मैं नीतीश की चाहत स्पष्ट नहीं कर सकता : रूडी

what-nitish-want-cant-explain-rudi
भोपाल, एक जून, भाजपा एवं जनता दल :यूनाइटेड: के बीच दोबारा गठबंधन होने के कयासों के बीच केन्द्रीय उद्यमता एवं कौशल विकास मंत्री :स्वतंत्र प्रभार: राजीव प्रताप रूडी ने आज कहा कि नीतीश जी क्या चाहते हैं, इसे वह स्पष्ट नहीं कर सकते हैं। नीतीश के राजग के नये सहयोगी होने संबंधी सवाल पर रूडी ने कहा, ‘‘बिहार के बारे में कोई सिंपल विश्लेषण निकालना मेरे लिए बड़ा कठिन है। यह बडा कठिन है। नीतिश जी क्या चाहते हैं यह मैं कुछ भी स्पष्ट नहीं कर पाउंगा।’’ भाजपा को साफ-सुथरी राजनीति करने वाली पार्टी बताते हुए उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी जातिवाद, तुष्टीकरण एवं परिवारवाद के खिलाफ है, जबकि बिहार की राजनीति इसके विपरीत है। रूडी ने कहा, ‘‘भाजपा साफ-सुथरी पार्टी है। हमारी एक पॉलिटिकल फिलॉसफी है। हम जातिवाद के खिलाफ हैं, तुष्टिकरण के खिलाफ है और परिवारवाद के खिलाफ हंै। देश में सिर्फ एक ही राज्य है, जो ‘प्रतिवाद’ की राजनीति कर रहा है। वह बिहार है।’’ उन्होंने नीतीश सरकार पर तुष्टीकरण एवं जातिवाद होने का आरोप लगाते हुए कहा, ‘‘बिहार में पूरी तरह से तुष्टीकरण की नीति है, वहां पूरी तरह से जातिवाद है और वहां आरजेडी नेता लालू प्रसाद यादव परिवारवाद की राजनीति भी चला रहे हैं। बिहार के बारे में कोई सामान्य विश्लेषण निकालना बड़ा कठिन है। नीतिश जी क्या चाहते हैं यह मैं कुछ भी स्पष्ट नहीं कह पाउंगा।’’ हालांकि, नीतीश कुमार ने कहा था कि प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात के राजनीतिक अर्थ नहीं निकाला जाना चाहिए और भाजपा से दोबारा गठबंधन करने से इनकार किया है। नीतीश ने कहा है कि वह बाढ़ की समस्या एवं गंगा में सिल्ट के अलावा बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने समेत राज्य से जुड़े मसलों पर मोदी से चर्चा की थी और केन्द्र से सहयोग मांगा था। गौरतलब है कि जद :यू: ने भाजपा द्वारा नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री का उम्मीदवार घोषित करने के बाद वर्ष 2013 में भाजपा से गठबंधन तोड़ दिया था।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...