मधुबनी : जल संसाधन मंत्री ने योजनाओं का निरीक्षण किया - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 25 जून 2022

मधुबनी : जल संसाधन मंत्री ने योजनाओं का निरीक्षण किया

मधुबनी, जल संसाधन सह सूचना एवं जनसम्पर्क मंत्री अपने परिभ्रमण कार्यक्रम के तहत आज जिले के विभिन्न क्षेत्रों में जल संसाधन विभाग द्वारा आयोजित कई कार्यक्रमों में पंहुचे साथ ही कई चल रही योजनाओं का भी निरीक्षण किया । उन्होंने झंझारपुर रेलवे स्टेशन पर कमला बलान बायां तटबंध के 51.00 कि॰मी॰ झंझारपुर में कमला बलान नदी पर निर्मित पुरानी रेल पुल का भेंट सफाई एवं पुल के यू॰/एस॰ एवं डी॰/एस॰ में नदी तल से गाद सफाई कार्य का निरीक्षण किया गया। इसके उपरांत पिपराघाट (मधुबनी) में कमला बलान बायां तटबंध के कि॰मी॰ 49.50 पर पिपराघाट के निकट कटाव निरोधक कार्य एवं शीट पाईल कार्य का लोकार्पण किया गया। इसके बाद रामनगर भूतही बलान आगमन एवं भूतही बलान बायां तटबंध के 25.00 कि॰मी॰ (रामनगर) से 31.61 कि॰मी॰ (घोघरडीहा, निर्मली लिंक रोड) तक तटबंध के शीर्ष पर जीएसबी कार्य का कार्यारंभ एवं  जनसंबोधन का कार्य संपन्न हुआ। पुनः वे हनुमान नगर (भूतही बलान) पंचुचे, जहां उन्होंने फुलपरास एवं खुटौना प्रखण्ड अंतर्गत भूतही बलान नदी के दायां एवं बायां तटबंध पर रामपुर, खड़बड़िया, महथौर, झंझरी, नवटोल, टेंगरार एवं हनुमान नगर ग्राम के निकट कटाव निरोधक कार्य का लोकार्पण किया। 


मंत्री जी द्वारा भूतही बलान बायां तटबंध के की. मी. 25.00 (रामनगर) से 31.610 (घोघरडीहा निर्मली लिंक रोड) तक विस्तारीकरण कार्य के अंतर्गत तटबंध के शीर्ष पर जी. एस. वी. कार्य के शुभारंभ के अवसर पर उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए माननीय मंत्री जी ने कहा कि इस कार्य से क्षेत्र के 56 गावों के लोगों को फायदा मिलेगा और बाढ़ की विभीषिका से छुटकारा मिलेगा। उन्होंने कहा कि इस कार्य में जी. एस. बी. तकनीक से कार्य किया जाएगा जिससे लोगों को आवागमन की सुविधा भी प्राप्त हो जाएगी। उन्होंने कहा कि अगले सीजन में इसे पक्की सड़क के रूप में परिणत किए जाने की योजना है। जिससे नेशनल हाईवे तक इस सड़क की पंहुच बेहतर हो जायेगी। जिससे यहां के लोगों को रोजगार के बेहतर अवसर मिल सकेंगे। मंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि माननीय मुख्यमंत्री जी द्वारा विकास के हर क्षेत्र में अभूतपूर्व कार्य किया गया है, जिसमें बिजली, सड़क, शिक्षा और स्वास्थ्य जैसे क्षेत्र शामिल हैं। उन्होंने कहा कि माननीय मुख्यमंत्री बिहार के दिशाबोध से राज्य में नारी सशक्तिकरण पर विशेष बल दिया गया है।  शिक्षा विभाग और पुलिस विभाग में महिलाओं की मौजूदगी से इसका सहज अनुमान लगाया जा सकता है।  उन्होंने कहा कि विकास के सभी पैमानों को पूरा करने के बाद अब बिहार सरकार का ध्यान उद्योग को आगे बढ़ाने पर केंद्रित है। जिले में भी इस परिप्रेक्ष्य में कई प्रयास निकट भविष्य में देखने को मिलेंगे।  जल संसाधन मंत्री ने कहा कि 1962 ईस्वी से पश्चिमी कोसी नहर की योजना चल रही है। कितनी सरकारें आईं पर काम पूर्ण नहीं हो सका है। उन्होंने कहा कि *बिहार सरकार का लक्ष्य है कि इस महत्वकांक्षी योजना को 2023 ईस्वी तक पूरा करा लिया जाएगा। जिससे जिले के हर खेत तक सिंचाई का पानी पंहुच जाएगा।  मंत्री ने कहा कि क्षेत्र में कई ऐसी छोटी छोटी नदियां थीं जिनका अब केवल नाम सुना जाता है। उन्होंने कहा कि जल संसाधन विभाग की यह कोशिश है कि मृतप्राय की श्रेणी से इन नदियों को निकालकर जीवित किया जाएगा और क्षेत्र को हरा भरा बनाने का बिहार सरकार का संकल्प पूरा किया जाएगा। 

कोई टिप्पणी नहीं: