बिहार : अब कोरोना का बूस्टर डोज भी पूरी तरह फ्री होगा - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

गुरुवार, 21 अप्रैल 2022

बिहार : अब कोरोना का बूस्टर डोज भी पूरी तरह फ्री होगा

booser-dose-free-in-bihar
पटना. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक हुई.बिहार में अब कोरोना का बूस्टर डोज भी पूरी तरह फ्री होगा. किसी को इसके लिए कोई राशि नहीं चुकानी होगी.60 प्लस वालों को जहां केंद्र सरकार फ्री में बूस्टर डोज लगवा रही है.वहीं, अब 18 से 60 आयु वर्ग के लोगों के बूस्टर डोज का खर्च बिहार सरकार वहन करेगी. राज्य के लगभग 6 करोड़ लोगों को इसका लाभ मिलेगा. मालूम हो कि इस बैठक में प्रस्ताव पारित किया गया कि बिहार में 18 वर्ष के 59 वर्ष तक के लोगों को कोरोना का बूस्टर डोज मुफ्त में लगेगा. इस पर होने वाला खर्च राज्य सरकार वहन करेगी. इसके लिए 1314 करोड़ 15 लाख की स्वीकृति राज्य कैबिनेट ने दी है. इनमें से 583 करोड़ 43 लाख बिहार आकस्मिकता निधि से जारी करने की भी स्वीकृति दी गई है. राज्य सरकार के इस फैसले से करीब छह करोड़ लोगों को लाभ पहुंचेगा.मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में सोमवार को हुई कैबिनेट की बैठक में कुल 26 प्रस्तावों पर स्वीकृति दी गई. मालूम हो कि 60 साल से ऊपर और फ्रंटलाइन कर्मियों को बूस्टर डोज पहले से ही निःशुल्क दिया जा रहा है. अब राज्य सरकार ने 18 से 59 साल के लोगों के लिए बूस्टर डोज को फ्री कर दिया है.बिहार में अबतक नौ लाख 88 हजार 056 व्यक्तियों को कोरोना टीके की बूस्टर डोज दी जा चुकी है.वर्तमान में बूस्टर डोज हेल्थ वर्कर, फ्रंटलाइन वर्कर्स एवं 60 साल से अधिक उम्र के व्यक्तियों को मुफ्त में दिया जा रहा है. वहीं, कोविन पोर्टल के अनुसार सोमवार की शाम तक बिहार में 12 करोड़ 72 लाख 83 हजार 708 कोरोना टीके की खुराकें दी गई हैं. इनमें 6 करोड़ 94 लाख 95 हजार 622 कोरोना टीके की पहली खुराक और 5 करोड़ 68 लाख 30 कोरोना टीके की दूसरी खुराक दी जा चुकी है.

 

इससे पहले कहा जा रहा था कि प्राइवेट सेंटर के लिए कोविशील्ड की कीमत 500 रुपये प्रति डोज, कोवैक्सीन 1200 रुपये प्रति डोज, स्पूतनिक वी 948 रुपये प्रति डोज है. इसमें जीएसटी शामिल नहीं है. वैक्सीन पर जीएसटी की दर 5 प्रतिशत है. इसके अलावा 150 रुपये सर्विस चार्ज भी देना होगा. ऐसे में यदि आप कोवैक्सीन लगवाते हैं तो आपको कोवैक्सीन की एक डोज 780, कोविशील्ड की एक डोज 1422 और स्पूतनिक की एक डोज 1145 रुपये खर्च करने होंगे. केंद्र सरकार ने पिछले साल भी प्राइवेट वैक्सीनेशन सेंटर्स के लिए 150 रुपये प्रति डोज की कीमत तय की थी. वहीं, खबर है कि कोविशील्ड बनाने वाली कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने कोविशील्ड की कीमत को 600 रुपये से घटाकर 225 रुपये करने का फैसला किया है. ऐसे में कोविशील्ड के एक बूस्टर डोज की कीमत अब 405 रुपये होगी. कोविशील्ड के बाद कोवैक्सीन ने भी कोरोना के एक डोज की कीमत में कमी की जानकारी दी.कोवैक्सीन की कीमत भी 1200 रुपये से प्रति डोज से घटाकर 225 रुपये प्रति डोज हो गई है. राज्य के सभी राशन कार्डधारी परिवारों को प्रति वर्ष पांच लाख तक का इलाज मुफ्त में किया जाएगा.कैबिनेट ने इसकी स्वीकृति दी है.बैठक के बाद कैबिनेट के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने कहा कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अंतर्गत बिहार के 84 प्रतिशत परिवारों की सूची शामिल है.इस सूची में शामिल 55 प्रतिशत लोग केंद्र सरकार की आयुष्मान योजना के लाभुक हैं.आयुष्मान योजना के तहत उनके पांच लाख तक इलाज की मुफ्त व्यवस्था की गई है. जबकि सूची के शेष 29 प्रतिशत लोगों को, जिन्हें आयुष्मान योजना का लाभ नहीं मिलता है, उन्हें अब इसी तर्ज पर राज्य सरकार अपने पैसे से पांच लाख तक का इलाज मुफ्त में कराएगी. राज्य सरकार की इस योजना का लाभ करीब 80 लाख परिवारों को मिलेगा.

कोई टिप्पणी नहीं: