जजों के सरकार समर्थक होने का सुप्रीम कोर्ट ने किया खंडन

supreme-court-rejects-judicial-support-to-government
 नयी दिल्ली 05 अक्टूबर, उच्चतम न्यायालय ने उच्चतर न्यायपालिका के सरकार समर्थक होने के आरोपों को आज सिरे से खारिज कर दिया। मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर और न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ की पीठ ने सोशल मीडिया पर न्यायालय के संदर्भ में की जाने वाली टिप्पणियों पर चिंता जताई है। न्यायमूर्ति चंद्रचूड़ ने कहा कि आरोप लगाने वाले एक दिन शीर्ष अदालत आयें और देखें कि कितने मामलों में वह सरकार को घेरकर नागरिकों के पक्ष में फैसले देती है। उन्होंने कहा, ‘‘हमने कुछ दिन पहले सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष को टीवी पर सुना कि उच्चतम न्यायालय के ज्यादातर न्यायाधीश सरकार समर्थक हैं।” न्यायाधीशों ने यह टिप्पणी बुलंदशहर सामूहिक बलात्कार मामले में उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री आजम खां की विवादित टिप्पणी पर सुनवाई के दौरान की। न्यायालय ने इस मामले की सुनवाई संविधान पीठ को सौंप दिया है। 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...