सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 08 अक्टूबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 8 अक्तूबर 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 08 अक्टूबर

शपथ विधि समारोह और गरबा महोत्सव का आयोजन आज


सीहोर। शहर के बड़ा बाजार स्थित अग्रवाल पंचायती भवन में अंतर्राष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन जिला इकाई की समस्त विंग के द्वारा महासम्मेलन और गरबा महोत्सव का आयोजन किया जाएगा। इस संबंध में जानकारी देते हुए महिला विंग की जिलाध्यक्ष श्रीमती ज्योति अग्रवाल और ब्लाक अध्यक्ष शोभा चांडक ने बताया कि कार्यक्रम के दौरान प्रदेशाध्यक्ष गोविन्द गोयल सहित आष्टा, इछावर, नसरुल्लागंज और सीहोर के पदाधिकारी मौजूद रहेंगे। इस दौरान शपथ-विधि समारोह आदि का आयोजन दोपहर तीन बजे अग्रवाल पंचायती भवन में किया जाएगा। उन्होंने सभी पदाधिकारियों से कार्यक्रम में शासन की गाइड लाइन का पालन करते हुए शामिल होने की अपील की है। 


मद्य निषेध सप्ताह के समापन पर ऐतिहासिक मानव श्रृंखला बनाकर नशा मुक्ति का संकल्प


sehore news
सीहोर। शुक्रवार को शहर के सैकड़ाखेड़ी स्थित संकल्प नशा मुक्ति केन्द्र में सामाजिक न्याय विभाग और केन्द्र के संयुक्त प्रयासों से भारत सरकार के निर्देशानुसार मद्य निषेध सप्ताह का आयोजन किया गया था। इस मौके पर बड़ी संख्या में सप्ताह के समापन अवसर पर एक साथ दो सौ से अधिक लोगों ने ऐतिहासिक मानव श्रृंखला बनाकर नशा मुथ्कत का संकल्प लिया और सामूहिक रूप से नशे से दूर रहने की शपथ भी ग्रहण की। इस मौके पर सामाजिक न्याय विभाग के उप संचालक श्रवण कुमार पचौरी ने कहा कि किसी भी प्रकार का नशा मनुष्य के सामाजिक, आर्थिक एवं शरीर को नुकसान पहुंचाता है। इसका परिणाम असाध्य बीमारी के रूप में सामने आता है, वर्तमान समय में समाज को नशा मुक्त बनाने की महती आवश्यकता है जिसके लिए हर एक व्यक्ति को जागरूक कर नशा मुक्त समाज की स्थापना की जा सकती है। इसके लिए भारत सरकार द्वारा जागरूकता अभियान के तहत हर वर्ष दो अक्टूबर से मद्य निषेध सप्ताह का आयोजन करता चला आ रहा है। इस वर्ष भी विभाग और संकल्प नशा मुक्ति केन्द्र के संयुक्त प्रयासों से पूरे सप्ताह अनेक कार्यक्रमों का आयोजन करते हुए जागरूकता अभियान चलाया गया था। शुक्रवार को इस दौरान केन्द्र के संचालक राहुल सिंह के नेतृत्व में बड़ी संख्या में हितग्राहियों ने नशा मुक्ति की शपथ ग्रहण की। उन्होंने कहा कि नशा का सेवन किसी व्यक्ति के परिवार को सबसे ज्यादा प्रभावित करता है। इससे कई बार परिवार को आर्थिक हानि उठानी पड़ती है व परिवार में विवाद की परिस्थितियां निर्मित होती है। कई बार वो किसी बड़े अपराध का रूप ले लेती है, नशा न केवल व्यक्ति को बल्कि पूरे समाज को प्रभावित करता है। इसलिए नशे की लत से दूर रहना चाहिए। इस दौरान यहां पर मौजूद पंडित शैलेष तिवारी, समाजसेविका श्रीमती अंजू अजय अग्रवाल, नीतू मुकेश गुप्ता ने भी  अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम का संचालन परामर्शदाता आनंद व्यास ने किया। वहीं आभार प्रदर्शन केन्द्र प्रभारी नटवर कुशवाहा ने किया। इस दौरान अमित जैन, दीपक गौर, मनीष सोनी, रितेश माहेश्वरी, श्रवण सिंह संधु, बाबू सिंह संधु, धर्मेन्द्र शर्मा, प्रवेश शिल्पकार आदि शामिल थे।


मानव श्रृंखला में वृद्धों ने भी बढ़ाया हौसला, थामे हाथ

शुक्रवार को ऐतिहासिक मानव श्रृंखला में वृद्धजन भी पीछे नहीं रहे, इस दौरान संकल्प वृद्धाश्रम में निवासरत बड़ी संख्या में वृद्धों ने भी मद्य निषेध सप्ताह के समापन अवसर पर हितग्राहियों का उत्साहवर्धन करते हुए हाथ थामकर आशीर्वाद दिया और नशे जैसी बुरी से दूर रहने का आह्वान किया। 


रेहटी नपा ने की टेक्स की पूरी वसूली  सुविधाएं मांगी तो कहा मकान है अवैध

  • कलेक्ट्रेट पहुंचकर नपा अधिकारियों के रवैया से परेशान महिला ने की शिकायत

sehore news
सीहोर। कलेक्ट्रेट पहुंचकर नगर परिषद रेहटी के अधिकारियों कर्मचारियों के रवैया से परेशान महिला ने कलेक्टर को शिकायत दर्ज कराई है। शिकायतकर्ता महिला ने कहा की जब नपा पूरा टैक्स वसूल रही है तो फिर जरूरी सुविधाएं क्यों नही दे रहीं है। रेहटी थाने के सामने स्थित पुराने मकान में निवासरत मनीषा मालवीय पत्नि रमेश मालवीय ने शिकायत में कहा की नगर परिषद ने रेहटी थाने के सामने स्थित पुस्तैनी पुराने मकान का टैक्स तो पूरा वसूला लिया लेकिन सुविधाओं के नाम पर कुछ नहीं दिया। घरेलू और बारिश के पानी निकासी के लिए नाली निर्माण की मांग की तो नगर परिषद ने मकान को ही अवैध घोषित कर दिया। जबकी मकान से संबंधित पूरे सरकारी दस्तावेज मौजूद है। कलेक्टर को दिए पत्र में श्रीमति मालवीय ने कहा की बीते 20 सालों से नपा टैक्स ले रहीं है। घर का पानी घर के साइड मै शिव यादव के प्लाट में जा रहा है। जिस कारण श्री यादव को भी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। पड़ोसी यादव से भी नपा ने पूरा टैक्स लिया है तो फिर इस समस्या का निराकरण भी किया जाए। इस संबंध में आवेदिका श्रीमति मालवीय के द्वारा कई बार नगर परिषद के अधिकारियों कर्मचारी सहित सीएमओ तहसीलदार एसडीएम और सीएम हेल्पलाइन पर भी शिकायत की गई है।


श्रमदान कर दिया क्लीन इंडिया का संदेश।


sehore news

अमृत महोत्सव के अंतर्गत 1 से 31 अक्टूबर तक संचालित क्लीन इंडिया कार्यक्रम के तहत नेहरू युवा केंद्र सीहोर द्वारा जिला युवा अधिकारी श्रीमती निक्की राठौर के मार्गदर्शन में स्वयंसेवी मेघा माहेश्वरी ने बड़नगर एवं बमुलिया के शासकीय स्कूलों में स्वच्छता हेतु श्रमदान कार्यक्रम का आयोजन किया। बड़े उत्साह से विद्यार्थियों ने श्रमदान कर स्कूल ग्राउंड से प्लास्टिक कचरे को इकट्ठा किया और भारत को प्लास्टिक मुक्त बनाने की शपथ ली। इस अवसर पर बड़नगर प्राचार्य श्री महेंद्र सिंह सिसोदिया, बमुलिया प्राचार्य श्री शैलेंद्र सिंह चंदेल एवं समस्त स्टाफ सुनील परमार, निकिता रजक उपस्थित थे।


भोपाल की वनडे क्रिकेट टीम में शहर के तीन स्टार खिलाडिय़ों का चयन


sehore news
सीहोर। जिले में खेल प्रतिभाओं की कमी नहीं है, जब भी इन प्रतिभाओं को मौका मिलता है। यह उम्दा प्रदर्शन करते नजर आते हैं। ऐसे ही शहर के विस्फोटक बल्लेबाज अतुल कुशवाह हैं, जिन्होंने कम उम्र में ही अपनी बल्लेबाजी का शानदार प्रदर्शन करते हुए शहर का नाम रोशन किया है। वहीं फिरकी गेंदबाज प्रकेंश राय और गौरव पिचोनिया शामिल है। जिनका माधवराव सिंधिया ट्राफी डिवीजनल क्रिकेट टूर्नांमेंट के लिए भोपाल की वनडे क्रिकेट में चयन हुआ है। इस मौके पर जिला क्रिकेट एसोसिएशन अध्यक्ष और विधायक सुदेश राय, जिला क्रिकेट एसोसिएशन के सचिव अतुल तिवारी टिन्नी आदि ने बधाई दी है। डीसीए के मीडिया प्रभारी प्रियांशु दीक्षित ने बताया कि माधव राव सिंधिया ट्राफी डिवीजनल क्रिकेट टूर्नांमेंट के लिए भोपाल की वनडे टूर्नांमेंट के मुकाबले जबलपुर, ग्वालियर और सागर में खेले जाएंगे। जिसमें भोपाल टीम की ओर से हरफनमौला क्रिकेटर अतुल कुशवाहा, गौरव पिचोनिया और फिरकी गेंदबाज प्रकेंश राय को शामिल किया गया है। तीनों ही खिलाड़ी जिला क्रिकेट एसोसिएशन की ओर से शहर के बीएसआई मैदान पर खेलते हुए आ रहे है, अब वह टीम भोपाल 10 अक्टूबर को जबलपुर में डिफेंडिंग चैपिंयन शहडोल के खिलाफ अपने अभियान की शुरूआत करेगी। उसका दूसरा मुकाबला उज्जैन से 11 अक्टूबर को और तीसरा मुकाबला मेजबान जबलपुर से 12 अक्टूबर को होगा। ग्रुप ए में भोपाल के साथ तीन और टीमें अगले दौर में प्रवेश करेंगी। टीम शुक्रवार को जबलपुर के लिए रवाना हो गई है। भोपाल टीम में शामिल होने पर उक्त तीनों क्रिकेटरों को बधाई देने वालों में सुरेन्द्र रल्हन, वीरु वर्मा, इरफान हुसैन, प्रदीप आहुजा, अमित कटारिया, मनोज दीक्षित मामा, मदन कुशवाहा, महेंद्र शर्मा, चेतन मेवाड़ा, मोहनिश त्रिवेदी, पवन सोनी, आशीष शर्मा, कमलेश पारोचे, राकेश धनगर, सचिन कीर, सुरेश नाविक, मयंक जैन, हेमंत केसरिया, गौरव खरे, नागेश व्यास, संतोष पांडे आदि शामिल है।


किसानों के समक्ष प्राथमिक साख सहकारी समितियां अपनी नीतियां स्पष्ट करें, अखिल भारतीय किसान सभा ने प्रकट किया कड़ा रोष

  • खरीफ फसल का ऋण या खाद का पैसा जमा नहीं करा दिया जाता , तब तक रवि सीजन के लिए किसानों को नहीं दिया जाता है खाद 

sehore news
सीहोर। किसानों के प्रति प्राथमिक साख सहकारी समितियां के रवैया को लेकर अध्यक्ष अखिल भारतीय किसान सभा ने कड़ा रोष प्रकट किया है। खरीफ फसल का ऋण या खाद का पैसा जमा नहीं करा दिया जाता है तब तक रवि सीजन के लिए किसानों को प्राथमिक साख सहकारी समितियों के द्वारा खाद नहीं दिया जाता है। प्राथमिक साख सहकारी समिति में खरीफ  एवं रबी सीजन के लिए अलग-अलग लिमिट ऋण पास होती है। खरीफ फसल में लिए गए ऋण का अदायगी का समय 31 मार्च निश्चित किया गया है। अध्यक्ष अखिल भारतीय किसान सभा जिलाध्यक्ष भानु प्रताव मेवाड़ा ने कहा की किसानों का शोषण अन्याय पूर्ण है प्राथमिक साख सहकारी समितियां के द्वारा मनमानी की जा रही है। इसमें कुछ किसानों को पैसा लेकर खाद दे दी जाती है लेकिन अधिकांश किसानों से जब तक खरीफ  सीजन का खाद का पैसा जमा नहीं किया जाता तब तक रवि का खाद नहीं दिया जाता है। किसानों के साथ यह भेदभाव शासकीय मनसा के प्रतिकूल भी नही है या तो सरकार सिर्फ एक लिमिट पास करें यदि 2 लिमिट की पास कर रहे हैं तो दोनों अलग-अलग किसानों को दें रवि सीजन में यदि किसानों को पर्याप्त मात्रा में खाद एवं ऋण उपलब्ध नहीं कराया गया है। जिलाध्यक्ष मेवाड़ा ने कहा की जब किसानों को खाद की आवश्यकता होती है तब प्राथमिक साख सहकारी समिति में खाद नहीं होता है जब किसान मार्केट से या साहूकारी से खाद ले लेता है तब सोसायटीओं के पास खाद होता है जिससे किसानों को उत्पादन में गंभीर परिणाम भुगतने पड़ते हैं।  समुचित मात्रा में किसानों को सभी तरह का खाद प्राथमिक साख सहकारी समिति में सहज उपलब्ध हो जिससे कि कृषि प्रधान देश की जीडीपी में कृषि का हिस्सेदारी के साथ किसान की आमदनी बड़े और देश के विकास में कृषि और किसान का हिस्सेदारी बनी रहे। अगर जिला सहकारी बैंक मर्यादित के द्वारा इस अवैधानिक नियम को नही बदला जाता है तो अखिल भारतीय किसान सभा एवं संयुक्त किसान मोर्चा आगामी दिनों में उग्र आंदोलन करने के लिए बाध्य होगा।


आज किया जाएगा चंद्रघंटा का आह्वान, सादगी के साथ किया जाएगा 15 अक्टूबर को भंडारे और पूर्णाहुति का आयोजन


sehore news
सीहोर। मां चौसट योगिनी मरीह माता मंदिर में दूसरे दिन प्रवचन का आयोजन किया गया। इस मौके पर जारी प्रवचन के दौरान ज्योतिषाचार्य पंडित गणेश शर्मा ने बताया कि मां दुर्गा के नौं स्वरुपों में मां ब्रह्मचारिणी द्वितीय स्वरुप हैं। ब्रह्मचारिणी अर्थात् तप का आचरण करने वाली। इन्होंने भगवान शिव को पति रुप में प्राप्त करने के लिए कठोर तप किया था इसलिए ये ब्रह्मचारिणी कहलाई। मां ब्रह्मचारिणी का स्वरुप अत्यंत ज्योतिर्मय है। इनके बांए हाथ में कमंडल सुशोभित है तो दाहिने हाथ में ये माला धारण करती हैं। इनकी उपासना से साधक को सदाचार, संयम की प्राप्ति होती है। शहर के विश्रामघाट मां चौसट योगिनी मरीह माता मंदिर में जारी नौ दिवसीय दिव्य यज्ञ में पंडित उमेश शर्मा और ज्योतिषाचार्य पंडित श्री शर्मा के मार्ग दर्शन में मंदिर के व्यवस्थापक गोविन्द सिंह मेवाड़ा सहित अन्य श्रद्धालुओं ने देवी के मंत्रों के साथ आहुतियां दी गई। यज्ञ के दौरान पंडित श्री शर्मा ने बताया कि दिव्य यज्ञ का आयोजन क्षेत्र की सुख-समृद्धि के लिए किया जा रहा है। नौ देवियों के साथ हर रोज दस महाविद्याओं का भी आह्वान किया जाता है। उन्होंने बताया कि काली, तारा, त्रिपुरसुंदरी, भुवनेश्वरी, छिन्नमस्ता, त्रिपुरभैरवी, धूमावती, बगलामुखी, मातंगी और कमला शामिल है। श्री शर्मा ने बताया कि प्रवृति के अनुसार दस महाविद्या के तीन समूह हैं। पहला सौम्य कोटि (त्रिपुर सुंदरी, भुवनेश्वरी, मातंगी, कमला), दूसरा उग्र कोटि (काली, छिन्नमस्ता, धूमावती, बगलामुखी), तीसरा सौम्य-उग्र कोटि (तारा और त्रिपुर भैरवी)। इस संबंध में मंदिर समिति के रोहित मेवाड़ा ने बताया कि करीब 150 साल से मरीह माता मंदिर में पूजा अर्चना आदि का क्रम जारी है। हर साल हजारों की संख्या में यहां पर श्रद्धालु माता के दर्शन के लिए आते है। आगामी दिनों में महानिशा की आरती और सादगी के साथ भंडारे का आयोजन किया जाएगा। उक्त कार्यक्रम का आयोजन प्रशासन की गाइड लाइन के अनुसार किया जाएगा। उन्होंने सभी श्रद्धालुओं से अपील की है कि आस्था के साथ गाइड लाइन का पालन करे।  इसके अलावा को भी श्रद्धालु भंडारे में सहयोग करना चाहता है वह मंदिर में जाकर ही दान प्रदान कर रसीद प्राप्त करे। 


द्योगिक क्षेत्र माना बुधनी में उपलब्ध भूखण्डों की ऑन लाईन ई-नीलामी प्रक्रिया प्रारंभ, 30 अक्टूबर तक जमा कर सकते है ई-निविदा


मध्यप्रदेश एमएसएमई को औद्योगिक भूमि तथा भवन आवंटन एवं प्रबंधन नियम-2021 के अनुसार जिले में विभाग के अधीनस्थ विकसित औद्योगिक क्षेत्रों में भूमि आवंटन ऑन लाईन ई-नीलामी पद्धति से होना है। जिले के औद्योगिक क्षेत्र माना बुधनी में उपलब्ध भूखण्डों की ऑन लाईन ई-नीलामी प्रक्रिया प्रारंभ हो गई है, जिसकी सूचना विभागीय बेवसाईट एवं राज्य स्तरीय समाचार पत्रों में उद्योग संचालनालय स्तर से प्रकाशित की गई है।  भूमि आवंटन के लिए रिक्त भूखण्डों की जानकारी विभागीय बेवसाईट पर अपलोड की गई है। सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम स्थापित करने के लिए इच्छुक उद्यमी ई-नीलामी में भाग ले सकते हैं। ई-नीलामी में शामिल होने के लिए विस्तृत जानकारी विभागीय बेवसाईड www.mpmsme.gov.in पर भी देखी जा सकती है। ई-निविदा जमा करने की अंतिम तिथि 30 अक्टूबर निर्धारित की गई है ।


डिप्लोमा पाठ्यक्रमों की रिक्त सीटों पर प्रवेश के लिए संस्था स्तर होगी काउंसलिंग


शासकीय पोलीटेक्निक महाविद्यालय नसरुल्लागंज में संचालित किये जा रहे विभिन्न डिप्लोमा पाठ्यक्रमों इलेक्ट्रिकल, सिविल, कंप्यूटर साइंस, ईटी एवं टेक्सटाइल टेक्नोलॉजी शाखा की रिक्त सीटों में प्रवेश के लिए प्रथम संस्था स्तर पर काउंसलिंग 11 अक्टूबर एवं द्वितीय संस्था स्तर पर काउंसलिंग दिनांक 16 अक्टूबर को आयोजित होगी। अभ्यर्थी 16 अक्टूबर को प्रातः 10.30 बजे आवश्यक मूल प्रमाणपत्र सीएलसी रजिस्ट्रेशन स्लिप, कक्षा दसवी की अंकसूची मूलनिवासी प्रमाणपत्र आय प्रमाणपत्र के साथ दस्तावेजों की छायाप्रति के साथ स्वयं काउंसलिंग में सम्मिलित होकर प्रवेश प्राप्त कर सकते हैं। ब्रांचवार रिक्त सीटों की विस्तृत जानकारी तकनीकी शिक्षा विभाग की अधिकृत https://dte.mponline.gov.in/ पर उपलब्ध रहेगी। दिनांक 11-10-2021 की सीएलसी काउंसलिंग के लिए  अभ्यार्थी अपना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन mponline के कियोस्क से 7 से 9 अक्टूबर तक तथा 16 अक्टूबर की सीएलसी काउंसलिंग के लिए अभ्यार्थी अपना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन mponline के कियोस्क से 11 से 14 अक्टूबर  तक कराकर काउंसलिंग की तिथियों में प्रातः 10:30 बजे उपस्थित होना है।


राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा की गई साफ-सफाई


sehore news
चंद्रशेखर आजाद शासकीय स्नातकोत्तर अग्रणी महाविद्यालय सीहोर  की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई ने प्राचार्य डॉ. सुमन रोहिला तथा कार्यक्रम अधिकारी श्री जय सिंह के निर्देशानुसार शासकीय माध्यमिक शाला अभ्यास सीहोर में क्लीन इंडिया मिशन के अंतर्गत स्वच्छता अभियान चलाकर 30 किलोग्राम से अधिक पॉलिथीन बैग को इकट्ठा कर नगरपालिका को सौंपा गया। रासेयो स्वयं सेवकों से प्रेरित होकर विद्यालय के बच्चों ने भी स्वच्छता कार्यक्रम में प्रांगण की साफ सफाई की। और आगे भी साफ सफाई करते रहने  का संकल्प लिया।  इसके अलावा विद्यालय प्रांगण में मद्य निषेध सप्ताह के अंतर्गत बच्चों को मद्य पान न करने की शपथ दिलाई गई।  स्वच्छता और मद्य निषेध पर स्वयं सेवकों ने भी अपने विचार व्यक्त किए।


वृहद रोजगार उत्सव 11 अक्टूबर को


जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार 11 अक्टूबर को जिला पंचायत एवं जिला रोजगार कार्यालय द्वारा वृहद रोजगार उत्सव कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। मेले में एलआईसी, प्रधानमंत्री कौशल केन्द्र से वल्सपौन गुजरात तथा हर्बल इंडिया कंपनिया बेरोजगार युवक-युवतियों का साक्षात्कार लेकर रोजगार प्रदान करेंगे। योग्य एवं इच्छुक युवक-युवतिया अपना WWW.MPROJGAR.GOV.IN  साइबर पर पंजीकरण करवाकर कार्यालय प्रमुख के ऑनलाइन पंजीबद्व कराना होगा। कैरियर काउंसिलिंग विषय विशेषज्ञ से सत्यापित कराकर कंम्पनी के साक्षात्कार मे शामिल हो सकते है। युवक-युवतियां अपने मूल दस्तावेज एवं आधार कार्ड लेकर मेले में 12.00 बजे शामिल हो सकते है।


कुपोषण को समाप्त करना सभी की सामूहिक जिम्मेदारी- संभागायुक्त श्री कियावत

  • कुपोषण को समाप्त करने जिले में बाल आरोग्य संवर्धन अभियान प्रारंभ

sehore news
समाज में कुपोषण कलंक की भांति है, इसे समाप्त करना हम सभी की सामूहिक जिम्मदारी है। यह बात भोपाल संभागायुक्त श्री कविन्द्र कियावत ने टाउन हाल सीहोर में बाल आरोग्य संवर्धन कार्यक्रम के तहत पोषण मित्र तथा कुपोषित बच्चों के अभिभावकों के उन्मुखीकरण कार्यशाला में कही। श्री कियावत कहा कि सीहोर जिले में कुपोषित बच्चों की संख्या बहुत कम है। महिला बाल विकास विभाग का अमला और पोषण मित्र पूरी गम्भीरता से प्रयास करें तो कुपोषण को पूरी तरह समाप्त किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि प्रायः हर घर में पर्याप्त पोष्टिक आहार होता है लेकिन बच्चे को उचित मात्रा एवं समय-समय पर खिलाने में लापरवाही कर जाते हैं, जिससे बच्चा कुपोषित हो जाता है। उन्होंने कहा कि आवश्यकता केवल इस बात की है कि ऐसे बच्चों को पौष्टिक आहार संतुलित मात्रा में समय-समय पर दिया जाए। कुपोषित बच्चों को पर्याप्त मात्रा में पौष्टिक आहार समय पर खिलाये जाने में पोषण मित्र की महत्वपूर्ण भूमिका है। संभागायुक्त श्री कियावत ने कहा कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से कि उनका ऐसे बच्चों के परिजनों से सीधा सम्पर्क रहता है। वे हर रोज ऐसे बच्चों के घर जाकर अपने  बच्चे की भांति ही उसे पोष्टिक आहार खिलाएं। इससे बच्चा जल्द कुपोषण से बाहर आ जाएगा। उन्होंने पोषण मित्रों से कहा भी अपने संरक्षित बच्चे के घर जाकर उन्हें पोष्टिक आहार खिलाया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने यह भी कहा कि ऐसे बच्चों के अभिभावकों कों घर पर बाड़ी में हरी सब्जी लगाने के लिए बीज दिया जाए। इसके साथ ही उनकी पात्रतानुसार शासन की अन्य योजनओं का भी लाभ दिलाया जाए। श्री कियावत ने कहा कि बच्चों को पुष्ट बनाने में आयुर्वेदिक तेल का भी महत्व है। अभिभावकों को सही तरीके से बच्चों की मालिश करना बताया जाए।


कुपोषण को समाप्त करने में पोषण मित्र और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता महत्वपूर्ण भूमिका - कलेक्टर

कार्यशाला में कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने कहा कि संभागायुक्त श्री कविन्द्र कियावत के निर्देश पर जिले से कुपोषण को पूरी तरह समाप्त करने के लिए बाल आरोग्य संवर्धन अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के तहत जिले के अधिकारियों तथा अन्य लोगों को कुपोषित बच्चों का पोषण मित्र बनाया गया है। जिले से कुपोषण को पूरी तरह समाप्त करने में पोषण मित्रों और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की महत्वपूर्ण भूमिका है। कुपोषित बच्चे को एक निश्चित समय-सीमा में कुपोषण से बाहर निकालना इन पोषण मित्रों की जिम्मदारी होगी। श्री ठाकुर ने कहा कि आंगनबाड़ी की माध्यम से टेक होम राशन या मिड-डे-मील के तहत जो राशन दिया जाता है, वह कई बार बच्चों की बजाय घर के परिजन ही उस खाद्यान का स्वयं उपयोग कर लेते हैं। पोषण मित्र यह भी देखेंगे कि कुपोषित बच्चों को पर्याप्त मात्रा में पोषिट और स्वादिष्ट आहार बच्चों को खिलाया जाए। कार्यशाला में एसपी श्री मयंक अवस्थी, अपर कलेक्टर श्रीमती गुंचा सनोबर, महिला बाल विकास अधिकारी श्री प्रफुल्ल खत्री, पोषण मित्र तथा बच्चोें के अभिभावक उपस्थित थे।


पोषण आहर किट का वितरण

महिला बाल विकास विकास विभाग द्वारा टाउन हाल में बच्चों के लिए पौष्टिक एवं स्वादिष्ट आहार के स्टाल लगाये गये। इन स्टॉल में भिन्न-भिन्न प्रकार के आहार प्रदर्शित किए गए तथा इन्हें बनाने की विधि बताई गयी।  श्री कियावत ने सभी स्टाल का निरीक्षण किया और पोषण आहर किट के बारे में जानकारी ली। बच्चों की दी जाने वाली पोषण आहार सामग्री में आयरन, विटामिन, प्रोटीन पाउडर, मूंगफली, चना तथा गुड़ शामिल है। फल, पोषक दालें तथा मालिस की शीशी प्रदान की गयी।  कार्यक्रम में 65 बच्चों को पोषण आहार किट वितरित की गई।


कलेक्टर ने दिलाई शपथ

कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने कार्यशाला में उपस्थित अधिकारियों, पोषण मित्र, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं,सहायिकाओं एवं नागरिकों को अपने क्षेत्र के कुपोषित बच्चों को पोषित आहार उपलब्ध कराने एवं कुपोषण से बाहर लाने की शपथ दिलाई।


जिले में अब तक 973.7 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज, बीते 24 घंटे में 0.0 मिलीमीटर औसत वर्षा


जिले में 01 जून से 08 अक्टूबर  2021 तक  973.7 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई। जो कि गत वर्ष इसी अवधि में औसत वर्षा 1433.2 मिलीमीटर थी। जिले की वर्षा ऋतु में सामान्य औसत वर्षा 1148.4 मिलीमीटर है। अधीक्षक भू-अभिलेख द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार 01 जून से 08 अक्टूबर 2021 तक जिले के वर्षामापी केन्द्र सीहोर में 909.9 मिलीमीटर,  श्यामपुर में 944.9, आष्टा में 911.0,  जावर में 849.0,  इछावर में 984.3, नसरूल्लागंज में 965.0,  बुधनी में 1115.0, रेहटी में 1110.4 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।


बीते 24 घंटे में 0.0 मिलीमीटर औसत वर्षा

जिले में बीते 24 घंटे में प्रात: 08 बजे तक 0.0 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई। वर्षामापी केन्द्र सीहोर में 0.0 मिलीमीटर, श्यामपुर में 0.0, आष्टा में 0.0,  जावर में 0.0,  इछावर में 0.0, नसरूल्लागंज में 0.0,  बुधनी में 0.0, रेहटी में 0.0 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।


पेंशनधारकों को ओटीपी साझा नहीं करने की सलाह


साइबर अपराधियों द्वारा पेंशनधारियों को जीवन प्रमाण-पत्र को ऑनलाइन अपडेट करने के संबंध में की जाने वाली फर्जी कॉल से बचाव की सलाह दी है। जिला पेंशन अधिकारी ने बताया कि अपराधी के पास पेंशनधारक का पूरा डाटा, नियुक्ति दिनांक, पीपीओ नम्बर, आधार नम्बर, सेवानिवृत्ति तिथि जैसी सभी जानकारी उपलब्ध होने के कारण पेंशनधारकों को ऑनलाइन अपडेशन के संबंध में भरोसा दिया जाता है। वर्तमान में साइबर अपराधियों द्वारा पेंशन निदेशालय का हवाला देकर पेंशनरों को पूरा डाटा बताकर जीवन प्रमाण-पत्र अपडेट करने के लिए ओटीपी साझा करने की बात प्रकाश में आई है। पेंशनर द्वारा गलती से ओटीपी साझा करने पर अपराधी को बैंक खाते का डायरेक्ट एक्सेस कन्ट्रोल मिल जाता है और पेंशनर के खाते की राशि फर्जी खाते में स्थानांतरित कर दी जाती है। उन्होंने कहा है कि पेंशनरों को जागरुक रह कर हमेशा सावधानी बरतने की जरुरत है। पेंशन निदेशालय द्वारा कभी भी किसी पेंशनर का जीवन प्रमाण-पत्र ऑनलाइन अपडेट करने के लिए कॉल नहीं किया जाता है और न ही ऑनलाइन जीवन प्रमाण-पत्र अपडेट किया जाता है।


बच्चों को हो सके तो मोबाइल नहीं दें - साइबर सेल की एडवाइजरी


देश के साथ प्रदेश में भी ऑनलाइन गेम खेलने के चक्कर में कई युवा और बच्चे अपनी जान गंवा चुके है तो कई चोरी करने लगे हैं। इस बात को ध्यान में रखते हुए राज्य साइबर सेल ने एडवाइजरी जारी की है। राज्य साइबर सेल द्वारा जारी एडवाइजरी में अभिभावकों से कहा गया है कि बच्चों को हो सके तो मोबाइल नहीं दें। ऑनलाइन क्लॉसेस के लिए बिना सिम कार्ड का  मोबाइल दें, बच्चों को वाईफाई से इंटरनेट इस्तेमाल करने दें।  बच्चों की ऑनलाइन एक्टिविटी पर नजर रखें। परिवार के सभी सदस्यों के मोबाइल में प्ले स्टोर पर पैरेंटल कंट्रोल ऑन करें।  पासवर्ड बच्चों को नहीं बताएं, बच्चों को हर तरह के ट्रांजेक्शन की छूट नहीं दें। खाते से पैसे कटने का मैसेज आते ही बच्चों से पैसे कटने का कारण अवश्य पूछें।


आर्थिक सहायता के लिए उर्दू पाण्डुलिपियाँ सोमवार तक आमंत्रित


मध्यप्रदेश उर्दू अकादमी संस्कृत परिषद ने वर्ष 2021-22 में उर्दू साहित्यकारों और शायरों को उर्दू पाण्डुलिपियों के प्रकाशन के लिए आर्थिक सहायता देने के लिए पाण्डुलिपियाँ आमंत्रित की हैं। निदेशक ने बताया कि उर्दू साहित्यकार अपनी पाण्डुलिपि सोमवार 11 अक्टूबर 2021 तक उर्दू अकादमी के मुल्ला रमूजी संस्कृति भवन में जमा कर सकते हैं। पांडुलिपियों के साथ मध्यप्रदेश का मूल निवासी होने का प्रमाण पत्र संलग्न करना आवश्यक है। जिन साहित्यकारों और शायरों की पुस्तकें अकादमी द्वारा प्रकाशित या आर्थिक सहायता दिए हुए 10 वर्ष नहीं हुए हैं उनकी पाण्डुलिपियों पर विचार नहीं किया जायेगा। पुस्तक प्रकाशन की आर्थिक सहायता देने के लिए बनाई गई कमेटी का निर्णय अंतिम माना जायेगा। अकादमी द्वारा वर्ष 2021-22 में उर्दू के साहित्यकारों और शायरों की उर्दू में प्रकाशित पुस्तकें खरीदी जाना है। इच्छुक साहित्यकार और शायर वर्ष 2020-21 में स्वयं की प्रकाशित पुस्तक की एक प्रति 11 अक्टूबर 2021 तक अकादमी के कार्यालय में जमा करा सकते हैं। जमा की गयी पुस्तक का कोई भुगतान नहीं किया जाएगा और न ही पुस्तक वापस की जायेगी।


बिजली के अनाधिकृत उपयोग करने वालों के खिलाफ होगी सख्त कार्यवाही, विद्युतीकृत क्षेत्रों में नये कनेक्शन मिलने में नहीं होगा विलंब


मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा सीधे बिजली लाइन से तार डालकर बिजली के अनधिकृत उपयोग के खिलाफ सख्त कार्यवाही के निर्देश दिए गए हैं। निर्देशों में कहा गया है कि संबंधित लाइन कर्मचारी एवं मीटर वाचक का यह दायित्व है कि वे अपने क्षेत्रांतर्गत बिजली लाइन से सीधे तार डालकर बिजली का उपयोग करने वाले उपयोकर्ताओं की जानकारी वितरण केन्द्र/जोन प्रभारी को उपलब्ध करायें ताकि सख्ती से ऐसे मामलों की जांच की जा सके और विद्युत अधिनियम 2003 की धारा 135 के तहत प्रकरण दर्ज कर उनके विरूद्ध विद्युत प्रदाय संहिता में निहित प्रावधानों के अनुसार बिलिंग की जा सके। कंपनी ने कहा है कि विद्युतीकृत कॉलोनियों एवं क्षेत्रों में नये कनेक्शन देने में विलंब नहीं किया जाए। ऐसी कॉलोनियॉं जो अविद्युतीकृत हैं उनमें निवासरत लोगों को स्थाई कनेक्शन देने के लिए बाह्य विद्युतीकरण के लिए प्रेरित किया जाए ताकि विद्युतीकरण कार्य पूर्ण होने पर नियमानुसार राशि जमा करते हुए स्थाई विद्युत कनेक्शन प्रदान किया जा सके। ऐसे परिसर जो कि अवैध कॉलोनी के क्षेत्रान्तर्गत आते हैं, उन्हें मध्यप्रदेश नगर पालिक विधि (संशोधन) अध्यादेश 2021 में दिये गये प्रावधानों के अनुसार कार्य निष्पादित करने हेतु बाध्य किया जाएगा एवं उनके विद्युतीकरण हेतु प्राक्कलन बनाकर सार्वजनिक रूप से घोषित करते हुए नियत प्रति किलोवॉट दर तथा अन्य सप्लाई अफोर्डिंग चार्जेस इत्यादि जमा कराते हुए विद्युत कनेक्शन प्रदान किये जाएंगे। कंपनी ने कहा है कि मीटर बायपास कर अथवा लाइन में कट/जोड़ लगाकर अनधिकृत रूप से विद्युत का उपयोग कर रहे लोगों के खिलाफ कार्यवाही की जाए। मीटर में छेड़छाड़ करने वाले उपभोक्ताओं के खिलाफ कार्यवाही की जाए और उनके खिलाफ विद्युत अधिनियम 2003 के अनुसार प्रकरण पंजीबद्ध कर विद्युत प्रदाय संहिता में दिए गए प्रावधानों के अनुसार बिलिंग की जाए। गौरतलब है कि बिजली चोरी के मामलों में विद्युत अधिनियम 2003 की धारा 126, 135 एवं 138 के तहत बनने वाले मुकदमों के तहत कठोर कार्यवाही के प्रावधान हैं यहॉं तक कि दोषी उपभोक्ताओं को जेल भी हो सकती है। उल्लेखनीय है कि बिजली चोरी के प्रकरणों में आरोप सिद्ध पाये जाने पर जुर्माना या कारावास या दोनों सजाओं का प्रावधान है।  


आरा-मशीनों के लायसेंस अब 5 साल में होंगे नवीनीकरण


आरा-मशीनों के लिये अब 5 साल की अवधि में लायसेंस नवीनीकरण कराये जाने का प्रावधान कर दिया गया है। अभी तक 3 साल में नवीनीकरण करवाए जाने का प्रावधान था। राज्य शासन के वन विभाग द्वारा मध्यप्रदेश काष्ठ चिरान (विनियमन) नियम-1984 में यह संशोधन किया गया है। लायसेंस नवीनीकरण के लिये 2,500 रुपये आवेदन शुल्क निर्धारित है।


जनजातियों का जीवन बेहतर बनाना हमारी प्राथमिकता - राज्यपाल श्री पटेल

  • सिकलसेल पीड़ितों को विशेषज्ञ चिकित्सकों की सेवाएँ दिलाएं, विश्‍वविदयालय द्वारा दी जाए रोजगारमूलक शिक्षा

राज्यपाल श्री मंगुभाई पटेल ने कहा है कि मध्यप्रदेश में बड़ी संख्या में जनजाति समाज के लोग रहते हैं। प्रदेश की लगभग 21 प्रतिशत आबादी जनजातियों की है। जनजाति समाज आज भी विकास की रफ्तार में पीछे है। राज्यपाल श्री पटेल ने कहा है कि जनजातियों के सर्वांगीण विकास में हम सबकी भागीदारी होनी चाहिए। सरकार ने सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्‍वास और सबका प्रयास का नारा दिया है। हम सब मिलकर इस अवधारणा को साकार करें। जनजातीय समाज के लोगों के बीच जाकर शासन की कल्याणकारी योजनाओं को लागू करने, उनके जीवन में खुशहाली लाने के कार्य को चुनौती के रूप में लें। राज्यपाल श्री पटेल ने कहा सबको मिलकर जनजाति समाज के जीवन में उन्नति, प्रगति और समृद्धि लाने के लिए सकारात्मक प्रयास करने होंगे। जनजाति समुदाय के लोगों के जीवन में बेहतरी लाने के लिए निरन्तर प्रयास करने होंगे। राज्यपाल श्री पटेल आज इन्दिरा गांधी जनजातीय राष्ट्रीय विश्‍वविदयालय अमरकंटक में सिकलसेल की बीमारी से बचाव के लिए आयोजित परिचर्चा को संबोधित कर रहे थे। परिचर्चा का शुभारंभ राज्यपाल श्री पटेल द्वारा माँ सरस्वती के छायाचित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। इस अवसर पर विधायक श्री फुन्देलाल सिंह मार्को, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती रूपमती सिंह, कुलाधिपति डॉ. मुकुल ईश्‍वरलाल शाह, कुलपति प्रो. प्रकाश मणि त्रिपाठी, अधिकारी, जन-प्रतिनिधि और स्वयंसेवी सामाजिक संगठनों के सदस्य भी उपस्थित रहे। राज्यपाल श्री पटेल ने कहा कि सभी का लक्ष्य मानव कल्याण है। मुझे आप सभी से बड़ी अपेक्षा है कि आप जनजाति समाज के लोगों के बीच जाकर उनकी उन्नति, प्रगति के विषय में उनका सहयोग करेंगे। उनका मार्गदर्शन कर उन्हें विश्‍वास के साथ विकास और प्रगति पर लाने का प्रयास करेंगे। राज्यपाल श्री पटेल ने कहा कि विकास के साथ-साथ अच्छा स्वास्थ्य भी आवश्‍यक है। सिकलसेल की बीमारी जनजातीय क्षेत्रों में ज्यादा फैली है। सिकलसेल की बीमारी में स्वास्थ्य संबंधी कई विकार उत्पन्न होते हैं। सिकलसेल के बीमारी के निवारण के लिए जागरूकता आवश्‍यक है। सिकलसेल की बीमारी किन कारणों से होती है तथा इसके बचाव के उपाय क्या है, इसकी जानकारी दूरदराज के क्षेत्रों मे रहने वाले जनजातीय समाज के लोगों तक पहुँचना चाहिए। राज्यपाल श्री पटेल ने कहा कि सिकलसेल से पीड़ित मरीजों को विशेषज्ञ, चिकित्सकों के सेवाएँ भी मिलना चाहिए। राज्यपाल श्री पटेल ने कहा कि सिकलसेल बीमारी को समूल नष्ट करने के भी प्रयास होने चाहिए। उन्होंने कहा कि शासन की ओर से सिकलसेल से पीड़ित मरीजों के लिए निरन्तर प्रयास किए जा रहे हैं। राज्यपाल श्री पटेल ने कहा कि जनजातीय विश्वविद्यालय का ज्ञान गांवों और गरीबों तक पहुँचना चाहिए। विश्वविद्यालय का ज्ञान सिकलसेल की बीमारी एवं अन्य बीमारियों के निवारण में होना चाहिए और जनजाति समाज के लोगों को रोजगार तथा स्व-रोजगार उपलब्ध कराने में होना चाहिए। विश्वविद्यालयों द्वारा छात्रों को दिया जा रहा ज्ञान रोजगारमूलक होना चाहिए। विश्वविद्यालयों द्वारा दी जा रही शिक्षा से विद्यार्थियों को रोजगार भी मुहैया होना चाहिए। परिचर्चा को अधिष्ठाता इन्दिरा गांधी जनजातीय विश्वविद्यालय एवं कुलपति जनजातीय विश्वविद्यालय अमरकंटक ने भी संबोधित किया। परिचर्चा में सिकलसेल की बीमारी से पीड़ित श्री तरुण कुमार मोगरे, गंगोत्री भीमटे ने भी सिकलसेल की बीमारी से होने वाली परेशानियों के संबंध में अपनी बात रखी।


उत्कृष्टता केन्द्र का किया लोकार्पण

राज्यपाल श्री मंगुभाई पटेल ने इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय परिसर में बनाए गए उत्कृष्टता केन्द्र का फीता काटकर लोकार्पण किया। इस अवसर पर उन्होंने पौधरोपण भी किया।


हितग्राहियों को हितलाभों का वितरण किया गया

राज्यपाल श्री पटेल ने आज इन्दिरा गांधी जनजातीय विश्वविद्यालय अमरकंटक में आयोजित कार्यक्रम में कल्याणी पेंशन योजना, वन अधिकार पट्टों के हितग्राहियों और संबल योजना के हितग्राहियों को हितलाभों का वितरण किया।


सब मिलकर कुपोषण को आसानी से कर सकते है समाप्त - संभागायुक्त श्री कियावत

  • विकासखंड स्तरीय उन्मुखीकरण शिविर में शामिल हुए संभागायुक्त

sehore news
भोपाल संभागायुक्त श्री कविन्द्र कियावत ने बाल आरोग्य संवर्धन कार्यक्रम के तहत इछावर, नसरूल्लागंज, बुदनी में आयोजित पोषण मित्र तथा कुपोषित बच्चों के अभिभावकों के विकासखंड स्तरीय उन्मुखीकरण शिविर में शामिल हुए। संभागायुक्त श्री कियावत ने कहा कि सब मिलकर कुपोषण को आसानी से समाप्त कर सकते है। सभी के घरों में पोष्टिक आहार होता है, आंगनबाडी कार्यकर्ता ऐसे बच्चें के माता-पिता को बच्चों का दिए जाने वाले आहार की अच्छें से जानकारी दे। ताकि वह अपने घरों में उपलब्ध आहार से कुपोषण को खत्म कर सकें। विकासखंड स्तरीय उन्मुखीकरण शिविर को कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने भी संबोधित किया। नसरुल्लागंज में आयोजित कार्यक्रम में श्री गुरु प्रसाद शर्मा, श्री रवि मालवीय, श्री मती गुंचा सनोबर सहित अधिकारी-कर्मचारी तथा अभिभावक उपस्थित थे।


ऐतिहासिक मानव श्रृंखला बनाकर नशा मुक्ति का  लिया संकल्प


भारत सरकार के निर्देशानुसार सामाजिक न्याय विभाग द्वारा संकल्प नशा मुक्ति केन्द्र में मद्य निषेध सप्ताह के समापन पर ऐतिहासिक मानव श्रृंखला बनाकर नशा मुक्ति का संकल्प लिया। सामूहिक रूप से नशे से दूर रहने की शपथ भी दिलाई। सामाजिक न्याय विभाग के उप संचालक डॉ. श्रवण कुमार पचौरी ने कहा कि किसी भी प्रकार का नशा मनुष्य के सामाजिक, आर्थिक एवं शरीर को नुकसान पहुंचाता है। इसका परिणाम असाध्य बीमारी के रूप में सामने आता है, वर्तमान समय में समाज को नशा मुक्त बनाने की महती आवश्यकता है। हर एक व्यक्ति को जागरूक कर नशा मुक्त समाज की स्थापना की जा सकती है। इसके लिए भारत सरकार द्वारा जागरूकता अभियान के तहत हर वर्ष दो अक्टूबर से मद्य निषेध सप्ताह का आयोजन करता चला आ रहा है। संचालक श्री राहुल सिंह ने कहा कि नशा का सेवन किसी व्यक्ति के परिवार को सबसे ज्यादा प्रभावित करता है। इससे कई बार परिवार को आर्थिक हानि उठानी पड़ती है व परिवार में विवाद की परिस्थितियां निर्मित होती है। कई बार वो किसी बड़े अपराध का रूप ले लेती है, नशा न केवल व्यक्ति को बल्कि पूरे समाज को प्रभावित करता है। कार्यक्रम को पंडित शैलेष तिवारी, समाजसेविका श्रीमती अंजू अजय अग्रवाल, नीतू मुकेश गुप्ता ने भी संबोधित किया। संकल्प वृद्धाश्रम में निवासरत वृद्ध भी मानव श्रृंखला में शामिल हुए। 


वृहद जागरूकता शिविर के सफल क्रियान्वयन के लिए अधिकारियों को सौंपे कार्यों के दायित्व


विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार नालसा द्वारा आयोजित भारत का अमृत महोत्सव अंतर्गत "पेन इंडिया अवेयरनेस कार्यक्रम अंतर्गत विधिक सहायता योजनाओं की जानकारी आमजन में पहुचाने के उद्देश्य से 11 अक्टूबर को दोपहर 12:00 बजे से ग्राम मानपुरा सीहोर में आयोजित वृहद जागरूकता शिविर सह मेले के सफल क्रियान्वयन के लिए समस्त प्रशासनिक अधिकारियों एवं संबंधित विभागों के अधिकारियों को कार्यों के दायित्व सौंपे गये है।


जिले में आज कोई भी व्‍यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला, वर्तमान में कोरोना एक्टिव पॉजिटिव की संख्या शून्य


पिछले 24 घंटे के दौरान प्राप्त रिपोर्ट में जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला है। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अब तक कुल कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों की संख्या 10142 है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव शून्य हो गई हैं। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 10020 हैं। आज 780 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 218,  श्यामपुर से 165,  नसरूल्‍लागंज 69, आष्टा से 212,  बुधनी से 40 तथा इछावर से 76सेंपल लिए गए हैं। अभी तक कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 274768 हैं। जिनमें से 262920 सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। आज 654 सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 1635 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथोलॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है।

कोई टिप्पणी नहीं: