झाबुआ (मध्य प्रदेश) की खबर 12 अप्रैल - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 12 अप्रैल 2022

झाबुआ (मध्य प्रदेश) की खबर 12 अप्रैल

खरगोन की घटना में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्वजयसिंह द्वारा सोशल मीडिया पर धार्मिक भावना एवं प्रदेश का माहौल खराब करने की पोस्ट करने पर कार्रवाई की मांग

  • भारतीय जनता युवा मोर्चा ने थाना प्रभारी झाबुआ को सौंपा ज्ञापन

jhabua news
झाबुआ। मप्र के खरगोन में विगत 9 अप्रेल, रामनवमी के चल समारोह में कुछ उपद्रवियों द्वारा धार्मिक माहौल खराब करने की नियत से चल समारोह पर पथराव किया गया एवं आगजनी जैसी घटना को अंजाम दिया गया। जिसके चलते खरगौन में कफर्यू लगा दिया गया। इस मामले में मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री रहे वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजसिंह द्वारा सोशल मीडिया पर धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाने वाली एवं प्रदेश में सांप्रदायिक दंगों को फैलाने वाली पोस्ट डालने से उन पर कार्रवाई की मांग को लेकर भारतीय जनता युवा मोर्चा जिला झाबुआ द्वारा 12 अप्रेल, मंगलवार शाम को पुलिस थाना झाबुआ पहुंचकर नवागत थाना प्रभारी संजय रावत को ज्ञापन सौंपा गया। जिसमें उल्लेख किया गया कि प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजयसिंह प्रदेश को धार्मिक माहौल को बिगाड़ने एवं संप्रदायिक दंगों को फैलाने की दृष्टि से ट्वीटर पर अनर्गल बाते कर रहे है एवं अफवाह फैलाई जा रहीं है। अनर्गल तरीके से प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान को सहीं लोगों पर भी कार्रवाई करने के लिए दबाव बनाया जा रहा है। दिग्विजयसिंह एक संवैधानिक पद पर बैठे हुए होने के बाद भी इस तरह की हरकत कर रहे है, जो उन्हें शोभा नहीं देता है एवं उनका यह कृत्य अपराध की श्रेणी में आता है।


पुराना फोटो डालकर झूठा भ्रम फैलाया जा रहा

जिसका खामियाजा प्रदेश की समस्त जनता को भुगतने को विवश होना पड़ेगा। उनके द्वारा फोटो पुराना फोटो जो मप्र का नहीं है, वह खरगोन की घटना से जोड़कर ट्विटर पर चलाया गया है। जिससे ऐसा प्रतीत होता है कि खरगोन में आपात परिस्थितियों के बीच भी राजनीतिक लाभ देने की दृष्टि से एवं दंगे फैलाने के षड्यंत्र रचा जा रहा हैै। ज्ञापन में मांग की गई कि इस कृत्य के चलते दिग्विजयसिंह के खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज कर उचित कार्रवाई की जाए।


यह रहे उपस्थित

ज्ञापन सौंपते समय भारतीय जनता युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष कुलदीपसिंह चौहान के नेतृत्व में जिला उपाध्यक्ष थावरिया अमलियार, जिला कार्यालय मंत्री मजेसिंह मखोड़िया, जिला आईटी सेल प्रभारी सुरेश गणावा, झाबुआ मंडल अध्यक्ष शक्तिसिंह देवड़ा, उमंग जैन, अक्षय लोढ़ा, अभिजीतसिंह बेस सहित अन्य युवाजन मौजूद रहे।


एक दिवसीय नारी संस्कार एवं पाठशाला शिक्षिका प्रशिक्षण शिविर सम्पन्न, संस्कारित नारी परिवार में सुसंस्कारों का निर्माण करती है - धर्मेन्द्रमुनिजी


jhabua news
थांदला। नगर में जिनशासन गौरव जैनाचार्य पूज्य श्री उमेशमुनिजी म.सा. अणु के दिव्यशीष एवं पूज्य प्रवर्तक बुद्धपुत्र श्री जिनेद्रमुनिजी म.सा. की आज्ञा से तत्वज्ञ श्रीधर्मेन्द्रमुनिजी म.सा. आदि ठाणा - 5 एवं सरलमना पूज्या श्री निखिलशीलाजी म.सा. आदि ठाणा - 4 के पावन सानिध्य में ओलिजी तप की आराधना चल रही है। आज पांचवें दिन पूज्य श्री ने गुरुदेव की आरती की अनुप्रेक्षा करते हुए नमो लोए सव्वसाहूणं की आराधना का महत्व बताया। उन्होने कहा कि घर के साथ ममता जुड़ी हुई होती है जबकि उसका त्याग करने वाले अणगार कहलाते है। पाँच पद में 4 पद साधक कहलाते है जबकि नमो सिद्धाणं पद साधना का फल रूप होता है इसलिए चारित्र की आराधना सिद्ध बनने के लिए की जाती है। उन्होने कहा कि आयम्बिल व निवि तप आहार शुद्धि रूप है उसके साथ जप व ध्यान का फल विशेष होता है इसलिए आज के दिन दृढ़ता का प्रतीक रूप कालें घने बादल के रूप 27 लोगस्स, 27 माला का जप का ध्यान करना चाहिए। इस अवसर पर अखिल भारतीय श्री चन्दना श्राविका संगठन डुंगरप्रान्त द्वारा आयोजित एक दिवसीय नारी संस्कार एवं पाठशाला शिक्षिका प्रशिक्षण शिविर को मंगल आशीर्वाद प्रदान करते हुए पूज्य श्री ने कहा कि नारी को संस्कार दात्री कहा गया है लेकिन उसे भी संस्कारों की आवश्यकता रहती ही है। जिस प्रकार कुशल शिक्षक पढ़ाई कर विशेष योग्यता हासिल कर बच्चों को पढ़ाता है वैसे ही संस्कारित नारी घर परिवार में सुसंस्कारों का निर्माण करती है। उन्होनें कहा कि आजके युग में भोग के साधन बड़ने से भोग वृत्ति बड़ी है जिसके परिणाम से जीव पाप करने में संकोच नही करता है वही सोशल मीडिया पर पाप का प्रदर्शन भी कर रहा है जिससे अन्य भी पाप में रुचि लेने लग जाते है इसी देखा देखी से संस्कार बिगड़ रहे है संस्कार शिविर के माध्यम से उनमें संस्कारों का बीज अंकुरित किया जाता है जिससे वे भविष्य में संस्कारों का निर्माण में सहायक बन सके। इस अवसर पर धर्म सभा को पूज्य श्री सुयशमुनिजी ने संबोधित करते हुए निगोद से निर्वाण तक कि यात्रा पर मार्मिक प्रवचन देते हुए कहा कि जीव अनादि काल से यात्रा करते हुए अन्य की जय जयकार करता आ रहा है लेकिन अब उसे मनुष्य भव में जिनशासन मिला सुगुरु का सानिध्य भी मिल गया है इसलिए आत्मज्ञान का बोध पाकर वह अपना जीवन सफल बना सकता है। उन्होनें गुरुदेव के प्रार्थना काव्य संग्रह अब जय हो अपनी अपनी भी की अनुप्रेक्षा करते हुए कहा कि संसार सागर से मानव शरीर रूपी नाव से आत्मा रूपी नाविक को तिराया जा सकता है। धर्मसभा में नारी सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए पूज्यश्री ने कहा कि पृथ्वी के भार की तरह नारी भी माँ, बहन, बेटी, पत्नी, बहू बनकर घर का भार उठाती है। उन्होनें कहा कि व्यसन युक्त युग में टीवी मोबाइल ने सबसे ज्यादा संस्कारों को हानि पहुँचाई है जिससे बचने की आवश्यकता है खासकर गर्भवती नारी को इन चीजों से दूर रहना चाहिए नही तो बच्चा गर्भ से ही संस्कार विहीन हो सकता है। वही संस्कारित नारी अपने घर परिवार को भी धर्म से जोड़कर रखती है। इस अवसर पर साध्वी निखिलशीलाजी म.सा. ने भी नारी सम्मेलन में नारियों की क्लास लेते हुए नारी को उसकी शक्ति का परिचय कराया। उन्होनें कहा कि भगवान के शासन में भी साधु व श्रावक की तुलना में साध्वी व श्राविका कही अधिक थी वही आगम में अनेक प्रसंग नारी की प्रधानता को प्रदर्शित करते है इसलिए वर्तमान समय में भी लज्जा नारी का गहना मान कर अपने आपको मर्यादा में रखना चाहिए। इस अवसर पर पूज्याश्री ने सन्नारी का महत्व प्रतिपादित करते हुए सामूहिक भोज में झूठा नही डालना, सड़कों पर नही नाचना, पुरुष से नाच गाना नही सीखना, पर पुरुष से मेहंदी नही लगवाना आदि अनेक नियम करवाये। अंत में गुरु भगवन्तों ने सबको संस्कारों की शिक्षा देते हुए कहा कि समय की मर्यादा होती है इसलिये थोड़ा कहा ज्यादा समझने का प्रयास करना। धर्म सभा में संगठन की थांदला इकाई ने स्वागत स्तवन प्रस्तुत किया, डुंगरप्रान्त अध्यक्षा इंदु कुवाड़ नें सभी नारियों का स्वागत कर सहयोगी संस्थाओं के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया गया। श्रीसंघ अध्यक्ष जितेंद्र घोड़ावत ने गुरु भगवन्तों के सानिध्य में आयोजित एक दिवसीय नारी सम्मेलन शिविर के लिए शुभकामनाएं व्यक्त की गई पिंकी नीलेश पावेचा ने मंगल स्तवन प्रस्तुत किया सभा का संचालन संघ सचिव प्रदीप गादिया ने किया। 


नारी संस्कार शिविर में हुए आयोजन 

अखिल भारतीय चन्दना श्राविका संगठन के तत्वाधान में आयोजित शिविर में गुरुभगवन्त के अलावा स्वाध्यायी विनीत वागरेचा एवं नीरज मूणत ने भी क्लास ली। वही संगठन की सदस्यों द्वारा एकत्रित उपहारों का बिग बाजार लगाते हुए व्रत नियम लेने वालों को उपहार भेंट किये। इस दौरान सभी नारियों के लिये प्रेमलता भंवरलाल लोढ़ा परिवार एवं मनीष कुमार स्वीटी मनोज कुमार जैन द्वारा आकर्षक उपहार प्रभावना स्वरूप दिए गए। वही झूठा नही डालते हुए थाली धोकर पीने वालें व ओलिजी तप आराधकों को मनीष कुमार अमृतलाल चोपड़ा परिवार द्वारक तथा इस दौरान आयोजित प्रश्नमंच के लिए मानकुंवर शाहजी द्वारा प्रभावना प्रदान की गई। नारी सम्मेलन में उपस्थित सभी अतिथियों के आतिथ्य सत्कार एवं प्रवचन प्रभावना का लाभ सानिया मयूर कुमार वर्धमान कुमार तलेरा परिवार ने लिया।   


शिविर में रही इनकी सक्रिय भूमिका

नारी संस्कार एवं पाठशाला शिक्षिका शिविर में थांदला के अलावा रतलाम, दाहोद, कुशलगढ़, झाबुआ, मेघनगर, पेटलावद, खवासा, करवड़, बामनिया, डूंगर मालवा आदि स्थानों की 186 नारियों ने शिरकत की वही शिविर को सफल बनाने में संगठन डुंगरप्रान्त आध्यक्षा इंदु कुवाड़, उपाध्यक्ष व धर्मलता महिला मंडल अध्यक्षा सुधा शाहजी, महामंत्री सानिया तलेरा, सचिव रश्मि घोड़ावत, स्वीटी जैन, संध्या भंसाली, दीपा शाहजी, तारा चपलोत, विभा जैन, उषा भंसाली, हेमा मेहता,  रोमी पालरेचा, चंदा भंसाली, अमिता गादिया, स्वीटी कांकरिया, विनीता कांकरिया, नेहा लोढ़ा, शांता शाहजी, माधुरी छाजेड़, स्नेहलता व्होरा आदि नारी संगठन की पदाधिकारियों के अलावा मन्दिर मार्गी महिला संघ अध्यक्षा आभा पीचा, इंदुबाला छिपानी, निशा पीचा, श्री ललित जैन नवयुवक मंडल अध्यक्ष रवी लोढ़ा, संदीप शाहजी, अखिलेश श्रीश्रीमाल, मंगलेश श्रीमाल, हितेश शाहजी, मिलिंद कोठारी, अजय सेठिया, अंकित जैन, अमित शाहजी, संघ प्रवक्ता पवन नाहर की भूमिका सराहनीय रही।


सोशल पुलिसिंग के लिए याद किये जायेंगे एम एस गवली

  • एसडीओपी एम एस गवली को दी विदाई एवं नवागत रविन्द्र राठी का किया स्वागत

jhabua news
थांदला। जन सेवा व देशभक्ति के रूप में पुलिस जनता की सेवा व सुरक्षा के लिए बेहतर तरीके ईजाद करती है। सोशल पुलिसिंग भी उनमें से एक है यह बताया यहाँ एसडीओपी पुलिस के रूप में अंचल में सेवा देने आए एम बस गवली ने। उन्होनें न केवल अंचल में क्राइम कंट्रोल पर काम किया अपितु अपना पर्यावरण प्रेम व सोशल पुलिसिंग की सॉफ्ट छवि से सबके दिलों में जगह भी बनाई। फिर चाहे कोरोना काल का वह दो वर्ष का चुनोती पूर्ण दौर रहा हो या फिर किसी उपद्रवी घटनाओं को नियंत्रित करने की बात। वे हर जिम्मेदारी को पूरी सजगता से निभाते आये है। अपने अधीनस्थ मेघनगर व थांदला क्षेत्र में गवली ने अधिकारी छवि के बजाय धरातल पर उतर कर कार्य करना बेहतर समझा व सीएम की सभा हो या अन्य कोई बड़े राजनैतिक धार्मिक सामाजिक आयोजन अथवा कोरोना संक्रमण का वह कभी न भुलने वाला समय नगर की जनता से सीधे मुखातिब होकर उनके वाहन से सुबह शाम निकलती आवाज से अंचल की जनता में उनकी अलग ही पहचान बन गई थी यही कारण है कि 4 वर्ष की लंबी सेवा देने के3 बाद भी उनका कोई विरोधी नही जो एक पुलिस के कार्यकाल में बहुत ही कम देखने को मिलता है। अंचल से मिले इस अपार स्नेह से अभिभूत एसडीओपी एम एस गवली ने पुलिस थाना सभागृह में उनके लिए आयोजित विदाई समारोह में कहा कि आदिवासी अंचल झाबुआ की संस्कृति से परिचय का कौतूहल यहाँ की पोस्टिंग के साथ ही दिमाग में चलने लगा था परंतु थांदला के अपने सहयोगी स्टॉफ के साथ यहाँ के जनप्रतिनिधियों, पत्रकारों व समाजसेवी लोगों का जो अपेक्षित साथ सहयोग उन्हें मिला वह अबतक की प्रशासनिक सेवा में सबसे ज्यादा यादगार सफर रहा। जिलें के पहले आईएसओ एसडीओपी कार्यालय के साथ थाना थांदला को भी आईएसओ अवार्ड से सम्मानित करवाने में अहम भूमिका निभाने वालें एसडीपीओ गवली के विषय में बताते हुए स्वागत सम्मान में थांदला थाना प्रभारी कौशल्या चौहान ने उनके अनुशासन का जिक्र करते हुए हर विकट परिस्थितियों में उनसे मिले सकारात्मक सहयोग का धन्यवाद ज्ञापित किया। उन्होनें कहा कि अधिकारी की तरह नही एक भाई की तरह व्यवहार करते हुए साहब ने हमेशा सभी पुलिस कर्मचारियों का हौसला बढ़ाया है। उल्लेखनीय है कि करीब चार वर्ष सेवा देने के बाद एसडीओपी एम.एस. गवली का स्थानांतरण महेश्वर हो गया है। उनके स्थान पर अब झाबुआ डीएसपी रहे रविंद्र राठी ने एसडीओपी का पदभार ग्रहण किया।


नवागत एसडीओपी राठी का हुआ स्वागत

एम एस गवली के विदाई समारोह के साथ ही नवागत एसडीओपी रविंद्र राठी का स्वागत समारोह भी आयोजित किया गया। इस अवसर पर थांदला पत्रकारों व जनप्रतिनिधियों के साथ उपस्थित पुलिस स्टॉफ ने भी फूलों की माला पहनाते हुए एसडीओपी द्वय का स्वागत किया। इस अवसर पर एसडीओपी राठी ने कहा कि क्राइम कंट्रोल पुलिस की जिम्मेदारी होती है वही जनता से सीधा संवाद इसमें कमी लाता है इसलिए वे भी पूर्व एसडीपीओ की तरह सोशल पुलिसिंग को प्राथमिकता के साथ स्थानीय पत्रकारों से समन्वय स्थापित करते हुए शून्य क्राइम पर काम करेंगे। इस अवसर पर वरिष्ठ पत्रकार अक्षय भट्ट, सिद्धार्थ कांकरिया, भारतीय प्रेस आयोग मध्यप्रदेश अध्यक्ष समकित तलेरा, समाजसेवी दिलीप डामोर, राजू धानक आदि ने भी संबोधित कर अपनी संस्थाओं कि ओर से एसडीपीओ द्वय के प्रति शुभकामनाएं व्यक्त की। समारोह का संचालन आईजा मध्यप्रदेश प्रभारी पवन नाहर ने व मेघनगर थाना प्रभारी टी एस डावर ने आभार माना।


सेवानिवृत्त अधिकारी-कर्मचारियों को समय पर मिलेगी बीमा की राशि एवं जीपीएस (सम्मित अवकाश) का लाभ, टीएल बैठक में कलेक्टर ने पालन हेतु संबंधित विभाग प्रमुखों को सख्ती से दिए निर्देश

  • कलेक्टर की पहल की जिला पंेशनर्स एसोसिएशन ने की सराहना

झाबुआ। जिले में विभिन्न विभागों में कार्य करने वाले अधिकारी-कर्मचारियों के प्रतिमाह सेवानिवृत्त होने पर उन्हें बीमा की राशि एवं जीपीएस (सम्मित अवकाश) का प्रायः समय पर लाभ नहीं मिल पाता है। यह राशि चार माह बाद मिलती है। पेंशनरों की इस महत्वपूर्ण समस्या से जिला पेंशनर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष रतनसिंह राठौर एवं जिला कोषाध्यक्ष भेरूसिंह सोलंकी ने कलेक्टर सोमेश मिश्रा से मिलकर उन्हें अवगत करवाया। जिस पर कलेक्टर श्री मिश्रा ने प्रति सप्ताह कलेक्टोरेट सभा कक्ष में होने वाली टीएल बैठक में बीमा राशि एवं जीपीएस का लाभ समय पर सेवानिवृत्त अधिकारी-कर्मचारियों को प्रदान करने हेतु सख्ती से निर्देश संबंधित विभाग प्रमुखों को प्रदान किए है। जिस पर जिला पेंशनर्स एसोसिएशन ने कलेक्टर श्री मिश्रा की इस पहल की सराहना करते हुए उनका आभार व्यक्त किया है। जानकारी देते हुए जिला पेंशनर्स एसोसिएशन से जुड़े दौलत गोलानी ने बताया कि विगत 31 मार्च को भी जिले के विभिन्न विभागों के अधिकारी-कर्मचारी सेवानिवृत्त हुए। जिनका विदाई समारोह कलेक्टोरेट सभा कक्ष में रखा गया था। उस दौरान जिला पेंशनर्स एसोसिएशन की ओर से कलेक्टर श्री मिश्रा को उक्त दोनो मांगांे से अवगत करवाया गया। जिसे कलेक्टर द्वारा तत्काल संज्ञान में लेते हुए 11 अप्रेल, सोमवार को कलेक्टोरेट में होने वाली सभी विभाग प्रमुखों की टीएल बैठक में सेवानिवृत्त अधिकारी-कर्मचारियों की बीमा राशि एवं जीपीएस का लाभ उन्हें समय पर मिले, यह सुनिश्चित करने हेतु मुख्य रूप से जिला कोषालय विभाग सहित अन्य संबंधित विभागों को निर्देश जारी करने के साथ पालन नहीं होने पर संबंधित पर कार्रवाई हेतु भी आदेशित किया।


सेवानिवृत्त पुलिस आरक्षक को मिला लाभ

जिला पेशनर्स एसोसिएशन अध्यक्ष रतनसिंह राठौर एवं कोषाध्यक्ष भरूेसिंह सोलंकी ने बताया कि कलेक्टर के इस आदेश के बाद ही पुलिस विभाग से हाल ही में सेवानिवृत्त हुए आरक्षक कैलाशसिह चौहान की बीमा राशि का लाभ 11 अप्रेल, सोमवार की रात्रि को ही प्राप्त हुआ। उनके खाते में बीमा राशि जमा हुई। जिला पेंशनर्स एसोसिएशन के वरिष्ठ संरक्षक डॉ. केके त्रिवेदी, अरविन्द व्यास, पीडी रायपुरिया, श्रीनाथसिंह चौहान, भागीरथ सतोगिया, गोपालसिंह चौहान, रूपसिंह खपेड़, जितेन्द्र शाह आदि ने कलेक्टर श्री मिश्रा की इस पहल की सराहना करते हुए उन्हें धन्यवाद ज्ञापित किया है।


वस्तु का मूल स्वभाव ही धर्म है -ः साध्वी श्री केवल्य प्रिया श्रीजी, श्री ऋषभदेव बावन जिनालय में नवपद ओलीजी की आराधना अंतर्गत हो रहे कई धार्मिक आयोजन


झाबुआ। वस्तु का मूल स्वभाव ही धर्म है, जिसका जैसा स्वभाव होता है, उसी की परिणीति का धर्म होता है। धर्म सदा धारण करने योग्य होता है जो दुर्गति को दूर कर सद्गति की ओर से ले जाता है। धर्म के मूल में अहिंसा, तप और संयम है, जिसे देवता भी वंदन करते है। उक्त उद्गार स्थानीय श्री ऋषभदेव बावन जिनालय के गुरू मंदिर प्रवचन हाल में परम् विदुषी साध्वी श्री केवल्य प्रिया श्रीजी ने श्री शाश्वती नवपद ओलीजी अंतर्गत चल रहंीं तप-आराधना में व्यक्त किए। आपने आगे कहा कि जीवन में सुख, शांति एवं समृद्धि के लिए ध्यान अति आवश्यक है। ध्यान भी शुभ ध्यान होना चाहिए, जिससे हमारी अंतर आत्मा में फैले अशुभ कर्मों का क्षय हो। साधु पद की व्याख्या करते हुए पूज्य साध्वी श्रीजी ने कहा कि जो सभी की सहायता करे, वहीं सच्चा साधु कहलाता है। साधु का अर्थ है सदैव साधना में रत रहना। श्रमण का अर्थ है श्रम करना, मुनि का अर्थ है मौन रहना, इस तरह साधु सदैव साधना में रत रहकर मौन व्रत धारण कर निरंतर धर्म क्रिया करता रहता है। आज के माहौल पर व्यंग्य करते हुए साध्वी ने कहा कि आज पुण्य को बताकर और पाप को छिपाकर लोग कार्य कर रहे है, जबकि आत्म कल्याण के लिए प्रायश्चित, पच्चखाण एवं पश्चाताप अति आवश्यक है, जो एकमात्र गुरू के समक्ष ही किया जा सकता है।


श्रीपाल रास का हो रहा वर्णन

जैन श्वेतांबर श्री संघ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष यशवंत भंडारी ने बताया कि शाश्वत नवपद ओलीजी अंतर्गत 9 पद अरिहंत, सिद्ध, आचार्य, उपाध्याय, साधु, दर्शन, ज्ञान, चारित्र एवं तप पद की आराधना की जाती है। 20वें तीर्थंकर श्री मुनि सुव्रत स्वामीजी के काल में श्री श्रीपाल एवं मैयना सुंदरी ने प्रथम बार नवपद ओलीजी आराधना की शुरूआत की थी। जिससे श्रीपाल का कुष्ठ रोग दूर होकर उन्हें अतुल्य वैभव एवं संपदा प्राप्त हुई थी। जिसका सुंदर बखान पूज्य साध्वी श्रीजी मसा द्वारा प्रतिदिन प्रवचनों के माध्यम से किया जा रहा है।


प्रतिदिन प्रभावना एवं पुरस्कार वितरण हो रहा

श्री शाश्वत नवपद ओलीजी के आयोजन के प्रथम दिन से ही प्रतिदिन पूज्य साध्वी श्रीजी मसा की प्रेरणा से समाजजनों द्वारा प्रातः श्री भक्तामर स्त्रोत एवं गुरू चालीसा पाठ किया जा रहा है। जिसमें प्रतिदिन लाभार्थी परिवारों की ओर से प्रभावना वितरित की जा रहीं है। इसी क्रम में प्रातः 10 बजे प्रवचन के साथ दोपहर 2 बजे से प्रश्नोत्तर एवं प्रश्न-पत्र प्रतियोगिता भी रखी जा रहीं है। 12 अप्रेल, मंगलवार को भक्तामर पाठ के लक्की ड्रा की लाभार्थी श्रीमती कामिनी दीपक भंडारी, प्रश्नोत्तर की श्रीमती अनिता सतीश कोठारी, प्रश्न-पत्र प्रतियोगिता के ज्ञानचंद मेहता एवं दोपहर में प्रश्न-मंच प्रतियोगिता का लाभ श्रीमती पुष्पा नाहटा ने लिया। 11 अप्रेल, सोमवार को प्रवचन के दौरान मनोहरलाल प्रतीककुमार मोदी की ओर से प्रभावना प्रदान की गई।


40 से अधिक तपस्वी कर रहे आयंबिल तप

संपूर्ण नौ दिन के आयोजन के लाभार्थी अशोककुमार राठौर एवं भंवरलाल मेहता ने बताया कि नवपद ओलीजी अंतर्गत श्री संघ के 40 से अधिक तपस्वी प्रतिदिन आयंबिल की तपस्या श्री राज हेमेन्द्र पुष्प आयंबिल खाता भवन में कर रहे है। जिनकी पूर्णाहूति 16 अप्रेल, शनिवार को चैत्री पूनम के दिन होगी। 17 अप्रेल, रविवार को सभी तपस्वियों के पारणे का आयोजन लाभार्थी परिवार की ओर से किया जाएगा।


सामाजिक महासंघ केे 7 दिवसीय झाबुआ प्रिमीयर लीग (रात्रिकालीन क्रिकेट प्रतियोगिता) में रच दिया इतिहास, भारती माता की महाआरती के साथ हुआ जेपीएल का समापन

  • अमन इंडियंस ने जीता खिताब, दिलीप गेट मित्र मंडल रहा उप-विजेता
  • अंतिम दिन सैकड़ों दर्शकों ने लिया मैच का आनंद, क्षेत्रीय सांसद, कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने की शिरकत

jhabua news
झाबुआ। सामाजिक महासंघ जिला झाबुआ द्वारा विगत 5 से 11 अप्रेल तक सात दिवसीय झाबुआ प्रिमीयर लीग (रात्रिकालीन क्रिकेट प्रतियोगिता) का आयोजन रखा गया। जिसमें संपूर्ण शहरवासियों की सहभागिता रहीं। हर क्षेत्र के लोगांे ने इस क्रिकेट टूर्नामेंट में हिस्सा लेने के साथ दर्शकों न भीे सैकड़ों की संख्या में उपस्थित रहकर इसे काफी ऐतिहासिक और सफल बनाया। अंतिम दिन आयोजन स्थल उत्कृष्ट विद्यालय मैदान पर भारत माता की महाआरती रखी गई। समापन पर मुख्य अतिथि के रूप में रतलाम-झाबुआ-आलीराजपुर सांसद गुमानसिंह डामोर, कलेक्टर सोमेश मिश्रा एवं पुलिस अधीक्षक आशुतोष गुप्ता उपस्थित रहे। अंतिम दिन दो सेमीफायनल एवं एक फायनल मैच खेला गया। विजेता टीम अमन इंडियंस रहीं एवं उप-विजेता टीम दिलीप गेट मित्र मंडल बनी। सामाजिक महासंघ के जिलाध्यक्ष नीरजसिंह राठौर ने बताया कि 11 अप्रेल, मंगलवार रात्रि 8 बजे से टीमों के बीच दो सेमीफानल एवं एक फायनल मैच खेला गया। जिसमें पहला सेमीफायनल मैच दिलीप गेट मित्र मंडल वर्सेस अक्शा रायडर्स के बीच हुआ। जिसमें पहले टॉस दिलीप गेट मित्र मंडल ने जीतते हुए बल्लेबाजी का निर्णय लिया और निर्धारित 8 ओवर में 68 रन बनाए। लक्ष्य का पीछा अक्शा रायडर्स नहीं कर पाई और 8 ओवर में 56 रन ही बना पाई। इस प्रकार दूसरा सेमीफायनल मैच अमन इंडियंस एवं विमल केसरी का हुआ। जिसमें अमन इंडियंस ने टॉस जीतकर पहले बालिंग करने का निर्णय लिया। विमल केसरी ने 98 ओवर में 55 रन बनाए, लक्ष्य का पीछा करते हुए महज 4 ओवर में ही अमन इंडियंस ने 56 रन बनाकर जीत हासिल कर ली। मैन ऑफ द मैच अमन इंडियंस के के कप्तान शाहिद अली रहे।


फायनल मैच में अमन इंडियंस ने जमाया एक तरफा कब्जा

फायनल मैच अमन इंडियंस वर्सेस दिलीप क्लब गेट मित्र मंडल का रहा। अमन इंडियन के कप्तान शाहिद अली एवं दिलीप क्लब गेट मित्र मंडल के कप्तान अविनाश डोडियार ने मोर्चा संभाला। इस मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी अमन इंडियंस ने की और 8 ओवर में 122 रनों का बड़ा लक्ष्य खड़ा किया। जिसका पीछा दिलीप गेट मित्र मंडल नहीं कर पाया और 8 ओवर में मात्र आधे 60 रन ही बना पाया। इस मैच में भी अमन इंडियंस के कप्तान शादिह अली का अच्छा परफारमेंस रहा।


टीमों को प्रदान किए गए पुरस्कार

विजेता टीम अमन इंडियस को 51 हजार 55 रू. का प्रथम पुरस्कार एवं ट्राफी तथा उप-विजेता टीम दिलीप गेट मित्र मंडल को 25 हजार 25 रू. एवं ट्राफी मुख्य अतिथि सांसद श्री डामोर, भील जाति सेवा संघ अध्यक्ष अजय डामोर, कलेक्टर सोमेश मिश्रा, सकल व्यापारी संघ अध्यक्ष संजय कांठी, वरिष्ठ समाजसेवी अजय रामावत, अशोक शर्मा एवं लाखनसिंह सोलंकी, रोटरी क्लब ‘मेन’ अध्यक्ष मनोज अरोरा, सकल व्यापारी संघ सचिव हिमांशु त्रिवेदी, गायत्री परिवार के युग प्रवक्ता विनोदकुमार जायसवाल द्वारा प्रदान की गई। इसके अलावा खिलाड़ियों को कई अन्य आकर्षक पुरस्कार भी दिए गए। मैच जीतने के बाद विजेता एवं उप-विजेता टीम के खिलाड़ियों ने अपने हाथों में राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा लेकर ढोल पर जमकर नृत्य कर आतिशबाजी भी की। अंतिम दिन पूरा मैदान दर्शकों की भीड़ से खचाखच भरा रहा।


भारत माता की महाआरती की गई

आयोजन स्थल पर अंतिम दिन भारत माता की महाआरती की गई। भारत माता की सुंदर तस्वीर मंच पर विराजमान की गई। दोनो ओर राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा लगाया गया। तस्वीर पर माल्यार्पण एवं पूजन क्षेत्रीय सांसद श्री डामोर ने किया। बाद सभी ने अपने हाथांे में दीपकों से सुसज्जित थालियां लेकर भारत माता की सामूहिक आरती उतारी। तत्पश्चात् भारत माता और वंदे मातरम् के सामूहिक जयघोष भी लगाए। मुख्य आकर्षण शहर की सामाजिक संस्थाओं इनरव्हील क्लब ‘मेन’, इनरव्हील क्लब ऑफ झाबुआ शक्ति, सकल व्यापारी संघ महिला इकाई, श्री नवदुर्गा महिला मंडल समिति, राष्ट्रीय गौ-सेवा संघ महिला इकाई, अखिल भारतीय ब्राम्हण महासभा से जुड़ी मातृ शक्तियों की भी सहभागिता रहंी। उक्त आयोजन को सफल बनाने में युवा स्वयं सेवकों में योगेश्वर कहार, पियूष पाटिल, वासुदेव कालानी, मनीष सोनी आदि का सराहनीय सहयोग रहा। अंत में सभी के प्रति आभार सामाजिक महासंघ के जिला महासचिव उमंग सक्सेना ने माना।


इनका रहा सराहनीय सहयोग

सात दिवसीय जेपीएल को सफलतापूर्वक संपन्न करवाने में सामाजिक महासंघ से जुड़े पदाधिकारियों में जिलाध्यक्ष नीरजंिसह राठौर के मार्गदर्शन एवं नेतृत्व में हरिश शाह लालाभाई, राजेश शाह, कमलेश पटेल, पंकज जैन मोगरा, अमित जैन, मीडिया प्रभारी दौलत गोलानी, युवा हार्दिक अरोरा, अजयसिंह पंवार, अब्दुल रहीम अब्बु दादा आदि का रहा। एंपायरिंग जिला क्रीड़ा अधिकारी कुलदीप धाबाई के नेतृत्व में अमजद खान, नरेशराज पुरोहित, विनोद बढ़ई, योगेश गुप्ता, स्कोरर मनोज पाठक, कामेंट्री उमंग सक्सेना, गजेन्द्रसिंह चंद्रावत, मुकेश बैरागी, अंकुश कांठी आदि ने की। सात दिवसीय आयोजन को ऐतिहासक एवं सफल बनाने हेतु सामाजिक महासंघ जिला झाबुआ ने समस्त शरहवासियों और सभी प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष सहयोगियों के प्रति आभार व्यक्त किया है।


कुष्ठ रोगियों का स्वास्थ्य परीक्षण


झाबुआ। 11 अप्रैल 2022 को विकासखण्ड रानापुर के निकट ग्राम रामपुरा में स्थित कुष्ठ रोग एवं पुर्नवास केन्द्र करूणा सदन में उपस्थित समस्त 23 कुष्ठ रोगियों का स्वास्थ्य परीक्षण डॉ.एन.के.पठान जिला कुष्ठ अधिकारी झाबुआ द्वारा किया जाकर कुष्ठ रोग के बारे में भ्रम एवं समाज में व्याप्त भ्रांतियो को दूर भगाने हेतु विस्तृत जानकारी दी गई साथ ‘‘जल-तेल उपचार‘‘ विधि के बारे में समझाईश दी गई, तदोपरांत कार्यक्रम में पधारे मुख्य अतिथि डॉ.जे.पी.एस.ठाकुर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी झाबुआ तथा डॉ. जी.एस.चौहान मुख्य खण्ड  चिकित्सा अधिकारी रानापुर का स्वागत करूणा सदन की सिस्टर/स्टाफ द्वारा गुलदस्ता भेट कर एवं उपस्थित रोगियों द्वारा पुष्पवर्षा कर किया गया। चयनित कुष्ठ रोगियों को आवश्यकतानुसार उन्हे वाकर्स, स्टीक, बैसाखी, स्प्लींट एवं सभी कुष्ठ रोगियों को पद रक्षक सेंडल (एम.सी.आर) का वितरण उनके पैरो की नाप अनुसार किया गया। वित्तीय वर्ष 2022-23 में और भी मरीजों की आवश्यकता की पूति करने हेतु सीएमएचओ महोदय द्वारा आश्वासन दिया गया। कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु उपस्थित अधिकारी कर्मचारी स्टाफ तथा कुष्ठ रोगियों का आभार श्री संदीप खरे एनएमए द्वारा व्यक्त किया गया ।


शिकायतों के निवारण हेतु जिला स्तर पर  सेल का गठन


झाबुआ। प्रधानमंत्री आवास मिशन (ग्रामीण एवं शहरी) के अंतर्गत निर्माणाधीन आवासों की किस्त जारी करने में अनुचित राशि की मांग, राशन वितरण में अनियमितता, भू-माफिया संबंधित एवं अन्य शिकायतों के निवारण हेतु जिला स्तर पर  सेल का गठन किया गया है । जिले की गठित सेल का टोल फ्री नंबर  07392 243319 है जो प्रातः 10ः30 बजे से साय 6ः00 बजे बजे तक जन सामान्य की शिकायतों के निराकरण हेतु कार्यशील रहेगा। उक्त शिकायतों को कलेक्टर के व्हाट्सएप नंबर 9329315734 पर भी प्रेषित किया जा सकता है। यह आदेश कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा के द्वारा आज दिनांक 12 अप्रैल को जारी किया गया है।


रेत का अवैध परिवहन करते ट्राला जब्त, खनिज माफियाओं पर सतत कार्यवाही


झाबुआ। कलेक्टर महोदय झाबुआ के आदेश एवं खनि अधिकारी ’धर्मेंद्र चौहान के निर्देश व मार्गदर्शन में जिले में खनिजों के अवैध उत्खनन,परिवहन की रोकथाम हेतु खनिज विभाग के दल द्वारा आज सुबह 4 बजे से जिले की राणापुर, पारा तथा थांदला तहसीलों में आकस्मिक निरीक्षण कर खनिज परिवहन में संलिप्त वाहनों की जांच की गई ।जांच मे अधिकांश वाहनों में खनिज परिवहन हेतु अभिवहन पारपत्र (रॉयल्टी) होना पाया गया। खनिज दल को जांच के दौरान खनिज रेत से भरा ट्राला  क्रमांक त्श्र 09 - ळठ 5900  बगैर  रॉयल्टी के पाए जाने पर जप्त कर थाना काकनवानी की अभिरक्षा में दिया गया है। इस जब्तशुदा वाहन पर मध्य प्रदेश (अवैध खनन, परिवहन और भंडारण)  नियम 2022 के प्रावधानों के तहत अर्थदंड वसूली की कार्यवाही की जावेगी। इस कार्यवाही में खनिज निरीक्षक श्री शंकर कनेश और होमगार्ड के जवान सम्मिलित रहे।  

                  

प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण की समीक्षा बैठक

  • जनपद पंचायत रामा में समीक्षा बैठक आयोजित थी, समय पर आवास पूर्ण नहीं होने पर सख्त कार्यवाही होगी- कलेक्टर

jhabua news
झाबुआ। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा एवं जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सिद्धार्थ जैन के द्वारा प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना की समीक्षा बैठक जनपद पंचायत रामा में आयोजित थी। बैठक में प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के अंतर्गत वे ग्राम पंचायत जहां पर अपूर्ण आवास अत्यधिक है एवं पूर्ण करने में ग्राम पंचायत सचिव एवं जीआरएस एवं बीसी विशेष रूप से कोई प्रयास नहीं कर रहे है। इन ग्राम पंचायतों की कलेक्टर महोदय के द्वारा ग्राम पंचायतवार समीक्षा की। कलेक्टर महोदय के द्वारा निर्देश दिए की अधिकतम एक सप्ताह के अंदर अपूर्ण आवास पूर्ण करे। किसी भी प्रकार की समस्या हो तो अवगत कराया जा सकता है। यदि निर्धारित समय में पूर्ण नहीं होते हैं ऐसी स्थिति में दण्डात्मक कार्यवाही की जावेगी। बैठक में अनुपस्थित ग्राम पंचायत सचिव, जीआरएस के विरूद्ध कार्यवाही की जावे। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सिद्धार्थ जैन द्वारा ग्राम पंचातयवार प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना की समीक्षा में निर्देश दिए कि सभी आवास निर्धारित समय में पूर्ण हो समय पर किश्त का भुगतान हो और सतत मानिटरिंग हो किसी भी प्रकार की लापरवाही न हो अपूर्ण आवास को पूर्ण कराने में सभी प्रकार के प्रयास करें। हितग्राही का बेहतर आवास हो ऐसी व्यवस्था सुनिश्चित हो हितग्राही को आवास का सपना पूर्ण होते हुए एवं परिवार का सपना पूर्ण करने में अपना अहम योगदान दे। इस दौरान जनपद पंचायत रामा के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री बी.एस.रावत, तहसीलदार श्री सुनिल डावर, पीओ मनरेगा श्री मनोज बारस्कर, विकास खण्ड अधिकारी श्री वीरेन्द्र सिंह रावत, जनपद पंचायत के एपीओ, लेखा अधिकारी, सहायक यंत्री, उपयंत्री एवं जनपद स्तर के सभी ग्राम पंचायत सचिव, जीआरएस, पटवारी आदि उपस्थित थे।


नव निर्मित तहसील कार्यालय का निरीक्षण कलेक्टर महोदय के द्वारा किया गया


झाबुआ। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा आज कालीदेवी में नव निर्मित तहसील कार्यालय का निरीक्षण किया एवं निरीक्षण के दौरान निर्देश दिए की यहां पर फलदार पौधों का वृक्षारोपण किया जाए। सडक को दुरूस्त किया जाए।इस दौरान तहसीलदार रामा श्री सुनिल डावर एवं स्टाफ उपस्थित था।


गोपाल कॉलोनी में बनाए जा रहे गतिअवरोधक का अवलोकन करने कलेक्टर पहुंचे, निवासियों के द्वारा निरंतर हो रही दुर्घटना के लिए जिला प्रशासन को अवगत कराया था


झाबुआ,। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा आज गोपाल कॉलोनी पहुचे। गोपाल कॉलोनी के निवासी हाल ही में कलेक्टर महोदय से चर्चा की थी एवं आवेदन भी प्रस्तुत किया था कि गोपाल कॉलोनी रोड पर अत्यधिक गति में बच्चे वाहन चलाते है। जिससे कई बार दुर्घटना हो चुकी है। यहां पर गतिअवरोधक बनाया जाए। जिससे तेज गति से लोग वाहन नहीं चला सके। कलेक्टर महोदय के द्वारा तत्काल संज्ञान में लेते हुए तीन गति अवरोधक बनाए जाने के निर्देश दिए। जिसके पालन में एक पुलिस कन्ट्रोल रूम के पास एक गोपाल कालोनी के प्रारम्भ में एवं एक गोपाल कॉलोनी के सेंटर में बनाए जा रहे है। इस दौरान अनुविभागीय अधिकारी राजस्व झाबुआ श्री एल.एन.गर्ग, मुख्य नगरपालिका अधिकारी श्री एल.एस.डोडिया एवं एमपीआरडीसी  के अधिकारी उपस्थित थे।


मात्र 10 रुपये के न्युनतम शुल्क पर कराये खाद्य पदार्थ में मिलावट की जाँच

 

झाबुअ। मध्यप्रदेश शासन के मिलावट से मुक्ति अभियान अंतर्गत जिलों में आमजन को खाद्य पदार्थो में होने वाली मिलावट की सम्भावना से जागरूक करने के उद्देश्य से चलित खाद्य परीक्षण प्रयोगशाला का प्रत्येक  माह भ्रमण कार्यक्रम निर्धारित किया गया है। जिला झाबुआ में माह अप्रेल में चलित खाद्य परीक्षण प्रयोगशाला दिनांक 18.04.2022 से 21.04.2022 तक उपस्थित रहेगी। जिसके द्वारा जिले के किसी भी तहसील या बाज़ार में  औचक पहुँच कर दुकानों एवं होटलो पर बिकने वाली खाद्य सामग्री की प्रारंभिक जाँच की जावेगी। खाद्य सुरक्षा अधिकारी द्वारा बताया गया कि चलित प्रयोगशाला के भ्रमण के दौरान किसी भी जागरूक उपभोक्ता के द्वारा मात्र 10 रुपये के न्यूनतम शुल्क पर खाद्य पदार्थो में मिलावट की प्रारंभिक जाँच करवाई जा सकती है। जाँच में नमूने फेल पाए जाने पर सम्बन्धित दुकानदार को आवश्यक सुधार हेतु नोटिस जारी करी लीगल नमुना की कार्यवाही भी की जाएगी।


जनसुनवाई में 37 आवेदन प्राप्त हुए, जनसुनवाई में प्राप्त आवेदन का निराकरण 7 दिवस में सकारात्मक रूप से करे -


झाबुआ। अपर कलेक्टर श्री जे.एस.बघेल के द्वारा जनसुनवाई में प्राप्त किये गए। जनसुनवाई के आवेदन पत्र का निराकरण सकारात्मक रूप से 7 दिवस में किए जाने के निर्देश दिए गए। आज मंगलवार को जनसुनवाई में 37 आवेदन प्राप्त किए गए। जनसुनवाई में प्राप्त आवेदन जिसमें प्रार्थी प्रधान ग्राम पंचायत फुलधावडी जनपद पंचायत झाबुआ द्वारा प्रस्तुत आवेदन जिसमें ग्राम महुडी डुंगरी में हेण्डपम्प लगाने की मांग की है यहां की आबादी लगभग 400 है। प्राथी श्री विक्रम पिता मांगिलाल चावडा ग्राम पंचायत हडमतिया द्वारा भी हेण्डपम्प लगाए जाने एवं विद्युत मोटर लगाए जाने की मांग की है। प्राथी श्री हिरजी पिता रायचंद ग्राम पंचायत तलावली द्वारा प्रस्तुत आवेदन जिसमें 6 माह होने के पश्चात भी मेरा पीएम आवास का खाता नहीं बदला गया। तत्काल सुधार किया जाए। प्रार्थी श्री सुरज चौहान पिता स्व. श्री छगन चौहान ग्राम देवझीरी पण्डा झाबुआ द्वारा अनुकंपा नियुक्ति प्रदान किए जाने बाबत प्रस्तुत किया है। प्राथी श्री लाला श्री कलसिंह भूरिया निवासी बिलीडोज द्वारा प्रस्तुत आवेदन जिसमे आवास प्रदान करने बाबत प्रस्तुत किया है। प्रार्थी श्री अन्द्रेयास पिता श्री दानियल देवदा ग्राम बडी धामनी थांदला द्वारा प्रस्तुत आवेदन जिसमें सीमांकन कार्य करने बाबत प्रस्तुत किया है। प्रार्थी श्री लक्की गिदवानी पिता श्री तरू गिदवानी द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना अंतर्गत भू खण्ड आंवटीत करने बाबत आवेदन प्रस्तुत किया है। जनसुनवाई में इन प्रकरणों का सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर 7 दिवस के अन्दर प्राप्त प्रकरणों का निराकरण करे एवं इन आवेदन पत्रों की समीक्षा टीएल की बैठक में होगी। जिला अधिकारी उपस्थित थे एवं शेष एस.डी.एम राजस्व एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत, समस्त तहसीलदार, ,बी एम,ओ,सी,एम,ओ, वीडियो कांफ्रेनिं्सग के माध्यम से जुडे थे।


संजीवनी स्वास्थ्य शिविर 13 अपै्रल को आयोजित होगा


झाबुआ। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा के द्वारा निर्देश दिए गए हैं कि संजीवनी कैम्प 13 अपै्रल को जिले के सभी विकास खण्डों मे निर्धारित स्थान पर आयोजित किए जाए। जिसके लिए पर्याप्त व्यवस्था डॉक्टर्स की उपलब्धता सुनिश्चित कर ली जावे। ग्रामीण क्षेत्रों में इन कैम्पों के माध्यम से अधिक से अधिक ग्रामीणों का स्वास्थ्य चेकअप किया जाए। बीमारी की अवस्था में ईलाज उपलब्ध कराया जाए। इसके अतिरिक्त महत्वपूर्ण ग्रामीणों के आयुष्मान कार्ड शतप्रतिशत बन जाए। ऐसी व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। जिले के विकास खण्ड मेघनगर में चौखवाडा, देवदा, चेनपुरा, जामनिया, कल्याणपुरा में गुन्दीपाडा, भगोर, कल्लीपुरा, झायडा, रामा विकास खण्ड में काकडकुआ, छापरी रणवास, वागलावाट भूरिया, पालेडी, पेटलावद विकास खण्ड में रामनगर, कछबी, करवड, मोहनकोट राणापुर विकास खण्ड में जुना गांव अंधारवाड, खेडा अंधारवाड और मोरडुंडिया, थांदला विकास खण्ड में देवका, खांदन, मुजाल, मकोडिया में आयोजित होंगे। श्री मिश्रा ने आव्हान किया है कि इस संजीवनी कैम्प में अधिक से अधिक ग्रामीण उपस्थित होकर अपना स्वास्थ्य चेकअप करवाए। अपना आयुष्मान कार्ड बनाए। इस संबंध में कोई समस्या हो तो अवगत कराया जा सकता है।


समयावधि पत्रों की समीक्षा बैठक आयोजित, रोजगार मेला प्रतिमाह लगेगा -कलेक्टर


झाबुआ। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा की अध्यक्षता में समयावधि पत्र (टीएल) की बैठक आयोजित की गई। कलेक्टर महोदय द्वारा बैठक में निर्देश दिए कि जिले में रोजगार मेला प्रतिमाह लगाया जाए। स्कूलों में बच्चों को निर्धारित मेनु के अनुसार मध्यान्ह भोजन प्राप्त हो एवं उचित मुल्य की दुकान पर पर्याप्त राशन हो एवं सही समय पर ग्रामीणों को उपलब्ध हो, मेरे द्वारा भ्रमण पर यह पाया की उचित मुल्य की दुकानों पर खाद्यान समय पर वितरण नहीं हो रहा है। इस संबंध सख्त कार्यवाही की जावेगी। माननीय मुख्यमंत्री महोदय के द्वारा भी राशन समय पर ग्रामीणों को उपलब्ध हो ऐसे निर्देश है। सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणो में यदि कोई भी शिकायत विभाग में समाधान पोर्टल पर लंबित रहती है तो उसका तत्काल निराकरण करें। विलंब के लिए सख्त कार्यवाही की जावेगी। सीएम हेल्पलाइन में एल-1 एल-2 पर ही निराकरण संतुष्टिपूर्वक कर देवें। सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों का निराकरण अधिकतम 07 दिवस के अन्दर किया जाना सुनिश्चित किया जावे। जनसुनवाई के प्रकरणों में प्रकरणवार समीक्षा की एवं माननीय मुख्यमंत्री जी को प्रस्तुत आवेदन पत्रों कि समीक्षा की गई। सभी जिला अधिकारियों को निर्देश दिये कि आगामी सप्ताह मे सभी प्रकरणों का संतुष्टिपूर्वक निराकरण किया जाना सुनिश्चित करें। कलेक्टर महोदय इस सप्ताह से निरंतर शहर के वार्डो का निरीक्षण एवं व्यवस्था का जायजा लेगें। अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं नगर पालिका अधिकारी शहर मे हो रहे अतिक्रमण पर तत्काल कार्यवाही करे। कृषि विभाग फसल बीमा की राशि के भुगतान में प्राप्त सीएम हेल्पलाइन का निराकरण तत्काल किया जाना सुनिश्चित करें। जिले में संजीवनी हेल्थ कैंप लगाया जाएगा जो बुधवार और शनिवार को लगाए जाएंगे, व्यवस्था ऐसी सुनिश्चित की जाए कि आसपास की 4 ग्राम पंचायत इसमें शामिल हो इसमें सभी प्रकार की जांच वहां के लोगों की की जाए जिसमें सिकल सेल, एनीमिया, मलेरिया, हेपिटाइटिस, ब्लड टेस्ट, ब्लड प्रेशर ,टीका लगाया या नहीं, गर्भवती माताओं को समय पर टीका लगा या नहीं, किशोरी बालिकाओं के स्वास्थ्य के संबंध में यह आयोजन किया जाएगा। इसकी व्यापक रूप से मुनादी भी की जाएगी। जिस परिवार में एक आयुष्मान कार्ड है, वहां पर सभी सदस्यों के आयुष्मान कार्ड बनवा दिए जाएं। सभी जगह आदर्श खरीदी केंद्र बनाया जाए जहां उपार्जन के संबंध में सभी सुविधा उपलब्ध हो, बैठने की बेहतर व्यवस्था हो ,शुद्ध पेयजल भी उपलब्ध हो। गर्मी को देखते हुए पीएचई देखें कि जहां पर वाटर लेवल कम हुए वहां पर हैंडपंप का खनन पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। इसकी सतत मानिटरिंग करें। अवैध अतिक्रमण के लिए एक दस्ता प्रथक से बनाया जाए। ग्रामीण क्षेत्रों में सीईओ जनपद पंचायत को बनाया जाए और शहरी क्षेत्र में मुख्य का नगर पालिका अधिकारी के निर्देश में बनाया गया है। जिस पर राजस्व अमला तत्काल कार्यवाही भी करें। जिले में जो भी जर्जर मकान हो चुके हैं उन्हें तत्काल डिस्मेंटल किया जाए। बरसात के पूर्व यह कार्यवाही पूरा हो जाना चाहिए। दुकानों के बाहर सामग्री रखे जाने पर तत्काल कार्यवाही करें ,इससे सड़क बाधित होती है, इसके अतिरिक्त बस स्टेशन एवं आवागमन रोड पर अवैध रूप से सब्जी या फल विक्रेता अपनी दुकान लगाए रहते हैं, जिससे आवागमन बाधित होता ही है साथ ही दुर्घटना का खतरा बना रहता है। इसलिए यहां के अतिक्रमण तत्काल हटाए जाएं और जो लगा रहे हैं, उन पर कार्रवाई करें जुर्माना जी करें। मेरे भ्रमण के दौरान यदि इस तरह की अव्यवस्था दिखती है तो संबंधित सीईओ जनपद पंचायत या नगरपालिका अधिकारी के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। न्यायालय प्रकरण में समय सीमा में विभाग अपना जवाब प्रस्तुत कर दें। सीएम हेल्पलाईन के यदि 500 दिवस से उपर एवं 300 दिवस एवं 100 दिवस से अधिक लंबित प्रकरणों का तत्काल निराकरण सुनिश्चित करे। लंबित प्रकरणों की जानकारी भी अनिवार्य रूप से लावे एवं प्रतिवेदन को पोर्टल पर दर्ज करे। आगंनवाडी केन्द्रो को जिन विभाग के अधिकारियों के द्वारा गोद लिया गया है वहां पर बच्चों के पोषण का विशेष ध्यान रखें। कलेक्टर महोदय द्वारा निर्देश दिए की जिला अधिकारी भी आंगनवाडी गोद ले। इसके अतिरिक्त जनप्रतिनिधियों एवं वरिष्ट नागरिकों से भी आव्हान करें कि अपने क्षेत्र में चल रही आंगनवाडी को गोद ले एवं यहां पर बच्चों को पोषण की पर्याप्त व्यवस्था, बिजली की पर्याप्त व्यवस्था, शुद्ध पेयजल की पर्याप्त व्यवस्था, खिलोने आदि बच्चों के मंनोरंजन आदि की व्यवस्था करे एवं आंगनवाडी व्यवस्थित रूप से आकर्षक हो ऐसे प्रयास किए जाए। भू-माफिया, शराब माफिया एवं मिलावट खोरों, खनिज माफिया के लिए निरंतर छापामार कार्यवाही की जावे। अतिक्रमणों एवं गुण्डा तत्वों के विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही की जाए। फसलों को किसान के आधार से लिंक करवाए। जिससे किसानों को अपनी फसल को बचने में सुविधा हो यह कार्य गिरधावर एवं पटवारी प्रथम प्राथमिकता से करें। यह उनकी व्यक्तिगत जवाबदारी है। दतिया मॉडल पर कार्यवाही सुनिश्चित करें। कड़कनाथ मुर्गो की आनलाइन खरीदी का पोर्टल व्यवस्थित करें। केवीके से सम्पर्क करें। इसमें वेंडर को भी जोडे एवं डिस्टीबुटर से भी समन्वय करें। बैठक में पोषण पुर्नवास केन्द्र (एन.आर.सी.) पर बच्चों की भर्ती शतप्रतिशत हो जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग इसकी सतत समीक्षा करें एवं जिला अधिकारी भी अपने भ्रमण के दौरान इन एन.आर.सी. सेंटर का अवलोकन करें। बच्चों की माता को भी उचित पोषण आहार उपलब्ध हो, ऐसी सुविधा सुनिश्चित करें। किसी भी प्रकार की लापरवाही होने पर सख्त कार्यवाही की जाएगी। जल जीवन मिशन के अंतर्गत कार्यो की सतत समीक्षा की जावे। अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं तहसीलदार कार्यो का सत्यापन करे। सत्यापन करते समय यह देखे की जल जीवन मिशन का जहां पर कार्य लिया गया है। वहां पर जल स्त्रोत बेहतर हो, पानी की टंकी को देखे, पाईप लाईन को देखे, नल से पानी दिया जा रहा है या नहीं घरो में नल पर टोटी लगी हो, पानी व्यर्थ नहीं बह रहा हो, बिजली की पर्याप्त व्यवस्था हो। स्कूल वैक्सीनेशन की स्थिति अत्यन्त खराब है। राणापुर क्षेत्र में अच्छा काम हुआ है। 12 से 14 वर्ष के बच्चों को आगामी दो दिवस में कम से कम 50 प्रतिशत टीकाकरण हो जाए। जिले में संजीवनी हेल्प कैंप का आयोजन किया जाए। 375 ग्राम पंचायतों में लगभग 45 दिवस में हेल्थ कैंप पूर्ण हो जाए। ग्रामों में जहां संजीवनी कैम्प का आयोजन हो रहा है वहां पर अनिवार्य रूप से आयुष्मान कार्ड बनाए जाए। आयुष्मान कार्ड परिवार के सभी सदस्यों के बनाए जाए। किसी भी स्थिति में लापरवाही बरदाश्त नहीं की जाएगी। एक जिला एक उत्पाद जिसमें कडकनाथ एवं टमाटर उत्पादन लिया गया है। इन दोनों योजना में किसानों को कितना लाभ हुआ है। इसका भी आकलन किया जाए। बैठक में पीपीटी के माध्यम से मनरेगा, पीएम आवास प्रधानमंत्री ग्राम सडक योजना की समीक्षा की गई। मनरेगा लेबर बजट में सबसे अच्छा कार्य जनपद पंचायत पेटलावद में किया गया है एवं सबसे खराब परर्फामेंस जनपद पंचायत मेघनगर का होने पर एपीओ मेघनगर को नोटिस जारी करने के निर्देश दिए गए। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री सिद्धार्थ जैन, अपर कलेक्टर श्री जे.एस.बघेल, संयुक्त कलेक्टर श्री सुनील झा, डिप्टी कलेक्टर श्री तरूण जैन, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व झाबुआ श्री एल.एन.गर्ग, अतिरिक्ति मुख्य कार्यापालन अधिकारी जिला पंचायत श्री दिनेश वर्मा, एवं समस्त जिला अधिकारी उपस्थित थे। वीडियों कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पेटलावद श्री शिशिर गेमावत,  थांदला श्री अनिल भाना, मेघनगर श्रीमती अंकिता प्रजापति, समस्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत समस्त तहसीलदार समस्त बीएमओ समस्त सीएमओ समस्त सीईओ जनपद पंचायत जुडे थे।


प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजनान्तर्गत जिले में प्राथमिक एवं माध्यमिक शालाओं में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को साबुत मूंग वितरण के संबंध में बैठक आयोजित


झाबुआ। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा एवं जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सिद्धार्थ जैन के द्वारा प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजनान्तर्गत जिले में प्राथमिक एवं माध्यमिक शालाओं में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को साबुत मूंग वितरण के संबंध में समीक्षा बैठक कलेक्टर कार्यालय सभाकक्ष में आयोजित की गई। इस बैठक में कलेक्टर श्री मिश्रा ने संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। बैठक में श्री मिश्रा ने प्रा.विद्यालय एवं मा.विद्यालय में कुल दर्ज छात्र संख्या एवं वितरण किए जाने वाले साबुत मूंग की जांच कर वितरण करवाने के निर्देश दिए। प्राथमिक शालाओ के प्रति छात्र-छात्राओं को 176 शैक्षणिक दिवसों हेतु 10 किलो ग्राम साबुत मूंग एवं माध्यमिक शालाओं के प्रति छात्र-छात्राओं को 176 शैक्षणिक दिवसों हेतु 15 किलो ग्राम साबुत मूंग दिया जाना है। इस बैठक में जिला आर्पिति अधिकारी, प्रबंधक मध्य प्रदेश शिविल कारपोरेसन सप्लाई, समस्त बीईओ एवं जिला पंचायत से मध्यान्ह भोजन प्रभारी श्रीमती दिपीका रावत, सहायक एमडीएम प्रभारी श्री रमेश भूरिया, समस्त बीआरसी उपस्थित थे।


खण्ड शिक्षा अधिकारी विकास खण्ड थांदला को कारण-बताओं सूचना पत्र जारी


झाबुआ । सहायक आयुक्त, जनजातीय कार्य विभाग झाबुआ द्वारा खण्ड शिक्षा अधिकारी विकास खण्ड थांदला को पत्र क्रमांक/स्था./2022/425 थांदला, दिनांक 07. अप्रेल 2022 द्वारा प्रस्तुत प्रतिवेदन अनुसार प्रा.वि.मोवड़ीपाड़ा फलिया तलावड़ा संकूल केन्द्र कुकडीपाडा वि.ख.थांदला में दिनांक 06.अप्रेल .2022 को मा.वि.तलावडा में कक्षा 5वीं एवं 8वीं परीक्षा 2022 निरीक्षण के दौरान पर्यवेक्षक के रूप में कक्षा 5वीं की परीक्षा में 02 विद्यार्थी को फर्जी तरीके से किसी अन्य छात्र के स्थान पर सम्मिलित करवाये जाकर परीक्षा संपादित करवाई गई। आपको उक्त यह कृत्य म.प्र.सिविल सेवा(आचरण) नियम-1965 के नियम -3 प्रतिकूल होकर, शासकीय कार्य में रूची ना लेना, शासकीय कार्य में लापरवाही व उदासीनता बरतने तथा अनुशासनहीनता का द्योतक है। अतः क्यो न म.प्र.सिविल सेवा (वर्गीकरण नियंत्रण एवं अपील) नियम 1966 के नियम 9 के तहत निलंबित किया जाने हेतु प्रस्ताव वरिष्ठ कार्यालय को भेजा जावें। अतः जारी कारण-बताओं सूचना-पत्र का प्रत्युत्तर पत्र प्राप्ति के 03 दिवस के भीतर, अधोहस्ताक्षरकर्ता के समक्ष उपस्थित होकर, प्रतिउत्तर प्रस्तुत करना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए अन्यथा आपके विरूद्ध नियमानुसार अनुशासनात्मक कार्यवाही करने के निर्देश दिए।

कोई टिप्पणी नहीं: