झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 14 सितम्बर

नवदूर्गा समिति की ग्रामिण प्रभात को लेकर हुआ बैठक का आयोजन

झाबुआ। नवरात्री पर्व के चल समारोह को लेकर स्थानिय विधायक शांतीलाल बिलवाल के आवास गृह पर गा्रमिण प्रभात के ग्रामिणो की बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें ग्रामिण लोगो को नवदूर्गा समिति के सदस्यों द्वारा होने वाले कार्यो के बारे में बताया गया। बैठक में ग्रामिण क्षेत्र के आसपास के कार्यकत्र्ताओं के द्वारा आयोजन को सफल बनाने के लियें अपील कि गयी। प्रमुख रूप से सभी नवदूर्गा समिती के सदस्यों के द्वारा पिले चावल देकर विषाल चल समारोह में आने के लिय आव्हान किया गया है। प्रत्येक गांवो में बैनर एवं माताजी के केलेण्डरो को वितरण किया गया जिसे प्रमुख कार्यकत्र्ता अपने अपने गांवो में वितरीत करेंगे। इस अवसर पर विधायक शंातिलाल बिलवाल द्वारा सभी आसपास के क्षेत्रो से आये ग्रामिणो का आभार माना एवं इस नवदूर्गा समिती के द्वारा आयोजित विषाल चल समारोह का अपना मानकर इस पर्व में अपने आसपास के सभी भाई बंधुओ को आने के लिये पिले चावल के साथ आने का आव्हान भी किया। वही इस चल समारोह में आने वाले दूर दूर से आये कलाकारों को देखने के लियें विषेष व्यवस्था के बारे में भी गा्रमिणो ंसे चर्चा की। इस बैठक में आयें शैलेष दुबे, ओम शर्मा, उदय बिलवाल, अरू भूरिया, मंडी अध्यक्ष मानसिंह हटिला एवं करीब सौ से भी ज्यादा आसपास से आयें ग्रामिण कार्यकत्र्तागण उपस्थित थे।

मुनिप्रवर रजतचंद्र विजयजी ने बताया नवपदजी की आराधना का महत्व - बावन जिनालय में हुई धर्म चर्चा

झाबुआ। परम पूज्य गुरुदेव राजेंद्रसूरीश्वरजी मसा के हाथों से प्रतिष्ठित स्थानीय श्री ऋषभदेव बावन जिनालय में चातुर्मास के लिए विराजित परम पूज्य गच्छाधिपति आचार्यश्री ऋषभचंद्रसूरीश्वरजी म.सा. और मुनिप्रवर रजतचंद्र विजयजी म.सा. ने गुरुवार को ज्ञान चर्चा करते हुए शाश्वती नवपदजी की 9 दिवसीय श्री नवपदजी का महत्व बताते हुए कहा जिन शासन में नवपद औलीजी की आराधना का विशेष महतव है। धर्म की दित्य देशना द्वारा अज्ञानता को खत्म करने वाले अनेको जीवात्मा को मोक्ष की राह दिखाने वाले। रागद्वेष को जितने वाले अरिहंत कहलाते हैं। उपकार की दृष्टी से जीवों की धर्मोपवदेश प्रदान करते है इसलिए नवपद में अरिहंत का स्थान सर्वोपरि है। अव्यवहार राशि से व्यवहार में जीवों का आगमन सिद्ध के प्रभाव से होता है। निगोद की कारागृह से बाहर लाने वाले सिद्ध सिद्धशिला में मोक्ष में सुख का रसास्वादन कर रहे हैं। इनका उपकार भी जीवों पर अरिहंत के जैसा ही है। अरिहंत प्रभु की गैरहाजिरी में शासन की बागडोर आचार्य भवंगत संभालते हैं। किंतु आचार्य वो जो शासन को समर्पित हो। शासन का अनुराग रग-रग में श्वासों श्वास में हो। आचार्य का आचार चुस्त हो न्याय निष्ठ हो। शास्त्रो में जिन्हें तीर्थंकर समान पदमिला है इसे जिम्मेदारी पूर्वक वहन करने वाले विरले आचार्य महान व पूज्य माने गए हैं। अध्ययन करना कराना ये कार्य होता है उपाध्याय भगवंत का। साधु या शिष्य को भी ज्ञानवान व विनयवंत बनाने बनाने का कार्य करते हैं उपाध्याय। समता के प्रतीक होते हैं साधु भगवंत। जिनका जीवन भर एक ड्रेस व अनेक एड्रेस ऐसे होते हैं जैन श्रमण। पंच परमेष्ठि में साधु बनने के बाद ही उत्तरोत्तर वृद्धि होती है। भगवान का धर्म शासन गतिमान करने में आचार्य उपाध्याय के साथ मुख्य रूप से केंद्र में रहते हैं वे साधु भगवंत शासन की धुरी कहलाते हैं। इन पंच परमेष्ठि के अलावा दर्शन ज्ञान चारित्र तप से धर्म के चार मुख्य स्तंभ होते हैं। अरिहंत सिद्ध साध्य है। आचार्य उपाध्याय साधु, साधक है। दर्शन ज्ञान चारित्र तप ये साधना है। ऐसे महान उपकारी नवपदजी की आराधना  सिद्धचक्र की उपासना से आत्मा सद्गति का बंध करती है। परम पूज्य गच्छाधिपति आचार्यश्री श्री ऋषभचंद्रसूरीश्वरजी मसा युवा प्रवचनकार मुनिराज श्री रजतचंद्र विजयजी मसा एवं साध्वी रत्नरेखा श्रीजी की निश्रा में 27 सितंबर से नवपद ओलीजी की आराधना प्रारंभ होने जा रही है। जिसका लाभ जसकुंवर बेन दुग्गड़ परिवार को प्राप्त हुआ है। गुरुवार को बाकरा गांव, भीनमाल, गोधरा, उज्जैन, इंदौर, आष्टा, बैंगलोर, मुंबई आदि स्थानों से गुरुभक्त आचार्यश्री का आशीर्वाद लेने पहुंचे। बाहर से पधारे अतिथियों का स्वागत चातुर्मास समिति के अध्यक्ष संजय कांठी व संयोजक संतोष नाकोड़ा ने किया।


आदिवासी नेता कल्याणसिंह डामोर स्वच्छ भारत अभियान प्रदेष संयोजक मनोनित - बधाईयों का तांता

jhabua news
झाबुआ ।   भारतीय जनता पार्टी अनुसुचित जनजाति के पूर्व प्रदेष महामंत्री आदिवासी नेता कल्याणसिंह डामोर प्रधानमंत्री नरेन्द्रमोदी के स्वच्छ भारत अभियान के प्रदेष संयोजक मनोनित किये गये।श्री डामोर की नियुक्ति अनुसुचित जनजाति मोर्चे के राश्ट्रीय अध्यक्ष श्री रामविचार नेताम जी  की अनुषंसा एवं भाजपा प्रदेष अध्यक्ष श्री नंदकुमारंिसह चैहान के अनुमोदन के पष्चात् स्वस्थ भारत अभियान के राश्टीय संयोजक यषंवत दरबार द्वारा इनको प्रदेष संयोजक नियुक्त किया गया। डामोर की नियुक्ति से प्रदेष सहित झाबुआ जिले में हर्श की लहर व्याप्त है। श्री डामोर को प्रदेष संयोजक बनने पर बधाइयों का तांता लगा हुआ है।श्री डामोर के स्वस्थ भारत अभियोजन के प्रदेष संयोजक बनने  पर भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष दौलत भावसार जिलामंत्री गोपालंिसह पंवार कार्यालय मंत्री श्री महेन्द्र तिवारी किसान मोर्चे के मीडिया प्रभारी आशीष शर्मा आदिवासी नेता छितुसिंह मैडा युवा नेता राजाठाकुर विधायक सुश्री निर्मला भुरिया सीसीबी बैंक के अध्यक्ष गोरसिंह वसुनिया नगर पंचायत रानापुर की अध्यक्ष सुनीता अजनार श्री गोविंद अजनार थांदला नगर पंचायत के अध्यक्ष बंटी डामोर मेघनगर नगरपंचायत की अध्यक्ष श्रीमती ज्योति बामनिया पेटलावद नगर पंचायत के अध्यक्ष श्री मनोहर भटेवरा आदिवासी नेता भानु भुरिया कलमसिंह भाभोर थावरसिंह भूरिया बापु भुरिया मदन भूरा निलेष मीणा भुण्डिया वसुनिया सुनीता भुरिया सुनीता वसावा ललित बंधवार कीर्ति भावसार अंकुर पाठक जुवानसिह गुण्डिया वर्मा कटारा लाला गुण्डिया रामचंद भाभोर मालसिंह मैडा रमेष बारिया संतोश सोनी सुरेष चैहान कृश्णा बबेरिया सुरसिंह हटिला भंवर बिलवाल मुकेष मेहता कमलेष मचार रमेष बारिया कीर्तिष चाणोदिया कृश्णपालसिंह गंगाखेडी अजमेरंिसह भुरिया उंकार डामोर संतोश सोनी, श्रीमती आरती भानपुरिया, छगनजायसवाल आदि ने इनको प्रदेष संयोजक बनने पर षुभकामना एवं माला पहनाकर इनके राजनैतिक जीवन के उज्जवल भविश्य की कामना की। उक्त जानकारी जिला भाजपा मिडिया प्रभारी अंबरीष भावसार द्वारा हमारे प्रतिनिधि को दी गई।

बच्चो की सुरक्षा में लापरवाही बरतने वाली शिक्षण संस्थाअ¨ं की मान्यता रद्द ह¨गी

झाबुआ । स्कूल शिक्षा मंत्री द्वारा प्रदेश की स्कूल शिक्षण संस्थाअ¨ं क¨ आगाह किया गया है कि वे बच्च¨ं की सुरक्षा व्यवस्था क¨ लेकर सजग रहें। बच्च¨ं की सुरक्षा में लापरवाही बरतने वाली शिक्षण संस्थाअ¨ं की मान्यता समाप्त किये जाने जैसी कठ¨र कार्रवाई की जायेगी। स्कूल¨ं की बस¨ं में अनिवार्य रूप से महिला अटेंडर रखी जायें। एक अक्टूबर के बाद जिन बस¨ं में महिला अटेंडर नहीं ह¨गी, उनकी मान्यता समाप्त किये जाने जैसे निर्णय लिये जायेंगे। स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा सीबीएसई ब¨र्ड क¨ मान्यता रद्द करने संबंधी पत्र लिखे जायेंगे। जन-शिक्षक अपने क्षेत्र के स्कूल का निरीक्षण करेंगे। ब्लाॅक रिस¨र्स सेंटर क¨-आॅर्डिनेटर अपने क्षेत्र के स्कूल¨ं में सुरक्षा इंतजाम¨ं की नियमित समीक्षा करेंगे। बच्च¨ं के स्वास्थ्य की नियमित जाँच के लिये स्वास्थ्य कार्यकर्ता क¨ नजदीक के स्कूल के मासिक भ्रमण के लिये स्वास्थ्य विभाग क¨ निर्देश दिये गये है। स्कूल¨ं में अग्नि-शमन यंत्र की उपलब्धता अ©र सुरक्षा की दृष्टि से दरवाजे-खिड़किय¨ं की मरम्मत पर विशेष ध्यान देने के लिये भी निर्देश दिये गये है।

भावान्तर भुगतान य¨जना में 11 अक्टूबर तक होगे पंजीयन

झाबुआ । मध्यप्रदेश में किसान¨ं क¨ उनकी उपज का उचित मूल्य दिलाने के लिये एवं मण्डियों में किसानो के उत्पाद के दाम गिरने पर किसानो को नुकसान ना हो इसलिए भावान्तर भुगतान य¨जना लागू की गई है। इस य¨जना में किसान द्वारा अधिसूचित कृषि उपज, मण्डी प्रांगण में विक्रय किये जाने पर राज्य शासन द्वारा घ¨षित माॅडल विक्रय मूल्य अथवा भारत सरकार द्वारा घ¨षित न्यूनतम समर्थन मूल्य के अंतर की राशि किसान¨ं क¨ भुगतान करने का निर्णय लिया है।

11 अक्टूबर तक होगा पंजीयन
जिला आपूर्ति अधिकारी श्री त्यागी ने बताया कि इस योजना में झाबुआ जिले में खरीफ-2017 में स¨याबीन, मूंगफली, तिल, रामतिल, मक्का, मूंग, उड़द एवं तुअर की फसलें ली गयी हैं। इन फसल¨ं के लिये किसान¨ं का भावान्तर भुगतान य¨जना के प¨र्टल में पंजीयन प्रारंभ हो गया है। किसानो का पंजीयन 11 अक्टूबर तक किया जाएगा। इसके लिये झाबुआ जिले में चिन्हित 21 केन्द्रो पर जाकर किसान अपना पंजीयन करवा सकते है। अथवा कियोस्क सेन्टर से भी पंजीयन करवाया जा सकता है।

जिले में इन 21 केन्द्रो पर होगा पंजीयन
जिले के 21 खरीदी केन्द्रो पर किसानो का पंजीयन किया जाएगा। सहकारी विपणन संस्था मर्या0झाबुआ, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था रानापुर, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था रजला, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था पारा, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था कालीदेवी, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था झाबुआ, सहकारी विपणन संस्था मेघनगर, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था कल्याणपुरा, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था मेघनगर, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था नौेगांवा, सहकारी विपणन संस्था मर्या0 थांदला, सहकारी संस्था थांदला, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था खवासा, सहकारी विपणन संस्था मर्या0 पेटलावद, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था पेटलावद, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था रायपुरिया, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था बामनिया, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था झकनावदा, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था सारंगी, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था करवड, सहकारी सेवा विपणन संस्था मर्या0 रानापुर, में किसानो के पंजीयन संबंधी कार्य किया जाएगा।

पंजीयन के लिए किसान अपने साथ आधार व समग्र आई डी व आवश्यक दस्तावेज साथ लाये 
पंजीयन के लिए किसान जब  पंजीयन केन्द्र पर आये तो अपने साथ आधार नम्बर,परिवार की समग्र आई डी,बैंक का खाता नम्बर,आईएफसी कोड,भू. अधिकार ऋण पुस्तिका स्व प्रमाणित प्रति इत्यादि दस्तावेज अपने साथ अवश्य लाये। किसान यदि कियोस्क सेन्टर पर पंजीयन कराते है तो उसकी प्रिंटेड काॅपी खरीदी केन्द्र प्रभारी को उपलब्ध करवाये। भावान्तर भुगतान य¨जना में पंजीकृत किसान¨ं की फसल¨ं के मण्डी में विक्रय अवधि शासन द्वारा तुअर के लिये एक फरवरी-2018 से 31 मार्च-2018 तक तथा स¨याबीन, मूंगफली, तिल, रामतिल, मक्का, मूंग अ©र उड़द के लिये 16 अक्टूबर-2017 से 15 दिसम्बर-2017 की अवधि तय की गई। य¨जना का लाभ पंजीकृत किसान¨ं द्वारा मध्यप्रदेश में उत्पादित कृषि उत्पाद का विक्रय अधिसूचित मण्डी परिसर में किये जाने पर मिल सकेगा। प्रदेश के किसान¨ं क¨ देय राशि की गणना में प्रावधान किया गया है कि यदि किसान द्वारा मण्डी समिति परिसर में विक्रय की गयी अधिसूचित फसल की विक्रय दर राज्य शासन द्वारा घ¨षित माॅडल विक्रय दर से कम हुई त¨ न्यूनतम समर्थन मूल्य तथा माॅडल विक्रय दर के अंतर की राशि ही किसान के बैंक खाते में ट्रांसफर की जायेगी।

बच्चो की मूलभूत दक्षताओं के आंकलन हेतु टेस्ट प्रारंभ, 15 सितम्बर तक होगे स्कूलों में दक्षता परीक्षण टेस्ट

jhabua news
झाबुआ । बच्चों की मूलभूत दक्षताओं में हुए सुधार का आंकलन करने की दृष्टि से प्राथमिक व माध्यमिक शालाओं में कक्षा 2 से 8 में अध्ययनरत समस्त बच्चों का एण्डलाइन टेस्ट 15 सितम्बर 2017 की अवधि में किया जाएगा। जिले के स्कूलों में यह टेस्ट प्रारंभ हो गये है, बच्चो की संख्या के अनुसार 15 सितम्बर तक स्कूलों में आंकलन टेस्ट लिये जायेगे। इसके आधार पर बेसलाइन टेस्ट के बाद अंतिम जांच मूल्यांकन के परिणामों का तुलनात्मक विश्लेषण कर बच्चों के दक्षता स्तर में सुधार हेतु योजनाबद्ध तरीके से प्रयास किये जायेगे। डीपीसी सर्वशिक्षा अभियान श्री प्रजापति ने बताया कि शासन के निर्देशानुसार बेसलाइन-एण्डलाइन टेस्ट का उद्देश्य बच्चों की वास्तविक स्थिति को पता कर उनके उपलब्धि स्तर में सुधार करना है, अतः बच्चे जिस भी स्तर पर है, उनका आंकलन कर उन्हें आर.टी.ई. की प्रावधान धारा-24 के अनुक्रम में शाला स्तर पर अपनी कक्षा के अनुरूप निर्धारित दक्षता व कौशल अर्जित करने हेतु स्कूल शिक्षको द्वारा प्रयास किये जायेगे।

कार्यस्थल पर महिला उत्पीडन रोकने हेतु कार्यालय में समिति का गठन अनिवार्य

झाबुआ । महिलाओं का कार्यस्थल पर लैंगिंक उत्पीडन अनिधिनियम 2013 अन्तर्गत समस्त शासकीय/अशासकीय/अर्द्धशासकीय संस्थाओं में आंतरिक परिवाद समिति का गठन किया जाना अनिवार्य है। इस संबंध में महिला सशक्तिकरण अधिकारी श्री बघेल द्वारा जिले में समस्त शासकीय/अशासकीय/प्रायवेट संस्थाओं में जैसे स्कूल, एनजीओ, बैंक आदि को समिति गठन हेतु निर्देश जारी किये है। जिस कार्यालय में दो से अधिक महिलाएॅ कार्यरत है, वहाॅ समिति का गठित होना अनिवार्य है। दो या दो से अधिक महिला नहीं होने की स्थिति में पास के कार्यालय/संस्था को शामिल कर आंतरिक परिवाद समिति का गठन किया जाना है। आंतरिक परिवाद समिति का गठन कर कार्यालय में समिति बोर्ड का प्रारूप लगवाना एवं मय फोटो के समिति सदस्यों की जानकारी से महिला सशक्तिकरण कार्यालय को अवगत कराने हेतु निर्देश दिये गये है। कार्यालय में आंतरिक परिवाद समिति गठित नहीं होने पर राशि रू. 50 हजार रूपये तक के जुर्माने का प्रावधान है। अधिक जानकारी के लिये जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी कार्यालय बाल सम्प्रेक्षण गृह परिसर जिला कोर्ट के सामने झाबुआ में सम्पर्क नम्बर 07392-243452  पर अथवा स्वयं उपस्थित होकर चर्चा कर सकते है।

सीपीसीटी परीक्षा की तैयारी के लिये प्रशिक्षण प्रारंभ

झाबुआ । मैप आई टी भोपाल द्वारा आयोजित सीपीसीटी परीक्षा के लिए इच्छुक अभ्यर्थियों की तैयारी कराने हेतु प्रषिक्षण कार्यक्रम जिला झाबुआ में स्थापित ई-दक्ष केंद्र (पुराना सामुदायिक भवन, उकृष्ट विद्यालय के सामने) में संचालित किया जा रहा है। सीपीसीटी की तैयारी के लिये अभ्यर्थियों को 45 घण्टे सषुल्क प्रषिक्षण दिया जाएगा। जिले के इच्छुक अभ्यर्थियों को प्रषिक्षण प्राप्त करने के लिए पंजीयन हेतु प्रषिक्षण शुल्क 1000/- रुपये प्रति प्रषिक्षणार्थी प्रति प्रषिक्षण का डिमाण्ड ड्राॅफ्ट सचिव, जिला ई-गवर्नेंस सोसायटी, झाबुआ के नाम पर बना कर ई-दक्ष केन्द्र और लेखापाल जिला ई-गवर्नेंस सोसायटी झाबुआ को जमा करके पावती प्राप्त कर सकते हैं। इच्छुक अभ्यर्थी अधिक जानकारी के लिए श्री आषीष सूर्यवंषी, वरिष्ठ प्रषिक्षक, ई-दक्ष केंद झाबुआ, मो.नं. 7737641843 पर संपर्क कर सकते हैं।

कलेक्टर श्री सक्सेना को मिला सर्वश्रेष्ठ कलेक्टर का अवार्ड

jhabua newsझाबुआ । उन्नत भारत अभियान के अंतर्गत झाबुआ जिले के झाबुआ विकासखण्ड के चयनित ग्राम कालियाबडा में शासन की मंशानुसार स्वच्छता एवं ठोस तथा द्रव अपशिष्ट के प्रबंधन के लिए सारे कार्य किये जाने पर कलेक्टर श्री आशीष सक्सेना को सर्वश्रेष्ठ कलेक्टर का अवार्ड आज नई दिल्ली में मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा आयोजित कार्यक्रम में मानव संसाधन विकास मंत्री भारत सरकार श्री प्रकाश जावडेकर द्वारा प्रदान किया गया।

कालियाबडा को उन्नत गांव बनाने के लिए मिला अवार्ड
उन्नत भारत अभियान अंतर्गत जिले के ग्राम कालियाबडा को उन्नत बनाने के सभी तरह के प्रयास किये गये। गांव में स्वच्छ भारत मिशन अंतर्गत सभी घरों में शौचालय निर्माण करवाया गया एवं लोग शौचालय का उपयोग भी कर रहे है स्वच्छता के प्रति लोगो में जागरूकता के लिए स्कूली बच्चों की वानर सेना प्रशासनिक अधिकारी एवं प्रेरकों द्वारा विशेष प्रयास किये गये। फलस्वरूप स्वच्छता के प्रति ग्रामीणो में जागरूकता आई है। ग्रामीण जन गाॅव को स्वच्छ रखने के लिए साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देते है। गांव में ठोस एवं द्रव अपशिष्ट प्रबंधन के लिए भी विशेष प्रयास किये गये। गांव में इसके लिए नाडेप का निर्माण करवाया गया। ग्रामीण अपने घरो से निकलने वाला कचरा अब नाडेप में डालते है। नाडेप में कचरे से बनी खाद का उपयोग घर के पास बनी पोषण वाटिका एवं अपने खेतो में कर रहे है। गाॅव के घरो से निकलने वाले गंदे पानी के प्रबंधन के प्रति भी ग्रामीणो को जागरूक किया गया है। घर से निकलने वाले पानी का उपयोग ग्रामीण पोषण वाटिका में कर रहे है। पोषण वाटिका के लिए सब्जी के बीज उद्यानिकी विभाग द्वारा प्रदाय किये गये। अब ग्राम कालियाबडा के ग्रामीण अपनी पोषण वाटिका में उत्पादित सब्जियों का उपयोग खाने में कर अल्प पोषण से होने वाली बीमारियों से भी बच सकेगे। ग्राम कालियाबडा के ग्रामीणों को आजीविका के अवसर उपलब्ध करवाने में भी प्रशासन ने अपना सहयोग प्रदान किया। झाबुआ जिले की पहचान बन चुकें कडकनाथ, मुर्गीपालन के लिए ग्रामीणो को चूजे प्रदाय किये गये एवं गांव के निकट स्थित तालाबों में मछलीपालन के लिए समिति बनाई गई है। मछलीपालन से भी ग्रामीण जन अपने परिवार के लिए अतिरिक्त आय अर्जित कर सकेगे। ं कालियाबडा के बालाभाई ने बताया कि वे कडकनाथ पालन से अच्छी आय अर्जित कर रहें है वे जिले सहित पडौसी राज्य गुजरात में भी कडकनाथ मुर्गियों का विक्रय करते है। ग्राम कालियाबडा में फलियों को जोडने के लिए सी.सी. रोड बनाई गई है। गांव के उप स्वास्थ्य केन्द्र द्वारा ग्रामीणो को नियमित स्वास्थ्य सेवाएॅ दिया जाना सुनिश्चित किया गया। गांव के आंगनवाडी केन्द्र का संचालन भी नियमित रूप से किया जा रहा है। गांव में बैंक सेवाएं सुलभ करवाने के लिए बैंक मित्र द्वारा सेवाएॅ नियमित दी जा रही है। बैंक मित्र द्वारा गांव में जाकर ग्रामीणो के छोटे-छोटे भुगतान जैसे पेंशन, रोजगार गांरटी योजना की मजदूरी एवं शासन की अन्य योजनाओं की राशि का भुगतान ग्रामीणो को किया जाता है। इससे वे शहर में आवागमन में होने परेशानी से बच जाते है एवं गांव से शहर तक आने जाने का किराया एवं समय भी बच जाता है। ग्रामीण दुबला ने बताया कि पहले उन्हे बैक से लेन-देन करने के लिये छोटे-छोटे भुगतान लेने के लिए पिटोल अथवा झाबुआ जाना पडता था। इससे उनका पूरे दिन का समय आवागमन में ही खर्च हो जाता था एवं आवागमन में पैेसा भी खर्च होता था। गांव में ही बैंक मित्र के आ जाने से अब उनका पैसा व समय दोनो ही बच गये है। गांव की महिला सरपंच अंजू मेंडा भी गांव के विकास के प्रतिसमर्पित है वे गांव के विकास एवं शासन की योजनाओं का लाभ ग्रामीणों को देने के लिए घर-घर जाकर जानकारी देती है। गांव को उन्नत बनाने तथा ग्रामीणो की खुशहाली एवं गांव की स्वच्छता के लिए प्रशासनिक मुखिया के रूप में कलेक्टर श्री आशीष सक्सेना द्वारा किये गये लगातार प्रयासों से गांव तो खुशहाल हुआ ही साथ ही स्वच्छ भारत अभियान अंतर्गत गांव कालियाबडा में स्वच्छता के लिए ठोस एवं द्रव प्रबंधन की व्यवस्था ग्रामीणो के उपयोग अनुसार करने पर आज 14 सितम्बर को भारत सरकार द्वारा कलेक्टर झाबुआ को दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में सर्वश्रेष्ठ कलेक्टर का अवार्ड प्रदान किया गया।

काॅलेज के छाखे को दी यातायात की जानकारी
          
झाबुआ । पुलिस अधीक्षक जिला झाबुआ श्री महेश चंद जैन के निर्देशन में यातायात पुलिस तथा निर्भया मोबाईल द्वारा शा.चन्द्रशेखर आजाद महाविधालय में दिनांक 13.09.2017 व 14.09.2017 को कुल 563 छात्र/छात्राओं को उप निरी.आर.एस. मालवीय व आर.क्रं.11 राजु सिह द्वारा यातायात के नियमों की विस्तार से जानकारी दी गईं, साथ ही यातायात नियमों का पालन करने हेतु संकल्प दिलाया गया एवं हेलमेट पहनने, तीन सवारी न बिठाने, मोबाईल पर बात न करनें, तथा नशे में वाहन न चलाने की समझाईश दी गई। निर्भया प्रभारी किरण चैहान व म.आर. कविता एस्के द्वारा छात्राओं की सुरक्षा के संबंध में जानकारी दी गई। यातायात पुलिस तथा निर्भया मोबाईल झाबुआ द्वारा जिले में दिनांक 20/07/17 से 14/09/17 तक में कुल 30 शासकीय/अशासकीय विधालयों में 11,578 छात्र/छात्राओं को यातायात के नियमों की विस्तार से जानकारी दी गईं, साथ ही यातायात नियमों का पालन करने हेतु संकल्प दिलाया गया। यातायात पुलिस एवं निर्भया मोबाईल द्वारा चलाया गया यह अभियान निरंतर जिले में जारी है।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...