बाढ़ : संत जोसेफ कान्वेंट गर्ल्स हाई स्कूल प्लस टू का परचम - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 1 अप्रैल 2022

बाढ़ : संत जोसेफ कान्वेंट गर्ल्स हाई स्कूल प्लस टू का परचम

  • बिहार बोर्ड दसवीं की परीक्षा में बाढ़ अनुमंडल में सबसे पहले स्थान पर रहे स्नेहा रानी ’

st-josef-school-badh
पटना. पटना जिले में है बाढ़ प्रखंड. पटना महाधर्मप्रांतीय पुरोहितों के द्वारा बाढ़ पल्ली संचालित है.यहां पर बाढ़ संत जोसेफ कान्वेंट  गर्ल्स   हाई स्कूल प्लस टू के 294 छात्राओं ने मैट्रिक परीक्षा में उपस्थिति दर्ज कराई थी. जिसमें से 251 छात्राएं प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण हुई वहीं 43 छात्राएं द्वितीय श्रेणी से उत्तीर्ण हुई. इसी विद्यालय की छात्रा स्नेहा रानी  ने 500 अंक में 464 अंक लाकर अपने बाढ़ अनुमंडल एवं स्कूल का नाम गौरवान्वित किया है. वहीं द्वितीय श्रेणी में रश्मि सिंह 456 अंक, कृतिका कुमारी 454 अंक, संस्कृति सिन्हा 453 राजनंदनी वर्मा 451 तमन्ना कुमारी 450 नोसबा प्रवीण 449 अंजली कुमारी 448 वर्षा रानी 448 संजना कुमारी 448 विद्यालय टॉप टेन में अपना नाम दर्ज कराई. छात्राओं से वार्तालाप करने के बाद वह अपने मंतव्य को व्यक्त करते हुए बता रही है कि कोविड-काल में पढ़ाई एक चुनौती बन चुकी थी. घर में स्मार्टफोन नहीं होने कारण ऑनलाइन क्लास करना एक मध्यम परिवार के बच्चे के लिए काफी मुश्किल था उस स्थिति में उनके अभिभावक ने अपने बच्चों के लिए स्मार्टफोन की व्यवस्था की और पढ़ाई में होने में बाधा को दूर किया. इसलिए बच्चे सबसे पहले परीक्षा में उत्तीर्ण हुए. तो इनका श्रेय अपने माता-पिता और अपने विद्यालय और वहां के शिक्षकों को दिया है.क्योंकि विद्यालय के शिक्षकों की कड़ी मेहनत से ही आज छात्राएं इस उपलब्धि को पा चुकी हैं. विद्यालय के सचिव फादर एंड्रयू थम्बी, प्राचार्य सिस्टर दीपिका एवं पूरा विद्यालय परिवार इन बच्चों की उज्जवल भविष्य की मंगल कामना करता है. ताकि छात्राएं अपने उज्जवल भविष्य की ओर निरंतर बढ़ते रहें एवं आसमान की बुलंदियों को छू सके.


संत जोसेफ कॉन्वेंट गर्ल्स हाई स्कूल प्लस टू के सचिव फादर एंड्रयू थम्मी

शिक्षा मनुष्य के जीवन में सर्वांगीण विकास का आधार होता है. किसी भी स्थान की जनता के सम्पूर्ण विकास में शिक्षा महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है.इसी शिक्षा को बिहार की धरा बाढ़ में फैलाने के लिए फादर संटाग के नेतृत्व में बाढ़ पैरिश सोसाईटी द्वारा 1943 ई0 में संत जोसेफ विद्यालय की स्थापना की गई. फादर ने बाढ़ मिशन के लिए भूमि खरीदी तथा विद्यालय बनवाने का कार्य शुरू किया. विद्यालय के प्रारंभिक विकास के क्रम में गरीब एवं परित्यक्त जनता के उत्थान के लिए पवित्र हृदय-धर्म-संघ की धर्म बहनें बाढ़ भेजी गयी. पठन-पाठन के समुचित प्रबंधन के लिए कान्वेंट का निर्माण किया गया.हमारी सिस्टरों द्वारा संचालित विद्यालय की पढ़ाई सुचारू रूप से चलाती हैं और अवकाश के समय में वे बालिकाओं को सिलाई एवं बागवानी का ज्ञान भी दिया जाता है.विद्यालय की स्थापना के प्रारंभिक दिनों में यहाँ मध्य विद्यालय स्तर तक की पढ़ाई होती है.अब माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक स्तर तक की पढ़ाई होती है.बिहार सरकार के द्वारा विद्यालय को माध्यमिक एवं उच्च स्तर (2) तक की मान्यता प्राप्त है.

कोई टिप्पणी नहीं: