बिहार में प्रकाश पर्व की तरह पितृपक्ष मेला में भी होगी सफाई की बेहतर व्यवस्था

better-arrengement-will-be-in-pitrpaksh-mela-cs
पटना 11 अगस्त, बिहार सरकार ने सिखों के दसवें गुरू गोविंद सिंह के प्रकाश पर्व के दौरान श्रद्धालुओं के लिए की गई व्यवस्था से राज्य को देश-विदेश में मिली सराहना के मद्देनजर अधिकारियों को गया एवं पुनपुन में इस वर्ष लगने वाले पितृपक्ष मेला में साफ सफाई का बेहतर इंतजाम करने का निर्देश दिया। मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने गया एवं पटना के पुनपुन में पितृपक्ष मेला आयोजन की तैयारियों की समीक्षा बैठक के बाद बताया कि अधिकारियों को प्रकाश पर्व की तर्ज पर पितृपक्ष मेला 2017 के अवसर पर उच्च मानक एवं स्तर की साफ सफाई की व्यवस्था सुनिश्चित करने और इस कार्य में दक्ष पेशेवर एजेंसियों को नियुक्त करने के निर्देश दिये गये हैं। श्री सिंह ने बताया कि साफ-सफाई के बेहतर इंतजाम में जितनी राशि की जरूरत होगी, उपलब्ध करायी जायेगी। उन्होने कहा कि पितृपक्ष के अवसर आने वाले तीर्थयात्रियों की संख्या उनकी आबादी की तुलना में काफी कम है। प्रकाश पर्व के अवसर पर सिख श्रद्धालुओं का बिहार आकर उनकी राज्य के बारे मे धारणा बदली है वैसे ही जहां से अधिक संख्या में तीर्थयात्रियों का आना संभावित है वैसे क्षेत्रों मे पितृपक्ष के अवसर पर आने के लिए सकारात्मक प्रचार प्रसार कर उन्हें बताया जाये कि बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करायी जा रही है। 


मुख्य सचिव ने कहा कि गया के जिलाधिकारी कुमार रवि ने गया में पितृपक्ष मेला के अवसर पर की जाने वाली तैयारियों के बारे में पावर प्रेजेंटेशन के जरिये विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने पितृपक्ष मेला के अवसर पर गया आने वाले तीर्थ यात्रियों के लिए आवासन के संबंध की गयी व्यवस्था के विषय में भी बताया। इस क्रम में मगध प्रमंडल के आयुक्त जितेन्द्र श्रीवास्तव ने कहा कि गया के आईडीएच अस्पताल परिसर मे चार एकड़ खाली भूमि उपलब्ध हैं। उक्त अनुपयोगी भूमि पर यात्रियों के ठहराव के लिए बड़े यात्री निवास का प्रस्ताव पर्यटन विभाग को भेजा गया है। यात्री निवास बन जाने से जिला प्रशासन को तीर्थयात्रियों के लिए विद्यालयों में आवासन की व्यवस्था नहीं करनी पड़ेगी। मुख्य सचिव ने इस प्रस्ताव पर सहमति जताते हुए कहा कि उक्त स्थान पर एक एकड़ में पांच से छह मंजिला आधुनिक लिफ्टयुक्त यात्री निवास के निर्माण के लिए राशि पर्यटन विभाग/जिला प्रशासन को उपलब्ध करायी जायेगी। एक माह के अंदर प्रक्रिया पूरी करने के निर्देश दिए गये। श्री सिंह ने बताया कि पटना-गया राष्ट्रीय राजमार्ग 83 को पितृपक्ष मेला के अवसर पर दुरूस्त कराने का निर्देश दिया गया है। इस मौके पर मुख्य सचिव ने पितृपक्ष मेला के लिए गया जिला प्रशासन द्वारा तैयार एंड्रॉयड और आई ऑपरेटिंग सिस्टम (आईओएस) वाले स्मार्टफोन के लिए एक ऐप भी लांच किया। बैठक में पुलिस महानिदेशक पी. के. ठाकुर, गृह विभाग के प्रधान सचिव अमीर सुबहानी, राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के प्रधान सचिव विवेक कुमार सिंह, वित्त विभाग की प्रधान सचिव सुजाता चतुर्वेदी, नगर विकास विभाग के प्रधान सचिव चैतन्य प्रसाद, पथ निर्माण विभाग के प्रधान सचिव अमृत लाल मीणा सहित विभिन्न विभागों के सचिव, आयुक्त मगध प्रमंडल, जिलाधिकारी पटना एवं गया एवं विभिन्न विभागों के वरीय पदाधिकारी मौजूद थे। 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...