बिहार : औद्योगिक जागरूकता अभियान का आयोजन - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 11 मार्च 2022

बिहार : औद्योगिक जागरूकता अभियान का आयोजन

industrial-awareness-bihar
पटना, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम विकास संस्थान, पटना द्वारा एक दिवसीय औद्योगिक जागरूकता अभियान का आयोजन पटना में आज  09 मार्च 2022  को किया गया। इसमें बड़ी संख्या में अध्यापकों एवं भावी उद्यमियों ने इसमें भाग लिया। कार्यक्रम का उदघाटन संयुक्त रूप से सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम विकास संस्थान, पटना, भारत सरकार के निदेशक  प्रदीप कुमार, आई. ई.डी. एस. एवं एमिटी यूनिवर्सिटी, पटना के उप कुलपति  डॉ विवेकानंद पाण्डेय द्वारा किया गया।  इस अवसर निदेशक प्रदीप कुमार, आई. ई.डी. एस. ने  भावी उद्यमियों का आवाहन करते हुए उन्हें आगे आने, अपना उद्यम स्थापित करने  और रोज़गार की समस्या का स्थायी समाधान करने की अपील की। उन्होंने कहा कि इसके लिए सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम विकास संस्थान, पटना सदैव सहयोग को तत्पर है। उन्होंने विस्तृत रूप से एमएसएमई मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा चलायी जा रही विभिन्न स्कीम (चैंपियंस, सीजीटीएमएसई, पी.पी.पी.) की जानकारी उपस्थित भावी उद्यमियों को दी। मौके पर उपस्थित भावी उद्यमियों के विभिन्न प्रश्नों का जवाब भी  प्रदीप कुमार द्वारा दिया गया। इस अवसर पर उपेन्द्र महारथी शिल्प अनुसन्धान संस्थान, बिहार सरकार के पूर्व निदेशक अशोक कुमार सिन्हा, सहायक निदेशक नवीन कुमार, लघु उद्योग भारती, बिहार चैप्टर के महासचिव सुमन शेखर, सहायक प्रोफेसर, एमिटी यूनिवर्सिटी, पटना डॉ चेतना प्रीति, सफल उद्यमी ऋचा कुमारी, लीड बैंक मेनेजर, पटना अवधेश आनंद एवं देवेन्द्र प्रसाद सिन्हा, जिला उद्योग केंद्र, पटना से मौजूद थे। मौके पर लघु उद्योग भारती, बिहार चैप्टर के महासचिव सुमन शेखर द्वारा विभिन्न उदाहरणों के माध्यम से उपस्थित भावी उद्यमियों का स्वयं के उद्यम लगाने हेतु मार्गदर्शन किया गया। वहीँ सफल उद्यमी ऋचा कुमारी द्वारा अपने अनुभवों को भावी उद्यमियों से साझा किया कि कैसे उन्होंने अपने उद्यम को आगे बढाया। इसके उपरांत तकनीकी सत्र में भावी उद्यमियों को इसके उपरान्त उपेन्द्र महारथी शिल्प अनुसन्धान संस्थान, बिहार सरकार के पूर्व निदेशक अशोक कुमार सिन्हा ने विभिन उदाहरणों के माध्यम से स्वयं के उद्यम होने के महत्व बताया और आगे बढ़ने हेतु प्रेरित किया। उन्होने विभिन्न केस अध्ययन द्वारा उद्यमिता के विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डाला और स्वयं का मालिक बनने के लिए उत्प्रेरित किया। लीड बैंक मैनेजर अवधेश आनंद द्वारा भावी उद्यमियों को बैंक की विभिन्न स्कीम की जानकारी दी गयी और बैंक से सम्बंधित अन्य जानकारी विस्तृत रूप से दी गयी। जिला उद्योग केंद्र, पटना से प्रबंधक देवेन्द्र प्रसाद सिन्हा ने भी इस अवसर पर बिहार सरकार की विभिन्न स्कीम की जानकारी विस्तृत रूप से भावी उद्यमियों को दी ।  रविकान्त, सहायक निदेशक, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम विकास संस्थान, पटना द्वारा एमएसएमई मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा चलायी जा रही विभिन्न स्कीम का प्रस्तुतीकरण दिया। इसके उपरान्त प्रश्नोत्तर कार्यक्रम हुआ और उपस्थित विभिन्न वक्ताओं द्वारा प्रतिभागियों के प्रश्नों का उचित उत्तर दिया गया। कार्यक्रम का समापन प्रोफेसर अरुंधती शर्मा द्वारा धन्यवाद ज्ञापन के साथ किया गया। इस कार्यक्रम का समन्वयन रविकांत, सहायक निदेशक ने किया। 

कोई टिप्पणी नहीं: