सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 16 जनवरी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 16 जनवरी 2022

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 16 जनवरी

बीएसआई मैदान आईपीएल की तर्ज पर जारी क्रिसेंट ट्राफी

  • आदर्श की मात्र 61 गेंद पर 135 रन की आतिशी शतकीय पारी की बदौलत सीहोर जूनियर ने महाकाल इलेवन को 136 रन से हराया

sehore news
सीहोर। शहर के बीएसआई मैदान आईपीएल की तर्ज पर जारी क्रिसेंट ट्राफी में रविवार को सुबह खेले गए सीहोर जूनियर और महाकाल इलेवन के मध्य हुए मुकाबले में विस्फोटक बल्लेबाज आदर्श राय की 61 गेंद पर 135 रन की आतिशी शतकीय पारी की बदौलत सीहोर जूनियर ने महाकाल इलेवन को 136 रन के विशाल अंतराल से हराया। इसके अलावा एक अन्य मैच में हरफनमौला खिलाड़ी नीरज मेहरा के दोहरे प्रदर्शन की बदौलत जेजे इलेवन को यंग स्टार ने छह विकेट से हराया। रविवार को खेले पहले मुकाबले में सीहोर जूनियर ने निर्धारित 20 ओवर में पांच विकेट के नुकसान पर 235 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया। इसमें आदर्श राय ने 135 रन की कप्तानी पारी खेली, इसके अलावा राज राय, ने 18 गेंद पर 26 रन, गौरव पिचोनिया ने 13 गेंद पर 24 रन और प्रकेंश राय ने 13 रन बनाए। वहीं महाकाल इलेवन की ओर से गेंदबाजी करते हुए धर्मेन्द्र ने चार ओवर में 35 रन देकर तीन विकेट और आशीष स्वर्णकार ने दो ओवर में 30 रन देकर एक विकेट हासिल किया था। जवाब में लक्ष्य का पीछा करने उतरी महाकाल इलेवन की शुरूआत खराब रही। सलामी बल्लेबाज हेमंत को शुभम ने मात्र एक रन के निजी स्कोर पर पैवेलियन भेज दिया। इसके अलावा धर्मेन्द्र ने नाट आउट 24 रन की पारी खेलते हुए अपनी टीम को 99 रन के स्कोर तक पहुंचा। इधर सीहोर जूनियर की ओर से गेंदबाजी करते हुए शुभम, प्रकेंश राय और मयंक जैन ने दो-दो विकेट हासिल किए। इसके अलावा गौरव ने एक विकेट हासिल किया।

यंग स्टार ने जेजे इलेवन को छह विकेट से हराया

डीसीए के मीडिया प्रभारी प्रियांशु दीक्षित ने बताया कि दूसरे मैच में यंग स्टार ने जेजे इलेवन को छह विकेट से हराया। इस मैच में जेजे इलेवन ने निर्धारित 18 ओवर में सात विकेट पर 132 रन बनाए थे। जवाब में यंग स्टार टीम ने विजय लक्ष्य चार विकेट खोकर हासिल कर लिया। इसमें यंग स्टाार की ओर से नदीम ने 35 रन और नीरज मेहरा ने 28 रन की पारी खेली थी।


आदर्श राय और नीरज मेहरा को दिया पुरस्कार

मैन आफ द मैच का पुरस्कार एसोसिएशन के सचिव अतुल तिवारी, वीरेंद्र वर्मा, सुरेन्द्र रल्हन,  महेंद्र शर्मा, नवनीत तोमर, मदन कुशवाहा, अक्षय दुबाने, आशीष शर्मा, नागेंद्र व्यास, कमलेश पारोचे, सचिन कीर, हेमंत केसरिया, संजय पटेल, महेन्द्र शर्मा बंटी विलय गौरव खरे, अमित कटारिया, रुपेश पारोचे, राकेश भेरवे, निखिल ठाकुर, राकेश धनगर, अतुल कुशवाहा, संतोष पांडे, सुरेश नाविक, सुनील जलोदिया आदि ने दिया।


बचपन में हीं हो गई थी अनाथ,कथा में मिले सैकड़ों मां बाप, वरमाला के बाद श्रद्धालुओं ने किया बिटिया का कन्यादान

  • हनुमान फाटक पर आयोजित श्रीमद भागवत कथा में भागवत , भूषण पंडित रविशंकर तिवारी ने विवाह कराया सम्पन्न, रासलीला मेें भेष बदल कर पहुंचे बाबा महादेव

sehore news
सीहोर। हनुमान फाटक परिसर में आयोजित श्रीमद भागवत कथा में रविवार को निर्धन अनाथ कन्या को सैकड़ों मां बाप मिल गए। हुनमान जी महाराज और सैकड़ों श्रद्धालु इस विवाह के साक्षी बने। श्रीमद भागवत कथा में भागवत भूषण पंडित रविशंकर तिवारी ने रूकमणी श्रीकृष्ण हरण प्रसंग के साथ सीहेार की निशा और इंदौर के विकास का विवाह सम्पन्न कराया। श्रद्धालुओं ने दुल्हे को भगवान श्री कृष्ण और दुल्हन निशा को माता रूकमणी मानकर पेर पुजाई रस्म निभाई और कन्यादान कर बेटी को विदा किया। विदाई के समय श्रद्धालुओं की आंखों से आंसू झलक पड़े। रविवार को श्रीमदभावत कथा पंडाल में पंडित रविशंकर तिवारी के द्वारा भगवान श्रीकृष्ण की बाल लीलाओं और रासलीला का आकर्षक सुंदर मनमोहक प्रसंग सुनाया। भगवान के विवाह की कथा प्रस्तृत की। कथा पंडाल में रास खेला गया रास में भगवान शिव भेष बदल कर पहुंचे और राधा श्रीकृष्ण संग रास खेला अनेक मधुर भजनों पर श्रद्धालु महिलाएं और युवक थिरकते रहे। सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालु नागरिक कथा का श्रवण करने पंडाल में पहुंचे। कथा पंडाल में हनुमान चालीसा पाठ भी किया गया। हनुमान चालीसा पाठ में महिला श्रद्धालुओं ने भी हिस्सा लिया। कस्बा निवासी बचपन में अपने माता पिता को खौ चुकी बहन के यह रह रही निशा का विवाह इंदौर निवासी वर विकास से कथा पंडाल में व्यास गादी के समक्ष हनुमानजी महाराज और समस्त देवी देवताओं और भगवान के सैकड़ों भक्तों को साक्षी मानकर पंडित रविशंकर तिवारी और पंडित हरीश तिवारी के द्वारा सम्पन्न कराया गया। अनेक दानदाताओं के द्वारा निशा के माता पिता बनकर कन्यादान किया गया। हनुमान फाटक परिसर में प्रतिदिन दोपहर एक से शाम चार बजे तक श्रीमद भागवत कथा का आयोजन राधे महिला मंडल के द्वारा किया कराया जा रहा है। कथा के मुख्य यजमान हुनमान जी महाराज है।  


अखिल भारतीय धाकड़ युवा संघ ने मास्क, सैनिटाईजर का नागरिकोंं को वितरण किया


सीहोर। कोरोना महामारी से नागरिकोंं को बचाने और जागरूक करने के लिए अखिल भारतीय धाकड़ युवा संघ जिले में सक्रिय बना हुआ है। संघ के पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं के द्वारा नागरिकों को सुरक्षा के लिए मास्क सैनिटाईजर का वितरण किया जा रहा है। रविवार को संघ के प्रदेशाउपाध्यक्ष राजेन्द्र नागर एवं जिला संरक्षक राजेश नागर के मार्गदर्शन में जिलाध्यक्ष गब्बर पटेल के नेतृत्व कार्यकर्ताओं के द्वारा कोतवाली चौराहा पर दुकानदारों राहगीरों ग्राहकों स्थानीय राहवासियों को मास्क सैनीटाईजर का नि: शु़ल्क वितरण किया। संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष राजेंद्र नागर ने कहा की प्रदेश में तेजी से कोरोना पीडि़त नागरिक मिल रहे है एैसे में सावधानी हीं इस बीमारी से बचने का एक मात्र उपाए है। संघ के कार्यकर्ता पूरे प्रदेश में स्थानीय प्रशासन के साथ कोरोना विरोधी अभियान में सहभागीता निभा रहे है। कार्यकर्ताओं के द्वारा जागरूकता के लिए समाज को भी सचेत किया जा रहा है सोशल मीडिया के माध्यम से भी जनजागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। अभियान के दौरान संघ के नागरघाकड़ युवा संगठन जिलाध्यक्ष विनोद नागर,भोपाल जिलाध्यक्ष अमित नागर जिला उपाध्यक्ष नंदकिशोर नागर, सीहेार तहसील अध्यक्ष ब्रिजेश नागर, सीहेार ब्लाक अध्यक्ष दिनेश नागर, मीडिया प्रभारी शुभम नागर, रघुनंदन नागर, भूरा नागर, हद्रेश नागर, शुभम नागर, छोटु नागर, डॉ कमलेश नागर, जितेंद्र नागर आदि कार्यकर्ता शामिल रहे। 


आगामी पांच फरवरी को किया जाएगा ब्राह्मण दीक्षा समारोह का आयोजन


sehore news
सीहोर। शहर के कस्बा स्थित व्यास परिवार के तत्वाधान में विद्वान पंडितों के द्वारा आस्था और उत्साह के साथ यज्ञोपवित संस्कार महोत्सव का आयोजन किया गया। आगामी पांच फरवरी को एक दर्जन से अधिक युवाओं वैदिक दीक्षा का आयोजन भी किए जाने का निर्णय लिया गया। कार्यक्र का आयोजन शिव प्रदोष सेवा समिति के तत्वाधान में किया गया था। पंडित कमला प्रसाद शर्मा, पूनम चंद व्यास के सानिध्य में पंडित कुणाल व्यास का यज्ञोपवित संस्कार किया गया। इस भव्य महोत्सव में करीब सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालुओं की उपस्थिति में आयोजन के दौरान पंडित श्री शर्मा ने कहा कि यज्ञोपवीत भारतीय संस्कृति का प्रतीक है। मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम, श्रीकृष्ण, शिव, ब्रह्मा, गार्गी, सीता, द्रौपदी, सभी नर-नारी यज्ञोपवीत धारण करते थे। यज्ञोपवीत के तीन धागे ऋषि ऋण, पितृ ऋण तथा देव ऋण की याद दिलाते हैं। युवाओं के अच्छे चरित्र निर्माण से ही अच्छे राष्ट्र का निर्माण हो सकता है। बालक और बालिकाओं दोनों को संस्कारित करना अत्यंत महत्वपूर्ण है। स्त्री बच्चों की प्रथम गुरु होती हैं। स्त्री संस्कारवान होगी तो देश के बच्चे भी संस्कारवान बनेंगे। उन्होंने कहा कि जीवन में सोलह संस्कार होते हैं नामकरण अन्नप्राशन कर्णवेध और विवाह उससे पहले एक संस्कार होता है यज्ञोपवित संस्कार यज्ञोपवित पहले इतिहास से ही किया जाता है रामचंद्र जी का भी यज्ञोपवित भी गुरुकुल भेजने से पहले हुआ था और कृष्ण का भी यज्ञोपवित संस्कार हुआ था यज्ञोपवित संस्कार का महत्व प्राचीनकाल में चला आया था वैदिक आर्यानो का भी यज्ञोपवित संस्कार हुआ था और तभी आर्यन गुरुकुल आ गए थे उसके बाद उन्होंने शिक्षा ग्रहण की यज्ञोपवित से द्विजत्व जाग्रत होता है और यज्ञोपवित से द्विज सिद्ध होता है और यज्ञोपवित संस्कार की विधि भी बहुत भारी होती है पहले वेदी बनती है उसके बाद गृह्जाग होता है और गृह्जाग करने में कुश्कंदिका का भी विधान जरुरी होता है और उसके बाद यज्ञ होने के बाद चूडाकर्म संस्कार होता है उसके बाद यज्ञोपवित होता है उसके बाद दीक्षा देने के बाद यज्ञोपवित संस्कार पूर्ण माना जाता है।

आगामी पांच फरवरी को किया जाएगा दीक्षा समारोह का आयोजन
इस मौके पर जिला संस्कार मंच के ब्लाक अध्यक्ष हीरु बेलानी के नेतृत्व में निर्णय लिया गया कि आगामी पांच फरवरी को दीक्षा समारोह का आयोजन किया जाएगा। जिसमें  एक दर्जन से अधिक ब्राह्मण युवाओं को दीक्षा के साथ संस्कार दिया जाएगा। वहीं शनिवार को आयोजित कार्यक्रम में भागवत भूषण पंडित प्रदीप मिश्रा, नगर पुरोहित पंडित पृथ्वी वल्लभ दुबे, हरिप्रसाद तिवारी, मनोज दीक्षित मामा, पंडित हेमंत वल्लभ दुबे, रामू सोनी, पंडित मनोहर शर्मा, पवन व्यास, महादेव शर्मा, मनोज शर्मा, सौरभ शर्मा, पंडित गणेश शर्मा, अरुण शर्मा, आशीष तिवारी, पियूष शर्मा, राहुल शर्मा, सोनू शर्मा, जिमांशु शर्मा, गगन व्यास, अनिल सोनी, सोनू कटारे, पंकज शर्मा मयंक शर्मा, रामगोपाल शर्मा आदि शामिल थे। 


कलेक्‍टर ने  जिले की शासकीय उचित मूल्‍य  राशन दुकानों के निरीक्षण के दिए निर्देश

  • निर्धारित मात्रा में सभी हितग्राहियों को राशन वितरित कराने कलेक्‍टर ने दिए निर्देश

जिले में सभी पात्र हितग्राहियों को शासकीय उचित मूल्‍य दुकान से राशन वितरण सुनिश्चित कराने तथा  राशन की कालाबाजारी करने वालो के विरूद्ध सख्‍त कार्यवाही करने   के कलेक्‍टर श्री चन्‍द्र मोहन ठाकुर ने सभी राजस्‍व एवं खाद्य अधिकारियो को निर्देश दिए है। कलेक्‍टर श्री ठाकुर के निर्देश पर सभी एसडीएम तहसीलदार तथा  खाद्य अधिकारियों द्वारा  अपने-अपने क्षेत्र की शासकीय उचित मूल्य राशन दुकानों का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान दुकानो का स्‍टॉक, आवंटन तथा वितरण का निरीक्षण किया गया । साथ ही राशन दुकान में आए हितग्राहियों एवं गांव के अन्‍य हितग्राहियों से नियमित तथा निर्धारित मात्रा में राशन वितरण की जानकारी ली गई। निरीक्षणकर्ता अधिकारियो ने राशन दुकान संचालक-विक्रेता को सख्‍त निर्देश दिए कि निर्धारित समय सीमा में निर्धारित मात्रा में राशन वितरण किया जाना सुनिश्चित किया जाएं। उल्‍लेखनीय है कि सार्व‍जनिक वितरण प्रणाली के तहत जिले के पात्र हितग्राहियों को चार माह का राश‍न एकमुश्‍त वितरण किया जा रहा है। मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना के तहत दो माह का राशन एक रूपये प्रति‍ किलोग्राम की दर से एवं प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत दो माह का राशन नि:शुल्क पात्र हितग्राहियो को प्रदान किया जा रहा है।



बिना मास्क लगाए घूम रहे लोगो एवं दुकानदारों पर की गई चालानी कार्यवाही


कलेक्टर श्री चंद्र मोहन ठाकुर के निर्देश पर जिले में निरंतर मास्क नही लगाने वाले लोगो के विरूद्ध चालानी कार्यवाही की जा रही है। जिले में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए एसडीएम श्री बृजेश सक्सेना ने राजस्व एवं नगर पालिका अमले के साथ रविवार को नगर में चालानी कार्यवाही की। अमले ने बिना मास्क लगाए घूम रहे लोगो एवं बिना मास्‍क लगाए दुकानदारों पर कार्यवाही करते हुए 6600 रूपये का जुर्माना वसूल किया। एसडीएम के नेतृत्व में तहसीलदार डॉ. अमित सिंह, राजस्व तथा नगर पालिका अमले द्वारा चालानी कार्यवाही की गई। 


नर्मदा घाटी विकास विभाग ने आंवलीघाट में नदी उत्‍सव मनाया


आजादी के अमृत महोत्‍सव के तहत जिले के रेहटी तहसील के आंवलीघाट में नर्मदा घाटी विकास विभाग द्वारा नदी उत्‍सव मनाया गया। मकर सक्रांति के अवसर पर आंवलीघाट पर भारी जन समुदाय के साथ समस्‍त अधिकारियो ने नदियो के संरक्षण के लिए संकल्‍प लिया। नर्मदा घाटी विकास विभाग के सभी अधिकारियो ने घाट पर साफ-सफाई की एवं वृक्षारोपण किया। इसके साथ ही घाट पर सुंदरकांड पाठ का आयोजन किया गया। नर्मदा घाटी विकास के अधिकारियो एवं आम नागरिको द्वारा नर्मदा नदी को स्‍वच्‍छ रखने, वनो की कटाई न होने देने, नर्मदा किनारे लगे वृक्षों को सुरक्षित रखने, नदी में गंदे पानी को जाने से रोकने, खुले में शौच के स्‍थान पर शौचालय का प्रयोग करने, नदी में प्‍लास्टिक एवं अपशिष्‍ट पदार्थ न डालने का संकल्‍प लिया गया। नदी उत्‍सव कार्यक्रम में नर्मदा घाटी विकास विभाग के अधीक्षण यंत्री श्री डीके खटके, कार्यपालन यंत्री श्री आरएल प्रजापति, श्री आरएस तोमर, श्री डीएस यादव सहित अन्‍य अधिका‍री कर्मचारी शामिल हुए। 


जिले मे 15 जनवरी को 57 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव मिले


जिले में 15 जनवरी को 1237 व्यक्तियों के सैंपल लिए गए थे, जिनमें 57 व्यक्तियों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव केस की संख्या 294 हो गई है।


30 जनवरी को दिलाई जाएगी नशामुक्ति की ई - शपथ


राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि 30 जनवरी पूरे देश में मद्य निषेध दिवस के रूप में मनाई जाती है। इस वर्ष कोरोना संक्रमण के प्रसार को देखते हुए 30 जनवरी को नशामुक्ति की ई-शपथ ली जाएगी। नगरीय निकाय के अधिकारियों तथा ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारियों को महात्मा गांधी जी की पुण्यतिथि पर मद्य निषेध दिवस आयोजित करने के निर्देश दिए गए हैं। नशा सामाजिक बुराई होने के साथ-साथ पारिवारिक समस्याओं का भी प्रमुख कारण है। नशे के शिकार व्यक्ति सहजता से अपराध की दुनिया में पहुंच जाते हैं। इसलिए हर व्यक्ति को नशे से दूर रखने के लिए जागरूक करने के प्रयास करें।


कोविड-19 मरीज के लिए होम आइसोलेशन हेतु गाइडलाइन जारी, मध्यम लक्ष्ण वाले रोगियों को भी डेडीकेटेड हेल्थ सेंटर में भर्ती किया जाए


कोविड-19 रोगियों के लिए संशोधित डिस्चार्ज नीति कोविड-19 के तहत होम आइसोलेशन गाइडलाइन के अनुसार मध्यम लक्ष्ण वाले रोगियों को भी डेडीकेटेड हेल्थ सेंटर में भर्ती किया जाए। कोविड-19 के मंद लक्षण वाले रोगी फैसिलिटी अथवा होम आइसोलेशन में रहेंगे जिनकी नियमित रूप से निगरानी की जाएगी। रोगी को पॉजिटिव पाए जाने के सातवें दिन डिस्चार्य किया जाएगा तथा यह सुनिश्चित किया जाएगा की पिछले तीन दिवस में उसे लगातार बुखार नहीं आया है डिस्चार्ज से पूर्व जांच की आवश्यकता नहीं होगी।स्वास्थ्य आयुक्त सह सचिव डॉ. सुदाम खाडे द्वारा इस आशय के आदेश जारी किए गये है। कोविड-19 के ऐसे रोगी जिनके लक्षणों में सुधार हो रहा है तथा ऑक्सीजन सैथुरेशन 93% तीन दिवस तक लगातार पाया जाता है। तो रोगी के लक्षणों में सुधार परिलक्षित होता है। ऑक्सीजन सपोर्ट की आवश्यकता नहीं होती है। यदि कोई कोमोरडिडिटी है, परंतु उसके कारण कोई जटिलता नहीं है उस स्थिति में ऐसे रोगियों को चिकित्सा प्रदान करने वाले मेडिकल ऑफिसर द्वारा डिस्चार्ज किया जा सकता है। ऐसे रोगी जिनके लक्षणों में सुधार परिलक्षित नहीं हुआ तथा ऑक्सीजन की आवश्यकता निरंतर बनी रहती है। ऐसे रोगियों को उपचार प्रदान करने वाले चिकित्सक द्वारा क्लीनिकल लक्षणों में सुधार होने पर बिना ऑक्सीजन सपोर्ट के 3 दिन तक लगातार ऑक्सीजन सैचुरेशन मेंटेन रहने पर कोमोरविडिटी में जटिलता ना होने पर डिस्चार्ज किया जा सकता है। कोविट-19 के गंभीर रोगी जिनमें एचआईवी पेशेंट ट्रांसप्लांट थेरेपी एंड कैंसर रोगी जो कि इम्यूनोकॉम्प्रोमाइज्ड सम्मिलित है।ऐसे रोगों का डिस्चार्ज का क्राइटेरिया रोगी की क्लीनिकल सुधार एवं उपचार करने वाले चिकित्सक पर निर्भर करेगा। रोगी अपने स्वास्थ्य की निगरानी आगामी 7 दिवस तक करेंगे तथा मास्क पहनेंगे डिस्चार्ज बाद यदि रोगी को बुखार खासी या सांस लेने में तकलीफ जैसे लक्षण उत्पन्न होते है तथा यह लक्षण लगातार जारी रहते हैं। उस स्थिति में रोगी को चिकित्सक से संपर्क कर क्लीनिकल मार्गदर्शन लेना चाहिए तथा जिले के कोविड-19 कंट्रोल सेंटर की हेल्पलाइन पर संपर्क किया जाए।


विद्यार्थी को स्थानान्तरण प्रमाण पत्र(टीसी)के अभाव शाला प्रवेश वंचित नही किया जाए


विद्यार्थी को स्थानान्तरण प्रमाण पत्र (टीसी) के अभाव शाला प्रवेश वंचित नही किया जाए। यह निर्देश लोक शिक्षण भोपाल के संचालक श्री केके दिवेदी ने समस्त जिला शिक्षा अधिकारी एवं जिला परियोजना समन्वयक राज्य शिक्षा केन्द्र दिए गये है। निर्देश में कहा गया है कि शिक्षा का अधिकार अधिनियम-2009 के सेक्शन-5 के अनुक्रम में निरस्त किया गया है। निर्देश में स्पस्ट किया गया है कि कक्षा 1 से 8 वीं तक की कक्षाओं में प्रवेश के लिए आरटीई के प्रावधान प्रभावशील होगें। विद्यार्थी को टीसी के अभाव में विद्यालय में प्रवेश से वंचित नही किया जाए। अभिभावक द्वारा विद्यार्थी की पर्व अध्ययनरत शाला से शाला स्थानांतरण प्रमाण पत्र प्राप्त कर सत्र समाप्ति के पूर्व शाला को उपलब्ध कराना होगा। कक्षा 9 से 12 की कक्षाओं में प्रवेश के लिए मध्यप्रदेश शिक्षा संहिता 1973 के प्रावधान यथावत लागू रहेंगे।


समाधान ऑनलाईन कार्यक्रम अब 18 जनवरी को


मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान की अध्यक्षता में माह के पहले मंगलवार को आयोजित होने वाले समाधान ऑनलाईन कार्यक्रम के आयोजन तिथि में परिवर्तन किया गया है।  चार जनवरी को आयोजित होने वाला समाधान ऑनलाईन कार्यक्रम अब 18 जनवरी की सांय साढे़ चार बजे होगा।


बच्चों को पिलाई जाएगी विटामिन ए की खुराक, 9 माह से 5 साल तक के बच्चो में रोग प्रतिरोधी क्षमता बढ़ाती है


स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि विटामिन ए अनुपूरण अभियान के अंतर्गत स्वास्थ्य तथा महिला एवं बाल विकास के मैदानी कार्यकर्ताओं द्वारा 09 माह से 5 साल के बच्चों को विटामिन ए घोल की खुराक पिलाई जा रही है। दो दिवसीय अभियान के दौरान प्रत्येक गांव एवं शहरी क्षेत्रों में एएनएम, आंगनवाड़ी एवं आशा कार्यकर्ता के संयुक्त दल द्वारा नियमित टीकाकरण, ग्राम स्वास्थ्य, स्वच्छता एवं पोषण दिवस पर विटामिन ए की खुराक पिलाई जा रही है। स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि 05 वर्ष से कम उम्र के बच्चों में सूक्ष्म पोषक तत्वों की कमी से रोग प्रतिरोधक क्षमता में कमी आती हैं जिससे बच्चे बार - बार सक्रमण से ग्रसित होकर कुपोषित हो जाते हैं । प्रत्येक 06 माह के अंतराल में 09 माह से 05 वर्ष के बच्चों को विटामिन " ए " की खुराक देने से रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होती है एवं कुपोषण में कमी आती हैं । विटामिन ए की खुराक के सेवन से बाल मृत्यु दर में 20 प्रतिशत तक की कमी लाई जा सकती है । विटामिन ए का घोल कुपोषण में कमी एवं शारीरिक विकास में सहायक होता है। इसके सेवन से शरीर में रोगों से लड़ने की क्षमता विकसित होती है। दस्त संक्रमण से होने वाली मौतों में कमी एवं आंखों के रोगों से बचाव होता है । अभियान के तहत स्वास्थ्य व महिला एवं बाल विकास विभाग के मैदानी कार्यकर्ताओं द्वारा बच्चे के परिजनों से घर से साफ चम्मच मंगवाकर उसमें विटामित ए की दवा निर्धारित मात्रा में डाली जाएगी । यह दवा बच्चे की परिजनों द्वारा मैदानी कार्यकर्ताओं के सामने पिलवाई जाएगी । अभियान में 9 माह से एक साल के बच्चों को एक एम.एल. एवं 1 साल से 5 साल के बच्चों को 2 एम.एल. की खुराक पिलाई जाएगी ।


गांव की बेटी और प्रतिभा किरण योजना के आवेदन 20 जनवरी तक


शैक्षणिक सत्र 2021-22 में नवीन प्रवेशित छात्राओं के लिए "गाँव की बेटी" योजना एवं प्रतिभा किरण योजना में आवेदन करने के लिए छात्रवृत्ति पोर्टल 2.0 पर आवेदन प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गई है । छात्रवृत्ति के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 20 जनवरी 2022 निर्धारित की गई है । छात्रवृत्ति के लिए ऑफलाइन आवेदन मान्य नहीं होंगे।उच्च शिक्षा विभाग द्वारा शुरू की गई "गाँव की बेटी" योजना में ग्रामीण क्षेत्र की बालिकाओं को उच्च शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से 500 रूपए प्रतिमाह की दर से 10 माह तक प्रतिवर्ष छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है । योजना के तहत मध्यप्रदेश राज्य के शहरी क्षेत्र की निवासी मेधावी छात्राएँ, जो गरीबी रेखा से नीचे जीवन-यापन कर रही हैं और अच्छे अंकों से 12वीं कक्षा उत्तीर्ण हुई हैं, ऐसी छात्राओं को प्रतिवर्ष 5 हजार रूपये छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है


अंकुर योजना के तहत पंजीयन कर प्राप्त करें प्राणवायु प्रमाण पत्र


राज्य में हरित क्षेत्र में वृद्धि कर प्रदेश के पर्यावरण को स्वच्छ रखने व प्रकृति को प्राणवायु से समृद्ध करने के उद्देश्य से जन सहभागिता के माध्यम से व्यापक स्तर पर अंकुर अभियान के तहत जन-जन को हरियाली से जोड़ने के मकसद से जिले में दस हजार पौधे रोपने का लक्ष्य लेकर अंकुर अभियान की सशक्त भागीदारी बढ़ाने का निर्णय लिया गया है। मध्यप्रदेश शासन के अंकुर कार्यक्रम के तहत जन सहयोग से अधिकतम पौधरोपण के लक्ष्य को लेकर जिले के विभिन्न ग्रामों जिसमें जन अभियान परिषद के वालेंटियर्स पौधरोपण कर रहे हैं। जिले में अंकुर अभियान के अंतर्गत विकासखंड समन्वयकों के नेतृत्व में परिषद के वालेंटियर्स, के द्वारा पौध रोपण के साथ ही लोगों को वृक्षों के महत्व से अवगत कराते हुए बताया जा रहा है। उन्होंने बताया कि वृक्षों से ही हमे प्राण वायु अर्थात ऑक्सीजन मिलती है और ऑक्सीजन की हमारे जीवन मे क्या महत्ता है, यह हम कोरोना की दूसरी लहर में भली भांति जान सके है। इस कार्यक्रम के तहत वायुदूत एप्प में प्रथम पौधरोपण की फोटो अपलोड करने के पश्चात वृक्षारोपण के 30 दिवस बाद पुनः नवरोपित पौधों की नवीन फोटो एप पर अपलोड करना होगी। तदपश्चात प्रतिभागी सहभागिता प्रमाण पत्र प्राप्त कर सकेंगे। जिलेवार चयनित विजेताओं को मुख्यमंत्री जी द्वारा प्राणवायु अवार्ड से सम्मानित कर प्रमाण पत्र प्रदान किये जायेंगे। जन सामान्य द्वारा किये गये वृक्षारोपण का सत्यापन जन अभियान परिषद एवं राष्ट्रीय हरित कोर योजना के वैरिफायर द्वारा पौधरोपण स्थल पर जाकर किया जावेगा।


राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम में गरीब, बेसहारा एवं दिव्‍यांगो को भी मिलेगा लाभ


राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम में गरीब बेसहारा एवं दिव्‍यांगो को भी लाभांवित करने के शासन द्वारा निर्देश दिये हैं। शासन ने शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के सभी संबंधित अधिकारियों को सर्वे कर निर्धारित प्रारूप में 31 जनवरी 2022 तक अंतिम रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा है।पात्रता पर्ची बनाने के लिये हितग्राही का आधार नंबर तथा 28 श्रेणियों के अंतर्गत पात्रता श्रेणी का प्रमाणीकरण आवश्यक है परंतु विशेष प्रकरणों में कोई दस्तावेज उपलब्ध नहीं होने पर संबंधित निकाय या राजस्व के एसडीओ से प्रमाणीकरण करवाकर उनको अन्य वंचित श्रेणी में आधार नंबर की अनिवार्यता खत्म करते हुए राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा का लाभ दिया जाए। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत 27 प्राथमिकता श्रेणी एवं एक श्रेणी अन्त्योदय परिवार की मिलाकर कुल 28 श्रेणियों में पात्र हितग्राहियों को लाभांवित करने का प्रावधान है। इसके अलावा अब गरीब बेसहारा एवं विकलांग व्यक्ति जो धार्मिक स्थलों के बाहर भीख मांगते हैं ऐसे लोगों का अभियान चलाकर सर्वे कर राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत खाद्यान्न पात्रता पर्ची जारी कर निकटतम उचित मूल्य दुकान से खाद्यान्न मिलना सुनिश्चित किया जाएगा।


गाय, भैसों में अब बछिया-पडिया ही पैदा होगी


पशुपालन विभाग ने बताया है कि गाय भैंसों में कृत्रिम गर्भाधान सेक्स सोर्टेड सीमन द्वारा गर्भित किया जाएगा। जिसके फलस्वरूप 90 प्रतिशत बछिया-पडिया ही पैदा होगी। सेक्स सोर्टेड सीमन का शुल्क सामान्य वर्ग के लिये 450 रूपये तथा अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के लिए 400 रूपये रहेगा। विभाग ने बताया कि गाय में जर्सी, गिर, साहीवाल एवं भैंस में मुर्रा नस्ल का सीमन सभी विकासखण्ड मुख्यालयों में पशु चिकित्सालयों में उपलब्ध है। पशु पालक जो पशु चिकित्सालय एवं पशु औषधालय से 03 कि.मी. की दूरी पर निवास करते है। वे कॉल करके घर पहुंच सेवा (150 रूपये शुल्क) का लाभ ले सकते है। पशुपालकों से आग्रह किया है कि वे सीमन द्वारा अपने गौवंशीय एवं भैंस वंशीय पशुओं के कृत्रिम गर्भाधान करवाकर योजना का लाभ लें।

कोई टिप्पणी नहीं: