बिहार : कोरोना संक्रमण के कारण बायोमेट्रिक हाजिरी पर रोक - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 13 जून 2022

बिहार : कोरोना संक्रमण के कारण बायोमेट्रिक हाजिरी पर रोक

ban-on-biometric-attendance-due-to-corona
पटना : बिहार की राजधानी पटना में तेजी से बढ़ रहें कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए गृह विभाग ने सरकारी कार्यालयों में कार्यरत कर्मचारियों को लेकर बड़ा आदेश जारी किया है। गृह विभाग ने अपने आदेश में बताया है कि बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते सभी सरकारी कार्यालयों में अस्थाई रूप से बायोमेट्रिक माध्यम से बनाने जाने वाली हाजिरी की व्यवस्था पर रोक लगा दी गई है। इसको लेकर गृह विभाग के प्रमुख सचिव चैतन्य प्रसाद ने बताया कि बिहार में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण की वजह से सभी सरकारी कार्यालयों को आदेश जारी किया गया है कि अगले 2 सप्ताह तक AEBAS और BBAS के माध्यम से पदाधिकारी और कर्मचारी उपस्थिति दर्ज नहीं कराई जाएगी। उन्होंने कहा इसके बाद भी यदि कोरोना का प्रसार जारी रहता है तो उसको ध्यान में रखते हुए नया आदेश जारी किया जाएगा। बता दें कि, राजधानी पटना में शनिवार को इस मरीज मिले थे जिसके बाद सुबह में एक्टिव मरीजों की संख्या 104 पहुंच गई थी। इसी को ध्यान में रखते हुए स्वास्थ विभाग एक बार फिर से एलर्ट मोड पर हो गई है और उसकी तरफ से निर्देश दिया गया है कि फिर से पुराने नियमों का पालन किया जाए। इधर, बिहार में पहली दूसरी और तीसरी लहर के बाद चौथी लहर से बचाव को लेकर रेलवे स्टेशनों पर जांच की व्यवस्था की गई है। पटना के दानापुर, पाटलिपुत्र, राजेंद्र नगर टर्मिनल और पटना जंक्शन पर बाहर से आए यात्रियों की कोरोना जांच की जा रही है। जानकारी हो कि, पिछली बार भी दूसरे प्रदेशों से आए लोगों ने ही बिहार में कोरोना संक्रमण फैलाया था। इसको देखते हुए रेलवे स्टेशनों पर जांच की व्यवस्था की गई है।

कोई टिप्पणी नहीं: