मधुबनी : बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना के लिए सुनहरा अवसर - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

सोमवार, 2 मई 2022

मधुबनी : बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना के लिए सुनहरा अवसर

  • जिलाधिकारी की अपील, जिले के अधिक से अधिक युवा बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना का उठाये लाभ।

bihar-suden-credi-card-madhubani
बिहार, कई लड़के-लड़कियां इच्छा के बावजूद उच्च शिक्षा हासिल नहीं कर पाते हैं। पैसे की कमी के चलते कुछ बेहतर प्रयास करने की उनकी हसरत दम तोड़ देती है।ऐसे ही गरीब विद्यार्थियों की मदद के लिए बिहार की सरकार ने एक शानदार योजना बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना 2 अक्टूबर 2016 को लॉन्च किया गया था। BSCCS योजना को लागू करने के लिए सरकार ने शिक्षा वित्त निगम (Education Finance Corporation) की स्थापना की है। अब तक इस योजना के तहत जिले  के काफी संख्या में छात्रों ने लाभ उठाया है और उच्च शिक्षा के अपने सपनो को साकार किया है। जिलाधिकारी ने जिले के इस वर्ष इंटर पास छात्र-छात्राओं से अपील किया है कि उच्च शिक्षा प्राप्त करने हेतु इस योजना का जरूर लाभ उठाएं। उनके निर्देश पर डीआरसीसी के अधिकारी संस्थानों एवम विद्यालयो में जाकर लाभुकों को जागरूक भी कर रहे है,साथ ही उनका मार्गदर्शन भी कर रहे है। गौरतलब हो कि इस योजना के अंतर्गत शिक्षा ऋण अधिकतम चार लाख रूपये तक स्वीकृत की जाएगी। इस ऋण राशि पर अधिस्थगन अवधि जो कि पाठ्यक्रम समाप्ति से एक वर्ष तक अथवा आवेदक के नियोजित होने के अधिकतम 6 माह (जो सबसे पहले हो) तक ब्याज की राशि देय नहीं होगी। इस ऋण राशि पर सरल ब्याज की दर 4 प्रतिशत होगी। इसके अंतर्गत महिला, दिव्यांग एवं ट्रांसजेन्डर आवेदकों को मात्र 1 प्रतिशत सरल ब्याज की दर से ऋण उपलब्ध कराया जाएगा। अगर आपको बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना आवेदन फार्म भरने में कोई दिक्कत आ रही तो आप प्रबंधक डीआरसीसी से सम्पर्क कर सकतें हैं ।

 

किसे मिल सकता है BSCCS योजना का लाभ? 

बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड स्कीम (बीएससीसीएस या BSCCS) का लाभ ऐसे विद्यार्थी उठा सकते हैं, जो 12वीं की परीक्षा पास कर चुके हैं. BSCCS योजना के तहत गरीब छात्रों को बैंक से आगे की पढ़ाई के लिए लोन मिलता है। BSCCS योजना की खास बात यह है कि इसके तहत लिए गए कर्ज की गांरटर राज्य सरकार खुद है।


BSCCS में कितना लोन मिलेगा? 

BSCCS योजना के तहत विद्यार्थी बैंक से 4 लाख रुपये तक का लोन हासिल कर सकते हैं. राज्य सरकार ने इसके लिए एक दर्जन से ज्यादा बैंकों के साथ समझौता किया है।


कैसे करें BSCCS में आवेदन? 

BSCCS योजना इसलिए भी अच्छी है कि विद्यार्थी एप या पोर्टल के जरिए आवेदन कर सकते हैं. उन्हें बैंक की शाखाओं का चक्कर लगाने की जरूरत नहीं है। बिहार के ऐसे विद्यार्थी को https://www.7nishchay-yuvaupmission.bihar.gov.in पर आवेदन करना होगा।


BSCCS के लिए कौन-कौन से दस्तावेज जरूरी? 

BSCCS योजना का लाभ उठाने के लिए कई दस्तावेज जरूरी हैं। इसलिए अगर आप इस योजना में आवेदन करना चाहते हैं तो आपको ये दस्तावेज पहले से तैयार रखने चाहिए.

आवेदक और सह-आवेदक के आधार कार्ड

आवेदक और सह-आवेदक का पैन

10वीं और 12वीं के सर्टिफिकेट एवं मार्क्सशीट

उच्च शिक्षण संस्थान में दाखिले का प्रमाणपत्र

विद्यार्थी, माता-पिता और गांरटर में से सभी के 2-2 फोटो


निवास प्रमाण पत्र

परिवार का आय प्रमाणपत्र और फॉर्म 16

माता-पिता के बैंक खाते का छह महीन का स्टेटमेंट

आवदेक का पहचान पत्र (आधार कार्ड, पासपोर्ट, मतदालात पहचान पत्र, ड्राइविंग लाइसेंसे आदि)


क्या है BSCCS का मकसद? 

BSCCS योजना के जरिए राज्य सरकार कई मकसद पूरा करना चाहतीहै।

पहला, वह राज्य में उच्च शिक्षा के लिहाज से साक्षरता के आंकड़े को सुधारना चाहती हैं । राज्य में विद्यार्थियों का बड़ा हिस्सा 10वीं-12वीं के बाद पढ़ाई छोड़ देता है।

दूसरा, सरकार राज्य में मौजूद टैलेंट को बढ़ावा देना चाहती है।

तीसरा, सरकार चाहती है कि लोन के लिए छात्र को बैंक का चक्कर नहीं काटना पड़े. करीब एक महीने में इस स्कीम में लोन की प्रक्रिया पूरी हो जाती है।

कोई टिप्पणी नहीं: