सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 02 दिसंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 2 दिसंबर 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 02 दिसंबर

निर्भय की 91 रन की पारी की बदौलत पीपीसीए ब्लू बनी अकादमी क्रिकेट प्रतियोगिता की विजेता


sehore news
सीहोर। शहर के बीएसआई मैदान पर खेली गई अकादमी क्रिकेट प्रतियोगिता में गुरुवार को प्रतिभाशाली हरफनमौला खिलाड़ी निर्भय प्रजापति के दोहरे प्रदर्शन 91 रन और सात विकेट के शानदार प्रदर्शन की बदौलत एक तरफा फाइनल मुकाबले में पीपीसीए ब्लू ने पीपीसीए रेड को चार विकेट से हराकर खिताब पर कब्जा किया। गुरुवार को अकादमी क्रिकेट प्रतियोगिता के फाइनल मैच में बुधवार के नाट आउट खिलाड़ी निर्भय प्रजापति और अतुल त्रिवेदी ने लक्ष्य का पीछा करते हुए पीपीसीए ब्लू को 50 ओवर में ही जीत दिलाई। इस मैच में दूसरे दिन निर्भय प्रजापति ने 91 रन की शानदार अद्र्धशतकीय पारी खेली, वहीं अतुल त्रिवेदी ने 37 रन बनाए। इसके अलावा आदि अग्रवाल ने 63 रन बनाए थे। मैच के अंत में जिला क्रिकेट एसोसिएशन के सचिव अतुल तिवारी, वीरु वर्मा, नितिन कुशवाहा, राकेश शर्मा, नागेन्द्र व्यास, महेन्द्र शर्मा, मनोज दीक्षित मामा, देवराज मालवीय, मदन कुशवाहा, चेतन मेवाड़ा, अतुल कुशवाहा, अतुल त्रिवेदी, कमलेश पारोचे, राजेश विलय, अमित शर्मा आदि विजेता टीम पीपीसीए ब्लू को खिताबी ट्राफी दी। इसके अलावा उप विजेता पीपीसीए रेड को दिया। इस प्रतियोगिता में चार टीम शामिल हुई थी। प्रतियोगिता का फाइनल 90-90 ओवर का हुआ था। इस प्रतियोगिता में शामिल सभी खिलाडिय़ों को सुरेश कुशवाहा की स्मृति में पुरस्कार दिए गए थे। वहीं समाजसेवी राहुल सिंह ने आज के मैच के हीरो मैन ऑफ द मैच खिलाड़ी निर्भय प्रजापति को उनके दोहरे प्रदर्शन के लिए पुरस्कार दिया गया। इसके अलावा गत दिनों 119 रन की पारी खेलने वाले विकास और 107 रन की पारी खेलने वाले प्रकेंश राय को भी अन्य मैचों में अच्छा प्रदर्शन करने पर मैन आफ द मैच से पुरस्कृत किया। इस मैच में बुधवार को पीपीसीए रेड ने 54 ओवर में दस विकेट के नुकसान पर दस विकेट खोकर 206 रन ही बनाए थे, जिसको पीपीसीए ब्लू ने छह विकेट खोकर गुरुवार को यह मैच चार विकेट से जीत लिया। इस प्रतियोगिता में अनेक खिलाडिय़ों ने शानदार खेला का प्रदर्शन किया। जिनको अंत में कार्यक्रम में शामिल अतिथियों ने पुरस्कार प्रदान किए। उक्त प्रतियोगिता पीपीसीए द्वारा कराई गई थी। इनके कोच चेतन मेवाड़ा, अतुल त्रिवेदी और आदर्श राय शामिल थे। 

आत्मरक्षा की कला है कराटे प्रशिक्षण-कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर


sehore news
सीहोर। आत्मरक्षा की कला में कराटे सबसे अच्छा है। इस कला को मन लगाकर सिखना चाहिए। उक्त विचार शहर के इंदौर नाका बजरंग कालोनी में मास्टर आफ ताओ कराटे एसोसिएशन के तत्वाधान में खेली गई नेशनल कराटे प्रतियोगिता के विजेताओं का उत्साहवर्धन करते हुए मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर ने कहे। उन्होंने कहा कि बालिकाओं एवं महिलाओं के आत्मरक्षा के लिए कराटे प्रशिक्षण जरूरी है। उन्होंने कहा कि एसोसिएशन इस दिशा में महत्वपूर्ण रोल निभा रहे है। वहीं कार्यक्रम में विशेष अतिथि पुलिस अधीक्षक मयंक अवस्थी ने कहा कि कराटे शक्ति की साधना है। आत्म सुरक्षा के लिए इस कला का इस्तेमाल करना चाहिए। उन्होंने अपने संदेश में अभिभावकों से आग्रह करते हुए कहा कि अपने बच्चों को आत्मरक्षा के लिए कराटे का प्रशिक्षण अवश्य दिलवाए। इस मौके पर एसपी श्री अवस्थी ने एसोसिएशन के मुख्य कोच लखन ठाकुर और श्रीमती विमला ठाकुर द्वारा दिए जा रहे प्रशिक्षण कार्य की तारीफ की। इस दौरान यहां पर मौजूद खिलाडिय़ों ने डेमो किया। एसोसिएशन के मीडिया प्रभारी प्रियांशु दीक्षित ने बताया कि गत दिनों नौवीं नेशनल कराटे प्रतियोगिता में एक दर्जन से अधिक शहर के खिलाडिय़ों ने पदक प्राप्त किए थे। इसमें गोल्ड मेडल राशि अग्रवाल, पंकज वर्मा और योगेश कोठिया थे, इसके अलावा सिल्वर मेडल प्राप्त करने वालों में स्वाती सिंह, मोनू शाक्य, उजेर खान, अनुष्क राठौर, मोहित कसोटिया, आरती मालवीय, दीपांशु दिसाबरी, अर्थव झंवर आदि शामिल है। जिनको कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक ने पदक प्रदान कर सम्मानित किया। इस दौरान संस्था के जिमांशु शर्मा आदि शामिल थे। 


फल सब्जी मंडी व्यापारी एसोसिएशन ने विधायक सुदेश राय को सौंपा ज्ञापन
  • रजिस्ट्री नहीं होने के कारण मंडी नीलामी अनिश्चितकाल के लिए बंद करने की चेतावनी, विधायक ने दिया आश्वासन


सीहोर। गुरुवार को फल सब्जी मंडी व्यापारी एसोसिएशन समिति के तत्वाधान में अनेक व्यापारियों ने सीहोर विधायक सुदेश राय से भेंट कर अपनी समस्याओं के निराकरण की मांग करते हुए एक ज्ञापन सौंपा है। इस संबंध में समिति के अध्यक्ष शदाब राईन ने बताया कि विधायक श्री राय को एक ज्ञापन सौंपा गया है। विधायक श्री राय द्वारा हमारी मांगों को लेकर आश्वासन दिया गया है। उन्होंने बताया कि लहसून, प्याज व्यापारी को नवीन सब्जी मंडी परिसर में भूखंड आवंटन किया गया, जिसकी रजिस्ट्री नहीं होने के कारण आगामी सोमवार से मंडी नीलामी अनिश्चित काल तक बंद की जा सकती है। उन्होंने बताया कि व्यापारी नवीन सब्जी मंडी परिसर में भूखंड आवंटन किया गया है। जिसकी सम्पूर्ण राशि करीब 92 लाख 77 हजार तीन सौ रुपए गत वर्ष 24 जुलाई 2020 को मंडी कार्यालय में जमा कर दी गई थी। जिसकी रजिस्ट्री 15 दिवस में कराने का प्रावधान है, लेकिन मंडी प्रशासन से बार-बार आग्रह करने पर भी रजिस्ट्री नहीं कराई जा रही है। इससे पहले भी मंडी में इस संबंध को लेकर मंडी नीलामी बंद की गई थी। मंडी प्रशासन द्वारा एक सप्ताह का समय रजिस्ट्री कराने के लिए मौखिक रूप से बोला गया था, लेकिन अभी तक रजिस्ट्री नहीं की गई। मंडी सचिव द्वारा व्यापारियों को डराया जाता हैकि लायसेंस बंद कर दूंगा और रजिस्ट्री नहीं कराउंगा एवं मंडी प्रशासन द्वारा व्यापारियों से अभद्र व्यवहार किया जाता है इन्ही कारणों के चलते लहसून-प्याज व्यापारियों द्वारा निर्णय लिया गया है कि आमामी छह दिसंबर से मंडी नीलामी अनिश्चित समय के लिए भाग नहीं लेंगे। रजिस्ट्री का कार्य पूर्ण होने पर ही नीलाम प्रारंभ की जा सकेगी। जिसका जिम्मेदार प्रशासन होगा। ज्ञापन देने वालों में प्रकाश राठौर, शाकिर, सलीम, शाबिर पहलवान, आसिफ, नितिन और धनराज आदि शामिल थे।


जिला भाजपा के प्रशिक्षण शिविर का दूसरा दिन....., 7 सत्र में 7 विषयो पर पूरे दिन भाजपा कार्यकर्ताओं ने कई मुद्दों-विषयो पर किया गहन चिंतन मनन


sehore news
सीहोर। सीहोर जिला भाजपा जिला प्रशिक्षण शिविर के आज दूसरे दिन शिविर में 7 सत्र सम्पन्न हुए। शिविर के दूसरे दिन का शुभारम्भ श्री प्रदीप त्रिपाठी,भाजपा जिला अध्यक्ष रवि मालवीय ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय,डॉ श्यामाप्रसाद मुखर्जी,भारतमाता के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलित कर किया। शिविर के दूसरे दिन 7 सत्र में 7 मुद्दों पर प्रदेश से आये, दिये गये विषयो के विशेषज्ञ वक्ताओं ने कार्यकर्ताओं के सामने विचार साझा कर चिंतन मनन किया। आज सलकनपुर में आयोजित भाजपा के तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर के दूसरे दिन शिविर में प्रदेश भाजपा सरकार की कल्याणकारी योजनाएं,अपनी कार्य पद्दत्ति ओर संगठन संरचना में हमारी भूमिका,पिछले 7 साल में अन्त्योदयी पहल,आत्मनिर्भर भारत,बूथ विस्तार योजना,भारत वैश्विक परिदृश्य,2014 के बाद आये युगांतकारी परिवर्तन विषयो पर प्रदेश भाजपा से आये वक्ता प्रदीप त्रिपाठी,राघवेन्द्र शर्मा,विकास बोन्द्रिया,सुश्री सरिता देशपांडे,माधवसिंह डांगी,गौतम टेटवाल,आलोक संजर ने महत्वपूर्ण जानकारियां कार्यकर्ताओ के सामने रखी। भाजपा के जिला प्रभारी बहादुरसिंह मुकाती ने सत्र के समापन के पूर्व उपस्थित कार्यकर्ताओ से चर्चा कर संगठन के कार्यो,योजनाओं की जानकारी दी। शिविर के सभी 7 सत्रों में सत्र की अध्यक्षता जिला भाजपा के वरिष्ठ नेता  बाबूलाल पटेल,रामनारायण साहू,रघुनाथसिंह भाटी,श्रीमति रिना मिश्रा,मायाराम गौर,महेश उपाध्याय, धरमसिंह आर्य ने की सत्र के आज दूसरे दिन के सत्रों में केन्द्र एवं मप्र सरकार की विभिन्न जनहितैषी योजनाओं की चर्चा हुई,सभी वक्ताओं ने कार्यकर्ताओं से आव्हान किया कि आप सब कार्यकर्ताओ को अब उन सभी हितग्राहियों तक पहुचना है जिनको सरकार की योजनाओं का लाभ मिला। शिविर में आने वाले चुनावों की तैयारियां को लेकर भी चर्चा हुई एवं कार्यकर्ताओ को मूलमंत्र दिये गये। दूसरे दिन के शिविर में भाजपा सीहोर जिला प्रभारी बहादुरसिंह मुकाती,जिला भाजपा अध्यक्ष रवि मालवीय,आष्टा विधायक रघुनाथसिंह मालवीय,गुरुप्रसाद शर्मा,रघुनाथसिंह भाटी,   सलकनपुर मंदिर देवस्थान ट्रस्ट अध्यक्ष महेश उपाध्याय,सहित जिले के सभी 19 मंडलों के अध्यक्ष,प्रदेश भाजपा के पदाधिकारी,कार्यसमिति के सदस्य,जिले के पदाधिकारी,कार्यसमिति सदस्य,मंडल के महामंत्री,मोर्चा, प्रकोष्ठों के जिला अध्यक्ष सहित सभी अपेक्षित कार्यकर्ता उपस्थित रहे। दूसरे दिन के सभी सत्रों का संचालन जिला उपाध्यक्ष लखन यादव ने किया।


"3 दिसम्बर को प्रशिक्षण शिविर का समापन"
जिला भाजपा के मीडिया प्रभारी सुशील संचेती ने जानकारी देते हुए बताया कि जिला भाजपा का देवीधाम परिसर सलकनपुर में चल रहे 3 दिवसीय भाजपा के जिला प्रशिक्षण शिविर का 3 दिसम्बर शुक्रवार को समापन होगा। समापन सत्र में अतिथि के रूप में मप्र भाजपा के सह संगठन महामंत्री श्री हितानन्द शर्मा सहित अन्य वरिष्ठ नेता उपस्थित रहेंगे। समापन सत्र का शुभारम्भ प्रातः 9 बजे प्रारम्भ होगा, दोपहर 2 बजे समापन होगा।


नर्मदा अस्पताल सीहोर के डॉक्टरों ने जटिल, ऑपरेशन कर बचाई गरीब महिला की जान


sehore news
सीहोर। डॉक्टर भगवान तो नहीं लेकिन भगवान से कम भी नहीं मां नर्मदा अस्पताल सीहोर के मानवता के लिए समर्पित डॉक्टरों ने उक्त कहावत को सच साबित कर दिया है। मां नर्मदा अस्पताल सीहोर के डॉक्टरों ने अत्याधिक जटिल ऑपरेशन कर एक गरीब महिला पेशेंट की जान बचा ली है। नर्मदा अस्पताल के डायरेक्टर ज्ञान सिंह बघेला ने बताया की संभवता सीहोर जिले के किसी निजी अस्पताल में इस तरह का ऑपरेशन पहली बार किया गया है। पेशेंट महिला के परिजनों ने पहले अन्य अस्पतालों में जांचे कराई ईलाज भी कराया लेकिन पेशेंट के स्वास्थ्य में कोई सुधार नहीं हुआ जिस के बाद परिजन पेशेंट को आधुनिक मेडिकली सुृ़विधाओं से लैश नर्मदा अस्पताल सीहोर लेकर पहुंचे. स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर पूजा नामदेव ने विभिन्न मेडिकली जांचों के उपरांत पाया की महिला के पेट में गठान है साधारण ऑपरेशन में पेशेंट के जीवन को भी खतरा हो सकता है। परिजनों की सहमति से डॉक्टर पूजा नामदेव, हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉक्टर ओ पी श्रीवास्तव, डॉक्टर निशांत राय के द्वारा पुन: जांच की गई जिस के बाद लेप्रोस्कोफ  दूरबीन ऑपरेशन करने का निर्णय लिया गया। स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर पूजा नामदेव ने बताया की इस ऑपरेशन पददती में मरीज के शरीर को सुरक्षित रखते हुए ऑपरेशन पूरा किया जाता है  दूरबीन का प्रयोग होता है। जिले के नर्मदा अस्पताल सीहेार में संभवता यह पहला ऑपरेशन किया गया है। मां नर्मंदा हॉस्पिटल के ड्यूटी डॉक्टर अनुपम पाल एवं अनुभवी नर्सिंग स्टाफ  का भी पूरा विशेष सहयोग रहा है। महिला के पेट से गठान निकाल दी गई है। महिला पूरी तरह से स्वास्थ्य है और परिजनों ने नर्मदा अस्पताल  डॉक्टरों  का आभार व्यक्त किया गया है। 



जिला क्राईसिस मैनेजमेंट की बैठक, संभावित तीसरी लहर को रोकने के लिए सभी को कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना होगा



sehore news
कोरोना की संभावित तीसरी लहर से दृष्टिगत स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री तथा जिले के प्रभारी मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी की अध्यक्षता में क्राइसिस मैंनेजमेंट ग्रुप की बैठक आयोजित की गई। बैठक में डॉ. चौधरी ने कहा कि तीसरी लहर को रोकने के लिए प्रशासन, जन-प्रतिनिधियों, धर्मगुरूओं समाज सेवियों और प्रबुद्ध नागरिकों के साथ मिलकर जागरूकता अभियान चलाना होगा। उन्होंने कहा कि जो लोग टीकाकरण से वंचित रह गए है उन शेष लोगों का टीकाकरण करवाना होगा। इसके लिए ब्लॉक एवं ग्राम क्राइसिस मैनेजमेट के सदस्यों को सक्रिय रूप से काम करना होगा। प्रभारी मंत्री डॉ. चौधरी कहा कि मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग को लोगों की आदत का हिस्सा बनाने के लिए रोको-टोको अभियान चलाना होगा। जनता के साथ मिलकर कोरोना संक्रमण को रोकने के प्रयास करने होंगे। उन्होंने कहा कि सभी जनप्रतिनिधि क्षेत्र में भ्रमण करके लोगों को कोरोना से बचाव के लिए जागरूक करें। बैठक में डॉ. चौधरी ने जिले में कोविड की तीसरी लहर की तैयारियों की समीक्षा की। कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने जिले के अस्पतालों में कोविड के लिए आवश्यक सविधाओं की उपलब्धा के बारे में जानकारी दी। बैठक में अनेक सदस्यों ने सुझाव दिए।


कोविड प्रोटोकॉल का करें पालन

डॉ. चौधरी ने कहा कि लोगों को सार्वजनिक स्थल पर मास्क के अनिवार्य रूप से उपयोग, फिजिकल डिस्टेंसिंग बनाए रखने तथा नियमित अंतराल से हाथों को स्वच्छ करने के लिए जागरूक करें। आम जनता भीड़ वाले स्थानों में जाने से बचे। उन्होंने कहा कि कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करें तथा कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज के टीके लगवा लें जिससे कोरोना का असर बहुत कम हो जाएगा। डॉ. चौधरी ने कहा कि बिना किसी देरी के हर पात्र व्यक्ति को कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लगानी है। उन्होंने कहा कि धर्मगुरूओं, कोरोना वालेंटियर्स, आपदा प्रबंधन समिति के सदस्य तथा जन अभियान परिषद के वालेंटियर्स मिलकर जागरूकता अभियान चलाएं। मीडिया के साथी भी कोरोना से बचाव के उपायों का लगातार प्रचार-प्रसार करके लोगों को जागरूक करने में सहयोग करें।


 
जिला अस्पताल मे अव्यवस्थाओं की शिकायत

क्राइसिस मैंनेजमेंट की बैठक के दौरान सभी जनप्रतिनिधियों ने जिला अस्पताल की अव्यवस्था की शिकायत करते हुए बताया कि अस्पताल में डिलेवरी के लिए आने वाली गर्भवती महिलाओं और अन्य मरीजों कि स्थिति गंभीर नहीं होने पर भी भोपाल रेफर किया जा रहा है। मरीजों की सोनोग्राफी और सीटी स्कैन नही होने की भी शिकायत की गई। प्रभारी मंत्री डॉ चौधरी ने घोर नाराजगी जाहिर करते हुए सीएमएचओ को व्यवस्थाएं बेहतर करने के निर्देश दिए। कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने कहा कि जनप्रतिनिधियों द्वारा गंभीर शिकायतें की गई इसके लिए अपर कलेक्टर की अध्यक्षता में समिति गठित कर जांच कराने के लिए कहा। इसके साथ ही रेफर किये जाने वाले मरीजों की विस्तृत जानकारी संधारित कर प्रतिदिन रिपोर्ट देने के  सीएमएचओ डॉ. श्री सुधीर कुमार डेहरिया को निर्देश दिए।

 

बैठक में यह थे उपस्थित

बैठक में इछावर विधायक श्री करण सिंह वर्मा, सीहोर विधायक श्री सुदेश राय, श्री सीताराम यादव, श्री राजेश राठौर, श्रीमती अमिता अरोरा, नगर पुरोहित श्री पृथ्वी वल्लभ दुबे सहित अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।



महाअभियान के तहत 32 हजार 744 लोगों ने लगवाया कोविड टीका, स्वास्थ्य अमले द्वारा घर-घर जाकर किया गया टीकाकरण



sehore news
जिले में कोविड टीकाकरण महाअभियान में लोगों ने भारी उत्साह दिखाया। जिले में टीकाकरण महाअभियान के तहत 32 हजार 744 लोगों को कोविड का टीकाकरण किया गया। जिले में गुरूवार को शाम 5:30 बजे तक 32 हजार 744 लोगों को कोविड का टीका लगाया गया। सुबह 8 बजे से ही लोग कोविड का टीका लगवाने के लिए टीकाकरण केन्द्र पहुंचे। स्वास्थ्य अमले द्वारा घर घर जाकर एवं खेतों में काम कर कर रहे मजदूरो को भी वहीं जाकर टीकाकरण किया गया।


जिले में जनपदवार टीकाकरण की स्थिति

जिले में कुल 32 हजार 744 नागरिकों का टीकाकरण किया गया। टीकाकरण के लिए 369 टीकाकरण केंद्र बनाएं गए। आष्टा में 9962, बुधनी में 3392, इछावर में 3356, नसरूल्लागंज में 8017, श्यामपुर में 6005 तथा सीहोर शहरी क्षेत्र में 2012 नागरिकों का टीकाकरण किया किया गया।



लाडले मियां जाफरी बने जिलाध्यक्ष



sehore news
सीहोर। शहर के वरिष्ठ समाजसेवी और पार्टी के सक्रिय नेता लाडले मियां जाफरी को जय प्रकाश जनता दल का जिलाध्यक्ष मनोनित किया गया। इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार गत दिनों जय प्रकाश जनता दल की एक विशेष बैठक के दौरान दल के प्रदेशाध्यक्ष सत्यवीर सिंह ने श्री जाफरी को उनकी सक्रियता और कर्मठता को देखते हुए दल का जिलाध्यक्ष मनोनित किया है। इस मौके पर नव नियुक्त जिलाध्यक्ष श्री जाफरी ने दल के वरिष्ठ नेताओं का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि मुझे जो भी जिम्मेदारी सौंपी गई है, इसका पालन पूर्ण आस्था के साथ किया जाएगा। वहीं आगामी दिनों में हर ब्लाक में दल के पदाधिकारियों को नियुक्त किया जाएगा। इस मौके पर नव नियुक्त जिलाध्यक्ष श्री जाफरी को जय प्रकाश जनता दल के नेताओं ने बधाई दी है। 



डॉ. प्रभुराम चौधरी ने सीहोर के मुख्य बाजार में बिना मास्क के घूम रहे नागरिकों को लगाए फेस मास्क

  • डॉ. चौधरी ने की सभी नागरिकों से कोविड के दोनों डोज लगवाने और फेस मास्क लगाने की अपील

sehore news
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी कलेक्ट्रेट में आयोजित क्राइसिस मेनेजमेंट की बैठक के पश्चात सीहोर के कोतवाली चौराहा पहुँचे। जहाँ उन्होने मुख्य बाजार में दुकानो पर जाकर दुकानदारों को फेस मास्क वितरित किए और अपने हाथों से उन लोगों को मास्क लगाए, जो इसका उपयोग नहीं कर रहे थे। उन्होंने कोरोना के दोनो टीके लगवाने एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने का अनुरोध भी किया। उन्होंने  मुख्य बाजार में भ्रमण के दौरान आम जनता को मास्क वितरित किए और फेस मास्क के उपयोग के लिए समझाइश दी। उन्होंने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए फेस मास्क के उपयोग का जागरूकता अभियान प्रारंभ किया। प्रभारी मंत्री डॉ. चौधरी ने कहा कि कोविड-19 से बचाव के लिए वैक्सीन के दोनों डोज अवश्य लगवायें, तभी हम कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर को रोक पाने में पूरी तरह सफल होंगे। उन्होंने कहा कि मैं जन-प्रतिनिधियों से अपील करना चाहता हूँ कि आपको दस्तक देना है मास्क और टीकाकरण के लिए। इस अवसर पर इछावर विधायक श्री करण सिंह वर्मा, सीहोर विधायक श्री सुदेश राय, श्री सीताराम यादव, श्री राजेश राठौर सहित अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।


प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का प्रचार-प्रसार रथ रवाना


sehore news
भारत सरकार की प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत रबी फसल 2021-22 के लिए 01 से 07 दिसम्बर तक फसल बीमा सप्ताह मनाया जाएगा। फसल बीमा के प्रचार-प्रसार एवं कृषक संगोष्ठी के लिए विधायक श्री सुदेश राय ने बीमा प्रचार-प्रसार रथ को उप संचालक कृषि प्रांगण से हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। फसल बीमा प्रचार-प्रसार के लिए जिले में 02 रथ भ्रमण करेंगे। प्रथम रथ सीहोर, श्यामपुर, आष्टा, जावर एवं दूसरा रथ इछावर, नसरूल्लागंज, रेहटी तथा बुधनी के ग्रामों में 01 दिसम्बर से 15 दिसम्बर तक कृषको को फसल बीमा संबंधी योजना के लाभो की जानकारी दी जाएगी।



जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला



पिछले 24 घंटे के दौरान प्राप्त रिपोर्ट में जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला है। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अब तक कुल कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों की संख्या 10143 है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव शून्य हो गई हैं। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या10021  हैं। आज 659 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 219, श्यामपुर से 160, नसरूल्लागंज 40, आष्टा से 151, बुधनी से 62 तथा इछावर से 27 सैंपल लिए गए हैं। अभी तक कुल जांच के लिए भेजे गए सैंपल 304940 हैं। जिनमें से 292328 सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है।आज 392 सैंपलो की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। कुल 2398 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथोलॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है।


स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी ने जिला अस्पताल का किया निरीक्षण, जिला अस्पताल में आपातकालीन सेवाओं का लिया जायजा


sehore news
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री तथा जिले के प्रभारी मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने जिला अस्पताल का निरीक्षण किया। उन्होंने निरीक्षण के दौरान सीएमएचओ श्री सुधीर डेहरिया सहित अन्य डॉक्टर्स से ऑक्सीजन सहित सभी संसाधनों की उपलब्धता के बारे में जानकारी लेते हुए एवं कोरोना की संभावित तीसरी लहर को ध्यान में रखते हुए सभी आवश्यक व्यवस्थाओं के निर्देश दिए। डॉ. चौधरी ने अस्पताल में आपातकालीन सेवाओं के बारे में सिविल सर्जन से जानकारी ली। स्वास्थ्य मंत्री  डॉ. चौधरी ने जिला अस्पताल के ऑक्सीजन प्लांट का भी निरीक्षण किया। इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री ने मौके पर मौजूद चिकित्सकों से प्लांट के बारे विस्तार से जानकारी ली। इसके अलावा कोविड वार्ड, पोर्टेबल कोविड वार्ड तथा महिला मेडिकल वार्ड का जायजा लिया। महिला मेडिकल वार्ड में भर्ती पूजा सिंह, गुलाब बाई तथा शीला बाई से इलाज और दवाओं के बारे में जानकारी ली। उन्होंने अस्पताल की व्यवस्थाओं का निरीक्षण करते हुए मौके पर उपस्थित सीएमएचओ डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया एवं अन्य चिकित्सकों को जिला अस्पताल में स्वास्थ्य व्यवस्थाएं सुचारू रूप से संचालित करने और अस्पताल आने वाले मरीजों के इलाज के संबंध में जरूरी दिशा-निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान सीहोर विधायक श्री सुदेश राय, श्री सीताराम यादव, श्री राजेश राठौर सहित अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।


कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर परखेंगे छात्र छात्राओं की तैयारी, रविवार 05 दिसंबर को छात्र छात्राओं करेंगे चर्चा


कलेक्टर श्री चंद्रमोहन ठाकुर रविवार 5 दिसम्बर को प्रात: 11 बजे नगर पालिका के लाइब्रेरी में छात्र छात्राओं से चर्चा करेंगे और यूपीएससी एवं एमपी पीएससी की तैयारी कर रहे छात्र छात्राओं की तैयारी का लेवल भी परखेंगे तथा मार्गदर्शन भी करेंगे।


प्रधानमंत्री फसल बीमा हेतु अऋणी किसान 31 दिसम्बर तक प्रीमियम भरें


प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना अंतर्गत जिले के ऐसे सभी अऋणी किसान भाई फसल बीमा का लाभ लेने के लिए 31 दिसम्बर 2021 तक प्रीमियम भरकर लाभ उठा सकेंगे। किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग ने बताया कि जिले में रबी मौसम 2021-22 के लिए गेंहू सिंचित, असिंचित, चना फसल पटवारी हल्का स्तर पर एवं मसूर फसल जिला स्तर पर अधिसूचित की गई है। जिसका स्केल ऑफ फाइनेंस के आधार 1.5 प्रतिशत के मान से गेंहू सिंचित 525 रूपए प्रति हेक्टेयर तथा असिंचित गेंहू के लिए 394.50 रूपये, चना के लिए 525 रूपए प्रति हेक्टेयर तथा मसूर के लिए 330 रूपए प्रति हेक्टेयर कृषकों द्वारा फसल बीमा प्रीमियम राशि रबी 2021-22 हेतु जमा की जानी है। अऋणी कृषकों द्वारा पूर्व उल्लेखित प्रीमियम राशि के साथ आवश्यक दस्तावेज भू-अधिकार पुस्तिका, सक्षम अधिकारी (पटवारी अथवा ग्राम पंचायत) द्वारा जारी बुआई प्रमाण पत्र, पूर्णतः भरा हुआ प्रस्ताव फार्म एवं पहचान पत्र (आधार कार्ड) के साथ कृषक की बैंक खाता पासबुक की फोटो कॉपी जिसमें आईएफएससी कोड एवं बैंक खाता क्रमांक स्पष्ट रूप से अंकित होना अनिवार्य है ताकि देय बीमा क्लेम राशि कृषक के खाते में समायोजित हो सकें।   अऋणी कृषकों द्वारा रबी फसल बीमा कराए जाने के लिए बैंक में प्रस्ताव जमा कराने की अंतिम तिथि 31 दिसम्बर 2021 है। संबंधित कृषक भाईयों से आग्रह किया गया है कि अधिसूचना अनुसार फसल बीमा हेतु निर्धारित प्रीमियम राशि एवं पूर्व उल्लेखित दस्तावेज सहित अंतिम तिथि तक बैंक में जमा कराकर प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ उठाएं। अन्य किसी प्रकार की जानकारी के लिए कृषि विभाग के ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी, विकासखण्ड में पदस्थ वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी एवं सहकारी बैंक शाखा, राष्ट्रीयकृत बैंक शाखा एवं बीमा कंपनी द्वारा नियुक्त जिला प्रतिनिधि तहसील स्तर पर नियुक्त किए गए बीमा कंपनी के प्रतिनिधि से सम्पर्क कर प्राप्त की जा सकती है।


कोरोना से बचाव के लिए अनुकूल व्यवहार अपनाने की अपील’


स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना संक्रमण के नए वैरिएंट से बचाव के लिए लोगों को आम जीवन में  अनुकूल व्यवहारों को अपनाना जरूरी है। कोरोना से बचाव के लिए विशेषज्ञों ने अनुकूल व्यवहार का पालन करने की आम लोगों को सलाह दी है। स्वास्थ्य विभाग ने सलाह देते हुए लोगों से कहा है कि अभिवादन के लिए आपस में उचित दूरी रखते हुए एक दूसरे का अभिवादन करें, एक दूसरे से उचित दूरी बनाकर रखें, घर पर उपयोग होने वाला फेस कवर-मास्क हर समय पहनें, अपनी आँख, नाक या मुंह को छूने से बचें, अपनी श्वास स्वच्छता बनाए रखें, अपने हाथों को नियमित रूप से और अच्छे से धोएं, अक्सर छुए जाने वाली सतहों को नियमित रूप से साफ और कीटाणु रहित करें। इसके अतिरिक्त तंबाकू उत्पादों का ना सेवन करें, ना सार्वजनिक स्थानों पर थूकें, अनावश्यक यात्रा ना करें, किसी के साथ भेदभाव ना करें, भीड़-भाड़ से बचें, सुरक्षित रहें, असत्यापित और नकारात्मक जानकारी को सोशल मीडिया पर प्रसारित ना करें, कोविड के बारे में विश्वसनीय स्त्रोतों से जानकारी लें, कोविड से संबंधित किसी भी तरह की जानकारी के लिए केन्द्रीय टोल फ्री हेल्पलाइन नम्बर 1075 या राज्यों के हेल्पलाइन नम्बरों पर कॉल करें तथा किसी भी तरह के मानसिक तनाव या परेशानी होने पर मनोसामाजिक सहायता सेवाओं का सहयोग लें।


शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में अब घर-घर टीकाकरण अभियान


जिले को शत्-प्रतिशत टीकारण पूर्ण करने के लिए स्वास्थ्य विभाग के अमले द्वारा पूरी मेहनत और लगन से कोविड टीकारण के लिए शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में घर-घर जाकर कोविड टीके के बारे में समझाइश दे कर टीकारण करने प्रयास किया जा रहा है। शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में स्वाथ्य विभाग की टीम जब घर पहुंचकर कोविड का टीका लगाया गया तो महिलाओं के चेहरे खिल उठे। खास बात है कि टीकारण के लिए जब टीम टीका लगाने पहुंची तो महिलाओं ने कहा कि उन्हें घर पहुंचकर टीका लगाया गया और टीकाकरण केन्द्र पर लाईन में नहीं लगना पड़ा। वहीं घर का कोई कार्य भी प्रभावित नहीं हो रहा है। दूसरा डोज के निर्धारित लक्ष्य को पूरा करने के लिए जिले के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में घर-घर टीकाकरण अभियान किया जा रहा है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि एएनएम, स्टाफ नर्स, आशा, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिकाओं का संयुक्त दल बनाकर घर-घर जा कर लोगों से टीके की जानकारी प्राप्त की जा रही है तथा छूटे हुए लोगों को टीका लगाया जा रहा है। जिससे हितग्राहियों में प्रसन्नता देखी जा रही है तथा उनके चेहरे खिले हुए है। इस कार्य में कई कठिनाई भी आ रही है जैसे हितग्राहियों द्वारा प्रथम टीके दौरान जो मोबाइल नंबर पोर्टल पर इंट्री कराया था सेकण्ड डोज में नंबर का मिलान नहीं होने से कुछ दिक्कतें आ रही है फिर भी टीकाकरण दल द्वारा आधार कार्ड के अनुसार टीका लगाए जाने का पूरा प्रयास किया जा रहा है।


सर्दी, जुकाम, खांसी, बुखार आदि लक्षण दिखने पर तुरंत डॉक्टर की सलाह लें


स्वास्थ्य विभाग ने सलाह दी है कि किसी भी व्यक्ति को सर्दी, जुकाम, खांसी, बुखार, सांस लेने में तकलीफ, सिरदर्द, भूख न लगना, दस्त लगना आदि के लक्षण होने पर तुरंत डॉक्टर की सलाह लें। आमतौर पर देखा गया है कि मरीज घर पर ही पारंपरिक उपचार लेते रहते है। ठीक होने की उम्मीद में 5 से 7 दिन गुजार देते है, जिससे स्वास्थ्य लाभ होने के बजाय उनकी बीमारी और बढ़कर जटिल हो जाती है। ऐसे लोंगो को  अस्पताल में भर्ती करना पड़ता है। ऐसी स्थिति में अगर कोविड-19 की जांच पॉजीटिव आती है तो उपचार और जटिल हो जाता है। ऐसे मरीजों को ऑक्सीजन सपोर्ट या आईसीयू में भर्ती कर उपचार करना पड़ता है। ऐसी बीमारियों से प्रभावित व्यक्तियों को सलाह दी है कि उन्हें सर्दी, खांसी, बुखार और सांस लेने में तकलीफ, सिरदर्द, हाथ-पैरों में दर्द, शरीर में ऐठन, भूख न लगना, खाने व सूघंने में स्वाद का पता न लगना आदि लक्षणों के आते ही वे तुरंत चिकित्सक से परामर्श लें। अथवा कोविड-19 की जांच करवाकर समय रहते उपचार लेकर स्वस्थ हों।       कोरोना के दृष्टिगत ऐसे व्यक्ति भीड़-भाड़ में न जायें, आपस में दो गज की दूरी बनाकर रखें। हाथों को सैनेटाइज करते रहना, हाथों को साबुन से धोते रहने जैसी आवश्यक सावधानी बरतें।


’सुकन्या खाते खुलवाकर बेटियों को समृद्ध करने का आव्हान’


सुकन्या समृद्धि खाता खुलवाएं और घर में खुशहाली लाएं की अवधारणा के साथ भारत सरकार द्वारा बेटी बचाओ एवं बेटी पढ़ाओ के तहत बालिकाओं की उच्च शिक्षा तथा विवाह हेतु व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए यह योजना शुरू की गई है। योजना के अन्तर्गत जन्म से लेकर 10 वर्ष की आयु तक की बेटियों का खाता खुलवाया जा सकता है, जमाकर्ता बेटी के नाम से एक ही खाता खोल सकता है। यदि माता-पिता या संरक्षक दो बेटियों के अलग-अलग खाता खोल सकते हैं, यदि जुड़वा बेटियां है तो जन्म प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने पर तीसरा खाता भी खोला जा सकता है, यह खाता एक वित्तीय वर्ष में 250 रूपये से शुरू किया जा सकता है। बच्ची की उम्र 18 वर्ष पूर्ण होने पर सुकन्या समृद्धि खाता में जमा राशि का 50 प्रतिशत राशि निकाला जा सकता है।  बेटी की उम्र 21 वर्ष पूर्ण होने पर खाता परिपक्व होगा, बालिका का विवाह 18 वर्ष के बाद या 21 वर्ष के पहले होता है तो खाता बंद कर दिया जाएगा और ब्याज सहित समस्त रकम दे दी जाएगी। इसी प्रकार इस योजना से आयकर में छूट का लाभ भी मिलता है और देश के किसी भी हिस्से में स्थानांतरित किया जा सकता है। खाता खोलने के लिए जरूरी दस्तावेज, जन्म प्रमाण पत्र, माता-पिता का फोटो पहचान पत्र, एड्रेस प्रूफ और माता-पिता की फोटो आवश्यक है। खाते मे न्यूनतम 250 रूपये अधिकतम 01 लाख 50 हजार रूपये वार्षिक जमा किया जा सकता है। इस खाते की अवधि कुल 21 वर्ष है।


पुरस्कारों के लिए आवेदन ऑनलाईन आमंत्रित


राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस समारोह में दिए जाने वाले पुरस्कारों के लिए आवेदन ऑनलाईन आमंत्रित किए गए हैं। पंचायत राज संचालनालय द्वारा पुरस्कार हेतु आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। विभाग ने बताया कि प्रतिवर्ष आयोजित होने वाले राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस समारोह में 24 अप्रैल को भारत सरकार पंचायती राज मंत्रालय नई दिल्ली द्वारा उत्कृष्ट कार्य करने वाली पंचायतों को पुरस्कृत किया जाता है। 24 अप्रैल,2022 के पुरस्कार हेतु ऑनलाईन नामांकन, ऑनलाईन पोर्टल लिंक http://panchayataward.gov.in  के माध्यम से अग्रेषित किए जा सकते है। नामांकन निर्धारित ऑनलाईन प्रपत्र में मूल्यांन वर्ष 2020-21 के आधार पर जिन श्रेणियों हेतु आवेदन आमंत्रित किए गए हैं उनमें दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार - सामान्य और विषयात्मक श्रेणी के लिए तीनों स्तर की पंचायतों को प्रदाय किया जाता है।     नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्राम सभा पुरस्कार - ग्राम पंचायतों को ग्राम सभा के उत्कृष्ट कार्यों के निष्पादन हेतु। ग्राम पंचायत विकास योजना पुरस्कार ग्राम पंचायतों तथा बाल हितेषी ग्राम पंचायत पुरस्कार ही ग्राम पंचायत को प्रदाय किए जाते हैं। एक जिले से दो जनपद पंचायतों एवं दो ग्राम पंचायतों से अधिक नामांकन अग्रेषित ना किए जाए के संबंध में दिशा निर्देश जारी किए गए है। जिला पंचायत को प्रमाण पत्र के साथ पचास लाख रूपए, जनपद पंचायत को 25 लाख रूपए तथा ग्राम पंचायत को उनकी संख्या के अनुसार प्रमाण पत्र के साथ पांच से 15 लाख रूपए का पुरस्कार प्रदाय किया जाता है।


मधुमेह जागरूकता के माध्यम से नियंत्रित किया जा सकता है


मधुमेह एक ऐसी बीमार है जिसके लक्षण सामान्य होते हैं पर यह धीरे-धीरे शरीर को कमजोर कर देता है। यह बीमारी सीडेंटरी लाइफ स्टाइल, अनहेल्दी फूड खाने एवं आनुवांशिक भी होती है। धीरे-धीरे मधुमेह के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है इसे जन जागरूकता के माध्यम से नियंत्रित किया जा सकता है। मधुमेह की सही समय पर पहचान उसके उपचार एवं जन जागरूकता के लिए स्वास्थ्य संस्थाओं में मधुमेह के संभावित रोगियों एवं उपचाररत रोगियों के लिए परामर्श सत्रों एवं जन जागरूकता गतिविधियों का आयोजन किया जाएगा।  स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि मधुमेह के उपचार के लिए असंचारी रोग नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत मरीजों को नि:शुल्क उपचार की सुविधा प्रदान की जाती है। बार-बार पेशाब आना, वजन का घटना या भूख कम लगना, बहुत ज्यादा प्यास लगना, कमजोरी अथवा थकान होना इत्यादि मधुमेह के मुख्य लक्षण है। मधुमेह की रोकथाम के लिए शरीर के वजन को सामान्य बनाए रखना, पौष्टिक आहार का सेवन, नियमित व्यायाम,  चलना अथवा दौड़ना जैसी गतिविधियां करना,  नशीले पदार्थों तंबाकू एवं शराब का सेवन नहीं करना महत्वपूर्ण है। मधुमेह के जांच एवं उपचार की नि:शुल्क सुविधा सभी हेल्थ एंड वैलनेस केंद्रों पर भी उपलब्ध कराई गई है। जिससे की मरीजों को नियमित रूप से दवाओं की प्राप्ति एवं फॉलो किया जा सके एवं उन्हें दूर के चिकित्सालय तक इलाज के लिए  नहीं जाना पड़े। मधुमेह के साथ सामान्य जीवन बचाया जा सकता है। मधुमेह की नियमित रूप से जांच कराये जाना बेहद आवश्यक है जिससे कि मधुमेह की पड़ताल उसकी प्रारंभिक अवस्था में ही हो सके।


भू-अधिकार पुस्तिका अब ऑनलाइन प्राप्त होगी


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा भू-अधिकार पुस्तिका प्राप्त करने का सुगम और आसान तरीका बनाने के निर्देशों के अनुपालन में मध्यप्रदेश शासन के राजस्व विभाग ने भू-अधिकार पुस्तिका उपलब्ध कराने के संबंध में संशोधित नियम जारी किए हैं। अब भू-अधिकार पुस्तिका आवेदक को ऑनलाइन प्राप्त होगी। भू-स्वामी अपनी भू-अधिकार पुस्तिका प्राप्त करने के लिए आईटी सेंटर, एम.पी. ऑनलाइन, लोक सेवा केन्द्र, कियोस्क सेंटर और शासन द्वारा प्राधिकृत सेवा प्रदाता के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। ऑनलाइन मिलने वाली भू-अधिकार पुस्तिका सामान्य: दो पृष्ठों की होगी। इसके लिए शासन द्वारा 45 रुपये शुल्क निर्धारित किया गया है। प्रकरण विशेष में पुस्तिका यदि अधिक पृष्ठों की है, तो प्रत्येक पृष्ठ के लिए 15 रुपये अतिरिक्त देय होंगे। प्रदेश में भू-अधिकार पुस्तिका अब ऑनलाइन प्रदाय की जायेगी। पूर्व में प्राप्त की गई भू-अधिकार पुस्तिका यथावत उपयोग में ली जा सकेगी। राजस्व विभाग द्वारा भू-अधिकार पुस्तिका प्रदाय करने के लिए समय-सीमा लोक सेवा प्रबंधन विभाग द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार निर्धारित की गई है। भूलेख पोर्टल से भू-अधिकार पुस्तिका की डिजिटल हस्ताक्षरित प्रति डाउनलोड कर आवेदक को निर्धारित समय-सीमा में प्रदाय की जायेगी। ऑनलाइन भू-अधिकार पुस्तिका प्राप्त करने के लिए कृषक/आवेदक को अपना आधार कार्ड, फोटो, मोबाइल नम्बर, समग्र आईडी, पटवारी हल्का और सेक्टर क्रमांक आदि अभिलेख उपलब्ध कराना होंगे। इन अभिलेखों के आधार पर ऑनलाइन सेवा प्रदाता संस्था आवेदक का आवेदन प्रस्तुत कर देगी। आवेदक द्वारा भू-अधिकार पुस्तिका का आवेदन किए जाने के लिए यदि आधार नम्बर उपलब्ध नहीं है, तो आवेदक का फोटो लेकर क्षेत्र के पटवारी से सत्यापित करवाया जायेगा। पटवारी का दायित्व है कि वह आवेदक का फोटो तीन कार्य दिवस में सत्यापित अथवा अमान्य करें। पटवारी द्वारा ऐसा नहीं किए जाने की दशा में फोटो को सही मानकर भू-अधिकार पुस्तिका जारी की जायेगी। भू-अधिकार पुस्तिका का आवेदन अमान्य किए जाने अथवा समय-सीमा में निराकरण नहीं होने पर आवेदक को अपील करने का अधिकार होगा। आवेदक प्रथम अपील 30 दिवस और द्वितीय अपील 60 दिवस में प्रस्तुत कर सकेगा। दोनों ही अपील निराकरण करने की समय-सीमा 15 दिवस निर्धारित की गई ।


प्रदेश में अधिकाधिक रोजगार सृजित करने के प्रयास हों: मुख्यमंत्री श्री चौहान


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में अधिकतम रोजगार के अवसर सृजित करने के लिए हरसंभव प्रयास करें। उद्योगों में निवेश के अवसर बढ़ाने और उनकी स्थापना के लिए तेजी से कार्य हो। मुख्यमंत्री श्री चौहान मंत्रालय में औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन तथा सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम विभाग के अधिकारियों के साथ प्रदेश में निवेश के वृहद परिप्रेक्ष्य की समीक्षा कर रहे थे।

                  
प्रदेश में निवेश की अपार संभावनाएँ

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा है कि प्रदेश में निवेश की अपार संभावनाएँ हैं। फरवरी 2022 में भोपाल और इंदौर में प्रस्तावित इन्वेस्टर्स समिट में औद्योगिक निवेश की संभावनाओं का प्रस्तुतिकरण बेहतर ढंग से हो।

                        
फर्नीचर एवं टॉय क्लस्टर

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी फर्नीचर एवं टॉय क्लस्टर की स्थापना पर जोर दे रहे हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इस दिशा में तेजी से प्रयास करने के निर्देश दिए। उन्होंने ने कहा कि राज्य सरकार के क्लस्टर विकास कार्यक्रम के अंतर्गत विभिन्न क्लस्टर की स्थापना में कोई कमी नहीं रहने दी जाए।
                  

6 लाख रोजगार के अवसर सृजित होंगे

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम विभाग द्वारा मार्च 2023 तक लगभग 6 लाख लोगों को रोजगार के अवसर सृजित कर रोजगार उपलब्ध कराने की कार्य-योजना सराहनीय है। मध्यप्रदेश के आत्म-निर्भर रोड मैप की दिशा में यह बहुत उपयोगी कार्य-योजना है।

                  
गारमेंट सेक्टर में प्रदेश को हब बनायें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में गारमेंट सेक्टर को हब के रूप में विकसित किया जा सकता है। इसमें निवेश और रोजगार की अनेक संभावनाएँ हैं। इससे हजारों युवाओं के लिए रोजगार के अवसर भी सृजित होंगे।  मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि 3 से 9 दिसम्बर 2021 तक दुबई में वर्ल्ड एक्सपो आयोजित होने जा रहा है। एक्सपो में प्रदेश का प्रतिनिधित्व अच्छे ढंग से करने के लिए बेहतर तैयारी करें। दुबई से खाली हाथ न लौटे। इसी तरह दावोस में 17 से 25 जनवरी 2022 तक आयोजित होने वाले वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम की तैयारी पहले से ही पूरी कर ली जाए। 


योजनाओं का लाभ पात्र हितग्राहियों को दिलाना सुशासन का मूल ध्येय


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सुशासन का मुख्य ध्येय भारत सरकार एवं राज्य शासन के विभिन्न विभागों द्वारा संचालित योजनाओं और कार्यक्रमों का पूरा लाभ उसके वास्तविक रूप से पात्र हितग्राही तक समय-सीमा में पहुँचाना है। राज्य सरकार जन-कल्याण और सुराज के लिए प्रतिबद्ध है।  इसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए 15 नवम्बर 2021 से प्रारंभ "आपकी सरकार-आपके साथ" विशेष अभियान 15 जनवरी, 2022 तक चलेगा। अभियान के जरिये शासन की समस्त हितग्राही मूलक योजनाओं का लाभ पात्र हितग्राहियों को प्रदान करना सुनिश्चित किया जाएगा। उन्होंने ने कहा कि अभियान में यह सुनिश्चित किया जाएगा कि एक भी पात्र हितग्राही शासकीय योजना के लाभ से वंचित न रह जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान खुद शासन स्तर भी इसकी समीक्षा नियमित रूप से करेंगे। "आपकी सरकार-आपके साथ" अभियान में हर जिले में ग्रामीण क्षेत्रों में ग्राम पंचायतवार और नगरीय क्षेत्रों में वार्डवार शिविरों का आयोजन कर सभी पात्र हितग्राहियों के आवेदन प्राप्त किये जायेगे। शिविर में ही आवेदनों का तत्काल निराकरण कर  योजनाओं का लाभ देना सुनिश्चित किया जाएगा। जिले में अभियान का नेतृत्व जिला कलेक्टर द्वारा किया जाएगा। कलेक्टर के निर्देशन में मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिला पंचायत द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों के लिए ग्राम पंचायतवार और मुख्य नगर पालिका अधिकारी, मुख्य कार्यपालन अधिकारी, नगर परिषद द्वारा ग्राम पंचायत या वार्ड वार शिविरों के आयोजन का रोस्टर तैयार करेंगे। निर्धारित रोस्टर की एक प्रति सामान्य प्रशासन विभाग को प्रेषित की जाएगी। इस रोस्टर को सी.एम. हेल्पलाइन पर अभियान के लिए विशेष रूप से तैयार किए गए MIS मोड्यूल में भी दर्ज किया जाएगा। जिले में प्रत्येक शिविर के लिए एक नोडल अधिकारी की नियुक्ति की जायेगी। शिविर की पूर्व तैयारी करते हुए सभी ग्राम पंचायतों और वार्डों में पात्र हितग्राहियों का चिन्हांकन पूर्व से ही किया जाकर आवेदन भी प्राप्त कर उनका परीक्षण करा लिया जायेगा। पात्र हितग्राहियों के परीक्षण और चिन्हांकन में ऐसे हितग्राही, जो पूर्व में योजना के लाभ से किसी भी कारणवश वंचित रह गए हैं उन्हें, नवीन पात्र हितग्राही, सीएम हेल्पलाईन एवं जनसुनवाई में हितग्राही मूलक योजनाओं का लाभ दिलाने संबंधी अथवा हितग्राही मूलक योजनाओं का लाभ न मिलने संबंधी आवेदन करने वाले हितग्राहियों को शामिल किया जाएगा। प्रत्येक शिविर में प्राप्त सभी आवेदनों का अंतिम निराकरण अनिवार्य रूप से किया जाकर पात्र हितग्राहियों को मौके पर ही हितलाभ प्रदाय किया जाएगा।  अभियान में सभी पात्र हितग्राहियों को हितलाभ स्थानीय जनप्रतिनिधियों के माध्यम से शिविर स्थल पर ही - वितरित किया जाएगा। रोस्टर के अनुसार शिविरों की तिथि, समय और स्थान का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाएगा। ऐसे आवेदन, जिनका निराकरण किन्ही अपरिहार्य कारणों से शिविर के दौरान नहीं हो पाता है, का 10 से 15 दिवस के भीतर उसी स्थान पर पुनः शिविर लगाकर निराकरण करते हुए पात्र हितग्राहियों को लाभान्वित किया जाएगा। शिविर स्थल पर नागरिकों की बैठक व्यवस्था, पेयजल आदि सभी आवश्यक व्यवस्थाएँ सुनिश्चित कर कोविड-19 संक्रमण नियंत्रण के मार्गदर्शी निर्देशों का भी कड़ाई से पालन किया जायेगा। 

कोई टिप्पणी नहीं: