राष्ट्रीय राजमार्ग उत्कृष्टता पुरस्कार" 2021 - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

सोमवार, 27 जून 2022

राष्ट्रीय राजमार्ग उत्कृष्टता पुरस्कार" 2021

national-highways-excellence-awards
देश में सड़क बुनियादी ढांचे को मजबूत बनाने और उसमें वृद्धि करने के दृष्टिकोण से सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने राजमार्ग निर्माण और रखरखाव प्रक्रिया में हितधारकों को प्रोत्साहित करने और उनमें स्‍वस्‍थ प्रतिस्‍पर्धा की भावना का सृजन करने के लिए वर्ष 2018 में ‘राष्ट्रीय राजमार्ग उत्कृष्टता पुरस्कार’ (एनएचईए) की शुरुआत की थी। इसका ध्‍येय देश में सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाली सड़क परिसंपत्तियों और टोल प्लाजाओं के लिए कंपनियों की पहचान करना तथा उन्‍हें पुरस्कार प्रदान करना है। सड़क निर्माण, परिचालन और रखरखाव, नवाचार, हरियाली, राजमार्ग विकास के टोलिंग चरणों के साथ-साथ सड़क सुरक्षा के क्षेत्र में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाली और अच्‍छी गुणवत्ता प्रदान करने वाली कंपनियों को मान्‍यता देना है। पुरस्कारों का उद्देश्य विश्‍व स्‍तर की पर्यावरणीय स्थिरता और स्वच्छता के कारकों पर अधिक ध्यान देते हुए नई और नवाचारी निर्माण प्रक्रियाओं के माध्यम से प्रति दिन विश्व स्तरीय सड़क बुनियादी ढांचा, राजमार्गों, टोल प्लाजा, एक्सप्रेस-वे, पुलों, सुरंगों का निर्माण करना है। ये पुरस्कार कई श्रेणियों में डिज़ाइन किए गए हैं। यह उन दिग्‍गजों की पहचान करते हैं जिन्होंने अपने कार्यों में निर्माण और परिचालन दिशा-निर्देशों का उचित पालन किया है और गुणवत्ता, सुरक्षा मानकों और नवाचारों तथा स्‍थाई प्रक्रियाओं को भी नियोजित किया है। इस उद्देश्य के लिए विस्तृत, श्रेणी-निर्दिष्‍ट मूल्यांकन ढांचे विकसित किए गए हैं। कंपनियां पुरस्कार श्रेणी के लिए विशिष्ट परियोजना जानकारी और दस्तावेज अपलोड करके एक ऑनलाइन पोर्टल https://bhoomirashi.gov.in/awards पर स्‍वयं को नामांकित करती हैं। पहले राउंड में डेस्कटॉप असेसमेंट (डीए) है, जिसमें प्रशिक्षित अधिकारियों द्वारा गुणवत्ता जांच के 4 सब राउंड में कंपनी द्वारा जमा किए गए डेटा की वैधता और स्‍वामित्‍व का सत्यापन तथा मूल्यांकन किया जाता है। इसके बाद मूल्यांकन का दूसरा दौर आयोजित किया जाता है, जिसमें डेस्कटॉप असेसमेंट (डीए) के दौरान किए गए दावों के सत्यापन के लिए छांटी गई परियोजनाओं का क्षेत्र मूल्यांकन किया जाता है। तीसरे राउंड में एक विशेषज्ञ जूरी पैनल चयन की गई परियोजनाओं की समीक्षा करता है और विस्तृत विचार-विमर्श के बाद विजेताओं की पहचान करता है। वर्ष 2018 में पहले पुरस्कार चक्र में, 5 श्रेणियों (निर्माण प्रबंधन में उत्कृष्टता, परिचालन और रखरखाव में उत्कृष्टता, राजमार्ग सुरक्षा में उत्कृष्टता, टोल प्लाजा प्रबंधन और नवाचार में उत्कृष्टता) में कुल 107 नामांकन प्राप्त हुए थे। अंतिम रूप से चयनित 11 विजेताओं को 8 जनवरी 2019 को सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी ने सम्‍मानित किया था। वर्ष 2019 में दूसरे पुरस्कार चक्र में, दो नई श्रेणियां- हरित राजमार्ग और चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में उत्कृष्ट कार्य शामिल की गई। 7 श्रेणियों में 104 नामांकन प्राप्त हुए थे, अंतिम रूप से चयनित 12 विजेताओं को 14 जनवरी 2020 को सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री द्वारा सम्‍मानित किया गया था। वर्ष 2020 में सभी श्रेणियों में कुल 157 नामांकन प्राप्त हुए थे और एक अतिरिक्त विशेष पुरस्कार श्रेणी, पुल एवं सुरंग (ब्रिज एंड टनल) को 2019 से श्रेणियों के पूल में शामिल किया गया था। केंद्रीय मंत्री श्री राजनाथ सिंह और श्री नितिन गडकरी ने 18 जनवरी 2021 को विज्ञान भवन में आयोजित एक पुरस्कार समारोह में विजेताओं को सम्मानित किया था। इस वर्ष मंत्रालय 28 जून को पुरस्कार समारोह का आयोजन कर रहा है, जिसमें पूरे देश में सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाली सड़क संपत्तियों और टोल प्लाजाओं के लिए कंपनियों/हितधारकों को केंद्रीय मंत्री श्री नितिन गडकरी की उपस्थिति में पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे। चौथे पुरस्कार चक्र के लिए दो नई श्रेणियों - पुल निर्माण और सुरंग निर्माण की भी शुरूआत की गई है। वर्ष 2021 पुरस्‍कार चक्र के लिए विभिन्‍न श्रेणियां इस प्रकार हैं: परियोजना प्रबंधन में उत्कृष्टता: इसमें परियोजना के कार्यान्वयन को दो उपश्रेणियों (ईपीसी और पीपीपी) के साथ समय पर उपलब्धि, संतुलित बजट और गुणवत्ता मानकों से कोई समझौता न करते हुए सभी परियोजना लक्ष्‍यों के कुशल निष्पादन को मान्‍यता दी गई है।

राजमार्ग सुरक्षा में उत्कृष्टता: इसमें परियोजना के कार्यान्वयन के तरीके के आधार पर दो उपश्रेणियों (पहाड़ी और मैदानी इलाके) के साथ सड़क दुर्घटनाओं को कम करने और निवारक उपाय और आपातकालीन जवाबी सेवाओं स्‍थापित करने के लिए किए गए प्रयासों पर ध्यान केंद्रित किया जाता है।

परिचालन और रखरखाव में उत्कृष्टता: इसमें मरम्मत कार्यों का तेजी से और सुचारू रूप से निष्पादन, आवधिक निरीक्षण, विशेष संरचनाओं का रखरखाव, यात्रा अनुभव में बेहतरीन गुणवत्ता और रास्‍ते के फर्श (फुटपाथ) की उचित रूप से चिकनी सतह के साथ निष्‍पादित परियोजनाओं को मान्यता दी जाती है। रास्‍ते के फर्श के प्रकार के आधार पर दो श्रेणियां हैं- कठोर और लचीला फुटपाथ।

टोल प्रबंधन में उत्कृष्टता: टोल पर यातायात और सेवाओं के कुशल प्रबंधन पर ध्यान केंद्रित किया जाता है।

नवाचार: इसमें नई निर्माण तकनीक या संरचनात्मक और ज्यामितीय डिजाइन को तैयार करने या अपनाने में अर्जित महत्वपूर्ण उपलब्धि पर ध्यान केंद्रित किया जाता है।

हरित राजमार्ग: इसमें प्राकृतिक पर्यावरण की रक्षा या उसमें वृद्धि करने और/या परियोजना विकास के प्रभावों को कम करने के लिए अपनाई गई नवाचारी प्रथाओं के लिए किए गए अनुकरणीय प्रयासों पर ध्यान केंद्रित किया जाता है।

चुनौतीपूर्ण स्थिति में उत्कृष्ट कार्य: इसमें चुनौतीपूर्ण माहौल में काम करने वाले छूटग्राही/ठेकेदार के प्रयासों को मान्‍यता दिया जाती है।

पुल निर्माण: इसमें इस बात को महत्‍व दिया जाता है कि क्या गुणवत्ता, सुरक्षा वृद्धि, समयबद्धता और लागत प्रभावी कार्य में ढांचागत विकास के लिए किसी प्रकार के अनूठे उपाय किए गए हैं।

सुरंग निर्माण: इसमें उन परियोजनाओं पर ध्यान केंद्रित किया जाता है जिनके निर्माण में ऐसी विशिष्‍ट तकनीकी अपनाई गई है जिससे परियोजना की गुणवत्ता, समयबद्धता, लागत-प्रभावशीलता, सुरक्षा और/या दक्षता में वृद्धि होती है।

कोई टिप्पणी नहीं: