामिल हैं। इस बैठक में श्री विशाल राज, भाo प्रo सेo, उप विकास आयुक्त, मधुबनी के साथ साथ ए सी एम ओ, मधुबनी, डी आई ओ, मधुबनी, डी ए एम, मधुबनी, डी सी एम, मधुबनी के साथ साथ जिले के सभी एम ओ आई सी और सभी बी एच एम शामिल थे।

कोई टिप्पणी नहीं: