सीहोर (मध्य प्रदेश) की खबर 01 मई - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 1 मई 2022

सीहोर (मध्य प्रदेश) की खबर 01 मई

जाटव समाज डॉ अम्बेडकर धर्मशाला निर्माण समिति भंग.शीघ्र होंगे चुनाव 


sehore news
सीहोर। डॉक्टर अम्बेडकर नगर स्थिति अनुसुचित जाति वार्ड क्रमांक 11 के संत शिरोमणी रविदास मंदिर प्रांगण में संत रविदास महाराज की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर मजदूर दिवस के अवसर पर जाटव समाज के सामाजिक बंधुओंं के द्वारा एक अति आवश्यक बैठक आयोजित कर जाटव समाज डॉक्टर अम्बेडकर धर्मशाला निर्माण समिति को सामुहिक प्रस्ताव के द्वारा सर्वसहमति से भंग कर दिया गया है। जाटव समाज अध्यक्ष श्यामलाल महोबिया के निधन के बाद कार्यकारिणी भंग थी लेकिन कुछ तथा कथित व्यक्तियों के द्वारा समाज के लोगों को विश्वास में नहीं लेते हुए आनन फनन में चंद्र लोगें के बीच अनुचित तरिके से अध्यक्ष चु न लिया गया। इसे लेकर समाज के महिला पुरूष मजदूर एवं प्रबुद्ध वर्ग में  भारी आक्र ोश अत्पन्न हो गया था। उक्त तथा कथित पदाधिकारियों के द्वारा डॉ अम्बेडकर धर्मशाला में चंदे की राशि से चंद लोंगों के द्वारा समाज को विश्वास में नहीं लेते हुए अपनी मर्जी से निर्माण कार्य कराया जा रहा था समाज के द्वारा समय समय पर आय व्य का लेखा जोखा मांगने पर हिसाब नहीं दिया जा रहा था। कुछ पदाधिकारियों के द्वारा इसे लेकर आंख दिखाकर मारपीट पर उतारू हो जाते थे प्रबुद्ध वर्ग के लोगों के द्वारा डॉ अम्बेडकर धर्मशाला में आयोजित बैठकों में किनारा करते हुए जाने से डरते थे इसे लेकर रविदास मंदिर में बैठक का आयोजन कर जाटव समाज की पूरानी समिति को भंग कर आगामी आने वाले समय में निश्चित समय सीमा में सर्वसहमति से अध्यक्ष सहित शेष पदाधिकारियों का चुनाव कराने का निर्णय लिया गया है। उक्त बैठक में प्रमुख रूप से क्षेत्रीय पार्षद नरेंद्र खंगराले, गुमान सिंह जाटव, कोषाध्यक्ष सुरेंद्र कचनेरिया, नारायण सिंह परिहार, देवी सिंह चौधरी, पूर्व अध्यक्ष सन्नी जाटव, शुभम कचनेरिया, नरेंद्र बगवैया, कमल किशौर जाटव, धमेंद्र कचनेरिया, चंचल महोबिया, राहुल जाटव, संतोष अहिरवार, टीटू कचनेरिया, राकेश जाटव, जयराम जाटव, वीरू जाटव,महेंद्र गंगाराम, भंवरलाल फरेले, मोनू जाटव, भोला कचनेरिया, सागर जाटव, छोटू कचनेरिया, नीरज कचनेरिया,आकाश मंगरोलिया,कपिल महोबिया, महेंद्र जाटव, नीरज कचनेरिया बलवीर जाटव आदि शामिल रहे।


महाजन के नेतृत्व पांच सौ कार्यकर्ता, शुरू करेंगे शहर में हस्ताक्षर अभियान

  • कार्यमंगलम में रविवार को आयोजित कार्यकर्ता बैठक में लिया गया निर्णय, सरकारी अस्पताल में जारी भ्रष्टाचार अव्यवस्थाओं को लेकर करेंगे प्रदर्शन

sehore news
सीहोर। शहर में पांच सौ कार्यकर्ता गौरव सन्नी महाजन के नेतृत्व में हस्ताक्षर अभियान शुरू करेंगे। सरकारी अस्पताल में जारी भ्रष्टाचार अव्यवस्थाओं को लेकर घर घर पहुंचकर कार्यकर्ता नागरिकोंं से समर्थन मागेंगे। सी.टी स्केन मशीन अस्पताल में होते हुए भी कई वर्षो तक मरीजों से सी.टी स्केन के 2250 वसूली भृष्टाचार करने का जबाव अस्पताल के जिम्मेदार अधिकारियों से मांगेगे। नागरिकों के हस्ताक्षर युक्त शिकायती फार्मो को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कें कार्यालय भेंजेंगे। कार्यकर्ताओं को हस्ताक्षर फार्मा का वितरण किया गया। कार्यमंगलम में रविवार को शहर के विभिन्न वार्डो से बैठक में पहुंचे कार्यकर्ताओं को गौरव सन्नी महाजन ने संबोधित किया। महाजन ने कहा की आज हीं अस्पताल में समय पर एंबुलेंस नहीं पहुंचने से  दुर्घटना में घायल पिता पुत्री की मौत हो गई है। अस्पताल लापरवाही का अडड़ा हीं बन गया है। जिला अस्पताल में रेडियोलाजिस्ट की पदस्थापना होने के बावजूद सोनोग्राफी मशीन बंद पड़ी है। अस्पताल में छोटे-छोटे आपरेशन भी नहीं किये जा रहे हैं। डिलेवरी के अधिकतर प्रकरण प्रायवेट अस्पताल में रैफर किए जा रहे है। जिला अस्पताल में कई वर्षो से मरीजो से सी.टी स्केन के 2250 रूपये की वसूली की गई है मशीन होते हुए भी गरीबों से भारी भरकम राशि की अवैधानिक वसूली कर भृष्टाचार किया गया है हॉल ही में मरीजो को एक्सपायरी डेट की ग्लूकोज की वाटल लगाने का 7भी मामला सामने आ चुका है। मरीजो की जान के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। इसी प्रकार एक्सरे की सुविधा में भी समय तय कर नागरिकों को परेशान किया जा रहा है। लोगों को मजबूरन प्रायवेट एक्सरे कराना पड़ता है जिस में हजारों रूपये खर्च हो रहे है। अनेक कार्यकर्ताओं ने भी अस्पताल प्रबंधन की लापरवाहियों को लेकर आक्रोश प्रकट किया। बैठक  में प्रमुख रूप से गोविंद पहलवान राठौर, ज्ञान प्रकाश माथुर,मूलचंद्र छाया,विनोद यादव गुडडा, राजेश राय,देवेंद्र राठौर, तुलसीराम राठौर, नारायण सिंह, बिल्लू जोशी, शंकर महेश्वरी, लक्ष्मी प्रसाद, कमल प्रजापति,कमलेश अग्रवाल,महेश राठौर, संजय मिश्रा, संजय यादव, कमलेश महेश्वरी, आशीष विश्वकमाज़्ं, मोनी शमाज़्ं, यश अग्रवाल, अशोक मेवाड़ा, वंश डागर, विक्की भावसार, राहुल खरे,सन्नी यादव, रवि यादव, सागर सोनी, रोहित वशिष्ट, ओम प्रकाश, धरम पटारिया, राकेश कुमार राठौर, बलराम कुशवाह, हुकुम सिंह, दिनेश चावड़ा, अशोक गौतम, मन डागर, मुकेश खत्री,  दुगाज़् प्रसाद, सुरेश भारती, आशू राजोरिया, अभिलाष शमाज़्ं अशोक गौतम, लोकेश सोनी, जाहिद पठान, अजहर मंसूरी, सुधीर सोनी, देवेंद्र सेंगर,भागीरथ भारती मोनू मालवीय, नितिन राय.दीपक प्रजापति, नाना खत्री, प्रकाश परमार, प्रमोद खत्री, गुडडु रेकवार, पदम राय, सतीष बलोदिया दिपक कुमार राज मीना आदि शामिल रहे।


राष्ट्र निर्माण में है मजदूरों की महत्वपूर्ण भूमिका, फिर भी अभावों मेंं जीनों कों मजबूर है मजदूर-नागर

  • मजदूरों को मंहगाई भत्ता देने और सभी सरकारी योजनाओं में प्राथमिकता देने की मांग
  • असंगठित कामगार एवं कर्मचारी कांग्रेस ने अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस पर मजदूरों का किया सम्मान

sehore news
सीहोर। महंगाई से मजबूर हो चुके मजदूरों का तिलककरण कर असंगठित कामगार एवं कर्मचारी कांग्रेस ने पुष्प मालाएं पहनाकर और सूती गमछे भेंटकर सम्मान किया। जिला कांग्रेस कार्यालय में अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस के मौके पर रविवार को असंगठित कामगार एवं कर्मचारी कांग्रेस जिलाध्यक्ष राजेंद्र नागर के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं के द्वारा सम्मान कार्यक्रम आयोजित किया गया। मजदूरों को संबोधित करते हुए असंगठित कामगार एवं कर्मचारी कांग्रेस जिलाध्यक्ष राजेंद्र नागर ने कहा की राष्ट्र निर्माण में मजदूरों की महत्वपूर्ण भूमिका है फिर भी  मौजूदा सरकारों की मजदूर विरीधी नीतियों के कारण मजदूर अभावों मेंं जीने को मजबूर है। महंगाई ने मजदूरों की कमर तोड़कर रख दी है और पर्याप्त काम भी नहीं मिल रहा है। एैसे हालातों में केंद्र और राज्य सरकार झूठे वादे कर अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस मनाने का नाटक कर रही है। असंगठित कामगार एवं कर्मचारी कांग्रेस के द्वारा रविवार को सुरज सिंह ठाकुर, राधेश्याम मालवीय, रामप्रसाद कुशवाह, भोजराज यादव, खुशीलाल केवट, सत्यानारायण विश्वकर्मा, नंद्रकिशौर यादव, महेश लोधी, ललित मालवीय, विजय यादव, रामचरण भील, दीलिप कौशल आदि मजदूरों को आमंत्रित किया गया। कार्यालय परिसर में सभी मजदूरों का सम्मान किया गया। असंगठित कामगार एवं कर्मचारी कांग्रेस  के द्वारा मजदूरों को मंहगाई भत्तादेने सभी सरकारी योजनाओं में मजदूरों के बच्चों को प्राथमिकता देने की मांग जिला प्रशासन से की गई। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से मृदुलराज तोमर, भगत सिंह तोमर, अजय रैकवार, राजेश कौशल,पंकज शर्मा, नवेद खान, ओम सोनी, पूरन शाक्य, सुरेंद्र कौशल आदि कांग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित रहे। 


हरियाली अमावस्या से एक माह तक चलाया जाएगा नर्मदा के दोनो तटो पर पेड़ लगाने का अभियान

  • नर्मदा परिक्रमा यात्रा जल संरक्षण और संबर्धन के लिए उपयोगी साबित होगी, भूजल स्तर बढ़ाने नर्मदा के दोनों तटो पर तालाब निर्माण किए जाए, किसान प्राकृतिक खेती अपनाएं - मुख्यमंत्री श्री चौहान
  • नर्मदा परिक्रमा जल संरक्षण तथा संवर्धन के लिए प्रेरणादायक- प्रदेश अध्यक्ष श्री वीडी शर्मा
  • आंवलीघाट में नर्मदा संरक्षण एवं संवर्धन कार्यक्रम आयोजित

sehore news
महामंडलेश्वर श्री श्री 1008 श्री ईश्वरानंद उत्तम स्वामी महाराज के नेतृत्व में नर्मदा परिक्रमा यात्रा के समापन अवसर पर सीहोर जिले के नर्मदा आंवलीघाट में नर्मदा सेवा मिशन द्वारा नर्मदा संरक्षण एवं संवर्धन कार्यक्रम आयोजित किया गया।  नर्मदा परिक्रमा में 182 यात्रियों द्वारा 3445 किलोमीटर की यात्रा 165 दिन में पूरी की गई। नर्मदा परिक्रमा का संयोजन श्री तपन भौमिक द्वारा किया गया। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि नर्मदा अविरल कल-कल छल-छल बहती रहे, इसके लिए जरूरी है कि नर्मदा के दोनों तटों पर तथा नर्मदा के कैचमेंट एरिया में अधिक से अधिक पेड़ लगाए जाए। इसके साथ ही नर्मदा तट के किसान अपने खेतों में फलदार पेड़ लगाएं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि नर्मदा के पावन जल को दूषित होने से रोकने के लिए मल एवं गंदगी को नर्मदा में जाने से रोकना होगा। उन्होंने कहा कि नर्मदा के कैचमेंट एरिया में जहां भी यूकेलिप्टस के पेड़ लगे होंगे, उन्हें हटाना होगा। यूकेलिप्टस पानी को अवशोषित कर धरती को बंजर बना देता है।  उन्होंने कहा कि साल के पेड़ अधिक से अधिक लगाए जाएंगे, क्योंकि साल के पेड़ अपनी जड़ों से पानी छोड़ते हैं, जो छोटी-छोटी धाराओं के रूप में नर्मदा में मिलता है और नर्मदा की धार को अविरल बनाता है। उन्होंने कहा कि नर्मदा का संरक्षण और संवर्धन केवल सरकार अकेले के बस की बात नहीं है, इसके लिए पूरे समाज को मिलकर काम करना होगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आगामी हरियाली अमावस्या के अवसर पर पेड़ लगाने का अभियान चलाया जाएगा। इस अभियान से पूरे समाज को जोड़ा जाएगा और हरियाली अमावस्या से हर रोज एक माह तक अधिक से अधिक पेड़ लगाए लगाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि जन अभियान परिषद पेड़ लगाने के स्थान और पेड़ की प्रजातियां निर्धारित करेंगे। उन्होंने उपस्थित लोगों को पेड़ लगाने और नर्मदा में गंदगी नहीं डालने का संकल्प भी दिलाया।


अमरकंटक के मेंकल पर्वत पर नही दी जाएगी निर्माण की अनुमति

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि नर्मदा के उद्गम स्थल अमरकंटक के मेंकल पर्वत पर किसी प्रकार के निर्माण की अनुमति नहीं दी जाएगी। अमरकंटक आने वाले पर्यटकों की सुविधा के लिए पर्वत के नीचे होटल, रेस्टोरेंट आदि के लिए अनुमति रहेगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किसानों से अपील की है कि वे नरवाई न जलाएं। नरवाई जलाने से धरती की उर्वरता नष्ट होती है। कीटनाशकों का अत्यधिक प्रयोग मानव स्वास्थ्य के लिए खतरा है।  उन्होंने कहा कि किसान प्राकृतिक खेती अपनाएं, शुरुआती दौर में वे कम भूमि पर प्राकृतिक खेती करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किसानों से कहा कि वह गाय पालन करें, इससे उन्हें प्राकृतिक खेती के लिए बड़ी मदद मिलेगी और सरकार की ओर से हर माह 900 रूपए गाय पालन के लिए दिया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अमृत सरोवर योजना के अंतर्गत नर्मदा के दोनों और अधिक से अधिक तालाब बनाना होगा इससे भूजल का स्तर बढ़ेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि नर्मदा परिक्रमा से लोगों में जागरुकता आएगी, जो नर्मदा के संरक्षण एवं संवर्धन के लिए उपयोगी साबित होगी।


नर्मदा परिक्रमा जन जागरूकता के लिए महत्वपूर्ण - प्रदेश अध्यक्ष श्री वीडी शर्मा

सांसद एवं प्रदेश भाजपा अध्यक्ष श्री वीडी शर्मा ने कहा कि नर्मदा परिक्रमा जन जागरण के लिए बहुत महत्वपूर्ण है, इससे लोगों में मां नर्मदा के प्रति आस्था एवं उसके संरक्षण तथा संवर्धन की प्रेरणा मिलेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार मां नर्मदा के संरक्षण और संवर्धन के लिए अपने स्तर पर कार्य कर रही है, लेकिन इससे लोगों का और समाज का जुड़ना जरूरी है।


165 दिन की यात्रा का अनुभव अद्भुत- महामंडलेश्वर श्री श्री ईश्वरानंद उत्तम स्वामी

नर्मदा परिक्रमा यात्रा के प्रमुख महामंडलेश्वर श्री श्री 1008 श्री ईश्वरानंद उत्तम स्वामी ने कहा कि इस 165 दिन की यात्रा का अनुभव बहुत अद्भुत है, इसे कम समय में व्यक्त करना संभव नहीं है। इस परिक्रमा से समाज में चेतना का संचार हुआ है, जो यात्रा के दौरान ही दिखाई दे रहा था। आमजन परिक्रमा यात्रा के सहयोग के लिए स्वप्रेरणा से आगे आ रहे थे। कार्यक्रम में सांसद श्री रमाकांत भार्गव, केंद्रीय राज्य मंत्री श्री प्रहलाद पटेल, केंद्रीय मंत्री श्री फग्गन सिंह कुलस्ते, परिक्रमा यात्रा के संयोजक श्री तपन भौमिक, भाजपा के श्री कैलाश विजयवर्गीय,  मां कनकेश्वरी देवी तथा स्वामी श्री राजेंद्र दास ने भी संबोधित करते हुए कहा कि नर्मदा की संरक्षण एवं संवर्धन के लिए सभी को मिलकर काम करना होगा।


मुख्यमंत्री श्री चौहान चंपालाल के घर पहुंचे

मुख्यमंत्री श्री चौहान रेहटी तहसील के ग्राम मोगरा में श्री चंपालाल मेहरा के घर पहुंचे। उन्होंने परिवार की कुशलता पूछी और योजनाओं की जानकारी ली। उन्होंने बच्चों को दुलार किया और परिजनों के साथ फोटो खिंचाई। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बच्चों को पढ़ाई में कड़ी मेहनत करने और आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया।


यह थे उपस्थित

कार्यक्रम में वन मंत्री श्री विजय शाह, कृषि मंत्री श्री कमल पटेल, जल संसाधन मंत्री श्री तुलसी सिलावट, श्री गुरुप्रसाद शर्मा, श्री सुहास भगत, श्री आसाराम यादव, भाजपा जिला अध्यक्ष श्री रवि मालवीय, श्री रघुनाथ भाटी, सलकनपुर मंदिर ट्रस्ट अध्यक्ष श्री महेश उपध्याय, अभियान परिषद के उपाध्यक्ष डॉ. जितेंद्र जामदार, पूर्व विधायक श्री राजेंद्र सिंह राजपूत, श्री राजेश राजपूत, श्री नरेंद्र सिंह चौहान, संत श्री छोटे सरकार सहित अनेक संत एवं जनप्रतिनिधि  उपस्थित थे।


विधिक जागरूकता सह स्वास्थ्य परीक्षण शिविर आयोजित


sehore news
प्रधान जिला न्यायाधीश एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री आरएन चंद के निर्देश पर अंतर्राष्ट्रीय श्रम दिवस पर नगर के बाल विहार ग्राउंड में नगर पालिका, श्रम विभाग एवं समाजसेवियों के समन्वय से विधिक जागरूकता सह स्वास्थ्य परीक्षण शिविर आयोजित किया गया। स्वास्थ्य परीक्षण शिविर में स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा उपस्थित सभी श्रमिको का स्वास्थ्य परीक्षण कर दवाइयां वितरित की गई। शिविर में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री मुकेश कुमार दांगी ने श्रमिको के हितार्थ कानूनों व नालसा सालसा की योजनाओं के बारे में जानकारी दी एवं उनकी समस्याओं को सुना। शिविर में श्रम पदाधिकारी श्रीमती प्रियंका वंशिवाल, डॉक्टर्स की टीम, सामाजिक कार्यकर्ता एवं श्रमिक उपस्थित थे।


सड़क दुर्घटना मे घायल व्यक्ति की जान बचाने पर मिलेगा 5 हजार का पुरूस्कार


भारत सरकार के भू तल परिवहन विभाग द्वारा सड़क दुर्घटनाओं को रोकने तथा दुर्घटना होने पर घायलों की जान बचाने तथा शीघ्र उपचार उपल्ब्ध कराने हेतु गुड सेमीरिटन नेक व्यक्ति योजना संचालित की जा रही है। दुर्घटना मे घायल होने के बाद उन्हें अस्पताल पहुचाने वाले व्यक्ति से पुलिस द्वार पूछताछ नहीं की जायेगी, जान बचने पर संबंधित व्यक्ति को 5 हजार रूपये का पुरूस्कार कलेक्टर की अध्यक्षता मे गठित समिति के निर्णय के पश्चात दिया जायेगा। सडक दुर्घटनाओं की जानकारी आईरेड एप के माध्यम से संकलित की जाती है एप मे घटना की लाईव एंट्री,घटना के वाहन नं0, पोस्ट मार्टम रिपोर्ट की जानकारी दर्ज कराई जाती है।


बेरोजगार युवक-युवतियों के लिए नि:शुल्क प्रशिक्षण


मध्यप्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा कौशल विकास कार्यक्रम के तहत बेरोजगार युवक-युवतियों को निशुल्क प्रशिक्षण प्राप्त करने का सुनहरा अवसर प्रदान किया गया है। नि:शुल्क प्रशिक्षण के लिए युवाओं को 20 मई 2022 तक ऑनलाइन आवेदन करना होगा। साथ ही आवेदक को संलग्न दस्तावेजों की एक हार्ड कॉपी जिला पंचायत कार्यालय में जमा करानी होगी। नि:शुल्क प्रशिक्षण के लिए http://crisponlineservices.com/Services/khad/user_Registration_Khadi aspx पोर्टल पर ऑनलाईन आवेदन पत्र जमा कर सकते है। कौशल विकास कार्यक्रम के तहत वर्ष 2022-23 में बेरोजगार युवक-युवतियों को कम्प्यूटर हार्डवेयर रिपेयरिंग, कम्प्यूटर एकाउण्ट विथ टैली, ब्यूटी पार्लर, रेफ्रिजरेटर एवं एयर कण्डीशनर रिपेयरिंग, टू-थ्री-फोर व्हीलर रिपेयरिंग, ट्रेक्टर रिपेयरिंग, फूड प्रोसेसिंग (अचार मुरब्बा मसाले इत्यादि), बेकरी, प्लंबर राजमिस्त्री, बुड कारपेंटर, लेदर फुटवियर, लेदर गुडस, दोना पत्तल, इलेक्ट्रीशिन, घरेलू उपकरण मरम्मत, मोटर वाईडिंग, सोलर पैनल इन्स्टालेशन रिपेयरिंग, अगरबत्ती निर्माण, बेसिक सिलाई गारमेंट्स, फेशन डिजाइनिंग, वीडियोग्राफी, फोटोग्राफी, मोबाईल रिपेयरिंग, कृत्रिम आभूषण निर्माण कत्तिन बुनकर आदि व्यवसायों में निशुल्क प्रशिक्षण दिलवाये जाने के लिए ऑनलाईन आवेदन पत्र आमंत्रित किये गये है। अधिक जानकारी के लिए आवेदक जिला पंचायत के खादी ग्रामोद्योग बोर्ड से सम्पर्क करें।


निम्नदाब घरेलू उपभोक्ताओं को अधिकतम छूट की सीमा समाप्त, ऑनलाइन बिजली बिलों के भुगतान पर अब और ज्यादा छूट मिलेगी


मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा मध्यप्रदेश विद्युत नियामक आयोग के आदेशानुसार अब निम्नदाब घरेलू विद्युत उपभोक्ताओं को बिजली का बिल ऑनलाइन जमा करने पर पहले से और अधिक छूट का लाभ प्रदान किया जा रहा है। इस संबंध में कंपनी ने कार्यक्षेत्र के भोपाल, नर्मदापुरम्, ग्वालियर एवं चंबल संभाग के 16 जिलों के मैदानी अधिकारियों को निर्देश जारी कर दिये हैं। कंपनी ने बताया है कि पूर्व में मार्च तक निम्नदाब घरेलू कनेक्षनों के बिजली बिलों के ऑनलाइन भुगतान पर बिल राशि की 0.5 प्रतिशत छूट निर्धारित थी एवं उपभोक्ताओं को ऑनलाइन बिल भुगतान पर न्यूनतम 05 रूपये से अधिकतम 20 रुपये तक छूट दी जाती थी। अब नये निर्देशों के अनुसार कंपनी द्वारा निम्नदाब घरेलू उपभोक्ताओं को ऑनलाइन भुगतान पर उनके कुल बकाया बिल पर 0.50 प्रतिशत की छूट मिलेगी एवं अधिकतम छूट के लिए कोई सीमा बंधन नहीं है। नए निर्देशों के तहत अब 04 हजार रुपये से ज्यादा का कैशलेस बिजली बिल भरने वाले उपभोक्ताओं को पहले की तुलना में ज्यादा छूट मिल सकेगी। 05 हजार के कैशलेस बिल भुगतान पर 25 रुपये, 50 हजार रुपये के भुगतान पर 250 रुपये एवं 01 लाख के एलटी बिजली बिल कैशलेस भुगतान पर 500 रुपये की छूट मिल सकेगी। कंपनी उच्चदाब उपभोक्ताओं को प्रति बिल कैशलेस भुगतान पर पहले ही 100 रूपये से 1000 रुपये तक की छूट दे रही है। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक श्री गणेश शंकर मिश्रा ने उपभोक्ताओं से बिजली का बिल ऑनलाइन भुगतान करने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि उपभोक्ताओं को एम.पी.ऑनलाईन, कॉमन सर्विस सेन्टर, कंपनी पोर्टल portal.mpcz.in (नेट बैंकिंग, क्रेडिट/डेबिट कार्ड, यूपीआई, ईसीएस, बीबीपीएस, कैश कार्ड एवं वॉलेट आदि) फोन पे, अमेजान पे, गूगल पे, पेटीएम एप एवं उपाय मोबाइल एप के माध्यम से बिल भुगतान की सुविधा उपलब्ध है।


एक ही परिवार को हितग्राही मूलक लाभ देने की सीमा


पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की विभिन्न हितग्राहीमूलक योजनाओं में अधिक राशि का लाभ, परिवारों को दिया जाता है जिनमें कपिलधारा, नंदन फलोद्यान, मेरा खेत मेरी माटी जैसी उपयोजनाएं सम्मिलित हैं। साथ ही प्रधानमंत्री आवास योजना, डीडीयूजीकेवाय, मुख्यमंत्री ग्रामीण आवास योजना जैसी योजनाओं में भी सीमित संख्या में परिवारों को व्यक्तिगत लाभ देने का प्रावधान है। इन योजनाओं में सभी पात्र परिवारों को एक साथ लाभ देना संभव नहीं है, वहां यह ध्यान रखना आवश्यक है कि उपलब्ध संसाधन से अधिक से अधिक परिवार लाभान्वित हो सकें। इसलिए जब तक कि ग्राम पंचायत में सभी पात्र परिवारों को समान लाभ नहीं मिल जाता, एक परिवार को दिये जा रहे लाभ की राशि को सभी हितग्राहीमूलक योजनाएं मिलाकर 03 लाख रूपये तक सीमित करने के निर्देश दिए गए है। हितग्राहियों के चयन एवं प्राथमिकता निर्धारण में यह ध्यान दें कि ऐसी योजनाओं में एक ही परिवार को एक ही वित्तीय वर्ष में एक से अधिक योजनाओं के लाभ देने से पूर्व परीक्षण कर किया जाए कि ग्राम में उनसे अधिक पात्र हितग्राही तो उपलब्ध नहीं है। प्रयास यह होना चाहिए कि अधिक पात्र परिवार लाभान्वित हो सके तथा योजनाओं के अंतर्गत लाभ अधिक विस्तारित हों।


योजनाएं जिनमें यह लागू होगा

हितग्राहीमूलक योजनाओं में एक ही परिवार को लाभ देने की सीमा महात्मा गांधी नरेगा-व्यक्तिगत योजनाएं, आवास योजनाएं - मुख्यमंत्री आवास योजना एवं प्रधानमंत्री आवास योजना, मध्यप्रदेश राज्य आजीविका मिशन - आर्थिक कल्याण योजना स्वरोजगार योजना एवं आजीविका मिशन की अन्य योजनाएं स्वच्छ भारत मिशन शौचालय निर्माण आदि योजनाओं पर लागू की जाएगी।


गौपालन एवं गौ संवर्धन बोर्ड को दान करने पर मिलती है आयकर में छूट


आयकर विभाग द्वारा मध्यप्रदेश गौपालन एवं गौ संवर्धन बोर्ड को 80-जी (5) (V1) आयकर नियम 1961 के अंतर्गत छूट प्राप्त है। बोर्ड को www.gopalanboard.mp.gov.in पर ऑनलाइन पेमेंट के माध्यम से दान दिया जा सकता है। बोर्ड का बैंक खाता क्रमांक 10078152744 भारतीय स्टेट बैंक आईएफएससी IFSC SBIN0030388 शाखा नर्मदा भवन भोपाल है। दान की राशि आरटीजीएस/एनईएफटी करने पर दानदाताओं के नाम, पिता का नाम, वर्तमान का पता, पेन नंबर और आरटीजीएस/एनईएफटी का रेफ्रेंस नंबर और दिनांक बोर्ड को mpgopalanboard@gmail.com पर ईमेल के माध्यम से भेजना होगी। दानदाताओं से अपील है कि गौशालाओं में आश्रित गौवंश के पालन एवं संवर्धन में सहयोग प्रदान करने के लिए अधिक से अधिक दान करें एवं आयकर में प्राप्त छूट का लाभ उठाएं।


कृषि विकास विभाग द्वारा किसानों को जैविक खेती अपनाने की सलाह


किसान-कल्याण तथा कृषि विकास विभाग ने कहा हैं कि जैविक और प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने के लिए सरकार सभी संभव उपाय करेगी। कृषि विभाग ने कहा हैं कि मध्यप्रदेश की खेती- किसानी में बढ़ते पेस्टिसाइड और रासायनिक खाद के उपयोग को रोकने के जैविक खाद निर्माण की प्रक्रिया को बढ़ाया जाएगा। इसके लिए सरकार पशुपालन विभाग के साथ मिलकर एक नए मॉडल को विकसित कर लागू करेगी। कृषि विभाग ने कहा कि गौशालाओं में निजी भागीदारी भी सुनिश्चित करने के प्रयास करेंगे, जिससे जैविक खाद निर्माण में और अधिक बेहतर परिणाम प्राप्त हो सके। पशुपालन विभाग के साथ  कृषि विभाग के वैज्ञानिक अनुसंधान कर प्रदेश की गौशालाओं को आत्म-निर्भर बनाएंगे। निजी सहभागिता से चलने वाली गौशालाओं की सतत निगरानी की जाएगी, जिससे गौशालाओं का व्यवस्थित संचालन हो। गोबर और गोमूत्र का उपयोग हो और किसानों को गुणवत्तापूर्ण खाद मिल सके। 


राज्य स्तरीय खेलवृत्ति के लिए आवेदन 31 मई तक


मध्यप्रदेश शासन के खेल और युवा कल्याण विभाग द्वारा 1 अप्रैल 2021 से 31 मार्च 2022 के मध्य आयोजित अधिकृत राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में पदक विजेता जिले के प्रतिभावान खिलाड़ियों से वर्ष 2022 की राज्य स्तरीय खेलवृत्ति के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। अधिकृत राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक विजेता खिलाड़ी को 10,000 रूपये, रजत पदक पर 8,000 रूपये एवं कास्य पदक पर 6,000 रूपये खेलवृत्ति राशि प्रदान करने का प्रावधान हैं। वर्ष 2022 की खेलवृत्ति के लिए आवेदन 31 मई तक स्वीकार किए जा सकेंगे। खेलवृत्ति के लिए निर्धारित दिशा निर्देश व नियमावली विभागीय बेवसाइट पर उपलब्ध है।


ऊर्जा साक्षरता अभियान (USHA) के क्रियान्वयन के निर्देश        


ऊर्जा साक्षरता अभियान (USHA) के क्रियान्वयन के दिशा निर्देश जारी वर्तमान परिदृष्य मे जलवायु परिवर्तन के पर्यावरणीय दुष्प्रभाव वैश्विक स्तर पर परिलक्षित हो रहे है। इस स्थिति से प्रत्येक व्यक्ति अवगत है तथा प्रत्यक्ष परोक्ष रूप से भागीदार भी है। वार्निंग और जलवायु परिवर्तन के प्रभाव से निपटने की दिशा में कदम बढ़ाते हुए मुख्यमंत्री द्वारा नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय, भारत सरकार के आदित्य में ऊर्जा साक्षरता अभियान (UShA) का शुभारंभ 25 नवम्वर को किया गया है। मन्त्रिपरिषद् की बैठक में भी प्रदेश में व्यापक रूप से ऊर्जाक्षरता अभियान को मिशन मोड में शियान्त्रित किए जाने का अनुमोदन किया गया है। इसकी निरंतरता में सीहोर जिल में अभियान के सफल क्रियान्वयन किया जाना है। इसके लिए जिला कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने डिप्टी कलेक्टर श्री रवि वर्मा को नोडल अधिकारी नियुक्त कर निर्देश दिए है कि ऊर्जा साक्षरता अभियान के सफल कियान्वयन के लिए शासन निर्देशानुसार कार्य करना सुनिश्चित किया जाए। इस अभियान के माध्यम से जिले के समस्त नागरिकों को समयबद्ध कार्य योजना अनुसार ऊर्जा साक्षर किया जाना है। ऊर्जा साक्षरता अभियान (USHA) की विस्तृत जानकारी दी गई है। ऊर्जा साक्षरता अभियान (UShA) में स्कूली छात्रों, कॉलेज के छात्रों कृषकों, गृहणियों जन अभियान परिषद् NGO, आमजन तथा सभी नागरिकों द्वारा भाग लिया जाना है। ऊर्जा साक्षरता अभियान (UShA) से जुड़ने हेतु www.usha.mp.gov.in पर Login किया जा सकता है इस अभियान से जुड़ना अत्यंत सरल है। तथापि अभियान को जन-जन तक पहुंचाने के लिए जिले के प्रभारी मंत्री एवं स्थानीय जन प्रतिनिधियों को भी इससे अवगत कराएँ तथा उनकी भागीदारी का अनुरोध किया जाए। ऊर्जा साक्षरता अभियान से सम्बन्धित उत्कृष्ट कार्य करने वाले नागरिकों स्कूली छात्र संस्थानों आदि को पुरुस्कृत करने के लिए (जिला स्तरीय "UShA Award") की घोषणा शीघ्र ही की जा रही है। जिले की वर्तमान जन संख्या का कम से कम 209% लोगों को इस अभियान में केवल रजिस्टर्ड कराना है अपितु उनको UShA की वेबसाइट पर दिए गए साक्षरता माड्यूल क्लियर वा सर्टिफिकेट यूजर की श्रेणी में लाना है। यह कार्य जिसे को दिनांक 01 नवम्बर 2022 के पूर्व पूर्ण करने का लक्ष्य रखा गया है। नियुक्त नोडल अधिकारी की जानकारी के लिए गूगल शीट (https://docs.commarat stuCu3QHrenM 1|Dyfo111 (02K3kG- A4-yYWCD1ARVAgkw/edit?usp=sharing) में अपडेट किया जाए।


घरेलू हिंसा की पीड़िता को मुआवजे का प्रावधान, अधिकतम 4 लाख तक की सहायता राशि दी जाएगी


घरेलू हिंसा से महिला संरक्षण अधिनियम 2005 घरेलू हिंसा के विरुद्ध संरक्षण एवं सहायता का अधिकार देता है, जिनमें शारीरिक हिंसा, लैंगिक हिंसा, मौखिक और भावनात्मक हिंसा, आर्थिक हिंसा इत्यादि सम्मिलित है। योजनान्तर्गत घरेलू हिंसा से पीड़ित महिलाओं, बालिकाओं को ऐसी हिंसा के कारण शारीरिक क्षति होने पर क्षतिपूर्ति, के रूप में सहायता राशि दिए जाने का प्रावधान है। इस योजना के क्रियान्वयन एवं आवश्यक कार्यवाही के लिए कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने पुलिस अधीक्षक, सीएमओ स्वास्थ्य और परियोजना अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग को योजना के दिशा निर्देशानुसार आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिए है। योजनान्तर्गत प्राप्त आवेदन पत्रों को निराकरण के लिए जिला स्तरीय समिति का गठन किया गया है। इस समिति के अध्यक्ष कलेक्टर श्री ठाकुर होगें। समिति में पुलिस अधीक्षक और मुख्य चिकित्सा अधिकारी समिति के सदस्य बनाये गये है। तथा सदस्य सचिव जिला कार्यक्रम अधिकारी को बनाया गया है। "क्षति" से आशय शारीरिक क्षति जो घरेलू नातेदार की ओर से किए गए किसी आपराधिक कृत्य अथवा लोप के परिणाम स्वरूप हुई हो। घरेलू हिंसा का वही अर्थ है, जो घरेलू हिंसा से महिला संरक्षण अधिनियम-2005 की धारा 3 में प्रावधानित है। घरेलू नातेदारी का यही अर्थ है, जो घरेलू हिंसा से महिला संरक्षण अधिनियम-2005 की धारा 2 (च) में प्राक्यानित है। संरक्षण अधिकारी, प्रशासक को आवेदक (पीड़िता आश्रित) द्वारा घटना की दिनांक से 01 वर्ष के भीतर आवेदन प्रस्तुत करना होगा। सूचना किसी भी माध्यम से प्राप्त होने पर संरक्षण अधिकारी, प्रशासक घरेलू हिंसा की घटना संज्ञान लेकर स्वमेव भी आवेदक के संपर्क कर आवेदन प्राप्त कर सकेगा। आवेदन के साथ घटना की एफआईआर दर्ज किया जाना होगा। संरक्षण अधिकारी, प्रशासक द्वारा अपना प्रतिवेदन जिला कार्यक्रम अधिकारी को कार्यवाही के लिए दिया जायेगा। योजना के अन्तर्गत प्राप्त आवेदन पत्रों को संबंधित जिले का जिला कार्यक्रम अधिकारी, गठित जिला स्तरीय समिति के समक्ष निर्णयार्थ रखेगा। सदस्य सचिव स्वीकृति जिला कार्यक्रम अधिकारी, महिला बाल विकास विभाग द्वारा जारी किया जाएगा। सहायता राशि का संवितरण आधार से जुड़े बैंक खाते के माध्यम से किया जायेगा। यदि पीड़िता अवयस्क है, तो मामले में क्षतिपूर्ति राशि अभिभावक के खाते में दी जा सकेगी। अवयस्था के खाते में सावधि जमा के संबंध में भी निर्णय जिला स्तरीय समिति द्वारा तात्कालीक परिस्थितियों के आधार पर लिया जा जाएगा।


योजना की निगरानी

जिला स्तरीय समिति द्वारा योजना के क्रियान्वयन की निगरानी तैमासिक आधार पर की जायेगी। जिला स्तरीय समिति द्वारा आवेदनों का परीक्षण व पुनरावलोकन कर राशि निर्धारण किये जाने के लिए कलेक्टर आवश्यकतानुसार बैठक आयोजित कर योजनान्तर्गत जिला स्तर पर जिले में पदस्थ महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों द्वारा समय-समय पर प्रगति की समीक्षा की जायेगी।


परिवहन एवं यात्रा

पीडिता को शारीरिक क्षति होने पर गंतव्य स्थल तक जिसमें पीड़ित महिला का प्रकरण न्यायालय में विचाराधीन रहने की अवधि भी शामिल है, आवागमन के लिये तत्कालीक रूप से परिवहन के वास्तविक व्यय की व्यवस्था जिला कार्यक्रम अधिकारी द्वारा की जाएगी जो कि सार्वजनिक परिवहन की दरों के अनुरूप होगा। घरेलू हिंसा के कारण पीड़िता के किसी अंग की स्थाई क्षति होने पर आर्थिक सहायता दी जायेगी इसके लिये प्रक्रिया जिला स्तर पर गठित समिति द्वारा शासन निर्देशानुसर निर्धारित कि जाएगी।


शहरी क्षेत्र के श्रमिकों को मिलेगी वृद्धावस्था पेंशन


नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह ने बताया है कि शहरी क्षेत्रों के असंगठित श्रमिकों को प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना का लाभ दिया जायेगा। योजना में पंजीयन का कार्य शुरू कर दिया गया है। उन्होंने कहा है कि "आजादी के अमृत महोत्सव" में सभी पात्र श्रमिकों का पंजीयन अभियान चलाकर किया जाये। इस योजना में असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को वृद्धावस्था में पेंशन एवं सामाजिक सुरक्षा का लाभ मिल सकेगा। प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना का लाभ स्ट्रीट वेन्डर, मिड-डे-मील वर्कर, बोझा ढोने वाले, ईट भठ्ठा मजदूर, मोची, कूड़ा बीनने वाले, घरेलू कामगार, धोबी, रिक्शा चालक, भूमिहीन मजदूर, कृषि श्रमिक, निर्माण श्रमिक, बीड़ी श्रमिक, हथकरघा श्रमिक, चमड़ा श्रमिक, दृश्य-श्रव्य बाधित श्रमिक, दैनिक वेतन भोगी, सफाई कर्मचारी, ऑउटसोर्स संस्था द्वारा नियोजित कर्मचारी/सफाई कर्मचारी या इसी तरह के अन्य व्यवसाय में काम करने वाले श्रमिकों को दिया जा सकता है।

कोई टिप्पणी नहीं: